Categories
लाइफस्टाइल

हो जाए सावधान सेक्स के दौरान टूट सकती है रीढ की हड्डी

जैसा की आप जानते है सेक्स के  कई हेल्थ बेनिफिट्स है  पर  क्या आप जानते है सेक्स के दौरान कई गंभीर चोटे भी आ सकती है। जी हाँ, हाल ही मे ये बात एक शर्वे के दौरान पता चली है।

ब्रिटेन की रिसर्च के मुताबिक, ब्रिटेन मे 20 मे से एक व्यक्ति सेक्स के दौरान घायल हो ही जाता है। एक बार ब्रिटीश एक्ट्रेस लेस्ली  ऐशन ने इस बात को स्वीकार किया था कि  अपने फुटबॉलर हस्बेंड ली चैपमैन के साथ सेक्स‍ के दौरान उनकी रीढ़ की हड्डी टूट गई थी। सैटर्डेज सिंगर रोशेल हुम्सी ने भी इस बात को स्वीकारा था कि हस्बेंड के साथ सेक्स के दौरान उन्हें इमरजेंसी में जाना पड़ा था।

ये सर्वे पेन रिलीफ जेल पोलर फ्रॉस्ट द्वारा करवाया गया था जिसमें पाया गया कि ब्रिट्स बहुत ही एडवेंचरस और रेक्लिस लवर्स होते हैं।

                                                                                         (सेक्स के दौरान टूट सकती है  रीढ हड्डी)

(क्यो लगती है सेक्स के दौरान चोट)

किन हिस्सो मे होती है परेशानी-

  •  रीढ़ की हड्डी का टूटना
  •      बैक पेन होना या कमर मे मोच आ जाना
  • मसल्स पेन होना
  •       एडियो का मुङना
  •       पैर मे दर्द होना
  • क्या कहती है और रिसर्च-
  • इसी तरह की एक अन्य रिसर्च आई थी जिसमें कहा गया था कि सेक्स के दौरान एक्साइटमेंट में लोग ना सिर्फ खुद को चोट पहुंचा बैठते हैं बल्कि घर की कीमती चीजें तक तोड़ देते हैं।
  •      सेक्स के दौरान शरीर मे एंडोर्फिन हार्मोन का लेवल बहुत ही ज्यादा बढ़ जाता है। इस फील गुड हार्मोन के गढ़ने से उस समय तुंरत दर्द या इंजरी महसूस नहीं होती।
  •       गलत पोजीशन या कंफर्ट पोजीशन मे सेक्स ना करने से भी घायल हो सकते है।
  •       कंफर्ट जगह पर सेक्स ना करने से यानि बेड के बजाय सोफा, कुर्सी या टेबल पर सेक्स करने से भी ऐसा होता है।
Categories
सामाजिक

मानसिक स्वास्थ्य के लिए खराब है ये आदतें

मानसिक स्वास्थ्य के लिए खराब है ये आदतें


कई लोग इस बात से अंजान होते है कि उनकी साधारण सी लगने वाली आदते उनके मानसिक स्वास्थय को नाकारात्मक रुप से प्रभावित कर रही है। आज हम आपको उन आदतों के बारे मे बताएंगे जो आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए ख़राब है |

मानसिक स्वास्थय

· दिमाग की दुश्मन आदते-

आपके शरीर के फिटनेस के स्तर से लेकर आपकी शोशल मीडिया में सहभागिता, सभी आपके मूड, सकारात्मकता, और आपके मानसिक स्वास्थ्य को नकारात्मकक ढ़ंग से प्रभावित कर सकते हैं। तो चलिये जानते हैं ऐसी ही कुछ आदतों के बारे में जो आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकती हैं।

· शाम स्क्रीन के साथ बिताना-

हफ्ते मे एक दो बार काम के बाद थियेटर मे फिल्म देखना या कुछ देर नियमित टीवी देखना शायद फायदे मंद हो सकता है। लेकिन हर रोज देर रात स्क्रीन के सामने समय बिताना बहुत बुरी आदत है। इसलिए इससे शरीर और दिमाग दोनो थकते है। इससे दूर होने के लिए टीवी देखते समय कुछ काम करते रहे।

टॉक्सिक रिलेशन

· टॉक्सिक रिलेशन-

टॉक्सिक रिलेशन से निकलना कई बार मुश्किल हो जाता है। तो बेहतर होगा कि थोड़ा समय खुद को दें और ये जानने की कोशिश करें कि आप एक टॉक्सिक रिलेशन में हैं। किसी वैज्ञानिक के अनुसार दीर्घकालिक, नकारात्मक सामाजिक संबंधों सूजन से जुड़े होते हैं, जो कि हृदय रोग, कैंसर, उच्च रक्तचाप आदि का कारण भी बन सकते हैं। हानिकारक संबंध, जैसे साथी के साथ संबंध, सहकर्मी के साथ संबंध, परिवार और दोस्तों के साथ संबंध भी कम आत्मसम्मान, चिंता और अवसाद का कारण बन सकते हैं।

· सुस्त जीवन जीना

शारीरिक श्रम के अभाव और अवसाद की उच्च दर के बीच गहरे संबंध की बात को साबित किया गया है। यहां तक कि हफ्ते में तीन बार एक्सरसाइज कर अवसादग्रस्त भावनाओं और नकारात्मकता को बीस प्रति शत तक कम कर सकते हैं।

Categories
पॉलिटिक्स भारत भारतीये पॉलिटिक्स

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बङा एलान, बोले शादी के बाद महिलाओ को पासपोर्ट मे नाम बदलवाने की जरुरत नहीं

शादी के बाद महिलाओ को पासपोर्ट मे नाम बदलवाने की जरुरत नहीं: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बङा एलान


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बङा एलान किया है। उनका बोलना है कि महिलाओं को अब शादी के बाद अपने पासपोर्ट मे नाम बदलवाने की जरुरत नही और वह शादी से पहले वाला नाम ही रखने के लिए स्वतंत्र रहेंगी। उन्होने यह भी कहा है कि महिलाओं को पासपोर्ट के लिए शादी और तलाक के दस्तावेज नही दिखाने होगे।

मोदी जी ने कहा है कि वह चाहते है कि महिलाएं विकास योजनाओं के केंद्र मे रहे। उनका कहना यह भी है कि मुद्रा और उज्जवल सहित विभिन योजनाओ के जरिए उनकी सरकार महिलाओं को सशक्त करने के लिए कई तरह के कदम उठा रही है।

Related : ऋचा चड्ढा के कहा फिल्मों में महिलाओं के किरदार को अच्छा नहीं दिखाया जाता

इंडियन मचेंट चैंबर्स की महिला शाखा को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, अब से महिलाओं को शादी के बाद पासपोर्ट मे अपना नाम नही बदलवाना होगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

Related : जानें, 70 सालों में देश की महिलाओं का योगदान

अपनी सरकार की ओर से शुरु की गई विभिन महिलाऐ केंद्रित योजनाओ का हवाला देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि महिलाओं के लिए मातृत्व अवकाश 12 हफ्तों से बढ़कर 26 हफ्तो का कर दिया गया है जबकि एक अन्य योजना मे अस्पतालों मे बच्चे को जन्म देने वाली महिलाओं को 6,000 रुपए देने का प्रावधान है।

उज्जवला योजना के तहत एक साल मे दो करोङ महिलाओं को मिला लाभ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

उज्जवला योजना के तहत पिछले साल शुरु की गई नि शुल्क रसोई गैस वितरण परियोजना पर मोदी ने कहा, सरकार ने अगले दो साल मे बीपीएल परिवारों के पांच करोङ लोगों को इस दायरे मे लाने का लक्ष्य तय किया है। इसकी शुरुआत के एक साल के भीतर योजना से दो करोङ महिलाओं को लाभ मिला है। उनहोने ये भी कहा है कि एलपीजी सब्सिडी छोङने की मुहिम के तहत अभी तक 1.2 करोङ लोगों ने स्वेच्छा से इस लाभ को त्याग दिया है।

उधमी भावना के लिए महिलाओं की तारीफ करते हुए मोदी ने कहा है कि महिलाओं को जहां भी मौके दिए जाते है वह खुद को पुरुषों से हमेशा दो कदम आगें ही साबित करती है। उन्होने कहा है कि डेयरी और पशुधन क्षेत्रों मे सबसे बङा योगदान महिलाओं का ही होता है।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Categories
मूवी-मस्ती मनोरंजन

मौनी छोङ रही नागिन! एकता को नए चेहरे की तलाश

मौनी छोङ रही नागिन


नागिन 2 की टीआरपी चार्ट मे हमेशा सबसे ऊपर रहती है। नागिन के पहले और दूसरे सीजन को दर्शको का बेहद प्यार मिला है। लेकिन अब खबरो की माने तो ‘नागिन ‘ 2 जून मे ही ऑफ एयर होने वाला है। खबरो की माने तो मौनी छोङ रही है नागिन।

DNA की खबर के मुताबिक, एकता कपूर नागिन के तीसरे सीजन के साथ छोटे पर्दे पर लौटेंगी। लेकिन इस बार मौनी रॉय शो का हिस्सा नही बनेंगी। एकता कपूर नागिन के लीड रोल के लिए एक नए चेहरे की तलाश मे है। कहानी मे रोचक बात यह है कि नागिन 2 की कहानी खत्म होगी मगर एकता नागिन की लोकप्रियता को इस तरह से खत्म नही होने देंगी।

मौनी रर्या

Related : मौनी रॉय ने शादी से पहले मां बनने की इच्छा की जाहिर

फिलहाल नागिन मे शिवांगी अपने दुश्मनो से बदला ले रही है। उसने अपने दुश्मनो अवंतिका, निधि, सुशांत को मार दिया है। और जल्द ही वो अपने माता -पिता के कातिलों का खात्मा कर देगी। अब यह देखना दिलचस्प होगा कि शिवन्या और शिवांगी दोनो के बदले की कहानी पूरी हो जाने के बाद तीसरे सीजन की स्टोरीलाइन मे ऐसा क्या होगा।

जून में नागिन 2 का फाइनल एपिसोड टेलीकास्ट होगा । कहानी में ट्विस्ट यह है कि नागिन 2 की कहानी खत्म होगी। मगर एकता नागिन की लोकप्रियता को इस तरह गवाना नहीं चाहती हैं।

नागिन 3 मे कुछ नए चेहरों के साथ सस्पेंस और थ्रिलर की कहानी रची जाएगी। गौरतलब है कि एकता कपूर नागिन 2 के खत्म होते ही चंद्रकांता की शुरुआत कर देंगी।

Related : मुंबई मे हुआ दिव्यांका-विवेक का दूसरा ग्रैंड रिसेप्शन

आपको बता दे कि BARC India के मुताबिक नागिन 2 की टीआरपी चार्ट में नंबर वन से नीचे कभी नहीं गया है।

Categories
मनोरंजन मूवी-मस्ती

“बॉलीवुड के भाईजान” बनेंगे हनुमान ऐसे देंगे अपना आशीर्वाद

बॉलीवुड के भाईजान” बनेंगे हनुमान


मंगलवार को हनुमान जयंती पर आने वालीएनीमेशन फिल्म “हनुमान दा दमदार” का पोस्टर रिलीज़ किया जायेगा इसमे बॉलीवुड भाईजान सलमान खान ने अपनी आवाज़ दी है| इस बॉलीवुड के भाईजान बनेंगे हनुमान ऐसे अपना आशीर्वाद.

मंगलवार को हनुमान जयंती के त्योहार पर आने वाली एनीमेशन फिल्म “हनुमान दा दमदार” का पोस्टर रिलीज़ किया जायेगा इसमे बॉलीवुड भाईजान सलमान खान ने अपनी आवाज़ दी है| इस फिल्म को रूचि नारायण ने लिखा है|

salman khan

रुचि इससे पहले ‘हजारों ख्वाहिशें ऐसी’ की कहानी लिखचुकी हैं और फिल्म ‘कल’ को डायरेक्ट भी कर चुकी हैं|यह फिल्म १९ मई को रिलीज़ होने वाली है | इस फिल्ममें हनुमान की कहानी दिखाई जाएगी फिल्म में कहानीभगवान राम से हनुमान की मुलाकात से पहले शुरूहोगी| रूचि ने बताया रिलीज़ कैलेंडर पर सोच विचारकरते हुए हमे पता चला की पोस्टर रिलीज़ हनुमानजयंती के मौके पर हो रही है|

आपको बता दे की सलमान खान अपनी फिल्म “टाइगरजिन्दा है ” की शूटिंग में बिजी है | सलमान और कटरीनाके फैन यह जान के खुश होंगे की “टाइगर जिन्दा है ” इससाल रिलीज़ होगी| लेकिन दर्शक दोनों को एक बार फिरसाथ देखने का इंतजार कर नहीं पा रहे हैं और फिल्म रिलीज से पहले ही आप इन दोनों स्टार्स को एकसाथ देख सकेंगे|

दरअसल, दोनों ने एक कमर्शियल के लिए शूट किया है,जिसका वीडियो सामने आया है. एक किसी ब्रैंड केसमर कलेक्शन का ऐड है. सोशल मीडिया पर यहवीडियो वायरल हो चुका है. भगवान के इस तरह केआशीर्वाद से हमें उम्मीद है कि यह फिल्म भी दमदाररहेगी.

इस खबर को मूल रूप में, एवं अन्य रोचक खबरों सेअपडेट रहने के लिए यहाँ क्लिक कर मूल वेबसाइट परजाएँ और नोटीफिकेशन को सब्सक्राइब करें ‘टाइगरजिंदा है’ इस साल 22 दिसंबर को रिलीज होगी. सलमानऔर कटरीना हाल ही में फिल्म के पहले शेड्यूल कीशूटिंग ऑस्ट्रिया से कर के लौटे हैं. फिल्म को अलीअब्बास जफर डायरेक्ट कर रहे हैं.

Categories
सजावट

न लगाए कोई भी क्रीम, कुछ घरेलू नुस्खों से गर्मी मे निखरेगी आपकी स्किन

कुछ घरेलू नुस्खों से गर्मी मे निखरेगी आपकी स्किन


गर्मियो मे सभी अपनी स्किन को लेकर क्या- क्या नही करते। यहाँ तक की वो स्किन पर लगाने के लिए मंहगी से महंगी सनस्कीन लगाते है लेकिन इन सब के बावजूद चेहरे पर टैनिंग हो ही जाती है।

अगर आप इस चिलचिलाती गर्मी मे अपने चेहरे की ख़ूबसूरती को बरकरार रखना चाहते है तो बस इस महगे प्रोडक्टस को खरीदने के बजाए आप घरेलू चीजो का इस्तेमाल करे। न केवल ये आपकी त्वचा को गर्मी मे झुलसने से बचाएगी बल्कि चेहरे की रौनक को बनाए रखेगी।

गर्मियो मे खीरा त्वचा के लिए सबसे फायदे मंद है। खीरा पेट को ठंडक देने के साथ -साथ स्किन को भी तरोताजा बनाता है। घरो मे मौजूद कुछ चीजो को खीरे के साथ- साथ मिक्स आप अच्छा पैक बना सकती है।

• खीरा और दही-

खीरा और दही को मिलाकर पेस्ट बना ले। फिर इस पेस्ट को चेहरे पर लगा ले और हल्के हाथो से मसाज कर ले। कुछ देर तक रखने के बाद आप इसे गुनगुने पानी से चेहरे को धो ले। अगर आपकी त्वचा ड्राई है तो ये आपके लिए और भी अच्छा है।

• खीरा और एलोवेरा-

एलोवेरा हमारी त्वचा के लिए काफी फायदे मंद होता है। सबसे अच्छी बात तो यह है कि ये दोनो आसानी से मिल जाती है। आज कल लोग घर मे एलोवेरा लगा कर ही रखते है। खीरे का पेस्ट बना ले और उसमे एक चम्मच एलोवेरा जेल डाल ले और इसमे 1 चम्मच नींबू का भी रस डाल ले। अब इसे चेहरे पर लगा ले और सूखने दे। फिर उसे धो ले।

• खीरा और ओट्स-

गर्मियो मे डेड स्किन की समस्या आम है। ऐसे मे डेड स्किन की समस्या से बचने के लिए आप खीरे और ओट्स के पेस्ट का इस्तेमाल करे। खीरे ,ओट्स और हल्दी मिलाकर के चेहरे पर लगा ले। फिर थोङी देर बाद ठंडे पानी से धो ले।

Skin glowing

खीरा और बेसन-

आधा खीरा, बेसन और एक चम्मच नींबू का पेस्ट तैयार कर लें. इस पेस्ट को चेहरे पर लगाएं और सूखने पर धो लें. चेहरे पर ग्लो आएगा और डेड स्क‍िन भी खत्म होगी |

Categories
धार्मिक

रामनवमी स्पेशल: जाने पांच चीजें जो भगवान राम ने हमें सिखाई

रामनवमी का महत्व


राम नवमी एक धार्मिक त्यौहार है, जो कि हिन्दू धर्म के लोग बङे ही उत्साह के साथ हर साल मनाते है। यह अयोध्या के राजा दशरथ और रानी कौशल्या के पुत्र भगवान राम के जन्मदिन के रुप मे मनाया जाता है। भगवान राम हिन्दू देवता भगवान के सातवे अवतार माने जाते है ।

राम नवमी स्पेशल

Related : राम नवमी के दिन अपनाएं यह उपाय, धन-समृद्धि की नही होगी कमी

हिंदु कैलैंडर के अनुसार, यह त्योहार हर वर्ष चैत्र मास के शुक्ल पक्ष के 9 वे दिन मनाया जाता है। राम नवमी को चैत्र मास की शुक्ल पक्ष की नवमी भी कहा जाता है, जो नौ दिन लंबे चैत्र नवरात्री के त्योहार के साथ समाप्त किया जाता है। भगवान विष्णु के सातवे अवतार भगवान राम थे और उन्होने सामान्य लोगो के बीच मे उनकी समस्याएं हटाने के लिए जन्म लिया था। हिंदु धर्म के लोग इसे नौ दिन के त्योहार के रुप मे पूरे नौ दिन तक राम चरित्र मानस के अखंड पाठ, भजन, पाठ, कीर्तन एंवम पूजा और आरती के बाद प्रसाद आदि का आयोजन करने के बाद मनाते है।

राम नवमी का समारोह-

देश मे हिंदू धर्म के लोग आमतौर पर इस उत्सव को कल्याणोत्सवम अर्थात भगवान की शादी के समारोह के रुप मे मानते है। यह देश मे अलग -अलग स्थानो पर अलग अलग नामो से मनाई जाती है जैसे की- महाराष्ट्र मे चैत्र नवरात्री, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक या तमिलनाडु मे वसंतोत्सव आदि के नाम से मनाई जाती है। वे लोग अपने घरों से बुरी शक्ततियों को हटाने और अच्छी शक्तियों को लाने को लिए पूजा के अंत मे धार्मिक भजन और आरती पढते है।

वे पूरे नवरात्री के नौ दिन या अंतिम दिन पवित्र पूजा करने के लिए व्रत रखते है। इसमे रामायण का पाठ भी किया जाता है। सब अपने जीवन मे खुशहाली और शांति लाने के लिए भगवान राम और सीता की पूजा करते है।

राम नवमी का महत्व-

राम नवमी का त्यौहार हिंदु धर्म के लोगो के लिए बहुत ही महत्वपूर्णा माना जाता है। राम नवमी हिंदु धर्म के लोगो का त्यौहार है , जिसे वे अपनी आत्मा और शरीर को पवित्र करने के लिए पूरे उत्साह के साथ मानते है। इस दिन उपवास रखने से शरीर और मन को शुद्ध किया जा सकता है ।

जीवन मे भगवान राम ने हमें क्या सिखाया जो हमें ध्यान मे रखना चाहिए-

• सच्चाई का रास्ता मुश्किल होता है पर उसे कभी छोड़ना नही चाहिए
• धैर्य जरुरी है
• बुरी संगत अच्छे इंसान को भी खराब कर सकता है
• ग्यानी लोग कभी घमंडी नही होते
• सच्चा मित्र हमेशा आईना दिखाता है

Categories
लाइफस्टाइल

किसी भी जर्नलिस्ट को डेट करने से पहले ध्यान मे रखें ये बाते

जर्नलिस्ट को डेट करने के लिए कुछ ख़ास टिप्स


पत्रकार होना कोई आम बात नही है और उन्हें डेट करना भी कोई आम बात नही है । अगर आपका ब्वॉयफ्रेंड या गर्लफेंड पत्रकार है, तो समझ लीजिए कि आप अन्य लङकियो या लङको की तुलना मे सबसे ज्यादा लकी है। यही टीवी पर सुंदर सी लङकी देश दुनिया की खबरे देते हुए कितनी अच्छी लगती है। जर्नलिस्ट को डेट करना कई तरह से ख़ास है क्योंकि ये सिर्फ आपको देश और दुनिया की ख़ास खबरे नही बताते बल्कि आपको जीवन जीने के ख़ास तरीके भी बताते है ।

कैसे करे जर्नलिस्ट को डेट?

एक सफल और आत्म -निर्भर लङकी तो सभी को चाहिए होती है पर जब उसी लङकी को डेट करने की बात आती है तो लोग घबरा जाते है। ज्यादातर पुरुष के साथ ये होता है। यहॉ हम आपको बताएंगे की अगर आप किसी जर्नलिस्ट को डेट या शादी करना चाहते है तो आपको किन- किन बातो का ख़्याल रखना होगा ।

• पैसो के मामले मे बराबरी रखे-

हमारे देश मे यह कानून है कि अगर लङका- लङकी साथ मे है तो हर चीज के पैसे लङके ही देंगे पर जर्नलिस्ट लङकिया इस बात को बिलकुल नही मानती। जब इक्वालिटी की बाते करती है तो उनके लिए यह इक्वालिटी फिजिकल, मेंन्टल से लेकर फाइनेंशियल तक होता है। जर्नलिस्ट लङकियां इंडिपेंडेंट होती है और अपने पैसे को खर्चना और बचाना अच्छे से जानती है।

• आपको रिस्क टेकर बनना होगा-

जर्नलिस्ट लङकियां हमेशा बिंदास और रिस्क टेकर होती है। लङकियो को एडवेंचर भी काफी पसंद होता है। ऐसे मे आपको भी रिस्क टेकर होना चाहिए और अगर आप नही है तो जर्नलिस्ट लङकियो के साथ रिस्क लेने का दम रखना पड़ेगा । जर्नलिस्ट लङकियां न तो रिस्क लेने से डरती है और न ही उनके परिणाम से। उनके पास जो भी परिणाम होते है और वो उसे खुशी -खुशी एक्सेपट करती है और फिर वो आगे बढ जाती है।

इनकी हर अदा होती है ख़ास

• उन पर भरोसा करें और उन पर गर्व महसूस करे-

जर्नलिस्ट बनना कोई आसान बात नही है। उन्हें कई असफलता, तनाव, उत्तार-चढाव देखने पड़ते है । जर्नलिस्ट होना अपने आप मे ही एक बङी बात है। आप उनके काम की जितनी सराहना करेंगे उन्हें उतना ही अच्छा लगेगा है लेकिन उससे भी ज्यादा यह जरुरी है कि आप उन पर गर्व महसूस करे, साथ ही वो अपने काम के सिलसिले मे कई तरह के लोगो से मिलती जुलती रहती है ऐसे मे आपको उन पर भरोसा रखना चाहिए। जहॉ तक हो सके आप उन्हे यह महसूस कराए की वो आपके लिए क्या मायने रखती है।

• कभी उनसे झूठ न बोले-

जर्नलिस्ट लङकें या लङकियों के सामने झूठ बोलने की कोशिश न करे। इसकी साफ- साफ वजह यह है कि जर्नलिस्ट लङकियां झूठ आसानी से पकङ लेती है क्योकि वो जिस प्रोफेशन मे है वहां बॉडी लैंगवेज के जरिये खबर निकालना उनका काम है। इसलिए जहां तक हो सके सच ही बोले।

• आप मे पेशंस होना बेहद जरुरी है-

पेशंस होना आपके अंदर बहुत जरुरी है क्योकि जर्नलिस्ट लङकिया अक्सर व्यसत रहती है। उनके लिए काम सबसे पहले होता है और वो मल्टीटास्कर होती है। एक समय मे उसके दिमाग के भीतर कई काम चल रहे होते है कभी ऑफिस की डेडलाइन, कभी सोर्स से मिलना। अगर वो बिजी शेड्यूल मे भी आपको समय देती है तो समझिए वो आपके लिए कुछ भी कर सकती है।

Categories
मनोरंजन

दीया और बाती के सूरज राठी को मिली 14 साल की छोटी पत्नी

सूरज राठी यानी अनस राशिद इस साल कर लेंगे शादी


दीया और बाती हम के सूरज राठी यानी अनस राशिद इस साल शादी करने वाले है। अनस की दुल्हनिया का नाम हीना है और वो उनसे 14 साल छोटी है। दोनो इस साल जल्द ही सगाई करने वाले है।

सूरज राठी

हीना चंडीगढ की एक कंपनी मे एचआर प्रोफेशनल है। अनस की मां ने हीना को अपनी बहू के रुप मे पसंद किया था और वो अभी 24 साल की है।
कुछ सूत्रो से बातचीत के दौरान अनस ने कहा कि मेरे परिवार मे हीना को ले के 10 दिन पहले ही हीना के बारे मे बताया गया है। मै उनसे अभी कुछ दिन पहले ही मिला हूँ। अनस का यह मानना था कि मै जब छोटा था तब मे लव मैरिज मे विश्वास करता था लेकिन अनुभव के साथ -साथ मुझे लगा कि अरैंज मैरिज ही मेरे और मेरे परिवार के लिए अच्छा रहेगा। और वो परिवार वालो की मर्जी से ही शादी करना चाहते थे।

अनस का यह भी कहना ह कि हीना का पूरा परिवार दीया और बाती का फैन है और उनके परिवार को मेरे जैसा ही दमाद चाहिए था। हीना और अपने ऐज पर अनस का कहना था कि हीना को मेरी अम्र मे कोई दिक्कत नही है। हीना की बहन का कहना है कि मै 26 साल का दिखता हूँ।

अनस अपनी पत्नी पर किसी भी प्रकार का दवाब नही डालना चाहते और हीना शादी के बाद जो करना चाहती है उन्हे वो करने की आजादी होगी। अनस का यह कहना है कि हीना शादी के बाद नौकरी छोङ खाना बनना सिखना चाहती है।

सीरियल से जुङे सूत्रो को मुताबिक दीया और बाती के दुसरे सिजन की शूटिंग शुरु हो गई है। आपको बता दे, दीया और बाती के पहले सीज़न को काफी पसंद किया गया था। और सीरियल के फैंस दूसरे सीज़न के बेसब्री से इंतज़ार कर रहे है ।

Categories
सामाजिक

जाने गर्मी से बचने के उपाए

गर्मी से बचने के उपाए


गर्मी मे हमारे शरीर को सबसे ज्यादा नुकसान होता है। गर्मी मे लोगो को काफी तकलीफो का सामना करना पङता है। गर्मी से बचना बहुत जरुरी है अन्यथा इससे बहुत  नुकसान हो सकता है। गर्मियो मे सबसे ज्यादा हमे खाने का ध्यान रखना चाहिए। तेज धुप ने परेशान करना शुरु कर दिया है। इसलिए जितना हो सके हमे गर्मी से बचने की कोशिश करनी चाहिए। चलिए आज आको बताते है गर्मी से बचने के उपाय

Water is important

Related : दिल्ली की गर्मी से झुलसे दिल्लीवासी, पारा 46 के पार…2016

गर्मी मे बचने के घरेलू नुस्खे-

• सादा पानी आपकी त्वचा को फ्रेश रखता है। अगर आप थकान महसूस कर रहे है तो ठंडे पानी के छीटो से आप अपने आप को तरोताजा महसूस करेंगे
• खीरे के जूस को आप अपने चहरे पर इस्तेमाल करे। यह प्राकृतिक मॉइस्चराइज़र की तरह काम करता है इससे कोई नुक्सान भी नही होता। इससे आपको अपने चहरे पर ठंडक महसूस करेंगे
• चंदन, मुलतानी मिट्टी, तुलसी और गुलाब आदि नेचुरल चीजे लगाने से त्वचा को राहत मिलती है। धुप से आने के बाद चंदन और मुलतानी मिट्टी का लेप लगाने से त्वचा को ठंडक मिलती है।
• अगर आपको घमौरिया है तो आप नीम और तुलसी का पेस्ट लगाए। गुलाब की पत्तियो को पानी मे भिगोकर उसी पानी से चेहरे को धोने से गर्मी के मौसम मे चेहरा मुलायम हो जाता है।

खाने पीने पर ध्यान दे-

गर्मी के मौसम मे खाने पिने पर ध्यान देना चाहिए। पेट की खराबी और अधिक तैलिए व मसालेदार खाने का प्रयोग न करे क्योकि इससे पाचन क्रिया पर प्रभाव पङता है।

• धनिया को पानी मे भिगो ले फिर उसे अच्छी तरह मसल ले और छानकर इसमे थोङी सी शकर डाल ले। इसे पानी से गमियों मो राहत मिलती है।
• बेल का शरबत गर्मी के लिए बहुत ही अच्छा माना जाता है। गर्मी मे यह मोटापा घटाने मे भी सहायक होती है।
• नींबू की शिकंजी गर्मी के लिए बहुत ही अच्छी होती है। इसे आसानी से त्यार किया जाता है।
• पूरे उत्तर भारत मे गर्मी के मौसम मे ठंडाई को उपयोग खुब होता है।
• गर्मी के मौसम मे जीरा नमक डालकर छाछ पिना शरीर के लिए फायदेमंद होता है।

Representative image

लू लगने के कारण-

लू लगने का कारण शरीर मे अत्याधिक गर्मी का बढना और इस गर्मी पर शरीर दारा काबू नही कर पाना होता है। अधिकतर लू मई और जून के महीने को तेज गर्मी वाले मौसम मे चलती है।

शरीर मे गर्मी बढाने और लू लगने के मुख्य कारण-

• गर्मी और पानी की कमी

यदि शरीर मे पानी की कमी होती है ऐसे मे धूप मे आप देर तक धूप मे रहते है तेज धूप मे शारिरिक मेहनत वाले काम करते है तो शरीर को ठंडक नही मिल पाती है। ऐसे मे लू की संभावाना ज्यादा बढ जाती है।