Jannah Theme License is not validated, Go to the theme options page to validate the license, You need a single license for each domain name.
भारत

Sikkim Flood:सिक्किम के सिंगतम में बादल फटने से भारी तबाही, लाचेन घाटी के तीस्ता नदी में आई बाढ़

सिक्किम के सिंगतम में बादल फटने के बाद बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई है। बादल फटने की यह घटना उत्तरी सिक्किम में ल्होनक झील के ऊपर अचानक हुई। 23 जवानों के लापता होने की सूचना है और कुछ वाहनों के कीचड़ में डूबे होने की खबर है। मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग ने स्थिति का जायजा लिया है। मौके पर तलाशी अभियान जारी है।

Sikkim Flood:मौसम विभाग ने लगाया बारिश का अनुमान, तो वहीं मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग ने स्थिति का लिया जायजा


Sikkim Flood: उत्तरी सिक्किम की साउथ ल्होनक झील में मंगलवार देर रात बादल फटने से तिस्ता नदी में भयानक उफान आया। 15 से 20 फीट ऊंची लहर चली और किनारे तबाही मचाती रही। सिक्कम के तीन जिलों मंगन, गंगटोक और पाक्योंग में तिस्ता के किनारे सड़कें और पुल बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हुए हैं। सेना के 23 लोग लापता हैं। दो नागरिकों की मौत की खबर आई है। घायलों और मरने वालों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है।राज्य के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग ने स्थिति का जायजा लिया है। मौके पर मौजूद अधिकारियों ने बताया कि बाढ़ देर रात करीब डेढ़ बजे शुरू हुई।

रक्षा पीआरओ ने जानकारी दी

गुवाहाटी के रक्षा पीआरओ ने जानकारी देते हुए बताया कि उत्तरी सिक्किम में ल्होनक झील के ऊपर अचानक बादल फटने से लाचेन घाटी के तीस्ता नदी में बाढ़ आ गई। घाटी में कुछ सेना के जवान प्रभावित हुए हैं। 23 सेना जवान के लापता होने की सूचना है और जवानों के कुछ वाहनों के कीचड़ में डूबने की खबर है। तलाशी अभियान अभी जारी है।

सिंगताम में मची तबाही

सामने आई तस्वीरों और वीडियो में देखा जा सकता है कि सिंगताम में जलभराव की वजह से रिहायशी इलाकों में पानी भर गया है। नदी में पानी इतना ज्यादा और बहाव वाला है कि लोगों को नदी के किनारे जाने से रोक दिया गया है। कई सड़कों पर भी दो-तीन फीट पानी भर गया है जिससे इन सड़कों को भी बंद कर दिया गया है। स्थानीय प्रशासन का कहना है कि पानी के तेज बहाव में कुछ लोगों के बह जाने की खबर है जिनकी तलाश जारी है।

15-20 फीट तक बढ़ा जल स्तर

प्राकृतिक आपदा के चलते झील और तीस्ता नदी में बढ़े जल स्तर के बाद बाँध का पानी छोड़े जाने से जल का स्तर लगभग 15-20 फीट तक बढ़ चुका है। ऐसे में तटीय या निचले इलाकों को प्रशासन ने जल्द से जल्द खाली करवाने के आदेश दे दिए हैं। बढ़े हुए जल स्तर के कारण उत्तरी सिक्किम में सेना को भारी नुकसान हुआ है। सिंगतम के पास बारदांग में खड़े सेना के कई वाहन डूब गए हैं और 23 जवान भी लापता हुए हैं।

Read More:Libya Flood: लीबिया में विनाशकारी बाढ़ ने मचाई तबाही, 11 हजार से ज्यादा लोगों के मरने की हुई पुष्टि

मौसम विभाग के द्वारा बारिश का अनुमान

उत्तरी सिक्किम में आये इस जल संकट के बाद अब मौसम विभाग ने हल्के से मध्यम स्तर की बारिश के भी अनुमान जताये हैं। मौसम विभाग का कहना है कि अगले तीन से चार दिनों तक राज्य के कुछ इलाकों में लगातार बारिश की संभावना बनी हुई है। आंकड़ों पर नज़र डालें तो सिक्किम के कई भागों में 30 मिलिमीटर से लेकर 98 मिमी तक वर्षा हो सकती है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com 

Back to top button