Categories
हॉट टॉपिक्स

Delhi AQI today: दिल्ली की हवा में आया सुधार, AQI में देखने को मिली गिरावट

Delhi AQI today: दिल्ली-एनसीआर में गुरूवार को  हुई बारिश से प्रदूषण हुआ कम


Delhi AQI today: आज सुबह दिल्ली-एनसीआर में बारिश के साथ ठंड बढ़ गई तो वही कुछ इलाको में ओले पड़ने से प्रदूषण भी धुल गया। बारिश से दिल्ली के प्रदूषण स्तर में भी तेजी से गिरावट देखने को मिली जिस से लोगो ने राहत की साँस ली। हालांकि, AQI में गिरावट 27 नवंबर की शाम से ही देखने को मिल गई थी। आपको बता दें की केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अनुसार दिल्ली में आज सुबह बारिश के बाद आईटीओ में एयर क्वालिटी इंडेक्स में प्रदूषण का स्तर 149 और आनंद विहार इलाके में 184 दर्ज किया गया।

दिल्ली में बारिश से हुई हवा साफ़

मौसम विभाग के अनुसार आगे तापमान में और गिरावट दर्ज की जा सकती है। साथ ही मौसम विभाग ने यह कहा है की दिल्ली और उत्तर- पश्चिम भारत में पश्चिमी विक्षोभ की वजह से बारिश हो रही है जिसकी वजह से हवा की गति में भी बढ़ोत्तरी देखने को मिल रही है,  इससे आगे प्रदूषण का स्तर और भी कम होने की संभावना है। हवा की गुणवत्ता औसत दर्जे पर पहुंच सकती है। लेकिन 29 नवंबर को एक बार फिर प्रदूषण का स्तर बढ़ने का अंदेशा है और 1  दिसंबर  से ठण्ड भी बढ़ने का अनुमान लगाया जा रहा है।

दिवाली के बाद से ही दिल्ली की प्रदूषण  स्तर  बढ़ते  हुए देखा गया जिस से लोगो का खुले  में साँस लेना  भी मुश्किल हो गया था। वही अब AQI में   आई  गिरावट से दिल्ली के लोगों  को बड़ी राहत मिली है जिस से अब लोग लोग खुल कर साँस  ले पा रहे है।

और पढ़ें: 26/11 Mumbai Attack को हुए 11 साल, आज भी ताज़ी है उस शाम की यादें

कैसे  नापा  जाता है एक्यूआई ?

एक्यूआई 0 से 50 के बीच यानी ‘अच्छा’ है, 51 से 100 के बीच यानी ठीक – ठीक है’, 101 से 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 से 300 के बीच ‘खराब’, 301-400 के बीच ‘बिल्कुल ख़राब है’, 401 से 500 के बीच ‘गंभीर’ और 500 के पार ‘बेहद गंभीर  इमरजेंसी ’ माना जाता है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
स्वादिष्ट पकवान

बारिश के मौसम में स्ट्रीट फ़ूड का मजा ही अलग है!

स्ट्रीट  फ़ूड का टेस्ट  लेना  चाहते है तो यह जगह है आपके लिए


कभी – कभी  मौसम भी इतना प्यारा  हो जाता है की बाहर  घूमने में और बाहर  का स्ट्रीट  फ़ूड खाने का मन करता है.  ज्यादातर  तब जब बारिश का मौसम  होता तब चाय पकोड़े  , गोलगप्पे या आलू  चाट खाने का मज़ा ही कुछ और है. अगर आपको स्ट्रीट  फ़ूड बेहद ही पसंद है तो  ये  जगहें है आपके लिए.

चीली पटेटो

स्ट्रीट  फ़ूड  के लिए यह है 6  बेस्ट जगह :

1.चाइनीज चाट: बारिश के मौसम में चाट खाने का मजा अलग ही है. अब चाहे वो आलू  चाट हो या चाइनीज चाट।  अगर आपको चाइनीज चाट खानी है तो आपको यह चाट लाजपत  नगर में मिलेगी।

2. खानदानी पकोड़े वाला: खानदानी  पकोड़े वाला बहुत  ही फेमस  है यहाँ पर लोग दूर दूर से इनके पकोड़े टेस्ट करने दूर – दूर से आते है लोग . इनके यहाँ   चाहे गर्मी हो या सर्दी सभी मौसम में ही भारी भीड़ देखने को मिलती है. अगर बारिश के मौसम खानदानी पकोड़े खाना चाहते है तो ये जगह सरोजनी नगर में है.

3.अतुल चाटवाला: अतुल चटवाला की शॉप काफी फेमस है और यह राजौरी गार्डन में है. यहाँ लोग स्पेशली  इनकी आलू  चाट  खाने के लिए आते है.

यह भी पढ़े: अगर आप को पसंद है चिकन , तो यहाँ के सोया चाप खाकर भूल जायेंगे चिकन

4.शिव टिक्की वाला: शिव टिक्की वाला दिल्ली एनसीआर  का बेस्ट  टिक्की वला है. यह जगह करकरडूमा मे है लोग दूर- दूर से इनकी टिक्की खाने आते है.आप भी  जरूर जाए अगर अपने एक बार यहाँ की टिक्की  टेस्ट कर ली दोबारा खुद को आने से नहीं रोक पाएंगे।

5.ओल्ड फेमस जलेबी: अगर आपको बारिश के मौसम में जलेबी खाने का बहुत मन है तो आप जलेबी के लिए चांदनी  चौक  या चावड़ी  बाजार  जाए.

6.फायर पान: अगर आप पान खाने के शौक़ीन है तो कनॉट  प्लेस जाए वह का फायर पान वाला बहुत ही फेमस है,

यह है स्ट्रीट फ़ूड टेस्ट करने के  लिए बेस्ट 6  प्लेस। अगर आपका मन है स्ट्रीट फ़ूड खाने का तो यहाँ जाए यह सब टेस्ट करे.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in

Categories
लाइफस्टाइल सुझाव

बदलते मौसम मे कैसे रखे अपनी स्किन का ख्याल?

बदलते मौसम मे कुछ इस तरह बनाये अपनी स्किन को मुलायम


मौसम आम तोर पर बदलते रहते है और हम इनका भरपूर मज़ा भी उठाते है. चाहे गर्मी के मौसम में आइसक्रीम के साथ या बारिश के मौसम में चाय पकोड़ो के साथ. मौसम तीन प्रकार के होते है पहला गर्मी का मौसम दूसरा सर्दी का मौसम तीसरा वसंत ऋतू का .ऐसे मौसम में खुद को और अपनी तव्चा का ख्याल देना जरुरी है, क्यूंकि ऐसे मौसम में हमारी त्वचा रुखी हो जाती है. हमारे चेहरे पर ग्लो नहीं रहता, और आपके चेहरे पर झुरिया नजर आने लगती है .

बात करते है मौसम के हिस्साब से केसे रखना चाहिए अपनी  त्वचा ख़ास ख्याल ?
1.गर्मी का मौसम– गर्मी के मौसम क्या होता है की कड़कती धूप में आप बाहर निकलते है आपकी स्कीन जलती है , और कड़कती धूप में आपका दिल आइसक्रीम खाने का करता है .इसी कड़कती गर्मी में आपकी तव्चा काफी ऑयली हो जाती है. जिससे आपके चेहरे पर पिम्पल्स आने लगते है साथ ही झुर्रियां ,सूजन और रूखापन भी आने लगता है .आपकी तव्चा ख़राब हो जाती है तो इसके लिए जब आप गर्मी के मौसम में बहार निकलते है तो अपनी त्वचा पर अच्छे से सनस्क्रीन का इस्तेमाल करे. जिससे आपकी  त्वचा धूप में जले न.

2.सर्दी का मौसम : सर्दी का मौसम में आपकी त्वचा रुखी हो जाती है, क्यूंकि सर्दियो में आप ज्यादातर गर्म पानी का इस्तेमाल करते है.तब उससे त्वचा में नमी की कमी होने लगती है। गरम या ठंडी हवाओं के झोंके त्वचा में पहले से भी ज्यादा जलन पैदा करते हैं. इस समस्या का समाधान यही है कि अपनी त्वचा को मॉश्चराइज़ का इस्तेमाल करें।जिससे आपकी तव्चा हमेशा सॉफ्ट रहेगी.

Also Read:
  नींद पूरी न होने से आपको हो सकती है ये बीमारीयां

3.वसन्त ऋतू का मौसम : वसन्त ऋतू का मौसम ऐसा मौसम है जिसका लुप्त सभी उठाते है. बारिश के मौसम में चाय और पकड़ो के मजा अलग ही होता है लेकिन बारिश के मौसम में आप अपनी तव्चा का ध्यान नहीं दे पाते. इस मौसम में आपकी तव्चा काफी चिपचिपी हो जाती है.जिससे आपका चहरे पर वो ग्लो नजर नहीं आता है. अगर आप चाहते है की आपकी त्वचा बारिश के मौसम में भी सॉफ्ट रहे चिपचिपी न लगे तो बारिश के मौसम में बेस्ट है बीबी क्रीम, क्यूंकि बीबी क्रीम में मॉइश्चराइजर, सनब्लॉक, प्राइमर, फाउंडेशन और कंसीलर एक साथ मौजूद रहता है.जिससे आपके चेहरे कीतव्चा चिपचिपी नहीं रहती है.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
लाइफस्टाइल

सर्दियों में क्रिएटिव इंटीरियर डेकोरेशन से रखें घर को गर्म!

अपने घर को बनाएं और भी सुंदर


सर्दियों का मौसम आते ही ठंडी हवा से बचने के लिए लोगों ने स्वेटर और जैकेट निकाल ही लेते हैं। शरीर को गर्म रखने के लिए लोगों ने अपनी पूरी तैयारी कर ही ली है लेकिन अपने आसपास के वातावरण में गर्माहट पैदा करने के लिए क्या-क्या तैयारियां की हैं? जैसे गर्मी में अलग कपड़े और रंग-बिरंगे रंग मन को भाते हैं उसी तरह ठंड में भी इन बातों का ध्यान रखना चाहिए। घर का भी इंटिरियर ऐसा हो जो मौसम में गरमाहट लाएं।

डेकोरेटिव इंटीरियर

घर में गर्माहट बरक़रार रखने के लिए इंटिरियर के कुछ टिप्स:-

  • अधिकतर घरों में प्लास्टिक वाले डाइनिंग कवर और सोफा कवर ही काम में लेते है। लेकिन सर्दी के मौसम में क्रोशिया बुने सोफा कवर, मेजपोश आदि भी काफी आकर्षक दिखते हैं। पुराने स्वेटर का इस्तेमाल करके कुशन, तकिया, फुट-मैट, डेकोरेशन पीसेस आदि बना सकते हैं।
  • रंगों का हमारे लाइफ और मूड पर भी बहुत प्रभाव डालते है। गर्मी में हल्के रंग आंखों का सुकून देते हैं तो सर्दी के मौसम में गर्माहट भरे रंग जैसे नारंगी, लाल व नीला आदि को अपने घर की सजावट करनी चाहिए। इनके अलावा गहरे रंग जैसे पीला, चॉकलेटी, गाढ़ा भूरा रंग सजावट में काम में ले। ये घर को गर्माहट के एहसास से भर देंगे।
  • ठंड के मौसम में घर में परदे, बेडशीट, कुशन कवर आदि में वेलवेट, फॉक्स और फर जैसे फैब्रिक का इस्तेमाल करें। इस तरह के फैब्रिक से न सिर्फ घर को शाही अंदाज मिलेगा बल्कि आपको भी ठंड भी कम लगेगी। इसके अतिरिक्त कश्मीरी कढ़ाई या फिर वेलवेट पर जरदोजी के काम वाले पर्दे शालीन व राजसी शान देते हैं और सर्दियों के मौसम के लिए बेहद उपयुक्त होते हैं।
  • सर्दी के मौसम में फर्श बहुत ठंडी हो जाती है। ऐसे में ठंड से बचने और घर को गर्माहट से भरने के लिए ठंड के मौसम में कालीन को अपने घर के इंटीरियर का हिस्सा जरूर बनाएं। चाहें तो छोटे-छोटे डोर-मैट्स को एक साथ जोडक़र भी कालीन जैसा रूप दे सकती हैं।
  • घर में बौन-फायर के होने से घर का तापमान संतुलित रहता है। इसलिए घर में यह जरूर होना चाहिए। और हो सके तो अपने फर्नीचर को बोनफायर के आसपास ही रखें।
  • घर में एक-दो बड़े साइज के इंडोर पौधे जैसे एरिका पम या फिर क्रिसमस ट्री जैसे खूबसूरत गमलों से कमरे को सजा सकते हैं। पौधों को कमरे के कोने में रखकर उनको कुछ रंग-बिरंगी फेयरी लाइट्स से सजा सकते हैं। ये जलती-बुझती रोशनी ठंडी रातों में गर्माहट का एहसास कराएगी। सर्दियों में गेंदा, गुलदाउदी, पैंजी, पिटुनिया के रंग-बिरंगे फूलों के गमले भी बेहद खूबसूरत दिखते हैं।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
सेहत

ठंड के मौसम में खाएं ये ऑर्गेनिक फूड्स: बनाएं अपनी सेहत

5 ऑर्गेनिक फूड्स खाएं और सेहत में लगायें चार चाँद


मौसम के बदलते मिजाज़ को देखते हुए ऐसा लग रहा है कि सर्दियों ने अपनी धमाकेदार एंट्री कर दी है और इन सर्दियों के मौसम में सभी स्वस्थ रहना चाहते हैं। वैसे तो सर्दियाँ सबको पसंद होती हैं और सर्दी का मौसम सबको प्यारा लगता है। लेकिन ठंड के मौसम में अपने शरीर का भी विशेष ध्यान रखना पड़ता है। यदि आप इस मौसम में अपने शरीर का अच्छे से ध्यान नही रखेंगे तो आपके शरीर मे कुछ पोषक तत्वों की कमी हो सकती है जिससे आप बीमार पड़ सकते हो।

ठंड के मौसम में चाहे जितनी मर्ज़ी गर्म कपड़ों का प्रयोग कर लें लेकिन इससे कुछ नही होने वाला जब तक हमारा शरीर अंदर से मजबूत न हों और इसके लिए हमें पोषक पदार्थों की जरूरत पड़ती है और ये पोषक पदार्थ हमें ऑर्गेनिक खाद्य पदार्थों से मिलती है। यदि आप अंदरूनी रूप से स्वस्थ हैं तो आपके शरीर पर ठंड का प्रभाव नही पड़ेगा।

ऑर्गेनिक फ़ूड

आइए दोस्तों कुछ ऐसे खाद्य पदार्थों के बारे में जानते हैं जो शरद मौसम में खाना जरूरी है।

1.बाजरा

कुछ अनाज ऐसे होते हैं जो शरीर को अधिक गर्मी देते हैं जैसे गेहूं, मक्का, बाजरा इत्यादि लेकिन इनमें से सबसे अच्छा अनाज बाजरा को ही माना जाता है। इसमें अधिक-से-अधिक पोषक तत्व पाए जाते हैं जैसे प्रोटीन, मैग्नीशियम, फाइबर, विटामिन बी इत्यादि। । शरद मौसम में आप गेहूं की रोटी के बजाय बाजरे की रोटी खा सकते हैं। इसे खाने से आपकी पाचन शक्ति भी ठीक रहती है जिससे आप अंदरूनी गर्मी महसूस करते हो।

2.बादाम

बादाम में कई तरह पोषक तत्व होते हैं। इसके नियमित सेवन से अनेक बीमारियों से छुटकारा मिलता है। बड़े-बुजुर्गों का कहना है कि बादाम खाने से इंसान की मानसिक और शारीरिक मजबूती बनी रहती हैं। बादाम एक ड्राई फूड है जो बीमारियों से लड़ने में भी शरीर को मदद करता है। इसके खाने से कब्ज की समस्या दूर होती है और यह कब्ज ठंड के मौसम में ही ज्यादा परेशान करता है। बादाम विटामिन-ई से भरपूर होता है, जो कि शरीर के त्वचा के लिए भी काफी फायदेमंद है।

3.अदरक

ऑर्गेनिक फ़ूड

अदरक एक रामबाण है। इसकी थोड़ी मात्रा में सेवन करने से ही बहुत सारी बीमारियों से बचा जा सकता है। खासकर इसका उपयोग ठंड के मौसम में ही करना चाहिए क्योंकि इससे शरीर को काफी मात्रा में ऊर्जा मिलती है। गर्मी के दिन में अदरक का ज्यादा प्रयोग हानिकारक भी हो सकता है।

4. शहद

शहद को एक तरह से आप कुदरत का उपहार ही समझा जाता हैं। आयुर्वेद में शहद को अमृत का दर्जा दिया गया है, इसमें बहुत सारे ऐसे गुण पाए जाते हैं। यह बीमारियों से लड़ने में हमारे शरीर को मदद करती हैं। वैसे तो शहद का उपयोग हर मौसम में किया जा सकता है लेकिन सर्दी के मौसम में इसका सेवन करना और भी अधिक लाभकारी होता है। शहद के उपयोग से पाचन क्रिया भी अच्छी रहती है।

5.तील

ठंड के मौसम में तील खाने से शरीर को भरपूर मात्रा में ऊर्जा मिलती है। तिल के तेल से शरीर की मालिश करने से भी काफी ऊर्जा मिलती है। इसका काढ़ा बनाकर पीने से भी खाँसी और सर्दी जैसी बीमारियां दूर भागती है। इसमें अनेक पोषक तत्व जैसे प्रोटीन, कैल्शियम, बी कॉम्प्लेक्स और कार्बोह्यड्रेट के गुण भी भरपुर मात्र में पाए जाते हैं।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
सामाजिक

जाने गर्मी से बचने के उपाए

गर्मी से बचने के उपाए


गर्मी मे हमारे शरीर को सबसे ज्यादा नुकसान होता है। गर्मी मे लोगो को काफी तकलीफो का सामना करना पङता है। गर्मी से बचना बहुत जरुरी है अन्यथा इससे बहुत  नुकसान हो सकता है। गर्मियो मे सबसे ज्यादा हमे खाने का ध्यान रखना चाहिए। तेज धुप ने परेशान करना शुरु कर दिया है। इसलिए जितना हो सके हमे गर्मी से बचने की कोशिश करनी चाहिए। चलिए आज आको बताते है गर्मी से बचने के उपाय

Water is important

Related : दिल्ली की गर्मी से झुलसे दिल्लीवासी, पारा 46 के पार…2016

गर्मी मे बचने के घरेलू नुस्खे-

• सादा पानी आपकी त्वचा को फ्रेश रखता है। अगर आप थकान महसूस कर रहे है तो ठंडे पानी के छीटो से आप अपने आप को तरोताजा महसूस करेंगे
• खीरे के जूस को आप अपने चहरे पर इस्तेमाल करे। यह प्राकृतिक मॉइस्चराइज़र की तरह काम करता है इससे कोई नुक्सान भी नही होता। इससे आपको अपने चहरे पर ठंडक महसूस करेंगे
• चंदन, मुलतानी मिट्टी, तुलसी और गुलाब आदि नेचुरल चीजे लगाने से त्वचा को राहत मिलती है। धुप से आने के बाद चंदन और मुलतानी मिट्टी का लेप लगाने से त्वचा को ठंडक मिलती है।
• अगर आपको घमौरिया है तो आप नीम और तुलसी का पेस्ट लगाए। गुलाब की पत्तियो को पानी मे भिगोकर उसी पानी से चेहरे को धोने से गर्मी के मौसम मे चेहरा मुलायम हो जाता है।

खाने पीने पर ध्यान दे-

गर्मी के मौसम मे खाने पिने पर ध्यान देना चाहिए। पेट की खराबी और अधिक तैलिए व मसालेदार खाने का प्रयोग न करे क्योकि इससे पाचन क्रिया पर प्रभाव पङता है।

• धनिया को पानी मे भिगो ले फिर उसे अच्छी तरह मसल ले और छानकर इसमे थोङी सी शकर डाल ले। इसे पानी से गमियों मो राहत मिलती है।
• बेल का शरबत गर्मी के लिए बहुत ही अच्छा माना जाता है। गर्मी मे यह मोटापा घटाने मे भी सहायक होती है।
• नींबू की शिकंजी गर्मी के लिए बहुत ही अच्छी होती है। इसे आसानी से त्यार किया जाता है।
• पूरे उत्तर भारत मे गर्मी के मौसम मे ठंडाई को उपयोग खुब होता है।
• गर्मी के मौसम मे जीरा नमक डालकर छाछ पिना शरीर के लिए फायदेमंद होता है।

Representative image

लू लगने के कारण-

लू लगने का कारण शरीर मे अत्याधिक गर्मी का बढना और इस गर्मी पर शरीर दारा काबू नही कर पाना होता है। अधिकतर लू मई और जून के महीने को तेज गर्मी वाले मौसम मे चलती है।

शरीर मे गर्मी बढाने और लू लगने के मुख्य कारण-

• गर्मी और पानी की कमी

यदि शरीर मे पानी की कमी होती है ऐसे मे धूप मे आप देर तक धूप मे रहते है तेज धूप मे शारिरिक मेहनत वाले काम करते है तो शरीर को ठंडक नही मिल पाती है। ऐसे मे लू की संभावाना ज्यादा बढ जाती है।

Categories
लाइफस्टाइल

सर्दियों में ध्यान रखें इन बातों का

सर्दियाँ बनायें ख़ुशहाल


जैसा की हम सभी जानते है की मौसम ने अपना रुख़ बदल लिया है और गरमियों को विदा करते हुए सर्दी अपने पैर जमा चुकी है। ऐसे कम ही लोग होंगे जिन्हें सर्दियों का मौसम पसन्द नहीं होता। सर्दियाँ में रज़ाई में बैठ कर चाय पीने का भी अलग मज़ा होता है। सर्दियाँ अच्छी तो बहुत होती है पर लेकिन ये अपने साथ कुछ समस्याएँ भी लाती है। इस मौसम की सर्द और शुष्क हवायें हमारी त्वचा और सेहत के लिए कुछ चुनोतियाँ लाती हैं जो इस मौसम के आनंद को कम कर देती है। लेकिन कुछ सावधानियों को ध्यान में रखते हुए इस मौसम का भरपूर आनंद उठा सकते हैं जैसे की:-

  1. प्रतिदिन बादाम का सेवन करें। इसमें ज़रूरी पोषक तत्व होते हैं जो हमारी त्वचा को स्वस्थ रखने में सहायता करते हैं।
  2. सर्दियों में प्यास कम लगने की वजह से लोग कम पानी पीते हैं, लेकिन हमें अपने शरीर की पानी की आवश्यकता अनुरूप पानी पीते रहना चाहिए।
  3. त्वचा की देखभाल में मालिश एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। तो त्वचा को मुलायम और चमकदार बनाए रखने के लिए किसी क्रीम या तेल से मालिश ज़रूर करें।
  4. इस बात का ज़रूर ध्यान रखे की आप जिस साबुन का प्रयोग कर रहे हैं वह मॉइश्चराइज़र युक्त हो।
  5. यहाँ पढ़ें : कैसें पाएं ऑयली स्किन से छुटकारा

  6. कपड़े अच्छे से पहने अर्थात् गरम कपड़े पहनने से न झिझके। क्योंकि एसा ना करने से बीमार होने की सम्भावनाएँ बह जाती हैं।
  7. सर्दियों में कई बार हम महसूस करते हैं की हमारे हाथ और पैर ठंडे पड़ जाते हैं। इससे बचने के लिए थोड़ी बहुत कसरत करते रहें। इससे रक्तचाप सही बना रहता है।
  8. अपनी नीन्द पूरी करें। इससे आपका रोध प्रतिरोधक क्षमता बेहतर होती है।
  9. सर्दियों में लोग पसंद करते हैं की वो ख़ूब तला भुना खायें क्योंकि ये उन्हें अपनी और आकर्षित करता है परंतु हमें सर्दियों में जितनी ज़्यादा हरी सब्ज़ी हो सके उतनी ज़्यादा हरी सब्ज़ियाँ क्योंकि ये हमें बहुत सारे पोषक तत्व प्रदान करते हैं।
  10. जिन लोगों को नाक से ख़ून आने की समस्या होती है वे इस समस्या से बच सकते हैं बस करना इतना होगा की आप अपनी नाक मफ़्लर से ढक कर रखें।
  11. नहाने से पहले सरसों या नारियल के तेल की मालिश करें इससे नहाने के बाद भी आपकी त्वचा शुष्क नही होगी।

बस आपको इन बातों का ध्यान रखना है और आपकी सर्दियाँ बेहतरीन हो जाएँगी। परंतु यदि आपने इन्हें बहुत छोटी बात समझ के नज़रअन्दाज़ कर दिया तो आपकी सर्दियों के मज़े थोड़े कम हो जाएँगे।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in