Categories
भारत

विजय दिवस 2018: आखिर क्यों मनाया जाता है यह दिवस?

यहाँ जाने की कैसे भारत ने पाकिस्तान पर पाई थी विजय?


विजय दिवस एक ऐसा दिन है जिसे कोई भी नहीं भूल सकता क्यूंकि इस दिन भारत और पकिस्तान के बीच हूआ युद्ध में कई जवान शहीद हुए और भारत ने 1971 में बांग्लादेश को पाकिस्तान से आज़ाद कराया था । भारत की इस बड़ी जीत को याद करते हुए हर साल विजय दिवस 16  दिसम्बर को मनाया जाता है.

यहाँ जाने आखिर ने इस युद्ध में भारत ने पाकिस्तान पर कैसे जीत पाई?

यह युद्ध 1971 मे शुरू हुआ था जब पाकिस्तान फौज गैर-मुस्लिम आबादी को निशाना बना  रहे थे जिसके बाद भारत ने यह खबर सुनकर  इस युद्ध में भाग लिया। यह युद्ध महज 14 दिन तक चला जिसमे 93 हजार पाक सैनिकों ने खुद को हथियारों समेत सरेंडर किया था. साथ ही इस युद्ध में भारत के 3 हजार  जवान  शहीद हो गए और कुछ घायल भी हुए थे. लेकिन यह युद्ध भारत के लिए ऐतिहासिक युद्ध रहा है इसलिए हर साल 16  दिसंबर को  विजय दिवस मनाया जाता है

बता दे की यह युद्ध तब हुआ था जब भारत में कांग्रेस की सरकार थी उस समय हमारी प्रधानमंत्री  इंदिरा गाँधी थी. उन्होंने जनरल मानेकशॉ की राय लेकर इस युद्ध में उन्हें जाने की अनुमति दी क्यूंकि तब पाकिस्तानी वायुसेना के विमानों ने भारतीय वायु सीमा को पार करके पठानकोट, श्रीनगर, अमृतसर, जोधपुर, आगरा आदि सैनिक हवाई अड्डों पर बम गिराना शुरू कर दिया था .

इसलिए  इंदिरा गाँधी ने तुरंत फैसला लेकर  जनरल मानेकशॉ को पूरी सेना के साथ युद्ध के लिए भेजा. भारतीय सेना ने युद्ध पर पूरी तरह से अपनी पकड़ बना ली और अंत में भारत को पाकिस्तान पर जीत हासिल हुई.

लेकिन भारत के जितने भी जवान इस युद्ध में शहीद हुए उनकी याद में यह दिन मनाया  जाता  है  ताकि  हर देशवासी के दिल में देशप्रेम को लेकर जो उमंग है  वो जिन्दा रहे.
Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments