Jannah Theme License is not validated, Go to the theme options page to validate the license, You need a single license for each domain name.
मनोरंजन

दीपिका से लेकर अनुष्का तक इन बॉलीवुड हसीनाओं के कोट्स बताते है कितनी स्ट्रॉन्ग और बोल्ड है ये

ये बॉलीवुड एक्ट्रेस आज रूढ़िवादी विचारों को पीछे छोड़ आम महिलाओं को कर रही हैं प्रेरित


ये बात तो हम सभी लोग जानते हैं कि हमारा देश एक पुरुष प्रधान देश है। सालों से हमारे देश में पुरुष अपनी मर्ज़ी चलाते आ रहे है फिर चाहे वो घर वो या घर से बाहर। हमारा देश एक पुरुष प्रधान देश होने के कारण हमारे देश में हमेशा फिल्म इंडस्ट्री पर भी उनका ही दबदबा रहा। हमेशा से पुरुष प्रधान रही फिल्म इंडस्ट्री में अपने दम पर फिल्में चलाने वाली इन एक्ट्रेस के ये कोट्स दर्शाते हैं कि अब धीरे धीरे ही सही लेकिन हमारा देश और फिल्म इंडस्ट्री दोनों बदल रही है। आज हमारे बॉलीवुड की एक्ट्रेस अपने लुक्स, अपने लाइफस्टाइल, अपने करियर के लिए सालों से चली आ रहे रूढ़िवादी विचारों के सामने झुकने की जगह उनका सामना कर रही है। आज वह अपनी शर्तों पर हर चुनौती का सामना कर रही है। और आम महिलाओं को भी प्रेरित कर रही हैं। तो चलिए जानते है बॉलीवुड की ऐसी हसीनाओं के बारे में जो आज समाज में आम महिलाओं को प्रेरित कर रही हैं।

दीपिका पादुकोण: दीपिका पादुकोण को भला कौन नहीं जानता। आज के समय पर उनको किसी इंट्रोडक्शन की जरूरत नहीं है। ये बात तो हम अभी लोग जानते है कि दीपिका पादुकोण एक बेहद ही स्ट्रॉन्ग और बोल्ड अभिनेत्री है। यह बात उनके इस कोट से पता चलती है। ‘सालों से हमें यह महसूस कराया जाता है कि हमें कम मिलने पर शांत रहना चाहिए। लेकिन ये गलत है आपको वह मिलना चाहिए जिसके लिए आपको लगता है कि आप योग्य हैं। इसके लिए लड़ना ठीक है।

और पढ़ें: जाने कौन है विनय पाठक, जिन्होंने अपने सहज अभिनय से निभाए बेहतरीन रोल

अनुष्का शर्मा: अनुष्का शर्मा एक महिला का सार बताते हुए कहती है कि ‘मुझे लगता है एक महिला होना ईश्वर का एक उपहार है, जिसकी सभी लोगो को सराहना करनी चाहिए। एक बच्चे की उत्पत्ति से एक मां बनती है, जो खुद एक महिला है। आगे वो कहती है एक महिला वह है जो प्यार साझा करती है और एक आदमी ये समझ पाते हैं प्यार, देखभाल और साझा करना क्या होता है यही एक महिला का सार है।

कंगना रनौत: बॉलीवुड की क्वीन कंगना रनौत को भला कौन नहीं जनता। कंगना रनौत कितनी स्ट्रॉन्ग और बोल्ड है ये भी शायद हमें आपको बताने की जरूरत नहीं है। कंगना रनौत का मानना है ‘हम सभी लोगों को महिलाओं को प्रोत्साहन देना चाहिए कि वो जैसी हैं वैसी ही रहें। किसी को भी उन्हें किसी बॉक्स रूपी इमेज में सेट नहीं करना चाहिए।

प्रियंका चोपड़ा: प्रियंका चोपड़ा अपनी कमियों पर कहती है ‘मैं जानती हूं मुझमें कई गलतियां है, लेकिन परफेक्ट होना ऐसे भी बोरिंग है। कमियां होना अच्छा है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Back to top button