Categories
सेहत सुझाव

‘ Fit ’ रहने के लिए करे रोज योग

योग करते समय इन बातो का रखे आप खास ध्यान


आज कल हर कोई अपने सेहत को लेकर परेशान है किसी को पतला होना तो किसी को मोटा लेकिन सब फिट और हेल्थी रहना चाहते है. पर उसके लिए आपको अपने खाने-पीने ध्यान देना पड़ेगा साथ ही रोज सुबह उठकर योग भी करना होगा.

अब अगर आप रोज योग करना चाहते है तो आप को योग करने के लिए सही गाइडेंस की भी जरूरत है.

 चलिए, जानते है की योग करते समय किन बातों का खास ध्यान रखना पड़ता है:

  1. योग हमेशा सुबह- सुबह खाली पेट किया जाता है नहीं तो योग करने से आपके शरीर पर कोई फायदा नहीं होता.
  2. योग आप किसी साफ़, खाली और खुली जगह पर करे.
  3. जब आप योग करे तब ध्यान रखे की बीच में आप पानी ना पिए वैसे आपको योग करते समय प्यास जरुर लगेगी लेकिन आपको पानी नहीं पीना है. नहीं तो आपको सर्द जुखाम हो सकता है.
  4. अगर आप पहली बार योग कर रहे तो पहले किसी ट्रेनर से सीखे जिससे आप योग गलत न करे नहीं तो इसे आपको शरीर में दर्द और आपके मसल्स में खिचाव आ सकता है.

Also Read: आज है इंटरनेशनल योग दिवस, #HumFitTohIndiaFit

  1. अगर आप बीमार है, या शरीर में दर्द है तो उस दिन योग बिलकुल ना करे.
  2. योग करने के बाद तुरंत पानी ना पिए और न ही नहाने जाए इससे आपकी सेहत पर असर पड़ता है.
  3. योग हमेशा ढीले कपडे पहन कर करे ताकि आपको कम्फर्ट लगे और आपको योग करते समय परेशानी न हो.
  4. जब योग कर रहे है तो सबसे पहले आसान वाला करे बाद में मुश्किल नहीं तो आप जल्दी थक जायेंगे.

अगर आप योग करना शुरू कर रहे है या रोज करते है तो इन बातो को ख़ास ध्यान रखे. ताकि आप के शरीर को कोई नुकसान ना पहुंचे और आप एक दम फिट और हेल्थी रहे . योग को बीच में न छोड़े बल्कि हर रोज सुबह करे साथ ही सूर्यनमस्कार जरुर करे इससे आपके निजी जीवन में भी पॉजिटिविटी आती है.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

 

Categories
लाइफस्टाइल सुझाव

इस चिलचिलाती गर्मी में अपने स्किन पर दे ख़ास ध्यान!

इतनी चुभती गर्मी में ज्यादा से ज्यादा पिए पानी


मई का महीना जैसे- जैसे ख़त्म हो रहा है और जून स्टार्ट हो रहा है वेसे गर्मी का टेम्परेचर भी बढता जा रहा है. आप बाहार निकले नहीं कि चिलचिलाती धूप आपकी स्किन को जला देती है इस धूप से बचने के लिए आपको ख़ास ध्यान देना पड़ेगा.

गर्मी का टेम्परेचर तो बढता ही रहेगा और आपको भी घर से  ऑफिस के लिए निकलने पड़ेगा तो आप इस धूप से जितना हो सके बच्चे क्यूंकि इस चिलचिलाती गर्मी से आप बीमार भी पड़ सकते है इसलिए जितना हो सके खुद को  धूप से बचाए.

जाने ये कुछ ख़ास तरीके जिससे आप इस सड़ी धूप से बच पाएंगे:

1.सबसे पहले आप जब भी घर से बाहर निकले तब अपनी चेहरे और हाथो पर सनस्क्रीन लगा ले

2.आप अपने साथ पानी जरुर रखे जितना हो सके एक दिन में कम से कम 10 से 11 गिलास पानी जरुर पिए क्यूंकि इस गर्मी में आपको डिहाइड्रेशन कि प्रॉब्लम ना हो.

3.आप इस गर्मी में डार्क कलर के कपड़े ना पहने क्यूंकि चिलचिलाती गर्मी आपकी स्किन को जला देगी जिससे आपको सकिन्न इन्फेक्शन भी हो सकता है.

Also Read: अब आप भी समर सीजन के साथ बदले अपना फैशन

4.आप जब भी बाहार निकले अगर अप बाइक या स्कूटी चलाते है तो आप अपने चेहरे और हाथ को कवर रखे.

5.जितना हो सके कॉटन के कपडे पहने.

इसलिए जितना हो सके इन चीजों का ख़ास ध्यान दे ताकि अप इस चुभती गर्मी से बचे रहे नहीं टो आप बीमार पड़ सकते है .

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

 

Categories
लाइफस्टाइल सुझाव

बदलते मौसम मे कैसे रखे अपनी स्किन का ख्याल?

बदलते मौसम मे कुछ इस तरह बनाये अपनी स्किन को मुलायम


मौसम आम तोर पर बदलते रहते है और हम इनका भरपूर मज़ा भी उठाते है. चाहे गर्मी के मौसम में आइसक्रीम के साथ या बारिश के मौसम में चाय पकोड़ो के साथ. मौसम तीन प्रकार के होते है पहला गर्मी का मौसम दूसरा सर्दी का मौसम तीसरा वसंत ऋतू का .ऐसे मौसम में खुद को और अपनी तव्चा का ख्याल देना जरुरी है, क्यूंकि ऐसे मौसम में हमारी त्वचा रुखी हो जाती है. हमारे चेहरे पर ग्लो नहीं रहता, और आपके चेहरे पर झुरिया नजर आने लगती है .

बात करते है मौसम के हिस्साब से केसे रखना चाहिए अपनी  त्वचा ख़ास ख्याल ?
1.गर्मी का मौसम– गर्मी के मौसम क्या होता है की कड़कती धूप में आप बाहर निकलते है आपकी स्कीन जलती है , और कड़कती धूप में आपका दिल आइसक्रीम खाने का करता है .इसी कड़कती गर्मी में आपकी तव्चा काफी ऑयली हो जाती है. जिससे आपके चेहरे पर पिम्पल्स आने लगते है साथ ही झुर्रियां ,सूजन और रूखापन भी आने लगता है .आपकी तव्चा ख़राब हो जाती है तो इसके लिए जब आप गर्मी के मौसम में बहार निकलते है तो अपनी त्वचा पर अच्छे से सनस्क्रीन का इस्तेमाल करे. जिससे आपकी  त्वचा धूप में जले न.

2.सर्दी का मौसम : सर्दी का मौसम में आपकी त्वचा रुखी हो जाती है, क्यूंकि सर्दियो में आप ज्यादातर गर्म पानी का इस्तेमाल करते है.तब उससे त्वचा में नमी की कमी होने लगती है। गरम या ठंडी हवाओं के झोंके त्वचा में पहले से भी ज्यादा जलन पैदा करते हैं. इस समस्या का समाधान यही है कि अपनी त्वचा को मॉश्चराइज़ का इस्तेमाल करें।जिससे आपकी तव्चा हमेशा सॉफ्ट रहेगी.

Also Read:
  नींद पूरी न होने से आपको हो सकती है ये बीमारीयां

3.वसन्त ऋतू का मौसम : वसन्त ऋतू का मौसम ऐसा मौसम है जिसका लुप्त सभी उठाते है. बारिश के मौसम में चाय और पकड़ो के मजा अलग ही होता है लेकिन बारिश के मौसम में आप अपनी तव्चा का ध्यान नहीं दे पाते. इस मौसम में आपकी तव्चा काफी चिपचिपी हो जाती है.जिससे आपका चहरे पर वो ग्लो नजर नहीं आता है. अगर आप चाहते है की आपकी त्वचा बारिश के मौसम में भी सॉफ्ट रहे चिपचिपी न लगे तो बारिश के मौसम में बेस्ट है बीबी क्रीम, क्यूंकि बीबी क्रीम में मॉइश्चराइजर, सनब्लॉक, प्राइमर, फाउंडेशन और कंसीलर एक साथ मौजूद रहता है.जिससे आपके चेहरे कीतव्चा चिपचिपी नहीं रहती है.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
सुझाव

ना करें भूलकर भी इन लोगों को ‘नमस्कार’ हो सकते हैं आपको नुकसान

किन-किन लोगों को नमस्कार करने से हमारा हो सकता है नुकसान


भारतीय संस्कृति के मुताबिक कोई भी भारतीय जब किसी से मिलते हैं तो हाथ जोड़कर, शीष झुकाकर नमस्कार करते हैं। ऐसा हमारी संस्कृति के मुताबिक करके हम सामने वाले व्यक्ति को आदर और सम्मान अर्पित करते हैं। ऐसा करने वाला व्यक्ति, विनम्र स्वभाव और अच्छे व्यवहार को दर्शाता है और हम सभी में ये सदगुण होना चाहिए ताकि जब भी हम किसी से मिले तो उनका सम्मान कर सके साथ ही उन्हें अपने व्यवहार से खुश कर सकें। लेकिन हम आपको बता दें कि शास्त्रों के अनुसार हमें हर किसी को नमस्कार नहीं करना चाहिए।

Representative Image

जी हां, आपकी जानकारी के लिए बता दें कि गरुड़ पुराण के मुताबिक समाज में कुछ लोग ऐसे होते हैं जिन्हें नमस्कार करना हमारे संस्कृति के विरुद्ध माना जाता है अर्थात उन्हे नमस्कार करने से हम खुद का नुकसान कर सकते हैं।

Also Read: रिलेशनशिप और रिश्ते: कपल्स के बीच रिश्तों के बदलते रूप

आइए जानते हैं कि किन-किन लोगों को नमस्कार करने से हमारा हो सकता है: –

1.कपटी और दिल का बुरा: यदि कोई इंसान छल-कपट करता है या फिर झूठ बोलता है, तो ऐसे व्यक्ति के सामने हमें कभी भी नमस्कार नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से आपका खुद का ही मान-सम्मान घटता है और साथ ही इससे कुंडली दोष भी बढ़ते हैं।

2.अंतिम संस्कार में जाता व्यक्ति: अंतिम संस्कार में जाते वक्त व्यक्ति को मौन रहना चाहिए। ऐसे में यदि हम उन्हें नमस्कार करते हैं तो उनका मौन टूट सकता है जिसकी वजह से कुंडली दोष भी बढ़ते हैं।

3.स्नान करता व्यक्ति: स्नान कर रहे व्यक्ति को कभी भी नमस्कार नहीं करना चाहिए क्यूंकि ये हमारे शिष्टाचार और संस्कार के विरुद्ध है। ऐसा करने से स्नान करने वाला व्यक्ति असहज हो सकता है और इससे कुछ प्रॉब्लम भी क्रिएट हो सकता है।

4.दौड़ता व्यक्ति: दौड़ते हुए व्यक्ति का पूरा ध्यान अपनी दौड़ पर होता है, ऐसे में उसे नमस्ते करने पर उसका ध्यान बट सकता है या फिर हो सकता है वो आपको जवाब ही ना दे पाए तो इससे अच्छा है कि आप उसके रुकने का इंतज़ार करें।

5.पूजा करते हुए: पूजा करते वक्त व्यक्ति का मन एकाग्र होता है। ऐसे में नमस्ते करने पर उनका पूरा ध्यान भंग हो सकता है, जिससे उसकी पूजा अधूरी रह सकती है और पूजा करने वाले इंसान के मन में कई और विचित्र ख्याल आ सकते है।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
सुझाव

पालक है कई शारीरिक समस्याओं का रामबाण उपाय

पालक और पालक के जूस के कुछ चमत्कारी गुण


आमतौर पर लोग पालक को सब्जी बनाकर या फिर पराठे के साथ मिक्स कर खाना पसंद करते हैं। लेकिन अगर आप चाहते है कि आपको पालक का पूरा-पूरा फायदा, तो आपके लिए पालक का जूस पीना सबसे ज्यादा फायदेमंद रहेगा। पालक की पत्त‍ियों में शारीरिक विकास के लिए लगभग सभी आवश्यक पोषक तत्व मौजूद होते हैं। मिनरल्स, विटामिन और दूसरे कई न्यूट्रीएंट्स से भरपूर होता है पालक, इसे हम एक सुपर-फूड भी कह सकते है।

पालक

आइए जानते हैं पालक के कुछ और भी सुपर लाभकारी गुण: –

· पालक के सौ ग्राम रस में गाजर का सौ ग्राम रस मिलाकर पीने से एनीमिया के रोग में तेजी से खून की वृद्धि होती है। खांसी और श्वास फूलने की समस्या से मुक्ति के लिए पालक के रस में शहद और काली मिर्च का चूर्ण मिलाकर दिन में कई बार थोड़ा-थोड़ा पिएं।

· पथरी की समस्या के लिए पचास ग्राम पालक के रस में पचास ग्राम कुल्थी का रस मिलाकर, नींबू का रस डालकर, सुबह-शाम सेवन कीजिए। पथरी के रोगी को बहुत लाभ होता है। इसके सेवन से पथरी भी धीरे-धीरे नष्ट होने लगती है।

· थायराइड की समस्या होने पर सौ ग्राम पालक के रस में शहद और थोड़ा-सा जीरे का चूर्ण मिलाकर सेवन करने से बहुत लाभ होता है। चेहरे के मुहांसे, झुर्रियों को दूर करने के लिए और त्वचा में निखार के लिए पालक के रस में गाजर और टमाटर का रस मिलाकर रोजाना सुबह-शाम सेवन कीजिए।

· पालक के सौ ग्राम रस में गाजर का सौ ग्राम रस मिलाकर पीने से शरीर में तेजी से खून की वृद्धि होती है। गर्भवती महिलाओं के लिए ये बेहद फायदेमंद है।

· पालक के पत्तों को अजवायन के साथ पीसकर,पानी में घोलकर पीने से कुछ ही दिनों में पेट के कीड़े दूर होते हैं और मल के साथ निकल जाते हैं। ये समस्या बच्चों में अक्सर देकने को मिलती है।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
सेहत सुझाव

जानें किन हरी सब्जियों से मिलता है कैंसर से छुटकारा

हरी सब्जियां रोग प्रतिरोग क्षमता को बढ़ाती हैं


हर व्यक्ति सुरक्षित और रोग मुक्त रहना चाहता हैं। आज लोगों को सबसे ज्यादा अगर कोई बीमारी परेशान करती है तो वह है कैंसर। आजकल छोटी से चोट कब कैंसर का रुप ले लेती है यह पता ही नहीं चलता।

लेकिन इससे बचने के भी घरेलू उपाय है। कई सारे ऐसे फूड्स हैं जिनमें कैंसर से लड़ने और कैंसर सेल्स के प्रसार को कम करने वाले गुण और न्यूट्रीयेंट्रस होते हैं। अगर आप हेल्दी हैं तो आप अपने डाइट में कैंसर से लड़ने वाले फूड्स को शामिल जरुर करें।

हरी सब्जियां

रिसर्च मे यह भी पता चला है कि कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ है जो केवल कैंसर से लड़ने के लिए उपयोगी होते हैं क्योंकि आपके जीवनशैली और आपके खान पान की वजह से भी आपको कैंसर होने का खतरा हो सकता है।

आज आपको ऐसे खाद्य सामग्री के बारे मे बताएं जो कैंसर भी संभावना को कम करता है।

टमाटर

टमाटर लगभग हर घर में रोज ही इस्तेमाल होता है। कई लोग इसे कच्चा खाना भी पसंद करते हैं। टमाटर कच्चा खाना भी सेहत के लिए अच्छा है। टमाटर में लाइकोपीन नाम का एक फाईटोकेमिल्कल होता है जो ऐंडोमेट्रिअ कैंसर सेल्स को बढ़ने से रोकता है।

हरी पत्तेदार सब्जियं

हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे पालक और सलाद आदि में बहुत अच्छी मात्रा में एंटी आक्सीडेंट जैसे बीटा-कैरोटीन और लुटिन पाया जाता है। लैब स्टडी में यह पाया गया कि इनमें जो केमिकल पाए जाते हैं वो कैंसर को रोकने में मदद करते हैं।

लहसून

लहसून में ऐसे केमिकल पाए जाते हैं जो पेट से संबंधित कैंसर को रोकने का काम करते हैं।

क्रुसीफेरस सब्जियां

इन सब्जियों में ग्लूकोसाइनोलेट्स नामक एक ऐसा पदार्थ होता है जिससे सल्फर की मात्रा ज्यादा होती है और वह कैंसर सेल्स के निर्माण को रोकने का काम करता है। यह कैंसर सेल्स को बढ़ने से रोकने के लिए अच्छे खाद्य पदार्थ में से एक हैं।

अंगूर

इसमें एंटी-आक्सीडेंट के अलावा बहुत अधिक मात्रा में रेसवेराट्रोल पाया जाता है जो शरीर मे कैंसर को बढ़ाने वाले एंजाइम को ब्लाक करने का काम करता है।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
सुझाव

अगर आप भी अपने बच्चे को मोबाइल देते हैं तो यह खबर आपके लिए है

मोबाइल से कई तरह की बीमारियां होती है


आज के व्यस्त जीवन में हम रोजमर्रा के जीवन में इतने ज्यादा व्यस्त हो जाते हैं कि अपने बच्चो को लिए समय नहीं निकाल पाते हैं। हमारे जीवन में इतनी ज्यादा व्यस्तता है कि हम अपने छोटे-छोटे बच्चो को समय नहीं दे पा रहे हैं। इसलिए हम काम की व्यस्तता के दौरान उन्हें ऐसी चीजें देते है जो उनके लिए खतरनाक है। हम अपनी सुविधा के अनुसार उन्हें मोबाइल के साथ खेलने देते हैं। टीवी पर कार्टून लगाकर देते है और अपने काम करते हैं। लेकिन आपको पता है यह सब चीजें आपके बच्चे के लिए बहुत खतरनाक है।

मोबाइल चलता हुआ बच्चा

एक रिसर्ज के दौरान पता चला कि अगर आपका बेबी 16 महीने का है तो उसके सामने आप किसी भी तरह की टीवी, मोबाइल, लैपटॉप नहीं को नहीं रखना चाहिए। यहां तक की 2 साल तक के बच्चे को ऐसा करना खतरनाक माना जाता है।

बच्चों द्वारा लगातार मोबाइल और टीवी देखने से आंखे संबंधी बीमारियां हो सकती है।

जब आपका बच्चा मोबाइल का इस्तेमाल करता है तो मोबाइल से निकलने वाली खतरनाक रेडियो तरंगे सीधे बच्चे के स्वास्थ पर बुरा असर डालते हैं।

जब बच्चा छोटा होता है तो उसके शरीर के सही से विकास के लिए उसको कम से कम 10 से 12 घंटे की नींद हर हालत में चाहिए होती है।

कंप्यूटर और टीवी के सामने बच्चे को बैठने से रोकिए वरना उनको अनिद्रा की समस्या भी हो सकती है जो छोटे बच्चों के लिए बहुत खतरनाक होती है।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
सुझाव

नरियल पानी सिर्फ पीने के लिए नहीं, बल्कि त्वचा और बाल के लिए भी है लाभकारी

जुएं से छुटकारा पा सकते हैं


नरियल पानी यानि डब पानी का प्रयोग हम ज्यादातर गर्मी में करते हैं। क्योंकि नरियल पानी ठंडा होता है और गर्मी के दिन में हमारे शरीर को एनर्जी प्राप्त करता है। नरियल पानी में ओमेगा 3 फैटी एसिड, विटामिन सी, एंजाइम्स, अमीनो एसिड और मिनरल्स पाए जाते हैं।

हम नरियल का प्रयोग खाने के रुप में करते हैं। साथ ही इसकी चटनी भी बनाते हैं। कई शुभ कामों में इसका प्रयोग किया जाता है।

लेकिन आपको पता है कि नरियाल का पानी हमारे शरीर के लाभकारी है। उतना ही हमारी त्वचा और बालों के लिए भी उपयोगी है। यह हमारी खूबसूरती को चार-चांद लगा देता है। साथ ही बालों होने के लिए भी लाभकारी है।

नरियल

चलिए जानते है नरियल के पानी से चेहरे की सुदंरता को कैसे निखारा जा सकता है।

  • कोकोनट फेसपैक बना सकती है। मुल्तानी मिट्टी और नरियल को एक साथ मिलाएं और एक पैक बनाएं। इसे पतली लेयर की तरह फेस पर लगाएं। उसी थोड़ी तक फेस पर लगे रहने दे। जब वह सुखने लगे तो उसे साफ पानी से साफ कर दें। आपको आपके चेहरे पर अंतर महसूस होगा।
  • अगर आप रोज सुबह नरियल पानी से मुंह साफ करते है तो अपनी स्किन स्फॉट होती है।
  • बालों मे लगाए जाने वाले तेल के साथ नरियल पानी मिक्स करें। फिर उंगलियों से सिर को मसाज करें। इससे स्कैल्प स्वस्थ होगा और सिर की खुजली और रुखापन दूर होगा। अगर आपके सिर में रुसी है तो वह भी दूर होगी। नरियल के पानी से जुएं भी खत्म होती है।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
सुझाव

कैसे करें कहीं जाने से पहले सामान की पैकिंग

ज्यादा समान न ले जाएं


कहीं भी घूमने जाने से पहले हम कई दिनों पहले से ही हर चीज प्लॉन करने लगते हैं। कहां, कैसे, किस साधन के द्वारा वहां जाएंगे।

मसलन अगर ट्रेन या फ्लाइट से जाना है तो सबसे पहले बुकिंग चेक करते हैं। वहां जाने के लिए कैसे सबसे कम समय लगें और जल्द से जल्द अपने गणतव्य स्थान पर पहुंचे। और उस जगह का नजारा लें। यदि हम रिश्तेदारों के घर भी जाते हैं तो यह सब पहले चेक करते हैं। लेकिन इन दौरान सबसे अहम चीज जो हैं वह हमारी पैकिंग।

बैग पैकिंग

कई बार हम अच्छी तरह से पैकिंग नहीं कर पाते। इसलिए कई समान घर में ही भूल जाते हैं। और कई बार जरुरत से ज्यादा समान ले जाते हैं। जिसका हम इस्तेमाल भी नहीं करते हैं।

तो चलिए आज आपको पैकिंग करने के बारे में बताते हैं

बहुत सारा सामान लेने से बेहतर है आप जरुरत का सामान लें। जिसकी आपको ज्यादा जरुरत है। बशर्ते आपको बेल्ट्स की जरुरत है। इसलिए बेल्ट के बैग मे रोल न करके रखें ब्लकि इस बैग के घेरे में लगा दें।

अपनी आवश्यक चीजें टूथब्रश, पेस्ट, क्रीम, कंघी, फैशवॉश की बैग के अगल-बगल वाली जीप में रखें क्योंकि अगर आप किसी प्लास्टिक में सारा समान पैक करके रखते है तो वह ज्यादा जगह का घेरता है।

अपनी छोटी छोटी चीजें को आप अपने शूज में भी रख सकते हैं।

पासपोर्ट, बर्थ सर्टिफिकेट वगैरह को जिप लॉक बैग में रखें। इससे सारे डॉक्यूमेंट्स एक जगह रहेंगे।

अगर यात्रा के दौरान लैपटॉप, आईपैड, हेयर ड्रायर, इलेक्ट्रिक रेजर वगैरह साथ ले रहें हैं, तो यूनिवर्सल अडैप्टर रखें।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
सुझाव

जानें क्यों प्रेग्नेंसी को दौरान अजीब चीजें खाने की इच्छा होती है?

क्या आपको भी मिट्टी और चारकोल खाने का मन करता है?


अक्सर आपने देखा होगा कि प्रेग्नेंट महिलाओं प्रेग्नेंसी के दौरान खट्टा, मीठा और मिलकी प्रोड्क्टस खाने का मन करता है। खाने की इस इच्छा को क्रेविंग कहते हैं। प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाएं जो भी खाती ही वहीं उसके बच्चे को हुष्ट-पुष्ट बनाती है। लेकिन कई बार कुछ ऐसी चीजें खाने का मन करता है जो उसकी सेहत के लिए अच्छी नहीं होती है। इससे बच्चे के स्वास्थ्य पर भी असर पड़ सकता है। अजीब -गरीब जैसे मिट्टी, चारकोल, पीओपी, सिगरेट की राख, टूथपेस्ट, बेकिंग पाउडर। इन सबके खाने से बच्चें पर इसका बुरा असर पड़ता है।

प्रेग्नेंट महिला

आयरन की कमी के कारण ऐसा होता है:

एक शोध के अनुसार पता चला है कि आयरन की कमी के कारण गर्भवती महिलाओं को अजीबोगरीब चीजें खाने की इच्छा होने लगती है। इसके अलावा कुछ अध्ययनों से यह भी पता चला है कि शरीर में जिन चीजों की कमी होती है। शरीर उन कमियों को दूर करने के लिए इंद्रियों को प्रेरित करता है। जिसके चलते अजीबगरीब चीजें खाने के लिए मन उतावला होता है।

डॉक्टर से एक बार सलाह लें

अगर प्रेग्नेंसी के दौरान आपको ऐसी चीजें खाने के इच्छा होती है तो यह सामान्य नहीं है। इस बारे में एक बार डॉक्टर को जरुर बताएं। क्योंकि हो सकता है डॉक्टर इस बारे में कुछ सलाह दें और कुछ पोषक तत्व खाने के सलाह दें। हो सकता है प्रेग्नेंसी के दौरान आपके शरीर में किसी चीज की कमी हो जिसके कारण आपको यह सब खाने के इच्छा हो रही हो।

अगर डॉक्टर से इस बारे में बात नहीं करना चाहते है तो अपने आपको दूसरे काम में व्यस्त रखें। साथ ही तुलसी और पुदीने की पत्तियां चबा सकती है। क्योंकि इसके सेवन से क्रेविंग नही होती है।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in