Categories
बिना श्रेणी

जाने मौनी अमावस्या क्या है ? इस दिन इन कामों को करने से बचे

कुम्भ मेला 2019 : आज है दूसरा महा शाही स्नान


कुम्भ का मेला 15 जनवरी से शुरू हो चूका है और इस बार करोड़ो में श्रद्धालुओं की भीड़ भी देखी जा रही है.पहला शाही स्नान जो की 15 फरवरी को था जिसमे लाखो में श्रद्धालुओं ने डुबकी लगायी थी और आज मौनी अमावस्या है और साथ ही कुम्भ का दूसरा शाही स्नान भी. आज इस दूसरे शाही-स्नान पर इस बार 2 करोड़ से भी ज्यादा श्रद्धालुओं ने डुबकी लगायी है

जाने मौनी अमावस्या के महत्व के बारे में ?

मौनी अमावस्या का हिन्द धर्म में बहुत ही ख़ास महत्व होता है.ऐसा कहा जाता है कि इस मौनी अमावस्या पर पवित्र संगम और नदियों में देवताओं का निवास होता है इसीलिए इस दिन पवित्र और पावन नदियों में स्नान का खास महत्व जाता है, खासतौर से गंगा स्नान का.इस दिन लोग मौन रहकर पूरा दिन व्रत रखते है सूरज ढलने के बाद व्रत तोड़ते है. जिनसे उन्हें मुनि पद की प्राप्ति होती है.

जाने मौनी अमावस्या पर क्या करने से बचना चाहिए ?

ये दिन बहुत ही पवित्र माना जाता है इसलिए इस दिन यह सब कुछ करने से जरूर बचे नहीं तो उठाना पद सकता है भारी नुक्सान
1. इस दिन शराब, मांस जैसी चीजों से दूर रहें।
2. सुबह देर तक नहीं सोना चाहिए और बिना नहाएं भोजन न करें।
3. अमावस्या पर श्मशान या कब्रिस्तान के आस-पास नहीं जाना चाहिए.

यहाँ भी पढ़े :बेरोजगारी क्या है? इसका स्तर देश में कितना बढ़ चूका है?

4 . इस दिन अपने पार्टनर के साथ शारीरिक संबंध बनाने से बचे
5 . शरीर पर तेल नहीं लगाना चाहिए, तेल मालिश नहीं करनी चाहिए।

अब जाने कुम्भ के अगले शाही स्नान के बारे में की कब होंगे ?

कुम्भ के दो शाही स्नान हो छ्जुके है जो की पहला 15 जनवरी मकर संक्रांति के दिन था , दूसरा आज यानी 4 फरवरी को मौनी अमावस्या के दिन शाही स्नान है और अब आगे तीसरा शाही स्नान 10 फरवरी को होगा और उस दिन बसंत पंचमी है

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments