Categories
हॉट टॉपिक्स

40 किसान यूनियनों के संयुक्त मोर्चे ने सरकार को दी धमकी, गणतंत्र दिवस तक मांगें पूरी न होने पर दिल्ली की ओर करेंगे मार्च

एक बार फिर किसानों को रोकने के लिए पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले


 

सरकार और भारतीय किसान यूनियन बीच नए कृषि कानूनों को लेकर आंदोलन चल रहा है. किसानों के इस आंदोलन को एक महीने से ज्यादा का समय हो गया है. अभी तक इसका कोई नतीजा नहीं निकल पाया है. कल यानि की रविवार को रेवाड़ी-अलवर सीमा पर हरियाणा पुलिस और प्रदर्शनकारी किसान झड़प में एकदम आमने सामने आ गए. कल एक बार फिर हरियाणा में सैकड़ों प्रदर्शनकारियों ने केंद्र के विवादास्पद कृषि कानूनों के खिलाफ मुख्य आंदोलन में शामिल होने के लिए मार्च करना शुरू कर दिया. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार पुलिस ने किसानों के मार्च को रोकने के लिए कई राउंड आंसू गैस के गोले दागे.

 

और पढ़ें: गाजीपुर बॉर्डर पर किसान ने की आत्महत्या सुसाइड नोट में दिल्ली बॉर्डर पर अंतिम संस्कार की इच्छा जताई

 

जाने क्या कहना है इस पर रेवाड़ी पुलिस का

कल फिर रेवाड़ी-अलवर सीमा पर हरियाणा पुलिस और प्रदर्शनकारी किसानों के बीच झड़प देखने को मिली.  सूत्रों ने अनुसार किसान आगे बढ़ने के लिए पुलिस के घेराव और बैरिकेड को तोड़ने की कोशिश कर रहे थे.  जबकि रेवाड़ी पुलिस ने उन्हें एक स्थानीय ओवर-ब्रिज पर रोक दिया. रेवाड़ी पुलिस के प्रमुख अभिषेक जोरवाल ने एक समाचार एजेंसी पीटीआई के हवाले से बताया, कि “अभी के लिए हमने उन्हें मसानी में रोक दिया है”. आपको बता दें कि पिछले साल नवंबर में हरियाणा पुलिस को पंजाब के हजारों किसानों को रोकने के लिए उन पर पानी के तोप और आंसू गैस के गोले छोड़े थे. क्योंकि उस समय भी हरियाणा पुलिस उनके विरोध मार्च को दिल्ली तक आने से रोकने की कोशिश कर रही थी.  रास्ते में कई झड़पों में दोनों पक्ष प्रदर्शनकारी किसान और हरियाणा पुलिस शामिल हुई थी.

 

40 किसान यूनियनों ने सरकार को दी धमकी

किसान संयुक्त मोर्चा ने शनिवार को अपने बयान में कहा  “सरकार ने सैद्धांतिक रूप से, यहाँ तक कि MSP पर
खरीद के कानूनी अधिकार की मांग करने से भी इनकार कर दिया है. अब हमारे पास कोई विकल्प नहीं है और यदि सरकार 26 जनवरी तक हमारी मांग को पूरा नहीं करती है. तो हम कोई विकल्प नहीं छोड़ेंगे.  दिल्ली में शांति से मार्च शुरू करने के लिए. इतना ही नहीं 40 किसान यूनियनों के संयुक्त मोर्चे ने सरकार को गणतंत्र दिवस तक मांगें पूरी न होने पर दिल्ली की ओर मार्च करने की भी धमकी दी है.

 

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
हॉट टॉपिक्स

आज किसान आंदोलन का 31वां दिन: किसानों ने ब्लॉक किया दिल्ली-जयपुर हाइवे, आज होगी संयुक्त किसान मोर्चा की अहम बैठक

आज सिंघु बॉर्डर पर किसान नेतों की अहम बैठक


नए कृषि कानून के खिलाफ किसान पिछले 31 दिन से दिल्ली एनसीआर की सभी सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे हैं. अभी एक बार फिर किसानों ने अपने आंदोलन को तेज करने का एलान किया है. किसानों के आंदोलन के तहत आज हरियाणा के सभी टोल फ्री किए जाएंगे. अभी हाल ही में सरकार ने किसानों को पत्र भेजा, अब इसको लेकर सभी किसान नेता सिंघु बॉर्डर पर एक अहम बैठक कर फैसला लेंगे. जिसके कारण आज दिल्ली एनसीआर की कई सीमाएं और रास्ते बंद रहेंगे.

 

दिल्ली-जयपुर हाइवे बंद

नए कृषि कानून के खिलाफ किसानों ने पहले तो अपने राज्य में विरोध किया लेकिन जब उनको लगा की उनकी बात नहीं सुनी जा रही है तो उसके बाद किसानों ने कृषि कानून के विरोध में आंदोलन के 13 दिन हरियाणा-राजस्थान  की सीमा पर स्थित खेड़ा बॉर्डर से किसानों ने दिल्ली की तरह कूच किया तो दूसरी तरफ पुलिस ने किसानों को हरियाणा सीमा में प्रवेश नहीं करने दिया.  लेकिन आज आंदोलन का 31वां दिन है और आज दिल्ली-जयपुर हाईवे दोनों तरफ से पूरी तरह बंद है. गौरतलब है कि 13 दिसंबर से जयपुर से दिल्ली की ओर जाने वाली सड़क बंद थी लेकिन अब किसान दूसरी सड़क पर भी टेंट लगाकर बैठ गए हैं.

और पढ़ें: किसान आंदोलन में स्लोगन और बॉयकॉट का नारा बना रहा है इसे और मजबूत

किसानों का जमावड़ा, तीन राज्यों से पहुंचे हजारों किसान 

हरियाणा के किसानों को रोकने के लिए हरियाणा पुलिस ने सीआईएसएफ, आरएएफ, वाटर कैनन की गाड़ियां व हाईवे पर कंटेनर लगाकर उनका रास्ता रोकने की कोशिस की. लेकिन कई घटों तक किसानों व पुलिस के बीच तनातनी का माहौल रहा जिसके बाद किसान हाईवे पर ही बैठ गए. अभी हरियाणा के खेड़ा बॉर्डर पर किसानों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. अभी हाल ही में गुरुवार की रात को भी तीन जत्थों में गुजरात व महाराष्ट्र से करीब तीन हजार किसान खेड़ा बॉर्डर पहुंचे हैं. इतना ही नहीं राजस्थान से सांसद हनुमान बेनीवाल भी अपने समर्थकों के साथ खेड़ा बॉर्डर पर पहुंचने के लिए निकले है. राजस्थान से सांसद हनुमान बेनीवाल ने पहले ही चेतावनी दी थी कि वो किसानों के समर्थन में दिल्ली जाएंगे.

 

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
सेहत

अगर आप भी हाई ब्लड प्रेशर है, तो ये कुछ खास जूस आपके लिए जो बढ़ाएंगे आपका इम्यूनिटी सिस्टम

हाई ब्लड प्रेशर क्या है और ये क्यों होता है?


हाई ब्लड प्रेशर एक बेहद ही खतरनाक बीमारी है। अगर इस बीमारी में जरा भी लापरवाही की गई तो इंसान को हार्ट अटैक से लेकर स्ट्रोक तक कई घातक बीमारियां हो सकती हैं। हाई ब्लड प्रेशर होने का मुख्य कारण है, हमारी अनियमित जीवनशैली और तनाव भरे वर्क स्ट्रेस में हाई ब्लड प्रेशर की समस्या आम हो गई है। ऐसे में अगर आप चाहते हैं कि आपका हाई ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहे तो आपको ऐसे खाद्य पदार्थों से बचे जिनमें सोडियम की मात्रा ज्यादा होती है। हाई ब्लड प्रेशर की समस्या तब होती है, जब हमारी रक्त धमनियों पर ज्यादा बल लगाता है, जिसकी वजह से रक्तचाप का स्तर बढ़ जाता है। अगर वक्त पर इस बीमारी का इलाज नहीं कराया गया तो मरीज को हार्ट अटैक भी आ सकता है। इस लिए जरूरी है आप अपने लाइफस्टाइल तथा डाइट में कुछ परिवर्तन। कुछ ऐसी चीजे खाये और पिए जिससे आपका हाई ब्लड प्रेशर नियंत्रण में रहे।

हाई ब्लड प्रेशर के रोगी इन जूस का करें सेवन:

चुकंदर का जूस: चुकंदर में एंटीऑक्सीडेंट तत्व होते हैं जो शरीर को रोगों से लड़ने की क्षमता प्रदान करते हैं। ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में बीटरूट का जूस बहुत फायदेमंद होता है। साथ ही ये डायबिटीज के रोगियों के लिए बहुत लाभदायक होता है। इसके सेवन से न केवल मीठा खाने की तलब को शांत किया जा सकता है बल्कि इसके सेवन से आप चुस्त और दुरुस्त भी होते हैं।
टमाटर का जूस: टमाटर सब्जी के स्वाद को बढ़ाने के साथ-साथ सलाद के रुप में भी काफी पसंद किया जाता है। साथ ही टमाटर पाचन शक्ति को  बढ़ाता है और पेट से जुड़ी समस्या जैसे अपच, कब्ज़, दस, जैसी समस्याओ को कम करता है। और शरीर में खून की कमी को भी दूर करता है। इसके सेवन से भूख लगने वाले हार्मोंस भी कंट्रोल में रहते हैं, जिससे आप आसानी से वजन कम कर सकती है। और साथ ही ये हाई ब्लड प्रेशर को भी कंट्रोल करता है।

और पढ़ें: जाने किन- किन चीजों को खाने से मिलता है विटामिन सी और क्या है इसके फायदे?

 
अनार का जूस: अनार एक ऐसा फल है। जिसके नियमित सेवन से हमें अच्छा स्वास्थ्य मिलता है। अनार खाने में जितना स्वादिष्ट होता है उतना ही पाचक और हमारे शरीर में रक्त वृद्धि करने वाला भी होता है। और साथ ही अनार में विटामिन और पोटेशियम भी भरपूर होता है, जो रक्त संचार को सुचारू बनाने में मदद करता है।
 
खट्टी फलों का जूस: खट्टी फलों में विटामिन सी भरपूर मात्रा में होता है इन फलो के ताज़े रस में पोटेशियम, फोलेट और प्राकृतिक साइट्रस बायोफ्लेवोनॉइड्स से भरपूर होता है। जो रक्तचाप के स्तर को कम रखने में मदद करते हैं, चयापचय में सुधार करते हैं और हृदय स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करते हैं।
अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com
Categories
मनोरंजन

Oscar 2020: साउथ कोरिया से 4 ऑस्कर जीतने वाली फिल्म – पैरासाइट में ऐसा क्या है ख़ास?

Oscar 2020 में साउथ कोरिया की फिल्म पैरासाइट ने 4 अवार्ड्स जीत कर इतिहास रच दिया।


पैरासाइट ने Oscar 2020 में 4 खिताब जीतने के साथ ही इतिहास के पन्नो में जगह बना ली है। अकादमी अवार्ड जीतते ही पूरे दुनिया में इस फिल्म को लेकर चर्चा शुरू हो गयी है। इस फिल्म का निर्देशन बोंग जून-हो ने किया, जिन्हे सर्वश्रेष्ठ निर्देशक का खिताब मिला। इसके साथ-साथ पैरासाइट को तीन और अलग-अलग वर्ग में खिताब मिला है। पैरासाइट को सर्वश्रेष्ठ फ़िल्म के साथ-साथ, सर्वश्रेष्ठ अंतरराष्ट्रीय फ़ीचर फ़िल्म और ओरिजनल स्क्रीनप्ले का ऑस्कर भी मिला है। ऐसा पहली बार हुआ जब किसी साउथ कोरियन फिल्म ने बेस्ट फिल्म का अवार्ड जीता।

पैरासाइट एक ब्लैक कॉमेडी फ़िल्म हैं जिसमें निर्देशक सामाजिक असमानता, मूलभूत सुविधाओं और पूंजीवाद के लिए लोगों के बीच के संघर्ष को दिखाने की कोशिश कर रहे हैं। इस फिल्म की कहानी कई मायनों में बेमिसाल है।

गरीबो और अमीरो के बीच के अंतर को अच्छे से समझिये इस फिल्म में

फिल्म में गरीबी और अमीरी के बीच के अंतर, चुनातियों और उनके संघर्षो को बेहतरीन तरीके से दर्शाया गया है। भले ही ये फिल्म कोरियन भाषा में है लेकिन पैरासाइट फिल्म की कहानी को इस तरीके से दर्शाया गया है की आप एक मिनट के लिए अपने मोबाइल पर नज़र नहीं मारेंगे।

फिल्म में दो परिवारों की कहानी को दिखाया गया है जहां एक परिवार अपना पेट भरने के लिए दुसरे परिवार की संपत्ति पर निर्भर है, वही दूसरा परिवार जो कि एक संपन्न परिवार है, पहले परिवार की सेवाओं पर निर्भर है।

इस ऑस्कर की दिलचस्प बात ये है कि विदेशी मूल की भाषा वाली फिल्में ऑस्कर में कभी भी ज्यादा सफल नहीं रही हैं। लेकिन पैरासाइट पहली एशियन फिल्म है जिसे इस प्रतिष्ठित अवॉर्ड से नवाजा गया है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
बिना श्रेणी

आज का विचार : 2/10/2016

आज का विचार : 2/10/2016


आज का विचार

यहाँ पढ़ें : आज का विचार : 1/10/2016

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Categories
तस्वीरें

गांधी जयंती की हार्दिक शुभकामनाएं

गांधी जयंती की हार्दिक शुभकामनाएं


गांधी जयंती

यहाँ पढ़ें : आज का विचार : 30/9/2016

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Categories
तस्वीरें

माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Categories
तस्वीरें

शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Categories
धार्मिक

गणेश चतुर्थी की हार्दिक शुभकामानाएं

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Categories
तस्वीरें

70वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in