सेहत

क्या होता है पीरियड इंफेक्शन?

जानिए कैसे कर सकते है आप इससे बचाव


पीरियड एक ऐसी अवस्था है जो हर महिला को हर महीने होती है पीरियड के  दौरान औरतो को शारीरक साफ सफाई का विशेष ध्यान रखना होता है अगर वह  अपनी शारीरिक सफाई का ध्यान नहीं रखेंगी तो  काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है और इसी के कारण पीरियड के दौरान रैशेज और यीस्ट इंफेक्शन जैसी बीमारियों का सामना करना पड़  सकता है.

पीरियड के दौरान गलत नैपकिन का इस्तेमाल करना और सफाई की कमी से जांघो के अंदरूनी हिस्से और जननांग के  पास रैशेज और खुजली होने लगती है. अगर इस समस्या का जल्दी इलाज न  किया जाए  तो दर्द भरे दाने  हो सकते है  . घंटो तक पैड का इस्तेमाल करने से गर्मी और नमी की वजह से पसीना आने लगता है  जो की सूख नहीं पाता जिसकी वजहें से कीटाणु उत्पन्न होने लगते है और  इंफेक्शन होने का खतरा बन जाता है.इस इंफेक्शन से बचने के लिए महिलाओ को कुछ ज़रूरी बातो का ध्यान रखना चाहिए जैसे –

समय समय पर पैड बदले 

पीरियड के दौरान ब्लीडिंग के माध्यम से  शरीर की अशुद्धियाँ बाहर  निकल जाती है आपका पैड वजाइना और पसीने के माध्यम से कीटाणुओं के संपर्क  मे रहता है जिससे रैशेज और वजाइना इंफेक्शन की समस्या बनी रहती है. इसलिए पीरियड के दौरान हर 6 घंटे बाद पैड बदलना चाहिए और अपनी ज़रूरत के हिसाब से भी जिन महिलाओ को ज़्यादा रक्त  बहाव होता है  उन्हे बार बार अपनी ज़रूरत के अनुसार पैड  बदलते रहना चाहिए।

पीरियड की वजह से शरीर मे  दुर्गंध आने लगती है। पैड बदलने से पहले  वजाइना को अच्छी तरह से साफ़ कर लें अगर ऐसा संभव न हो तो टिश्यू पेपर का इस्तेमाल कर उस जगह को अच्छे से साफ़ कर लें ध्यान रहे की गीले कपड़े का इस्तेमाल न  करें।

कॉटन सेनेटरी का करें इस्तेमाल 

अच्छे सेनेटरी पैड का उपयोग करे जो ज़्यादा समय तक चले और ब्लीडिंग को अच्छी तरह सोख लें. इससे आस पास ब्लीडिंग नही फैलेगी और रैशेज होने का भी खतरा नहीं होगा।

साबुन का इस्तेमाल ना करें 

वजाइना के पास खुद की सफाई का एक प्राकृतिक तरीका है जो बैक्टीरिया को संतुलित करता है, वजाइना को साबुन से ना धो कर  उसे  गरम पानी से अच्छी तरह साफ़ कर लें। आप बाहरी हिस्से पर साबुन का इस्तेमाल कर सकते है लेकिन वजाइना पर नहीं .

यहाँ भी पढ़े :स्किन को डैमेज करती हैं आपकी हर दिन की ये 3  आदतें

डॉक्टर के पास जाए 

अगर रैशेज और इंफेक्शन की समस्या ज़्यादा बढ़ रही है तो तुरंत डॉक्टर के पास जाए और खुलकर सारी बात करें और डॉक्टर से पूरा मेडिकेशन लें

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Back to top button