22वीं पुण्यतिथि स्पेशल  -कैसे बने गुलशन कुमार ‘कैसेट किंग’? 

0
64
Gulshan kumar death anniversary

गुलशन  कुमार का ज़िन्दगी का सफर नहीं था आसान


12 अगस्त 1997 को दिल्ली की सड़कों पर जूस बेचने वाले शिव भक्त ने अपने जीवन के अंतिम सास भी मंदिर मे ही ली.। हम बात कर रहे है संगीत उद्योग के बादशाह और टी-सीरीज के संस्थापक गुलशन कुमार (gulshan kumar) की जिन्होंने कैसेट बेचकर अपनी जिंदगी में नया मुकाम हासिल किया था। बता दें कि  आज उनकी 22वीं पुण्यतिथि है और आज ही के दिन शिवभक्त गुलशन कुमार की मुंबई के अंधेरी (पश्चिम) में शिव मंदिर के पास हत्या कर दी गई थी।

‘जीरो से हीरो’ बनने का सफर

5 मई 1956 को एक पंजाबी अरोड़ा परिवार में जन्मे गुलशन कुमार का नाता देश की राजधानी दिल्ली से जन्म से जुड़ा हुआ था। गुलशल कुमार की कहानी भी ‘जीरो से हीरो’ बनने के जैसी है। टी-सीरीज के संस्थापक रहे गुलशन कुमार ने अपना जीवन सडक किनारे जूस और बाद में कैसेट बेचकर शुरू किया था।

टी-सीरीज  की स्थापना के साथ ही उन्होंने इंडियन म्यूजिक इंडस्ट्री में भी नए मुकाम हासिल किये थे। मेहनत और लगन जैसी खूबियों के मालिक ने बॉलीवुड में ऐसी उचाईयां हासिल की थी जो आज के समय में हासिल करना बहुत मुश्किल होता हैं। संगीत का रंग रूप बदलकर संगीत को नयी दिशा देने वाले गुलशन कुमार को आज भी उनके संगीत के लिए याद किया जाता हैं।

कैसे बने ‘कैसेट किंग’ 

‘कैसेट किंग’ के नाम से मशहूर  गुलशन कुमार ने दिल्ली के दरियागंज बाजार में जूस बेचकर अपना सफर शुरू किया था और बाद में उन्होंने कैसेट के बिज़नेस में अपना नाम बनाया। एक कैसेट की दुकान खोलकर बाद में टी-सीरीज की स्थापना करके उसके संस्थापक का दर्जा हासिल किया। एक छोटी सी म्यूजिक कंपनी टी-सीरीज की स्थापना करके और बहुत ही कम समय में म्यूजिक की दुनिया में नाम कमाकर हमेशा सबका अच्छा सोचने वाले शिवभक्त ने भगवान् के चरणों में शरण ले ली। 12 अगस्त 1997 को गुलशन कुमार की मुंबई के जीतेश्वर मंदिर में गोली मारकर हत्या कर दी गई जिसमे अब्दुल रउफ नामक आरोपी को गिरफ्तार किया गया तह और उसने हत्या की साजिश की बात भी कबूली ली थी। हालाँकि कुछ और लोग भी शक़ के दायरे में थे लेकिन बात साबित ना होने से सब बच गए।

Read More:- दीपिका और प्रियंका के फेक फॉलोवर्स की लिस्ट  है लम्बी : जाने कितनी सच्चाई है इस ख़बर मे?

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.com