भारत

आईएसआई का तीसरा एजेंट मुंबई से गिरफ्तार

पाकिस्तान से पैसा जमा करने का निर्देश मिलता था


 

यूपी और महाराष्ट्र एटीएस के संयुक्त कारवाई से पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई का एक ओर जासूस पकड़ा गया है। जासूस मुंबई के अग्री पाड़ा से पकड़ा गया है।

पाक उच्चाधिकारी के संपर्क में थे

आपको बता दें इससे पहले एटीएस ने फैजाबाद और मुंबई से दो पाकिस्तानी जासूस जावेद और अल्ताफ कुरैशी को गिरफ्तार किया था। जावेद को पाकिस्तान से पैसा जमा करने का निर्देश मिलता था।

इन दोनों से मिली जानकारी के बाद ही मुंबई के अग्री पाड़ा पर छापेमारी की। छापेमारी के दौरान जावेद के पुत्र इकबाल का गिरफ्तार किया गया। उसके पास से पुख्ता प्रमाण मिले हैं कि उसने एक पाक एजेंट के निर्देश पर आफताब के खाते में पैसा जमा किया था।

 

isi agent 1

पकड़े गए आईएसआई जासूस


 

आरोपियों से पूछताछ में पता चला है कि यह दोनों जासूस पाकिस्तान उच्चायोग के एक आधिकारी से संपर्क में थे। अल्ताफ और जावेद को मुंबई के कोर्ट में इंस्पेक्टर अविनाश मिश्र द्वारा प्रस्तुत किया जाएगा। वहां से ट्रांजिट रिमांड का आदेश लेकर लखलऊ लाया जाएगा।

सूत्रों के अनुसार भारत द्वारा अक्टूबर में किए गए सार्जिकल स्ट्राइक के बाद से सेना के कामकाज पर नजर रखने के लिए पाकिस्तान ने हायर किया था।

पहली गिरफ्तारी फैजाबाद से हुई थी

गौरतलब है कि यूपी एटीएस और सेना की संयुक्त कारवाई से ही आफताब अली को फैजाबाद से पकड़ा जा सका था।

अफताब के पास से संदिग्ध कागजात,कैंट एरिया का नक्शा, आतंकी लिटरेचर और कई चिट्ठियां भी बरामद हुई है।

आफताब की गिरफ्तारी के बाद से ही इस नेटवर्क में काम करने वालों पर एटीएस की नजर थी। इसी दौरान यूपी एटीएस की टीम ने मुंबई में महाराष्ट्र की टीम के साथ मिलकर रुम नंबर 201, युसूफ मंजिल,डॉ आनंद राव मेन रोड, मुंबई पर छापा मारा और वहां से अल्ताफ कुरैशी को गिरफ्तार कर लिया।

आरोपी अल्ताफ कुरैशी पुत्र हनीफ मूलरुप से दोरजी, गुजरात का रहने वाला है। एटीएस के मुताबिक अल्ताफ हवाला का अवैध कारोबार करता है। वह आईएसआई के कहने पर फैजाबाद से पकड़े गए एजेंट आफताब के खाते में पैसा जमा करता था। अल्ताफ के पास से लगभग 70 लाख रुपये भी बरामद किए गए है।

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Back to top button
Hey, wait!

अगर आप भी चाहते हैं कुछ हटके वीडियो, महिलाओ पर आधारित प्रेरणादायक स्टोरी, और निष्पक्ष खबरें तो ऐसी खबरों के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें और पाए बेकार की न्यूज़अलर्ट से छुटकारा।