क्या है माघी पूर्णिमा? इनकी पूजा करने से मिलेगा आपको यह सभी लाभ


क्या है हिन्दुओ में माघी पूर्णिमा का महत्व


आज है माघी पूर्णिमा और कुम्भ का तीसरा शाही स्नान.कुम्भ का मेला 15 जनवरी को शुरू हुआ था और यह अब 4 मार्च को खत्म हो जाएगा. इस बीच में अब तक दो शाही स्नान हो चुके है जैसा की पहला शाही स्नान 15 मकर संक्रांति के दिन था और दूसरा शाही स्नान 4 फरवरी मौनी अमावस्या के दिन था और आज है तीसरा शाही स्नान क्यूंकि आज मनाते है माघी पूर्णिमा

magh-poornima

चलिए जानते है की क्या है माघी पूर्णिमा ?

बात करे अगर माघी पूर्णिमा की तो हिन्दू धर्म के अनुसार माघ के महीने में पड़ने वाली पूर्णिमा को माघी पूर्णिमा कहा जाता है. इस दिन पर लोग स्नान, दान और जाप करते है ताकि उनके सारे कष्ट खत्म हो और जिंदगी में सुख शांति बने रहे. माघ में चलने वाला यह स्नान पौष मास की पूर्णिमा से शुरू होकर माघ पूर्णिमा तक होता है. माघ स्नान करने वाले व्यक्ति पर भगवान माधव हमेशा प्रसन्न रहते हैं जिससे उनकी जिंदगी में सुख समृद्धि बनी रहती है.

जाने हिन्दुओ में माघी पूर्णिमा का महत्व क्या है ?

हिन्दुओ में माघी पूर्णिमा का महत्व बहुत ख़ास है ऐसा कहा जाता है की माघ पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु स्वयं गंगा नदी में स्नान करने आते हैं . इसलिए जो भी माघ पूर्णिमा के अवसर पर गंगा स्नान करता है उसको सभी तरह के पुण्य लाभ मिलता हैं.

माघी पूर्णिमा के दिन किस भगवान की पूजा करना चाहिए , जिस से मिले आपको यह सभी लाभ ?

माघ पूर्णिमा के दिन भगवान सत्य नारायण की पूजा करना चाहिए क्यूंकि ऐसा कहते है की भगवान् विष्णु इस दिन गंगा नदी में निवास करते है इसलिए इस दिन गंगा में स्नान करना बेहद ही अच्छा माना जाता है और इस दिन भगवान् विष्णु की पूजा करने से मिलता है यह सभी लाभ

यहाँ भी पढ़े: जाने मौनी अमावस्या क्या है ? इस दिन इन कामों को करने से बचे

1 . आपको इस दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान करें और साफ कपड़े पहन कर भगवान् की पूजा करे.
2. इस दिन ख़ासतौर पर भगवान विष्णु के मन्त्र ॐ मधुसूदनाय नमः मन्त्र का 108 बार जाप करें. जाप के बाद जल सारे घर में छिड़क दें.
3. इसके अलावा तिल, कपास, गुड़, घी, मोदक, और अन्न का दान जरूर करे

इन्हे करने से आपकी सभी मनोकामनाएँ पूर्ण होंगी.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Story By : AvatarNeha Singh
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
%d bloggers like this: