लाइफस्टाइल

जॉब मिलने के बाद भी करें ये कार्य

6 बातें जो ले जायेंगे आपके करियर को नई ऊँचाइयों पर


किसी भी मनुष्य के जीवन में उसका करियर एक अहम भूमिका निभाता है क्योंकि यही उसके भविष्य की नींव होती है। देखा जाये तो करियर किसी की भी ज़िन्दगी का सबसे बड़ा इन्वेस्टमेंट है। कई बार लोग सोचते हैं कि उन्हें जॉब मिल गयी है तो इसका अर्थ यह है की उनका करियर भी बन गया है। इसमें कोई शक़ नही है की जॉब से ही करियर बनता है लेकिन वह केवल नौकरी तक सीमित नही होता।

कुछ करियर एक्सपर्ट्स यह बताते हैं की किस तरह आप अपने जीवन को और मजबूत कर खुद की ताकत समझ सकते हैं। चाहे आपको हाल ही में नौकरी मिली हो या फिर आप अपने करियर में पूरी तरह सेटल हों या फिर यह तलाश रहें हो की आपको किस दिशा में आगे बढ़ना है, आपकी ऐसी स्थिति में ये नीचे लिखी सलाह अत्यन्त लाभदायी होंगी क्योंकि आप अपने करियर के प्रति नज़रिया बदल पायेंगे।

6 बातें जो ले जायेंगे आपके करियर को नई ऊँचाइयों पर

काम आएँगी ये आदतें :-

  • करियर का लक्ष्य तय करना : जिस प्रकार आप एक फिनांसिसल गोल तय करते हैं उसी प्रकार आपको करियर का भी एक लक्ष्य तय करना चाहिए। आदर्श रूप से प्लानिंग और गोल सैटिंग स्टूडेंट होने के दौरान ही सेट हो जानी चाहिए। हालाँकि स्टूडेंट्स में करियर के बारे में कम जानकारी होती हैं किंतु उन्हें अपने बड़ों से जजानकारी हांसिल करनी चाहिए।
  • लगातार सीखना : अधिकतर लोगों को लगता है कि जॉब मिलने के बाद वे सेटल ही गये हैं और इस सोच के चलते वे नयी चीज़े नही सीखते। जॉब मिलने का मतलब यह नही है कि आपने लक्ष्य पा लिया है और सीखने का सिलसिला खत्म हो गया है। आपको एक अल्टीमेट गोल बनाकर उसकी ओर अग्रसर होंना चाहिए। मेडिसिन, नर्सिंग, आईटी, इंजीनियरिंग जैसे ग्लोबल प्रोफेशन्स में लगातार सीखना पड़ता है। दुनिया डिजिटल हो रही है ऐसे में सभी को अपने डिजिटल स्किलज़ बढाने के ज़रूरत होती है अर्थात आपको भी डिजिटल क्रांति का भाग बनने की आवश्यकता है
  • एक इंटरप्रेन्योर की तरह सोचें : एक बार जब आप करियर के सीढ़ी पर कदम रखते हैं तब आपको पता चलता है कि आपके मौजूद स्किल्स आपके बेहतर करियर के लिए पर्याप्त नही है। उदाहरण के तौर पर ज़्यादातर लोग आईटी सेक्टर मऊ प्रोग्रामर के रूप में आते हैं आगे बढ़कर टीम लीडर बनते हैं और अगला लेवल मैनेजमेंट का होता है और इसके लिए कोडिंग से आगे बढ़ने की ज़रूरत होती है। इसके लिए आपको प्रोजेक्ट के फाइनेंसियल आस्पेक्ट्स, कस्टमर, सर्वीस जैसी चीज़ें पता होनी चाहिए।
  • नेटवर्किंग : नेटवर्किंग करियर ग्रोथ के लिए एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। कम्पनीज मे 50 फीसदी हायरिंग नेटवर्किंग द्वारा होती है। नेटवर्किंग फॉर्मर कॉलीग्स, लिंकडिन और फेसबुक जैसे मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर भी हो सकती है। आपको इन नेटवर्क्स का इस्तेमाल कॉन्टेक्ट्स बढ़ाने के लिए करना चाहिए।
  • मेन्टर तलाशिये : एक अच्छा मेंटर आपको नई दिशा दिखा सकता है। कई हालात ऐसे आते हैं जब हमें मदद की ज़रूरत होती है और करियर में किसी से मदद लेना गलत नही है। जॉब ढून्ढ रहे लोग अपने इंस्टिट्यूट के कॉउंसेल्लोर इस फिर अन्य प्रोफेशनल्स से भी मदद ले सकते हैं या फिर आप एक्सपर्ट्स से भी सलाह ले सकते हैं।
  • खुद को तराशिये : खुद और बेहतर बनाना कभी भी नहीं छोड़ना चाहिए। कैंडिडेट्स को ऐसे पहलुओं और गौर करने की ज़रूरत है जो जॉब से तो जुड़े नही नज़र आते परंतु कहीं न कही उनकी एक अहम भूमिका होती है। फिजिकल फिटनेस इनमे से एक है। अप्पेयरेन्स, ड्रेसिंग सेंस और अट्ट्रक्टिवे सीवी भी इसका एक भाग हैं।
Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Back to top button
Hey, wait!

अगर आप भी चाहते हैं कुछ हटके वीडियो, महिलाओ पर आधारित प्रेरणादायक स्टोरी, और निष्पक्ष खबरें तो ऐसी खबरों के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें और पाए बेकार की न्यूज़अलर्ट से छुटकारा।