Categories
पॉलिटिक्स

मसूद अज़हर  वैश्विक आतंकी हुआ घोषित ,पाकिस्तान की बड़ी हार 

ऐसा क्या हुआ की पाकिस्तान और चीन ने बदल लिया अपना फैसला ?


आतंकवाद का कोई अपना  धर्म,  जाति या राष्ट्र हित  का मकसद नहीं होता है , ये तो बस कुछ नाजायज़ मकसद के लिए लोगो  की जान लेने के लिए उतावले  रहते है.देर से ही सही लेकिन पुलवामा अटैक के 75 दिनों के भीतर ही हमले के मास्टर माइंड और जैश-ए- मोहम्मद के सरगना को अब करारा जवाब मिल चूका है जी हाँ,कई सारे मासूमो और जवानो की मौत का जिम्मेदार मसूद अज़हर अब वैश्विक आतंकी घोषित हो चुका है.चीन के प्रतिबन्ध हटाने के तुरंत बाद  संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा की प्रतिबन्ध कमिटी ने सार्वजनिक  तौर पर ये फैसला सुना दिया है.

क्यों अब तक चीन ने नहीं दिया था समर्थन ?

दुनिया भर के कई सारे देशो ने न जाने कितनी बार मसूद  अज़हर को आतंकी घोषित करने के इस विषय में अपना प्रस्ताव रखा लेकिन कुछ  चुनिंदा मुल्को के कारण अब तक ये प्रस्ताव स्वीकार नहीं किया जा सका.चीन ने कई बार इस प्रस्ताव को मामूली बातों के लिए सिरे से खारिज कर दिया था जिसमे पाकिस्तान हमेशा से मसूद अज़हर की तरफदारी करता  नाज़ा आया है.लेकिन अब हालात और यु एस  से बनते दबाव के कारण चीन ने इसे स्वीकार कर लिया है जिसपर अब पाकिस्तान भी इस पूरे मामले में वाहवाही लूटने को तैयार बैठा है.

लम्बे समय से भारत की नज़र में था मसूद अज़हर

2016 से ही भारत द्वारा मसूद अज़हर को ताक पर रखा गया था, लेकिन 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकी हमले से इस मामले की गति काफी बढ़ा दी गयी थी. आपको बताते चले की पुलवामा आतंकी हमले में 40 CRPF जवान शहीद  हो गए थे इस पूरे हमले की जिम्मेदारी जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी जिसके बाद पाकिस्तान द्वारा लापरवाही की झलक मिली , इस घटना के बाद से ही भारत और पाकिस्तान के आपसी सम्बन्ध टूट गए.

यहाँ भी पढ़े:क्या अब भारत में भी बुर्का पहनने पर लगेगी पाबंदी ?

पाकिस्तान के आतंकियों को लेकर लापरवाह व्यवहार के कारण  कई देशो ने भारत का समर्थन करते हुए पाकिस्तान को फटकार लगायी थी.केवल चीन ही ऐसा एकमात्र देश था जिसे पकिस्तान की तरफ देखा गया.लेकिन अब यूएस के दबाव बनाने पर चीन ने भी अपने विचार बदल कर इस बड़े फैसले को अंजाम दिया

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments