Jannah Theme License is not validated, Go to the theme options page to validate the license, You need a single license for each domain name.
पॉलिटिक्स

Karnataka Politics: मंत्री का दावा- ‘कोई ढाई-ढाई साल का फॉर्मूला नहीं’, 5 साल तक सीएम रहेंगे सिद्धारमैया

मंत्री  एमबी पाटिल के इस बयान पर डिप्टी सीएम शिवकुमार ने नाराजगी जताते हुए कोई भी प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया है। उन्होंने कहा कि कोई भी कुछ भी कह सकता है।

Karnataka Politics: पांच साल सीएम रहेंगे सिद्दरमैया, शिवकुमार नाराज हुए, भाजपा ने कसा तंज  

Karnataka Politics: कर्नाटक में सरकार गठन से पहले सिद्धारमैया और डीके शिवकुमार के बीच सीएम और डिप्टी सीएम पद को लेकर चल रही खींचतान पर फिलहाल भले ही विराम लग गया हो, लेकिन ढ़ाई-ढ़ाई साल के सीएम को बारे में अटकलें जारी हैं। इस बीच, राज्य के एक वरिष्ठ मंत्री एमबी पाटिल  ने दावा किया है कि सिद्धारमैया पूरे पांच साल तक सीएम बने रहेंगे। वहीं, डीप्टी सीएम शिवकुमार ने पाटिल के बयान को लेकर कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि कोई भी कुछ भी कह सकता है। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव वहां हैं, मुख्यमंत्री वहां हैं और एआईसीसी अध्यक्ष हैं। वे इसे देखेंगे।

क्या बोले एमबी पाटिल?

मैसूर में सोमवार को जब पाटिल से पूछा गया कि क्या सिद्धारमैया पांच साल तक सीएम रहेंगे या फिर सत्ता में साझेदारी का कोई फॉर्मूला है? इसका जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि सिद्धारमैया पांच साल के लिए मुख्यमंत्री रहेंगे। अगर सत्ता में साझेदारी या कुछ और होता, तो हमारा नेतृत्व आपको बताता। ऐसी कोई बात नहीं है। जैसा कि हमारे एआईसीसी महासचिव ने कहा है कि चीजें जारी हैं।

Read more: Operation Sheeshmahal: भाजपा ने “आप” पर लगाया गंभीर आरोप, कहा ‘शीश महल’ में रहते हैं केजरीवाल

पाटिल के बयान से डीके शिवकुमार और भाई डीके सुरेश नाराज

मंत्री पाटिल के इस बयान पर डिप्टी सीएम शिवकुमार ने नाराजगी जताते हुए कोई भी प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया है। उन्होंने कहा कि कोई भी कुछ भी कह सकता है। उन्हें वो कहने दें जो वे चाहते हैं। एआईसीसी महासचिव वहां हैं, मुख्यमंत्री वहां हैं और एआईसीसी अध्यक्ष भी वहां हैं। वे इसे देखेगें। वहीं, उनके भाई और लोकसभा सदस्य डी के सुरेश ने खुले तौर पर पाटिल के बयान पर नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने कहा कि सिद्धारमैया मुख्यमंत्री हैं, यदि आप अधिक जानकारी चाहते हैं और एम बी पाटिल के बयान का जवाब चाहते हैं, तो आप हमारे एआईसीसी महासचिव सुरजेवाला से मिल सकते हैं और जानकारी एकत्र कर सकते हैं।

सत्ता के बंटवारे के फार्मूले पर भी चर्चा

गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव में बहुमत हासिल करने के बाद से ही राज्य में मुख्यमंत्री पद को लेकर सिद्धारमैया और राज्य कांग्रेस अध्यक्ष डी के शिवकुमार ने दावेदारी ठोंक दी थी। इसके बाद, कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्व द्वारा दोनों नेताओं से लंबी बातचीत के बाद बीते सप्ताह सिद्धारमैया को मुख्यमंत्री और डीके शिवकुमार को उपमुख्यमंत्री बनाने पर सहमति बनी थी। बाद में दोनों ने इन पदों पर शपथ भी ग्रहण कर ली थी। इस बीच, पार्टी सूत्रों के हवाले से खबरें आ रही हैं कि हाईकमान ने दोनों के बीच जारी गतिरोध को खत्म करने के लिए बारी-बारी से मुख्यमंत्रियों के प्रस्ताव को आगे रखा है। यह भी कहा जा रहा है कि आगामी लोकसभा चुनाव के बाद डीके शिवकुमार कर्नाटक के सीएम बनेंगें।

Read more: PM Modi in Karnataka: पीएम मोदी की पहली चुनावी रैली, जानें क्या-क्या कहा

इस बात की कोई गारंटी नहीं कि सरकार स्थिर रहेगी: भाजपा

उधर, भाजपा की कर्नाटक इकाई ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि अब तक के घटनाक्रमों को देखते हुए इस बात की कोई गारंटी या संकेत नहीं है कि बहुमत मिलने के बावजूद यह सरकार स्थिर रहेगी। भाजपा ने पाटिल के बयान का वीडियो शेयर करते हुए एक ट्वीट में कहा कि शिवकुमार सीएम नहीं बनने जा रहे हैं। सिद्दरमैया उन्हें सीएम नहीं बनने देंगे। एमबी पाटिल ने शिवकुमार को स्पष्ट संदेश दे दिया है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Back to top button