वीमेन टॉक

Tasnim Mir: जाने कैसा रहा तसनीम मीर का एक आम लड़की से दुनियां की नंबर 1 बैडमिंटन खिलाड़ी बने का सफर

Tasnim Mir: जाने 16 की तसनीम मीर के बारे में, जो है दुनिया की नंबर 1 बैडमिंटन खिलाड़ी


Highlights:

  • जाने कौन है तसनीम मीर?
  • तसनीम मीर ने दुनिया भर में बैडमिंटन में हासिल की पहली रैंक।
  • जाने तसनीम के बैडमिंटन करियर के बारे में।
  • दौर ऐसा आया जब तसनीम ने बैडमिंटन छोड़ने का कर लिया था फैसला।
  • जाने तसनीम मीर की उपलब्धियों के बारे में।

Tasnim Mir: एक समय हुआ करता था जब हमारे देश की महिलाएं घर और घर के कामों तक सीमित रहा करती थी लेकिन आज के समय पर हमारे देश की बेटियां लगातार दुनिया भर में भारत का गौरव बढ़ा रही हैं। आज के समय पर देश की बेटियां अपनी कड़ी मेहनत और लगन के बल पर सभी क्षेत्रों में प्रथम पायदान पर हैं। अगर हम बात करें खेल जगत की तो पिछले कुछ सालों में हमारे देश में महिला खिलाड़ियों का बोलबाला रहा है।

सानिया मिर्जा हों या साइना नेहवाल हो, या फिर हो मेरी काम हो या पीवी सिंधू हो, देश की बेटियां न सिर्फ बड़ी उपलब्धियां हासिल कर रही हैं बल्कि अंतरराष्ट्रीय मंच पर भारत का शानदार प्रतिनिधित्व भी कर रही हैं। अभी इस लिस्ट में एक और नाम जुड़ गया है। जिसने पूरी दुनिया भर में बैडमिंटन में पहली रैंक हासिल की है। भारत की इस बेटी का नाम तसनीम मीर है। बता दें कि तसनीम मीर ने महिला बैडमिंटन खिलाड़ी के अंडर 19 सिंगल्स में विश्व की पहली खिलाड़ी होने का खिताब हासिल किया है।

read more –Women Empowerment: जाने कौन है प्रो बेला, जाने कैसे करती है हॉर्टिकल्चर थेरेपी से लोगो की मदद

इसमें सबसे खास बात यह है कि भारत से पहली बार कोई महिला खिलाड़ी पूरे विश्व में नंबर 1 पर पहुंची हो। तो चलिए विस्तार से जानते है बैडमिंटन खिलाड़ी तसनीम मीर के बारे में।

जाने कौन है तसनीम मीर?

बैडमिंटन खिलाड़ी तसनीम मीर अभी महज 16 साल की हैं और वो गुजरात की रहने वाली हैं। तसनीम का जन्म गुजरात के मेहसाणा में हुआ था। गुजरात से ही तसनीम की शुरुआती पढ़ाई हुई थी। जब तसनीम महज 7 साल की थी तब उनके पिता ने उन्हें बैडमिंटन खेलने के लिए प्रोत्साहित किया था। बात दें कि तसनीम के पिता मेहसाणा पुलिस में हैं, लेकिन साथ ही साथ वो एक बैडमिंटन कोच भी हैं। इन दिनों बैडमिंटन खिलाड़ी तसनीम मीर का नाम काफी ज्यादा चर्चा में है। अंडर 19 बैडमिंटन खिलाड़ियों की सूची में तसनीम मीर ने पूरी दुनिया में अपना पहला स्थान बना लिया है। तसनीम मीर की बैडमिंटन के अंडर 19 में वर्ल्ड रैंकिंग नंबर 1 है।

Read More- 5 Indian Women Activists: ऐसी बुलंद महिलाएं जो बनी लाखों लोगों की आवाज़!

जाने तसनीम के बैडमिंटन करियर के बारे में

तसनीम में काबिलियत थी कुछ कर दिखाने की चाह थी यही कारण है कि उन्होंने अंडर 13, अंडर 15 और अंडर 19 लड़कियों के सिंगल्स में जीत हासिल की।इतना ही नहीं तसनीम मीर ने महज 14 साल की उम्र में अंडर 19 का राष्ट्रीय जूनियर चैंपियनशिप जीत लिया था। उसके बाद से तसनीम ने बैडमिंटन को ही अपना करियर बना लिया। जिसके बाद उन्होंने प्रोफेशनल ट्रेनिंग शुरू की।

दौर ऐसा आया जब तसनीम ने बैडमिंटन छोड़ने का कर लिया था फैसला?

तसनीम मीर की जिंदगी में एक ऐसा दौर भी आया जब उन्होंने बैडमिंटन छोड़ने का फैसला कर लिया था घर पर आई पैसों की कमी के कारण तसनीम के पिता ने हार मान ली और बैडमिंटन छोड़ने की सोचने लगे। लेकिन तसनीम के बेहतरीन प्रदर्शन को देखते हुए उन्हें स्पॉन्सरशिप मिली। फिलहाल अभी पिछले चार सालों से तसनीम गुवाहाटी स्थित असम बैडमिंटन अकादमी में बैडमिंटन की ट्रेनिंग ले रही हैं और तसनीम मीर के कोच स्टारलेट इंडोनेशियाई कोच एडविन इरियावान हैं।

जाने तसनीम मीर की उपलब्धियों के बारे में ?

अभी बैडमिंटन खिलाड़ी तसनीम मीर ने अंडर 19 में अपनी जगह पकी कर ली है। इतना ही नहीं तसनीम ने कई ट्रॉफी अपने नाम की। साल 2018 में हैदराबाद और नागपुर में हुए अखिल भारतीय सब-जूनियर रैंकिंग टूर्नामेंट में अंडर 15 सिंगल्स और डबल्स के खिताब भी जीते। उसके बाद साल 2019 में भी उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया।

बात दें कि तसनीम मीर ने अंडर 15 जूनियर चैंपियनशिप और इंडोनेशिया में हुए एशियाई अंडर 17 चैंपियनशिप में भी जीत हासिल की। इतना ही नहीं पिछले साल तसनीम ने तीन जूनियर इंटरनेशनल टूर्नामेंट्स में जीत हासिल की और विश्व रैंकिंग में टॉप पर पहुंच गईं और फ्रांस, बुल्गारिया और बेल्जियम में खिताब कई खिताब अपने नाम किये। जिन्होंने उन्हें विश्व रैंकिंग में टाॅप पर पहुंचाने में मदद की।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Back to top button