अगर आपको भी है कॉफी बेहद पसंद, तो जानें कब और कितनी कॉफी पीनी चाहिए

0
53
coffee peene ke fayde aur nuksan
Image Source - Pixabay

जाने क्यों मनाया जाता है अंतर्राष्ट्रीय कॉफी दिवस


हर साल 1 अक्टूबर को पूरी दुनिया में अंतर्राष्ट्रीय कॉफी दिवस मनाया जाता है. अंतर्राष्ट्रीय कॉफी संगठन ने 2015 में पहली बार इसकी शुरुआत की थी. अंतर्राष्ट्रीय कॉफी दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य उन लोगों को सम्मान और सराहना देना है जो लोग दिन रात खेतों में मेहनत करके कॉफी की खेती करते हैं और कॉफी के व्यवसाय से जुड़े होते हैं. कॉफी एक ऐसा पेय पदार्थ है जिसे पूरी दुनिया में पसंद किया जाता है. कॉफी हम सभी लोगों की डेली लाइफ में एक अहम रोल निभाती है. कॉफी हमें अच्छा स्वाद देने के साथ ही साथ हमारे शरीर को ऊर्जा भी प्रदान करती है. कॉफी हमारे शरीर से वसा को भी कम करती है. तो चलिए आज हम आपको अंतर्राष्ट्रीय कॉफी दिवस के मौके पर बतायेगे की कितनी कॉफी पीना आपके लिए होगा फायदेमंद. 

सभी लोग होते है कॉफी पीने के शौकीन

आज के समय में ज्यादातर लोगों को कॉफी पीना बेहद पसंद होता है कुछ लोग अपने दिन की शुरुआत ही कॉफी से करते है तो कुछ लोग सोने से पहले कॉफी पीना पसंद करते है. वही स्टूडेंट पढ़ाई करते समय कॉफी पीना पसंद करते है क्योंकि इससे एक तो नींद नहीं आती दूसरा ये शरीर को एनर्जेटिक रखता है. वहीं कुछ लोग अकेले होने पर समय बिताने के लिए कॉफी पीते हैं तो कुछ लोग दोस्तों के साथ अच्छा टाइम बिताने के लिए कॉफी पीते है आज के समय में सभी लोग किसी न किसी तरह से कॉफी पीने के शौकीन होते है.

कब नहीं पीनी चाहिए कॉफी 

खाली पेट: खाली पेट कॉफी पीना आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है. अगर अपने लम्बे समय से कुछ न खाया हो तो आपको गलती से भी कॉफी का सेवन नहीं करना चाहिए. इससे आपको एसिडिटी, अल्सर, कब्ज जैसी समस्याएं हो सकती है.

और पढ़ें: ज्यादा कॉफी पीना हो सकता है नुकसानदायक:  जानिए सेवन की सही मात्रा

coffee peene ke fayde aur nuksan

देर शाम न पीएं कॉफी:  अगर आप कॉफी के बहुत बड़े शौकीन है तो भी आपको देर शाम कॉफी पीने से बचना चाहिए इससे एक तो आपकी भूख मर जाती और डिनर करने की इच्छा खत्म हो जाती है, दूसरा रात को नीद भी जल्दी नहीं आती है. 

सुबह उठते ही न पीएं कॉफी: अपने देखा होगा कि बहुत सारे लोग दिन की शुरुआत एक कप कॉफी के साथ ही करते है. लेकिन आपको ऐसा नहीं करना चाहिए क्योंकि यह आपके शरीर में मौजूद कॉर्टीसोल हार्मोन की मात्रा बढ़ा देती है. साथ ही ये आपके इम्यूनिटी सिस्टम को प्रभावित करती है.

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com