Jannah Theme License is not validated, Go to the theme options page to validate the license, You need a single license for each domain name.
भारत

ट्रेन के टिकट में कितनी भी वेटिंग हो, इस तरीके से आसानी से करवा सकते हैं कन्फर्म: Emergency Ticket In Indian Railways

भारतीय रेलवे कर्मचारियों और दूसरे यात्रियों को आपातकाल की स्थिति यात्रा करने के लिए इमरजेंसी कोटा की सुविधा देता है। इसके तहत यात्रियों की वेटिंग टिकट को कन्फर्म कर दिया जाता है। अगर आपको रेलवे की ओर से मिलने वाली इस सुविधा के बारे में जानकारी नहीं है तो जान लीजिए।

इमरजेंसी कोटा के तहत कुछ ही सीट होती है उपलब्ध, जानिए कैसे मिलेगा इसका फायदा: Emergency Ticket In Indian Railways


भारतीय रेलवे कर्मचारियों और दूसरे यात्रियों को आपातकाल की स्थिति यात्रा करने के लिए इमरजेंसी कोटा की सुविधा देता है। इसके तहत यात्रियों की वेटिंग टिकट को कन्फर्म कर दिया जाता है। अगर आपको रेलवे की ओर से मिलने वाली इस सुविधा के बारे में जानकारी नहीं है तो जान लीजिए।
Emergency Ticket In Indian Railways: भारतीय रेलवे में यात्रियों और कर्मचारियों को कई सुविधाएं मिलती हैं। ऐसी ही एक सुविधा इमरजेंसी कोटा है, जिसके तहत वेटिंग टिकट किसी खास परिस्थिति में कंफर्म कर दी जाती है। क्या आपको भारतीय रेलवे की इस इमरजेंसी कोटा के बारे में जानकारी है। अगर नहीं, तो इस सुविधा के बारे में हम आप को बता रहे है।

क्या है इमरजेंसी कोटा

भारतीय रेलवे की इमरजेंसी को शुरुआत में सिर्फ उसके कर्मचारियों के लिए इमरजेंसी में यात्रा के लिए लाया गया था, जिसके तहत वेटिंग टिकट को कंफर्म कर दिया जाता है। अब इस कोटे में दूसरे लोगों जैसे विधायक, सांसद, न्यायिक अधिकारी और सिविल सेवा के अधिकारियों को भी शामिल कर लिया गया है। इसके साथ ही आम यात्री जिनके पास वेटिंग टिकट है वे भी इमरजेंसी की स्थिति में कंफर्म टिकट की मांग कर सकते हैं।
We’re now on WhatsApp. Click to join

इमरजेंसी कोटा के तहत कुछ ही सीट होती है उपलब्ध

ये सभी लोग इमरजेंसी कोटा के तहत अपने लिए या फिर अपने कोटो से दूसरे लोगों के लिए वेटिंग टिकट को कंफर्म करवा सकते हैं। किसी भी ट्रेन में इमरजेंसी कोटा के तहत कुछ ही सीट उपलब्ध रहती हैं।

कैसे मिलता है फायदा

रेलवे इमरजेंसी कोटा के लाभ के लिए रेलवे ने प्रोटोकॉल बनाया है। इसके मुताबिक हाई रैंक वाले की पहले प्राथमिकता मिलती है। उदाहरण के तौर पर अगर किसी एक सीट के लिए केंद्रीय मंत्री और सांसद दोनों इमरजेंसी कोटा के लिए रिक्वेस्ट करते हैं तो केंद्रीय मंत्री की रिक्वेस्ट पर सीट कंफर्म होगी। इस तरह देखा जाए तो वेटिंग टिकट के कंफर्म होने के चांस 50 प्रतिशत ही हैं।

ऐसे स्तिथि में इमरजेंसी कोटा लगा सकते हैं

वहीं दूसरी ओर, सामान्य यात्री भी आपात स्थिति जैसे सरकारी ड्यूटी पर यात्रा, बीमारी, परिवार में किसी शोक या फिर इंटरव्यू के लिए यात्रा के लिए इस कोटो का इस्तेमाल कर सकते हैं।

इमरजेंसी कोटा के लिए क्या करना होगा?

सामान्य रेल यात्री को इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए फॉर्म भरना होता है, जिसके लिए उन्हें जोनल इमरजेंसी सेल या मंडल हेडक्वार्टर या फिर स्टेशन में संपर्क करना होगा। सीटों की उपलब्धता और यात्री की इमरजेंसी देखते हुए उनकी वेटिंग टिकट को कंफर्म किया जाता है। बाते दें कि बीमारी के इलाज की स्थिति में यात्री को संबंधित कागज भी जमा करने होते हैं।
अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com   

Back to top button