विदेश

जानें बिट्रेन में हो रहे चुनाव से अंतर्राष्ट्रीय बाजार पर क्या पड़ेगा असर

गुरूवार का दिन बिट्रेन के इतिहास का एक महत्वपूर्ण दिन है। बड़ी संख्या में लोग बिट्रेन की यूरोपियन यूनियन की सदस्यता के लिए वोट कर सकते है। आज ही फैसला लिया जाएगा कि बिट्रेन यूरोपिय यूनियन का सदस्यता रहेगा की नहीं।

आरबीआई का कहना है कि अब यह देखना है कि अगर बिट्रेन यूरोपियन यूनियन से अलग हो जाता है तो मार्केट पर उसका क्या असर होगा। इससे आरबीआई को कोई फर्क नहीं पड़ता है कि वह बाहर जा रहा है या अंदर आ रहा है। भारत अपनी आर्थिक स्थिति को मजबूत बनाए रखने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

1

बिट्रेन और यूरोपिय यूनियन

वहीं एपिक्स बैंक का कहना है कि यह पहले ही सुनिश्चित करने लेना होगा कि आगे उठाए जाने वाले सभी कदम घरेलू आर्थिक बाजार में संपति में स्थिरता बनाए रखें।

खास ध्यान इस बात पर देना होगा कि अगर बिट्रेन यूरोपियन यूनियन से बाहर हो जाता है तो अंतर्राष्ट्रीय बाजार पर इसका बड़ा प्रभाव पड़ेगा।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Back to top button