भारत और रूस के बीच हुआ सबसे बड़ा समझौता


जाने भारत और रूस के समझौते से किस देश को होगा नुक्सान 


अभी हाल ही में आए  भारत यात्रा पर रूस के प्रेसिडेंट और देश के प्रधानमंत्री  के बीच बहुत अच्छी बॉन्डिंग दिखी।  साथ ही भारत और रूस  की दोस्ती  का इतिहास भी गवाह  रहा है.  फिर से एक बार इनकी दोस्ती और भी अच्छी  हो  रही है। जिसके चलते भारत और रूस के बीच  बहुत बड़ा समझौता हो चूका है।

भारत ने रूस सेएस-400 वायु रक्षा प्रणाली खरीदने के लिए पांच अरब डॉलर के समझौते पर शुक्रवार यानी 5 अक्टूबर को  को हस्ताक्षर कर दिए  है . इस मिसाइल सिस्टम की डील को लेकर वर्ष 2015 से भारत-रूस के बीच बात चल रही थी और आज जाकर इस समझौते को मंजूरी मिल गयी है. साथ ही कई देश रूस से यह सिस्टम खरीदना चाहते हैं क्योंकि इसे अमेरिका के थाड (टर्मिनल हाई ऑल्टिट्यूड एरिया डिफेंस) सिस्टम से बेहतर माना जाता है.

s-400-
s-400-

जाने भारत और रूस के इस समझौते से किस देश को होगा नुक्सान ?

अगर सबसे ज्यादा फर्क या कहे नुक्सान होगा तो वो अमेरिका का होगा।  अमेरिका लगातार रूस से किसी भी तरह की रक्षा खरीद करने पर बैन लगाने की धमकी देता रहा है. अमेरिका ने कहा है कि रूस के साथ भारत की यह डील उनके सी ए ए टी एस ए सेक्शन 231 के तहत आती है जिसके चलते इस डील पर वह बैन लगा सकता है.

यहाँ भी पढ़े : सरकार ने रोहिंग्या मुसलमानो को लेकर उठाया यह सख्त कदम

लेकिन इससे  भारत का  रूस के साथ S-400 डील होने के बाद भारत दुनिया का तीसरा देश होगा जिसके पास यह मिसाइल सिस्टम है. इसके पहले चीन और तुर्की के साथ रूस यह डील कर चुका है.  वही एक देश और है जो इससे खरीदना चाहता है. वही इस डील  को लेकर पड़ोसी देश यानी इस डील को लेकर पाकिस्तान काफी चिंतित है. लेकिन इस डील से भारत को बहुत फायदा हो जायेगा।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us atinfo@oneworldnews.in

Story By : AvatarNeha Singh
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
%d bloggers like this: