क्या है धारा 144 – जाने कब और क्यों किया जाता है इसका प्रयोग

धारा-144 का इस्तेमाल क्यों किया जाता हैं ?


देश में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) लागू होने के बाद से देश के विभिन्न हिस्सों में इसके खिलाफ विरोध प्रदर्शन हो रहा है। मामले की गंभीरता को देखते हुए सरकार में दिल्ली (Delhi), उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, गुजरात, कर्नाटक और असम के कई हिस्सों में धारा-144 (Section 144) लागू कर दी गई है। आइये जानते है धारा-144 के बारें में।

धारा-144 का प्रयोग

देश के कई राज्यों में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के कारण प्रदर्शन और स्थिति गंभीर होने के कारण धारा-144 को लागू किया गया है। इसका उपयोग तब किया जाता है जब स्थिति काबू से बाहर हो जाती है। इसके द्वारा लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति को बनाये रखने में मदद मिलती हैं। ये शांति कायम करने में सफल धारा है। जो लोग धारा-144 का उल्लंघन कर देते हैं, उनके खिलाफ कुछ प्रावधान होते हैं।

सीआरपीसी धारा-144 (CRPC SECTION 144)

सीआरपीसी के मुताबिक धारा-144 शांति व्यवस्था और सौहार्दपूर्ण माहौल बनाने के लिए मदद करती हैं। इस धारा को एक प्रक्रिया के तहत जिलाधिकारी (DM) को अधिसूचना देकर जारी किया जाता है। धारा के लागू होने के बाद कुछ स्थानों पर चार या उससे अधिक लोग एकत्रित नहीं हो सकते या किसी भी तरह की रैली नहीं निकाल सकते। इसका उल्लंघन होने के बाद सजा मिलती हैं और पुलिस उस व्यक्ति को हिरासत में लेने का अधिकार रखती है। ये गिरफ्तारी धारा-107 या फिर धारा-151 के मुताबिक की जाती है। इस धारा का उल्लंघन या किसी भी तरह का दुरुपयोग करने पर आरोपी को एक साल की सजा का प्रावधान है। यह एक जमानती अपराध है, इसमें आरोपी को जमानत मिल जाती है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments