Categories
लाइफस्टाइल

हफ्ते के 7 दिनों के लिए 7 तरह के योग, जो रखेंगे आपको बीमारियों से दूर

शरीर के लिए योग क्यों जरूरी है?


योग एक प्राचीन परंपरा है जो एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी को विरासत में मिली है। योग हमारे शरीर के साथ-साथ हमारे मन को भी स्वस्थ रखता है। योगा हमारी जिंदगी का एक अहम हिस्सा होता है। योग हमें धर्म-कर्म-अर्थ और मोक्ष चारों ही पुरुषार्थ को पाने में हमारी बहुत मदद करता है। रोज योग करने से नकारात्मक ऊर्जा हमारे शरीर से बाहर निकलती है और सकारात्मक ऊर्जा का संचार हमारे पूरे शरीर में होता है। चलिए आज हम आपको बतायेगे  7 दिनों के लिए 7 तरह के योग।
सोमवार के लिए मत्स्यासन: सोमवार का दिन ज्यादा तर लोगों को पसंद नहीं होता क्योकि शनिवार और रविवार की के बाद सोमवार को आपको ऑफिस जाना पड़ता है. सोमवार से एक नए सप्ताह की शुरुआत होती है. इस लिए आपको अपने सप्ताह की शुरुआत मत्स्यासन से शुरु करना चाहिए। इस योग से आपको  थकान से राहत मिलेगी। साथ ही रीढ़ और गर्दन की मसल्स को रिलैक्स करता है इतना ही नहीं ये पोस्चर, लचीलापन और पाचन में सुधार करता है।
मंगलवार के लिए त्रिकोणासन: ये दिन अपने आप को आगे की तरफ पुश करने का दिन होता है। मंगलवार एक ऐसा दिन होता, जब आपका न तो ऑफिस जाने का मन करता है न ही घर से बाहर निकलने का। इस लिए मंगलवार को त्रिकोणासन योग करना चाहिए। त्रिकोणासन योग एक ऐसा योग है जो आपके पैरों की मांसपेशियों, कूल्हों, जांघों और बाहों को स्ट्रेच करने में मदद करता है।
बुधवार के लिए वीरभद्रासन: बुधवार हफ्ते का मिड डे होता है इस दिन आपको काम करने के लिए पुरे जोश की जरूरत होती है। इसलिए बुधवार को वीरभद्रासन योग करना चाहिए ये आपको स्ट्रेच रिलीज करने में मदद करेगा। साथ ही आपको एनर्जी देता है

और पढ़ें: डायबिटीज़ को करना चाहते है कंट्रोल तो अपनाये ये 5 उपाय! 

वीरवार के लिए वृक्षासन: वीरवार एक ऐसा दिन है जो आपके मन में वीकेंड की उम्मीद जगा देता है। वीरवार को आप वृक्षासन कर सकते है वृक्षासन से आपके पैरों को मजबूती, तनाव से रहत, और घुटने के दर्द से आपको हमेशा के लिए छुटकारा मिल सकता है।
शुक्रवार के लिए पश्चिमोत्तानासन: शुक्रवार का दिन बॉडी को डिटॉक्स करने के लिए सबसे अच्छा दिन है शुक्रवार को आप पश्चिमोत्तानासन योग कर सकते है। पश्चिमोत्तानासन से आपका तनाव कम होता है साथ ही इससे पीठ के निचले,जांघो व् कूल्हों की मांसपेशियों को मजबूती मिलती है।
शनिवार के लिए सर्वांगासन: इस आसन को करने के लिए पहले आप अपनी पीठ के बल लेट जाएं। इसके बाद एक साथ अपने पैरों, कूल्हे और फिर कमर को उठाएं। इस दौरान आपका सारा भार आपके कंधों पर आ जाएगा। यह आसान थकान को कम करने और पाचन में सुधार करने में मदद करता है।
रविवार के लिए शवासन: रविवार का दिन आराम का दिन होता है इस दिन सबकी छूटी होती है। इस दिन आप आराम से शवासन आसान कर सकते है इससे आपके ब्रीदिंग पर फोकस करने, तनाव और चिंता को दूर करने में आपकी मदद करता है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

कितना आसान है शीर्षासन करना और ये कैसे रखता हैं आपके मसल्स को मजबूत?

शीर्षासन कैसे दिलाता है माइग्रेन से छुटकारा


गलोइंग स्किन और हेल्थी रहने के लिए जरूरी है रोजाना सुबह उठकर योग करना। योग आपको अदंर से स्ट्रोंग करता है और आपके चेहरें पर भी निखार लेकर आता है। योग में कईं सारे आसान होते हैं जिनमे से एक आसान है- शीर्षासन। शीर्षासन योगासन को हैडस्टैंड पोज़ भी कहते हैं। शीर्षासन के कई सारे स्वास्थ्य लाभ होते हैं।

शीर्षासन को रोज़ाना करने से शरीर के प्रत्येक अंग को फायदा मिलता है और यह आपको शारीरिक और मानसिक दोनों तरीको से आपको स्वस्थ रहने में मदद करता है। लेकिन इस आसन को करना इतना आसान नहीं है। इसे अच्छे से करने के लिए आपको रोज़ाना इस आसान का अभ्यास करना होगा।

सबसे पहले जानते हैं की शीर्षासन कैसे किया जाता हैं

1. शीर्षासन करने के लिए सबसे पहले अपने दोनों हाथों की उंगलियों को एक दूसरे में फंसालें और फिर अपने सिर को दोनों हाथों के बीच में रखे।

2. अब सिर के ऊपरी हिस्से को जमीन से मिलाकर और पैरों के अंगूठों पर बैलेंस बनाने की कोशिश करें।

3. धीरे-धीरे पैरों को आगे बढ़ाते हुए सिर की तरफ लेकर आये।

4. उसके बाद पैरों को धीरे- धीरे आसमान की तरफ लेकर सीधा उठाएं और गहरी सांस लेते रहें। फिर उसी  पोजीशन में खुद को होल्ड रखे।

5. इसी तरह पैरों को घुटनों से मोड़कर सीने के पास लाएं और फिर अंगूठों को जमीन पर रखकर पैर सीधे करें। अब रिलैक्स पोजीशन में आ जाएं।

अब जानते हैं की इसके क्या फायदें हैं

1. शीर्षासन करने के कई सारे फायदें हैं जैसे की यह आपको सिर दर्द और माइग्रेन से राहत दिलाता हैं. शीर्षासन से आपके दिमाग के हिस्सों को पूर्ण पोषण मिलता है जिससे ये बेहतर काम करे। लेकिन जब  सिरदर्द हो तब शीर्षासन का अभ्यास नहीं करना चाहिए।

2. इसके इलावा यह आपके बाजुओ को और भी ज्यादा मज़बूत करता हैं क्योंकि जब आप यह आसन करते हैं तब आपकी फोरआर्म्स और शोलडर्स का अधिक इस्तेमाल होता है। यह कंधे और बाजू की मांसपेशियों को  मजबूत बनाता है और स्टेमिना में बढ़ाता है

3. साथ ही यह तनाव को भी कम करता हैं

4. इस आसन को करने से बालों का टूटना भी कम होता हैं

और पढ़ें: शहद रखता है आपको इन सभी बीमारियों से दूर: कैसे करे इसका उपयोग?

इस आसन को करने के दौरान इन बातों का रखें खास ध्यान

1. इस आसान को करने के दौरान यह ध्यान दें की आपको कमर, सिर या गर्दन में पहले से कोई चोट न लगी हो या अंदरूनी कोई समस्या न है तभी इस आसन  को करे

2. इस आसन को करने से पहले एक्सपर्ट से सिखे।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

सूरज कि किरनो से मिलती है एनर्जी

रोज सुबह उठ कर योगा करना क्यों है जरुरी?


हर रोज कि शुरुआत सूर्य उदय से होती है नया दिन, एक नई शुरुआत. हर दिन कि शुरुआत एक नयी एनर्जी के साथ होती है, जिससे आपका पूरा दिन अच्छा और फ्रेश जाता है. काम में मन भी लगता है. इसलिए हर सुबह उठ कर सूर्य नमस्कार करना जरूरी है.क्यूंकि जब आप सुबह उठते  है आप फ्रेश होकर घर से ऑफिस के लिए निकलते है, ऑफिस जाकर कामं करते है वो भी फुल एनर्जी के साथ, आपको काम करने में आलस भी नहीं आता है ओर आपका पूरा दिन अच्छा जाता है.

अच्छे और फ्रेश दिन के लिए आप को सूर्य नमस्कार के साथ योगा करना भी जरुरी है इससे आप हेल्थी और फिट रहेंगे. अगर आप फिट रहेंगे तो आपको थकवट भी महसूस नहीं होगी. सुबह आपको सूरज कि किरणों से भी एनर्जी मिलती है, इसलिए सुबह उठ कर वाल्क और योग जरुर करना चाहिए.

एनर्जी के लिए आपको खाने-पीने भी ध्यान देना होगा, जैसे सुबह के नाश्ता, दिन के खाना और रात के खाने में क्या खाना है? सुबह में आपको सिर्फ फ्रूट जूस पीना होगा ताकि आपका नाश्ता हैवी ना हो और आपको सुबह- सुबह थकवट भी महसूस ना हो. फिर दिन के खाने में हरी सब्जियां खाए. दिन में चावल तो बिलकुल ना खाए नहीं तो ऑफिस में आपको काम करने के समय पर नींद और आलास आने लगेगा और रात के खाने में भी सब्जियां, दाल और दही रोटी खाए जिससे रात का खाना ज्यादा हैवी ना लगे और आप सुबह जल्दी भी उठ जाये.

अब जाने कि योगा करने से क्या फायदे होंगे?

  1. योगा से आपको शारीरिक, मानसिक रूप से रेस्ट मिलता है
  2. आप स्ट्रेस फ्री रहते है
  3. योगा करने से बीमारियाँ दूर रहती है
  4. योगा से ब्लड शुगर का लेवल घटता है
  5. आपके शरीर से कोलेस्ट्रोल को कम करता है
  6. आपके मांसपेशियों के लिए भी अच्छा रहता है और भूक भी लगती है

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in

Categories
लाइफस्टाइल

सेक्स लाइफ को बेहतर बनाने के लिए करे ये काम

सेक्स लाइफ को बेहतर बनाने के तरीके


अगर आप कैलोरी के प्रति सचेत है और अधिक वजन कम करने के लिए स्वास्थ्यवधक भोजन ग्रहण करते है। एक दिलचस्प शोध मे यह पता चला है कि कम खाने से न लोगो का वजन कम करने मे मदद मिलती है और तनाव को कम करता है जिससे सेक्स लाइफ बेहतर हो जाती है।

सेक्स टिप्स

कम कैलोरी ग्रहण करने वाले समूह के लोगों की नींद बेहतर हुई है और उनका वजन भी घट गया है। मोटापे के शिकार लोग अगर कम कैलोरी ले तो उनकी नींद और यौन प्रणाली बेहतर होती है।

ऐसे मे लोग अपने पार्टनर को शारीरिक सुख की अनुभूति नही करा पाते है। लेकिन आदतों को अपनी जीवनशैली मे शामिल कर सेक्स लाइफ को बेहतर बनाया जा सकता है।

तनाव खराब सेक्स लाइफ का एक प्रमुख कारण है। इसके लिए काफी हद तक हमारा लाइफ स्टाइल जिम्मेदार है। तनाव से बचने के लिए दिन के कामो का सही प्रबंध करे और ऑफिस और घर को अलग रखें। नियमित योग कर भी तनाव से बचा जा रहा है।

एक्सरसाइज

सेक्स लाइफ को बेहतर बनाने के तरीके

  •  हेल्दी सेक्सुअल जीवन व अच्छे सेक्स के लिए सकारात्मक सोच जरुरी होती है।
  • सेक्स लाइफ का भरपूर आनन्द लेने के लिए शरीर का फिट रहना भी जरुरी है। इसलिए हर रोज एकसरसाइज करें।
  • इसके अलावा यदि आप चाहें, तो जाँगिंग भी कर सकती है, क्योकि जागिंग करने से भी बेहतर सेक्स मे मदद मिलती है और शरीर फिट रहता है।
  • दो टोबलस्पून आवंले के रस मे एक एक टीस्पून सूखे आवंले का चूर्ण और शहद मिलाकर दिन मे दो बार ले इससे सेक्स पावर बढ़ती है।
  • गुलाबी, लाल, बैंगनी व जामूनी रंग की प्रकति गरम होती है, ये रंग सेक्स पावर बढाती है इसलिए अपने बेडरुम मे इन रंगो का अधिक से अधिक इस्तेमाल करे।
  • अच्छी सेक्स लाइफ का केवल तन से ही लेना देना नही रहता, बल्कि आपकी मन व संतुष्टि भी मायने रखती है।

जरुरी टिप्स

  • हफ्ते मे दो-तीन बार सेक्स करने से रोगप्तिरोधक क्षमता बढ. जाती है।
  • एंकलबोन के नीचे ऐडी मे सर्कुलर मसाज करने से सेक्सुअल उतेजना बढती है।
  • ध्यान रखे कि सेक्स के बीच गैप होना भी जरुरी है, खासतौर पर कोई इंफेक्सन पीरियडस, सेक्सुअल प्राब्लम्स आदि होने पर सेक्स नही करना चाहिए।
Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in