पॉलिटिक्स

बजट सत्र के पहले दिन का तृणमूल के सांसद करेगें बहिष्कार

लोकसभा स्पीकर और सरकार द्वारा बुलाई गई बैठक


सरकार द्वारा और लोकसभा स्पीकर आज सर्वदलीय दलीय बैठक बुलाई थी। यह बैठक संसद के बजट सत्र से पहले लोकसभा स्पीकर और सरकार की ओर से बुलाई गई थी।

सर्वदलीय बैठक
सर्वदलीय बैठक

और पढ़े : आम बजट हुआ पेश, यह हैं खात बातें!

सुचारु रुप से सत्र चले इसलिए बैठक बुलाई

बैठक बुलाने का मुख्य मकसद था 1 फरवरी से पेश होने वाले बजट सत्र के बारे में बात करना। ताकि बजट सत्र शांत एवं सुचारु रुप से चलाया जा सके। इससे पहले शीतकाल सत्र के दौरान नोटबंदी के कारण सारा सत्र हंगामे की भेंट चढ गया।
वहीं दूसरी ओर विपक्ष ने मार्च में होने वाले दूसरे सेशन से पहले एक और सर्वदलीय बैठक बुलाने की मांग की है।
राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा है कि सरकार को बजट को चुनाव से पहले नहीं लाना चाहिए था। इसका असर चुनावी राज्यों पर पड़ेगा।

तृणमूल सांसदो ने सरस्वती पूजा का दिया हवाला

एक फरवरी से पेश होने वाले बजट सत्र का तृणमूल कांग्रेस ने बहिष्कार किया है। दरअसर चिटफंड के मामले में तृणमूल के दो सांसदो को सीबीआई ने गिरफ्तार किया है। जिसके कारण तृणमूल इसका बहिष्कार कर रहा है।

और पढ़े : 29 फरवरी को होगा आम बजट पेश!

वहीं दूसरी ओर राज्यसभा मेंबर डेरेक ओ ब्रायन ने बताया कि एक फरवरी को तृणमूल कांग्रेस के सांसद लोकसभा में नहीं आएंगे क्योकि एक फरवरी को बंगाल में सरस्वती पूजा है। यह दिन बंगाल के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण दिन है। सरस्वती पूजा के दिन कामकाज से दूर रहने और औजारों को हाथ भी न लगाने की परंपरा है। सरस्वती पूजा केवल धार्मिक ही नहीं ब्लकि यह बंगाल का सामाजिक संस्कृतिक उत्सव है।
गौरतलब है कि आज हुई सर्वदलीय बैठक में भी तृणमूल कांग्रेस के नेताओं ने हिस्सा नहीं लिया है। क्योंकि आज पार्टी सांसदो बैठक है। जिसे तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी ने दस दिन पहले ही बुलाई थी।

संसद का बजट सत्र 31 जनवरी से शुरु हो रहा है। पहले दिन राष्ट्रपति का अभिभाषण और आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट रखी जाएगी।
दो हिस्सों में चलेगा बजट सत्र पहला हिस्सा छोटा होगा जो 9 फरवरी से चलेगा। दूसरा हिस्सा 9 मार्च से 12 अप्रैल तक चलेगा क्योंकि बीच में चुनाव होने वाले हैं।

इस बार आम बजट के साथ ही रेल बजट भी पेश किया जाएगा।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Back to top button