विज्ञानविदेश

‘जूनो’ ने किया बृहस्पति की कक्षा में प्रवेश, नासा में खुशी की लहर!

पांच साल का लम्बा सफर तय कर आखिरकार नासा का अंतरिक्षयान ‘जूनो’ ने सफलतापूर्वक बृहस्पति (जूपिटर) की कक्षा में प्रवेश कर लिया है। इसी सफलता के बाद अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी ‘नासा’ ने एक बार फिर इतिहास रच डाला है।

जैसे ही नासा को यह खबर मिली वहां खुशी की लहर छा गई। सभी वैज्ञानिक खड़े होकर तालियां बजाने लगे।

क्या है जूनो?
जूनो नासा द्धारा सौरमंडल के पांचवे ग्रह बृहस्पति का अध्ययन करने के लिए पृथ्वी से 5 अगस्त 2011 को भेजा गया एक अंतरिक्ष शोध यान है।

क्या करेगा काम?
नासा का यह शोध यान जूनो बृहस्पति ग्रह की बनावट, वहां का मौसम, चुंबकिय क्षेत्र आदि जान कर पृथ्वी की ओर ट्रांसमिट करेगा। फरवरी 2018 तक यह यान अपनी सारी खोज कर लेगा।

गूगल डूडल
नासा की इस सफलता का जश्न गूगन ने भी अपने डूडल के जरिए मनाया। गूगल ने अपने डूडल में एक तरफ इस सफलता का पर खुशी मनाते नासा के वैज्ञानिक दिखाए हैं, तो दूसरी तरफ बृहस्पति पर पंहुचा जूनो को प्रदर्शित किया है।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at

info@oneworldnews.in

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Hey, wait!

अगर आप भी चाहते हैं कुछ हटके वीडियो, महिलाओ पर आधारित प्रेरणादायक स्टोरी, और निष्पक्ष खबरें तो ऐसी खबरों के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें और पाए बेकार की न्यूज़अलर्ट से छुटकारा।