Jannah Theme License is not validated, Go to the theme options page to validate the license, You need a single license for each domain name.
लेटेस्ट

कॉफी किंग वीजी सिद्धार्थ की लाइफ का सफर 

#RIP:कॉफी किंग वीजी सिद्धार्थ की लाइफ का सफर 


कॉफी डे एंटरप्राइजेज के संस्थापक वी. जी. सिद्धार्थ का शव नेत्रावती नदी के किनारे मंगलुरु में मिलने के बाद से कॉफ़ी लवर्स काफी दुखी हैं। कॉफी डे एंटरप्राइजेज, कैफे कॉफी डे (सीसीडी) के ब्रांड को खड़ा करने वाले सिद्धार्थ कॉफ़ी किंग के नाम से जाने जाते थे। उनके द्वारा बनाये गए ब्रांड कॉफ़ी कैफ़े डे कॉफ़ी लवर्स के लिए बेहतरीन जगह हैं।

सूत्रों के अनुसार, सिद्धार्थ के ऊपर कर्ज़ों को लेकर कुछ दबाब बना हुआ था हालाकिं उनके बैंक एचडीएफसी ने कहा है कि सिद्धार्थ से जुड़ी किसी भी कंपनी का उनपर कोई कर्ज नहीं हैं। मरने से पहले सिद्धार्थ ने अपनी कंपनी के कर्मचारियों को लिखे एक पत्र में कर विभाग,कर्जदाताओं और निदेशक स्तर के आयकर अधिकारी से दबाव का आरोप लगाकर इनका जिक्र किया है।

कॉफ़ी किंग की लाइफ

कॉफ़ी किंग वीजी सिद्धार्थ की लाइफ में एक सफल बिजनेसमैन की तरह ही उतर-चढ़ाव दोनों थे।हालाँकि उन्होने पत्र में खुद को असफल बताकर सबको हैरानी में डाल दिया हैं।  अगर हम उनकी बिज़नेस लाइफ की ओर रुख करें तो वो एक सफल बिज़नेस की तरह सफलता की सीढ़ियां चढ़ रहे थे।

सिद्धार्थ का जन्म कर्नाटक के चिकमंगलूर जिले में हुआ था। मैंगलुरु यूनिवर्सिटी विश्वविद्यालय से इकनॉमिक्स में मास्टर डिग्री हासिल करके उन्होंने शेयर बाजार का ज्ञान भी लिया। कॉफी प्लांटेशन से उनके परिवार का 140 साल पुराना नाता था।

पढाई खत्म करके 24 साल की उम्र में 1982 में मैनेजमेंट ट्रेनी व इंटर्न की तरह मुंबई की कंपनी जेएम फाइनेंसियल लिमिटेड से करियर की शुरुआत करने वाले सिद्धार्थ को नौकरी करना रास नहीं आया। पिता से5 लाख रुपए लेकर उन्होंने बिज़नेस की शुरुआत की। सिवान सिक्योरिटीज  से ‘वे 2 वेल्थ सिक्यूरिटी लिमिटेड’ कंपनी को खड़े करने के पीछे सिद्धार्थ ने जी जान लगा दी। अपनी कंपनी को एक सफल निवेश बैंकिंग और स्टॉक ब्रोकिंग फर्म का दर्जा दिलाया।

इसके बाद इन्होने विरासत में कॉफी के व्यापार को आगे बढ़ने की सोची और 1993 में अमाल्गमैटेड बीन कॉफी ट्रेडिंग कंपनी लिमिटेड (ABCTCL) की स्थापना कर दी। इस कंपनी को सिर्फ 2 सालों में भारत की दूसरी सबसे बड़ी निर्यातक कंपनी बनाकर 6 करोड़ रुपये वाली कंपनी से इस कंपनी का टर्न ओवर 25 अरब रुपये कर दिया।

कॉफी कैफे डे बने कॉफी किंग

1996 में कॉफी कैफे डे (COFFEE CAFE DAY)की नीव रखकर इन्होने सफलता की ओर अग्रसर किया। कॉफी डे एंटरप्राइजेज, कैफे कॉफी डे (CCD) ब्रांड नाम से सफलता हासिल की है। कॉफ़ी बिज़नेस में सफलता के साथ ही इन्होने कॉफ़ी किंग का खिताब भी जीत लिया। बाद में इन्होने फॉरेन कन्ट्रीज में भी अपना बिज़नेस जमाया और कई कंट्री जैसे ऑस्ट्रिया की राजधानी विएना, चेक रिपब्लिक, कराची और दुबई में अपना बिजनेस रन किया।

Read More:- भारत के इस छोटे शहर में पानी के भीतर चलेगी ट्रेन, रेलवे की ख़ास परियोजना

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.com

 

 

Back to top button