Categories
सामाजिक

सिरदर्द के बारे मे कितना जानते है आप?

सिरदर्द के बारे मे आप क्या- क्या जानते है?


सिरदर्द के बारे मे आप क्या- क्या जानते है? सिरदर्द से तात्पर्य है सिर के एक या उससे अधिक हिस्सो मे साथ ही गर्दन के पिछले भाग मे हल्के से लेकर तेज पीङा का अनुभव होना । सिर दर्द के कई पैटर्न और कई कारण होते है। हालांकि, ज्यादातर सिरदर्द किसी गंभीर बीमारी की वजह से नही होता है।

सिरदर्द

Related : 6 कारण जो बनाते हैं अकेले समय बिताने वाले लोगों को अन्य लोगों से बेहतर

शायद ही ऐसा कोई व्यक्ति होगा जिसने सिरदर्द अनुभव न किया हो। आज की भाग दौङ की जिदंगी मे सिरदर्द होना आम बात है। कभी अधूरी नींद के कारण, तनाव, दांत से दर्द, आखों की समस्या या वातावरण के कारण भी सिरदर्द हो सकता है।

सिर मे दर्द क्यो होता है?

सिर दर्द का कोई एक कारण नही होता ये बहुत तरीकें से होता है जैसे-

तनाव से होने वाला सिरदर्द- जीवन मे 90 प्रतिशत सिरदर्द के मामले तनाव से होता है। दिमाग की ओर खून का प्रवाह कम हो जाता है। इसलिए सिर के चारो ओर दर्द होता है।

सिर मे दर्द क्यो होता है?

Related : शरीर में पानी की कमी होने क्या होती है जानिए……

माइग्रेन- माइग्रेन सिर्फ दुखदायी दर्द नही है। कुछ लोगो को बिना सिरदर्द के भी माइग्रेन होता है। माइग्रेन क्यो होता है यह अभी तक पता नही चला। अब तक हुई खोज यह कहती है कि, यह किसी आनुवाशिक असामान्यता से उपजी तात्रिंका तंत्र की बीमारी है।

साइनस सिरदर्द- कई बार माइग्रेन को गलती से साइनस सिरदर्द समझ लिया जाता है। साइनस सिरदर्द तब होता है जब आपके साइनस मे संक्रमण हो जाता है उससे जलन होने लगती है।

सिरदर्द को ऐसे दे मात-

  • तनाव कम करे तनावरहित जीवन के लिए योग और ध्यान करें।
  • तनाव, चिंता या क्रोध जैसी भावनाओं को दबाने से सिरदर्द हो सकती है।
  • संतुलित आहार लेना चाहिए। ज्यादा समय तक भूखा ना रहे।
  • पानी की कमी भी सिरदर्द की एक वजह है। इसकलिए दिनभर मे कम से कम 7 से 8 गिलास पानी अवश्य पीये
  • रोजाना एक समय पर सोने और उठने की आदत डाले कम से कम 6 घंटे की अच्छी नींद ले।
  • ज्यादा समय तक कंप्यूटर या मोबाइल पर काम करने या गेम्स न खेले।
  • हमेशा अच्छा सोचे और अच्छे लोगो के साथ रहे। कोई नशा न करें।

सिर दर्द यह एक आम समस्या है पर यह किसी रोग का संकेत भी हो सकता है। अगर आपको बार -बार सिरदर्द होता है तो घर पर कोई दवा लेने से बेहतर है कि आप एक बार डाक्टर को दिखाए। बार सिरदर्द किसी बङी बीमारी का प्रथम लक्षण हो सकता है।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Categories
एजुकेशन

कैसे करे परीक्षाओं के तनाव को कम?

अगर आपको भी है परीक्षाओं का तनाव, तो ज़रूर पढ़ें ये बातें


इस संसार में कम ही बच्चे ऐसे होंगे जिन्हें परीक्षाओं की चिंता नही होती होगी। एक होशियार बच्चे को भी परीक्षाओं की चिंता अवश्य होती है। उन्हें भी डर होता है की ना जाने परिणाम कैसे आएँगे। थोड़ा बहुत परीक्षाओं का तनाव या चिंता ठीक भी होती है क्योंकि यह हमें हमारे लक्ष्य की और बढ़ने के लिए प्रेरित करता है किंतु जिन विद्यार्थियों को परीक्षा के नाम का बुखार चढने लगता है हमारे पास उनके लिए कुछ सलाह हैं जिनसे वे अपना तनाव  आसानी से कम के सकते हैं।

हम सभी जानते हैं की परीक्षाएँ किस स्तर तक का तनाव उत्पन्न कर सकती हैं और जिसके कारण हम परीक्षाओं में उतने अच्छे अंक नही ला पाते। ऐसे तनाव के कुछ संकेत हैं – थकान महसूस होना, सोने में मुश्किल होना, भूख ना लगना, चिड़चिड़ापन, सिरदर्द रहना, बातों को भूलना इत्यादि। अगर आप भी ऐसे लक्षण अपने अंदर देख रहे हैं तो आपको ज़रूरत है अपने तनाव के लिए कुछ करने की।

यहाँ पढ़ें : क्या हमें सफल बनने के लिए शिक्षा ग्रहण करना अनिवार्य है?

कैसे करें तनाव कम:-

  1. पढ़ते समय ऐसी परिस्थिति को पहचानना सीखें जिसमें आप कुछ पढ़ रहे है परंतु वह याद नही हो रहा ऐसे समय में 10 मिनट का ब्रेक लीजिए। अर्थात् आप यह ना सोचे की 6 या 4 घंटे लगातार पढ़ेंगे। अच्छे से पढ़ने के लिए ब्रेक भी आवश्यक है।
  2. अपनी क्षमताओं की उपमा अपने दोस्तों से ना करें। हर किसी का पढ़ने का तरीक़ा अलग होता है। बस यह ध्यान में रखें की जिस तरीक़े से आप पढ़ रहें हैं वह आपके लिए उचित है या नही।
  3. भोजन सही समय पर खाए और घर का बना अच्छा भोजन खाए। इससे आपके दिमाग़ को भी शक्ति मिलेगी और आपको भी। केवल चाय या कॉफ़ी पर आश्रित ना रहें।
  4. अच्छे से सोयें। यदि आप अपनी नींद क़ुर्बान कर के पढ़ रहें है तो यह बिलकुल भी अच्छा फ़ैसला नही होगा क्योंकि इससे केवल आपका ही नुक़सान होगा। इससे आपकी तबियत ख़राब होने की सम्भावना बढ़ जाती है।
  5. व्यायाम करें। कोई भी चीज़ व्यायाम के जितना जल्दी हमें तनाव मुक्त नही करती। तो इसे अपने टाइम टेबल में शामिल ज़रूर कर लें।
  6. बुरी आदतों को अलविदा कहें। सिग्रेट और शराब से तनाव कम नही होता। यह हमारे स्वास्थ्य को तो ख़राब करत ही हैं और साथ ही साथ तनाव भी बढाती हैं।
  7. यदि आप परीक्षा के दौरान अच्छा महसूस नही के रहे तो लम्बी और गहरी सांसें लें इससे दिमाग़ में आने वाले ख़याल कुछ देर तक रुक जाते हैं।

ये सभी बातें तनाव कम करने में बहुत सहायक होंगी। इनकी मदद से आप परीक्षाओं में अच्छे अंक ला पाएँगे और वो भी बिना किसी तनाव के।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in