भारत

स्वतंत्रता दिवस : आजादी से जुड़ी इन अनकही बातों से जरूर होंगे आप अनजान!

अंग्रेजों की गुलामी से आजाद हुआ आज हमारा देश 70वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। 15 अगस्त 1947 को कई वर्षो की गुलामी के बाद ब्रिटिश शासन से भारत को आजादी मिली थी।

आइए आजादी के इस अवसर पर हम आपको स्वतत्रंता दिवस से जुड़ी उन अनसुनी और अनकही बातों से रूबरू कराते हैं, जो शायद ही आपको मालूम हो।

  • आखिर आजादी के लिए 15 अगस्त ही क्यो? उस समय भारत के आखिरी वाइसराय लार्ड माउंटबेटन ही थे, जिन्‍होंने निजी तौर पर भारत की स्‍वतंत्रता के लिए 15 अगस्‍त का दिन तय किया था। क्‍योंकि इस दिन को वे अपने कार्यकाल के लिए बेहद शुभ मानते थे। इसके पीछे खास वजह यह थी कि असल में दूसरे विश्‍व युद्ध के दौरान 1945 में 15 अगस्‍त के ही दिन जापान की सेना ने उनकी अगुवाई में ब्रिटेन के सामने आत्‍मसमर्पण कर दिया था। माउंटबेटन उस समय संबद्ध सेनाओं के कमांडर थे। इसी कारण उन्होंने 15 अगस्त की तारीख को भारत की आजादी के लिए चुना।
  • 15th-August-1947

  • भारत आजाद हुआ था तब उसके पास अपना कोई राष्ट्रगान नही था, उस समय केवल वंदे मातरम गाया जाता था। रविंद्रनाथ टैगोर जन-मन-गन 1911 में ही लिख चुके थे, आजादी के तीन साल बाद 1950 में यह निर्णय लिया गया कि इसे राष्ट्रगान बनाया जाए।
  • Honour guard

  • हर स्वतंत्रता दिवस पर भारत के प्रधानमंत्री लाल किले पर जाकर झंड़ा फहराते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं, 15 अगस्त, 1947 को जब भारत आजाद हुआ था तब ऐसा नही हुआ था। लाल किले पर झंडा 16 अगस्त 1947 को फहराया गया था।
  • Interesting-and-Surprising-Facts-About-Indian-National-Flag-Tiranga

  • क्या आप जानते हैं गांधी जी को किसन बनाया राष्ट्रपिता? भारत के आजाद होने के बाद जवाहर लाल नेहरू और सरदार वल्लभ भाई पटेल ने महात्मा गांधी को पत्र भेजा। इस पत्र में लिखा गया था ‘15 अगस्त 1947 को स्वाधीनता दिवस होगा। आप राष्ट्रपिता हैं। इसमें शामिल हो अपना आशिर्वाद दें।‘
  • Mishra_IndiaandIdeology

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Hey, wait!

अगर आप भी चाहते हैं कुछ हटके वीडियो, महिलाओ पर आधारित प्रेरणादायक स्टोरी, और निष्पक्ष खबरें तो ऐसी खबरों के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें और पाए बेकार की न्यूज़अलर्ट से छुटकारा।