5 सितंबर टीचर डे के  पीछे का है इतिहास और इसका महत्व 

डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिन के मौके पर मनाया जाता है टीचर डे


भारत में हर साल 5 सितंबर को टीचर डे मनाया जाता है. एक टीचर का एक बच्चे की जिंदगी में क्या स्थान होता है इसे आपको बताने की जरूरत नहीं है. माता पिता के बाद बच्चे के जीवन में दूसरा स्थान उसके टीचर का ही होता है टीचर के बिना एक बच्चे का जीवन अधूरा है. टीचर बच्चे के भविष्य को अच्छा बनाने के लिए महत्वपूर्ण योगदान देते है. 5 सितंबर को भारत के भूतपूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म हुआ था उनके जन्मदिन के मौके पर ही भारत में 5 सितंबर को टीचर डे मनाया जाता है. 1962 से ही डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिन को शिक्षक दिवस के तौर पर लगातार मनाया जा रहा है. डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन ने अपने छात्रों से अपने जन्मदिन को शिक्षक दिवस के रूप में मनाने की इच्छा जताई थी.

जाने कौन है डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन

डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म 5 सितंबर 1888 को तमिलनाडु के तिरुमनी गांव के एक ब्राह्मण परिवार में हुआ था. वे भारत के पहले उप-राष्‍ट्रपति थे. वे बचपन से ही किताबें पढ़ने के बड़े शौकीन थे. साथ ही वो बचपन से ही स्वामी विवेकानंद से काफी प्रभावित थे. सर्वपल्ली राधाकृष्णन जब भारत के राष्ट्रपति बने तो उनके कुछ छात्रों ने उनसे अनुरोध किया कि वे उन्हें अपना जन्मदिन मनाने की अनुमति दें.  उस वक्त उन्होंने अपने छात्रों से कहा कि मेरा जन्मदिन अलग से मनाने के बजाए आप लोग इसे 5 सितंबर को टीचर डे के रूप में मनाए. तब से ही 5 सितंबर को टीचर डे के रुप में देश में मनाया जा रहा है.

और पढ़ें: Ganesh Utsav 2020: जाने क्यों मनाया जाता है गणेशोत्सव और कैसे हुई शुरुआत

अलगअलग देशों में इस दिन मनाया जाता है टीचर डे

टीचर डे दुनिया के 100 से ज्यादा देशों में अलग-अलग तारीख को मनाया जाता है. चीन से लेकर, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, अल्बानिया, इंडोनेशिया, ईरान, मलयेशिया, ब्राजील और पाकिस्तान तक यह दिन को मनाया जाता है. हालांकि हर देश में टीचर डे को मनाने की तारीख अलग-अलग है. जैसे कि- चीन में 10 सितंबर को, अमेरिका में 6 मई को, ऑस्ट्रेलिया में अक्तूबर के अंतिम शुक्रवार को, ब्राजील में 15 अक्तूबर और पाकिस्तान में 5 अक्तूबर को टीचर डे मनाया जाता है.

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments