World Mental Health Day: अगर कोई व्यक्ति जूझ रहा है सुसाइडल विचारों से, तो कुछ इस तरह करें उसकी मदद

0
187
mental health

सुसाइडल विचार आने पर ये चीजें होती है मददगार


कुछ महीनों पहले बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह की मौत ने पुरे देश को झकझोर कर रख दिया था। सुशांत सिंह की मौत की घटना और भी ज्यादा दुखद और परेशान करने वाली इसलिए थी, क्योंकि सुशांत की मौत नहीं हुई थी बल्कि उन्होंने आत्महत्या की थी। सुशांत की मौत के बाद से हमारे देश में मेंटल हेल्थ के बारे में बातचीत ने जोर पकड़ा। आज भी हमारे देश में लोग मेंटल हेल्थ को ले कर खुल कर बात करने को तैयार नहीं होते। आज के समय में भी अधिकतर लोगों यही मानते है कि मेंटल हेल्थ और सुसाइडल जैसे विचार उनके घर पर नहीं हो सकते। माना की ये पॉजिटिविटी अच्छी है लेकिन कई बार हमारे अपने हमे कुछ बताने की कोशिश करते है जिनको हम सुनने से पहले ही खारिज कर रहे हैं। तो चलिए आज हम आपको विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस के मौके पर बतायेगे की अगर कोई व्यक्ति सुसाइडल विचारों से जूझ रहा है तो आप कैसे उनकी मदद कर सकते है। 

ड्रग्स और एल्कोहल से दूरी: अगर आप पहले से ही किसी प्रॉब्लम से जूझ रहे है. तो आपको सबसे पहले ड्रग्स और एल्कोहल जैसी नशे वाली चीजों से दुरी बना लेनी चाहिए. क्योकि नशे वाले चीजे दिमाग पर बहुत बुरा असर डालती है. ये चीजें किसी भी व्यक्ति की सोचने और समझने की शक्ति को खत्म कर देते हैं. इसीलिए इनसे दूरी बनाना बेहद जरूरी है.

और पढ़ें: लेमनग्रास, ब्लड प्रेशर कंट्रोल से लेकर कैंसर तक लड़ने में मददगार

mental health day

प्रोफेशनल थेरेपी: कई बार हमारे साथ ऐसा होता है कि हमे सिर्फ नेगेटिव बातें ही दिखाई देती है. जिसके कारण हम बहुत ज्यादा डरे, परेशान, उलझे हुए से हो जाते है. ऐसे में हम एक थेरेपिस्ट की सहायता ले सकते है. थेरेपिस्ट हमारे विचारों के उलझे हुए धागों को सुलझाकर लपेटता है. साथ ही साथ थेरेपिस्ट बिना किसी जजमेंट के हमें अपने ही सवालों के जवाब साफसाफ देखने में मदद करता है. अगर आपको भी लगता है कि आपका कोई अपना सुसाइडल विचारों से जूझ रहा है, तो आपको उससे थेरेपिस्ट से मिलने की सलाह देनी चाहिए.

एक्सरसाइज: माना की डिप्रेशन का इलाज नहीं होता है. ये धीरे धीरे समय के साथ ही ठीक होता है, लेकिन ये भी सच है कि जब हम दौड़ते हैं, वजह उठाने है, योग करते हैं, या फिर डांस और स्विमिंग करते हैं, तो हमारे शरीर में इन एक्टिविटीज से हैप्पी हॉर्मोन्स निकलते हैं. जो आपके मूड को पहले से कई गुना बेहतर बनाते है.

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com