Categories
हॉट टॉपिक्स

CAA का विरोध करते नेल्लई कन्नन (Nellai kannan) को किया गिरफ्तार, दिया मोदी और अमित शाह पर विवादित टिप्पणी

Nellai kannan: नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) का विरोध करते नेल्लई कन्नन को किया गिरफ्तार, यहाँ जाने पूरी खबर


नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) का विरोध के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को लेकर विवादित टिप्पणी करने और बयान देने के कारण तमिल स्कॉलर नेल्लई कन्नन (Nellai kannan) को गिरफ्तार किया गया। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेता एच राजा ने नेल्लई कन्नन के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी के खिलाफ मामला दर्ज कराया था। इसी कारण से नेल्लई कन्नन को मुसलमानों को भड़काने और पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह की हत्या का सुझाव देने के चक्कर में पेरांबलूर से गिरफ्तार किया गया।

और पढ़ें: देश में मोदी लहर की ताजा स्थिति – क्या अब  भी कायम है मोदी का जादू

तमिल स्कॉलर नेल्लई कन्नन ने क्या कहा?

नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) का विरोध के दौरान नेल्लई कन्नन ने कहा कि,” प्रधानमंत्री मोदी के पीछे अमित शाह का दिमाग है और अगर अमित शाह नहीं होते तो मोदी यहां नहीं होते। अगर अमित शाह की कहानी खत्म हो जाएगी तो पीएम मोदी की कहानी भी खत्म हो जाएगी। नेल्लई कन्नन ने आगे कहा कि मुझे उम्मीद थी कि कुछ होगा लेकिन कोई भी मुस्लमान  कुछ कर नहीं रहा। ”

नेल्लई कन्नन के बयान के खिलाफ बुधवार को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वरिष्ठ नेताओं पोन राधाकृष्णन, सीपी राधाकृष्णन, एल गणेशन और एच राजाने चेन्नई के मरीना बीच पर गांधी की प्रतिमा के पास बैठकर तमिल स्कॉलर की गिरफ्तारी होने के लिए धरना दे रखा था। इसी के चलते पुलिस प्रशासन ने नेल्लई कन्नन के खिलाफ 15 से अधिक मामले दर्ज करके आईपीसी की तीन धाराओं के तहत उन्हें गिरफ्तार किया।  नेल्लई कन्नन ने तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी, उपमुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम और कई अन्य नेताओ के खिलाफ भी आलोचनात्मक टिप्पणी की थी।

भाजपा के राज्य नेताओं ने कहा, “यह निंदनीय है और  नेल्लई कन्नन की इन बातों को कोई नहीं मानेगा। वास्तव में, उन्होंने एक मुस्लिम रैली में यह बात कही और जो मुस्लिम नेता धरने पर मौजूद थे, उन्हें इस बात की निंदा करनी चाहिए थी।”

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
हॉट टॉपिक्स

Sabarimala and Rafale News: राफेल और सबरीमाला मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने कही यह बड़ी बात

सबरीमाला केस का फैसला बड़ी बेंच को सौंपा गया


Sabarimala and Rafale News: पिछले कुछ दिनों में सुप्रीम कोर्ट में कुछ बड़े फैसल आए हैं। इन फैसलों में अयोध्या विवाद, कर्नाटक विधायक विवाद और सीजेआइ ऑफिस आरटीआइ के मामले शामिल हैं। सुप्रीम कोर्ट में आज तीन बड़े फैसलों का दिन है। आज सुप्रीम कोर्ट राफेल विमान सौदे, सबरीमाला विवाद और पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के अवमानना मामले में फैसला सुनाने जा रही है। बात करे राफेल डील की तो सुप्रीम कोर्ट ने पुनर्विचार की याचिका ख़ारिज कर दी है। आपको बता दे की इस मामले को लेकर पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा, अरुण शौरी और वकील प्रशांत भूषण ने सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दायर की थी ।

वही बात करे दूसरे मामले यानी राहुल गांधी को ‘चौकीदार चोर है’ वाले बयान पर सुप्रीम कोर्ट ने माफ कर दिया है। राहुल गांधी ने अपने इस बयान के लिए सुप्रीम कोर्ट में माफी मांगी थी। सुप्रीम कोर्ट ने बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी द्वारा कांग्रेस नेता राहुल गांधी के खिलाफ गलत तरीके से अदालत में शिकायत करने के लिए दायर याचिका को खारिज कर दिया है, जिसमें राफेल मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ उनके ‘चौकीदार चोर है’ के नारे को गलत बताया।

और पढ़ें: महाराष्ट्र में लागू हुआ राष्ट्रपति शासन, जानिए महाराष्ट्र मामले की 10 एहम बातें

तीसरा फैसला सबरीमाला मामले परे तो सुप्रीम कोर्ट ने केरल के प्रसिद्ध सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश को लेकर दायर पुनर्विचार याचिकाओं पर फैसला बड़ी बेंच को सौंप दिया है। कोर्ट इस बारे में खुद  फैसला सुनाने वाला था लेकिन 5 जजों की बेंच ने कहा कि परंपराएं धर्म के सर्वमान्य नियमों के मुताबिक हों और आगे 7 जजों की बेंच इस बारे में अपना फैसला सुनाएगी। साफ है कि फिलहाल मंदिर में कोर्ट के पुराने फैसले के मुताबिक महिलाओं की एंट्री जारी रहेगी।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com
Categories
पॉलिटिक्स

# ManKiBaatHighlights: पीएम मोदी ने जल सरंक्षण को बताया अहम मुद्दा 

पीएम मोदी ने चंद्रयान 2 की सफलता पर कही यह बात


पीएम मोदी ने लम्बे समय के बाद आज अपने रेडियो कार्यक्रम “मन  की बात” से सभी देशवासियो को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने चंद्रयान मिशन , जल सरंक्षण को लेकर और भी कई अहम मुद्दों पर बात की.

जाने मन की बात केयह सभी हाइलाइट्स :

1.पीएम मोदी ने जलसरंक्षण को अहम  मुद्दा बताया और कहा – हमारी सरकार जलनीति के लिए काम कर रही है.पानी के विषय ने इन दिनों हिन्दुस्तान के दिलों को झकझोर दिया है.

2.इसके अलावा उन्होंने अमरनाथ यात्रा की सफलता को लेकर कहा- कश्मीर के लोग अमरनाथ यात्रियों की सेवा और मदद करते हैं. इस बार अमरनाथ यात्रा में पिछले चार सालों में सबसे ज्यादा श्रद्धालु शामिल हुए हैं.

3. इस बार उन्होंने बच्चो के लिए भी नई प्रतियोगिताओं  के बारे में भी बताया कहा- क्विज कॉम्पीटिशन में जो बच्चे सबसे ज्यादा अंक हासिल करेंगे उनको 7  सितम्बर को श्री हरिकोटा ले जाकर चंद्रयान- 2 की लैंडिंग दिखाई जाएगी.

4. पीएम मोदी ने मेघालय सरकार को अपनी जल-नीति तैयार करने के लिए बधाई दी और कहा- मेघालय देश का पहला ऐसा राज्य बन गया है, जिसने अपनी जल-नीति तैयार की है.

5. वही पीएम मोदी ने इसरो के चंद्रयान- 2 मिशन की सफलताक को लेकर कहा- मुझे पूरा विश्वास है कि आसमान के भी पार अंतरिक्ष में भारत की सफलता के बारे में जरूर गर्व हुआ होगा

6. उन्होंने सावन के अवसर के कांवड़ा यात्रा और अमरनाथ यात्रा के लिए लोगों शुभकामनाएं दीं साथ ही रक्षा बंधन के लिए भी बधाई दी.

7. पीएम मोदी ने देश के चैंपियंस को भी बधाई  दी और कहा- हमारे देश के दस चैम्पियन्स ने इस टूर्नामेंट में मैडल जीते. इनमें से कुछ खिलाड़ियों ने तो एक से ज्यादा खेलों में मैडल जीते.देश के लिए यह बहुत ही गौरव की बात  है.

8.उन्होंने  अपने एप्प में नए फीचर्स को लेकर कहा – क्यों ना हम नरेंद्र मोदी ऐप पर एक स्थाई बुक कॉर्नर बना दें और जब भी नई किताब पढ़ें, उसके बारे में वहां लिखे और चर्चा करें. आप इसके लिए कोई अच्छा सा नाम भी सुझा सकते हैं.

Read More:- कांग्रेस नेता जयपाल रेड्डी  का  77 की उम्र में हुआ निधन
Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.com
Categories
मनोरंजन लेटेस्ट

पीएम की आलोचना करने पर कंगना समेत इन 69 नामी हस्तियों ने दिया मोदी का साथ

पीएम की आलोचना पर समर्थन मे आगे आये ये स्टार्स


कुछ दिनों पहले 49 बॉलीवुड दिग्गजों ने पीएम मोदी को एक पत्र लिखा था जिसमें सरकार की आलोचना की गई थी।इन लोगों ने देश में हो रहे मॉबलिंचिंग और धर्म के बीच हो रही हिंसा को लेकर प्रधानमंत्री को खत लिखा और आलोचना की।पत्र के माध्यम से इन्होंने दलितों और अल्पसंख्यकों के खिलाफ बढ़ रही मारपीट की घटनाओं का जिक्र भी किया और इस पर चिंता जाहिर की।पत्र में लिखा गया कि “सरकार इन सभी घटनाओं पर ठोस कदम नहीं ले रही है जिससे सभी शांतिप्रिय लोगों को चिंता बनी रहती है”।  अब इन 49 पत्रों के जवाब में 69दिग्गजों ने प्रधानमंत्री मोदी को एक पत्र लिखा है जिसमें उन्होंने मोदी जी के साथ खड़े रहने की बात की।

कंगना रनौत,प्रसून जोशी, और मधुर भंडारकर जैसे बड़े दिग्गजों ने पत्र लिखकर पीएम मोदी का समर्थन किया।अपने पत्र के माध्यम से उन्होंने बताया कि,गलत तथ्यों को प्रयोग में लाकर सभी को भड़काया जा रहा है और सरकार की छवि भी बदनाम की जा रही है।
तीन तलाक का हुआ जिक्रपत्र में लिखा गया कि, “तीन तलाक महिलाओं के लिए हक का सवाल है जिस पर कभी किसी ने बात नहीं की और ना ही इस मुद्दे को गंभीरता से लिया गया।जब किसी के हक का सवाल आता है तो सभी खामोश हो जाते हैं लेकिन सरकार की आलोचना किसी भी हद तक कर देते हैं।प्रधानमंत्री मोदी नेअपने मंत्र में  सबका साथ, सबका विकास के अलावा सबका विश्वास भी शामिल किया है”।

अन्य बातों के बजाय लिंचिंग की निंदा करें

इन 69 जानी-मानी हस्तियों का कहना है कि,भीड़ की हिंसा भारत में एक बड़ी समस्या बनती जा रही है और प्रधानमंत्री मोदी इसकी कई बार आलोचना कर चुके हैं। इसके अलावा राज्य सरकार भी भीड़ हिंसा पर ठोस कदम ले रही है। सभी लोगों से यह गुजारिश है कि अन्य बातों पर वह अपना गुस्सा ना दिखाएं तथा मॉबलिंचिंगऔर धार्मिक घृणाजैसी बातों की निंदाकरें। आगे से इस तरह की घटनाएं ना हो इसके लिए सभी देशवासियों को साथ मिलकर जागरूकता फैलाना चाहिए।

इन नामी हस्तियों ने दियाप्रधानमंत्री मोदी का साथ

जब 49 लोगों ने पत्र के माध्यम से प्रधानमंत्री मोदी से देश में हो रही गलत घटनाओं का जवाब मांगा, तो उसके जवाब में 69 लोगों ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर उनका साथ दिया।कंगना रनौत के समेत सोनलमानसिंह,प्रसून जोशी, मधुर भंडारकर,पंडित विश्व मोहन भट्ट और विवेक अग्निहोत्री जैसे बड़ी हस्तियों ने मोदी जी का साथ दिया।मधुर भंडारकर ने देश में वैकल्पिक राजनीति चलने का दावा किया और कहा कि“जब जय श्री राम बोलने पर जेल भेज दिया जाता है और दिल्ली में मंदिरों को तोड़ा जाता है तब लोग कुछ नहीं बोलते”।
प्रसून जोशी का कहना है कि “कुछ लोग जानबूझकर झूठी कहानियां बना रहे हैं और यह दिखाने की कोशिश कर रहे कि देश में सब कुछ गलत चल रहा है”।
Read More:- जब रैंप पर वॉक के लिए उतरी सारा अली खान,तो कार्तिक ने दिया ऐसा रिएक्शन 
Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.com
Categories
पॉलिटिक्स

पूरे भारत में सिर्फ  एक नाम की गूंज – “Modi”

कांग्रेस को 50 से नीचे सीटों पर सिमटा देगी – नरेंद्र  मोदी


देश में जहाँ  गर्मी का पारा 40 डिग्री के पार है तो वही 2019 के लोकसभा चुनाव को लेकर इसकी तपिश दुनिया के कौने- कौने में महसूस  की जा रही है. जहाँ एक तरफ सभी विपक्षी एकजुट होकर  जनसभा के सामने पीएम मोदी  के खिलाफ  आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल कर रहे है वही अब पीएम मोदी भी विपक्षियों  के हर सवालों के जवाब देने के लिए तैयार खड़े है

सब जानते है पीएम मोदी अगर कोई भी फैसला देश के हित में लेते है तो उसमे भी जनता का भला ही छुपा होता है. यह बात वाराणसी की जनता ने भी ज़ाहिर कर दिया है. जी हाँ, वाराणसी कि जनता ने पीएम मोदी के रोड शो में विपक्षियों को यह साबित कर दिया है की चाहे हर कोई उनके खिलाफ खड़े हो लेकिन बनारस आज भी मोदी का है,था और हमेशा रहेगा.

कांग्रेस को 50 से नीचे सीटों पर सिमटा देगी – नरेंद्र मोदी

अभी हाल ही में पीएम मोदी ने एक इंटरव्यू के दौरान यह भविष्यवाणी की और बताया की  वह ज्यादा सीटों और भारी बहुमत के साथ विपक्षियों को उनके हर सवालों का जवाब देंगे साथ ही 50  से कम सीटों पर उनको हार का नज़ारा भी दिखाएंगे. इसके अलावा पीएम मोदी ने विपक्षी को भ्रम का दूसरा नाम भी कहा और साथ यह भी कहा की घोषणापत्र में मध्यमवर्ग का नाम भी नहीं है, उनके कुछ नेता इस वर्ग को स्वार्थी और लालची बता रहे हैं.

यहाँ भी पढ़े: सर्जिकल स्ट्राइक के नाम पर साध्वी प्रज्ञा मांग रही हैं वोट 

 पीएम मोदी ने जनता द्वारा दिए गए प्यार को लेकर भी उनका शुक्रियादा किया. उन्होंने कहा की मैं जानता हूँ कि जनता मुझ पर पूर्ण रूप से भरोसा करती है और इसलिए करती है क्यूंकि वो जानते है की मैं उनकी उम्मीदों पर खड़ा उतर रहा हूँ.जो विपक्षियों को हज़्म नहीं हो रही है. लेकिन जब सच्चाई से उनका सामना  होगा तब उनके सारे भ्रम खत्म हो जाएँगे. अब देखना यह है की सच में पीएम मोदी द्वारा की गयी भविष्यवाणी  सच होती है या नहीं ? क्या इस बार सही में कांग्रेस 50  से कम सीटों में सिमट जाएगी या नहीं  ?

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
पॉलिटिक्स

इस एक्टर ने लिया पीएम मोदी का इंटरव्यू

दोनों ही करते है  अपनी माँ से बेहद प्यार


एक राजनीति के खिलाड़ी है तो दूसरे बॉलीवुड के जो आज सभी के  दिलो  पर  राज  कर  रहे  है  जी हाँ , हम  बात  कर रहे  है देश  के पीएम  नरेंद्र  मोदी  की और बी  टाउन के खिलाड़ी अक्षय कुमार की. वैसे तो अक्षय कुमार हमेशा जनता की मदद  के लिए आगे रहते है  जिसके चलते  आज उनका नाम A-लिस्टर्स सितारों में शामिल है .वह जितने अच्छे  एक्टर है उतने ही अच्छे इंसान भी है. वही  अगर बात करे पीएम  मोदी  की  तो  हर गली में पीएम मोदी  सबके दिलो में बस्ते है. लोगो के दिलो पर राज करने वाले अगर यह दोनों ही खिलाड़ी  एक दूसरे  के सामने तो क्या होगा ?

आपको बता दे  की अभी हाल ही में बॉलीवुड के खिलाड़ी अक्षय कुमार ने देश के पीएम नरेंद्र  मोदी का इंटरव्यू लिया है. किसी पॉलिटिशियन का इंटरव्यू  लेने वाले अक्षय कुमार पहले  एक्टर  बन चुके है जिन्हे यह मौका मिला है.

दोनों में यह है बात सबसे ज्यादा कॉमन

अक्षय कुमार और पीएम मोदी के बीच यह इंटरव्यू एक नॉन पॉलिटिकल बातचीत की तरह रही. दोनों नै  एक दूसरे के साथ  अपनी जिंदगी  के सभी सफर का एक्सपीरियंस  शेयर किया जिसमे अक्षय ने कहा  की ”आप चाय बेचते थे मैं वेटर था. दोनों का कोई गॉडफादर नहीं रहा है. दोनों ने अपनी मंजिल अपने दम पर बनाई है.”  दोनों में ज्यादातर बात कॉमन रही. दोनों को ही अपनी माँ से बेहद प्यार है साथ ही दोनों ने इस इंटरव्यू में काफी मस्ती भी की  और एक दूसरे  को चुटकुले भी सुनाए

यहाँ  भी पढ़े: क्रिकेट के भगवान यूँ ही नहीं कहे जाते सचिन तेंदुलकर 

पीएम नरेंद्र  मोदी  के साथ  यह  इंटरव्यू  अक्षय  की जिंदगी  में बड़ी उपलब्धि  बन  चुकी  है जिन्हें वह कभी नहीं भूल सकते. अक्षय कुमार  को सिर्फ फिल्मो में आपने  मार  पिट  करते  देखा होगा  लेकिन असल जिंदगी में भी अक्षय कुमार अपने  देश  से बेहद प्यार करते है  वह देश के जवानो के लिए भी काम करते रहते हैं  जिसके लिए उन्होंने एक पहल  की जिसमे उनकी टीम जवानो  के लिए फंड  इकट्ठा करती है.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
पॉलिटिक्स

बीजेपी कर रही है पीएम मोदी के वाराणसी दौरे की खास तैयारी

ऐतिहासिक होगा वाराणसी का नामांकन


जहाँ एक तरफ लोकसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान खत्म हो चुके है वही दूसरी और अब बीजेपी वाराणसी में चुनाव से पहले पीएम मोदी के  चुनाव नामांकन भरने को लेकरतैयारियां पूरे जोरों शोरो से कर रही है. इस बार बीजेपी पीएम मोदी के इस वाराणसी नामांकन को ऐतिहासिक बनाना चाहती है. इसी के साथ पीएम मोदी नामांकन से पहले बनारसमें गंगा की पूजा भी करेंगे.

ऐसा होगा पीएम मोदी का वाराणसी दौरा

आपको बात दे कि पीएम मोदी का नामांकन 26 अप्रैल को होगा. इससे एक दिन पहले 25 अप्रैल को नरेंद्र मोदी बनारस में रोड शो भी करेंगे. मोदी बनारस के लंका में स्थित मालवीयप्रतिमा को माला चढ़ाएंगे जिसके बाद रोड शो शुरू करेंगे और ये रोड शो गोदौलिया पर जाकर खत्म होगा. इसके बाद पीएम मोदी काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन करने के बाद  गंगाआरती में भी शामिल होंगे.

यहाँ भी पढ़े: चुनावी मौसम में इस नेता के बिगड़े बोल

साथ ही इस नामांकन को ऐतिहासिक बनाने के लिए बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह शुक्रवार यानी 12 अप्रैल की शाम को वाराणसी पहुंचे. जहाँ उन्होंने देर रात हरहुआ स्थितगोकुल धाम में पीएम मोदी के नामांकन को ऐतिहासिक बनाने के लिए संगठन के साथ मंथन किया. इस बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा के अलावाप्रदेश और  काशी के संगठन पदाधिकारी शामिल थे.

वही दूसरी और पीएम  मोदी के नामांकन को लेकर वाराणसी में कड़ी सुरक्षा का इंतज़ाम भी रखा जा रहा है.  पीएम मोदी के वाराणसी के दौरे  वाले दिन इलाके के सुरक्षा में पुलिसफोर्स को तैनात किया जायेगा  और उससे पहले पूरी सुरक्षा व्यवस्था का परीक्षण भी किया जाएगा.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
होम

किसानों की यात्रा हुई खत्म : सरकार ने की सभी मांगें की ख़ारिज

जाने की आखिर क्या है किसानो की मांग?


दिल्ली में हो रही किसान आंदोलन की पदयात्रा आखिर खत्म हुई. सभी किसानो ने चौधरी चरण सिंह की समाधि पर फूल चढ़कर इस यात्रा को ख़त्म किया.अपनी मागो को पूरा करने के लिए  किसानों ने 23 सितंबर को हरिद्वार से 200 किलोमीटर से ज्यादा लंबी ये पदयात्रा शुरू की थी. सैकड़ों ट्रैक्टरों में सवार होकर आए किसानों की इस आंदोलन में कुछ महिलाएं और बुजुर्ग भी शामिल हुए. साथ ही वही  दिल्ली पुलिस ने प्रदर्शनकारी किसानों को रोकने के लिए तीन हजार से ज्यादा कर्मियों को तैनात किया ताकि जल्द इस क्रांति को रोका जाए.

वही दूसरी और किसानों के प्रदर्शन के चलते आज यानि 3 अक्टूबर को गाजियाबाद में स्कूलकॉलेज भी बंद रखे गए हैं. ताकि इस  किसान आंदोलन से बाकी लोगो को  मुश्किलें न हो. वही किसानो के द्वारा शुरू की गयी इस क्रांति से सरकार ने किसानों की कुछ मांगें मानने पर सहमति जताई थी और कुछ के लिए समय मांगा था लेकिन किसानो ने सरकार की बात न माने के साथ इस  आंदोलन को जारी रखा

यहाँ जाने  किसानो की मांग  को क्यों  किया गया ख़ारिज:

1 . किसानो की मांग थी की उनके सभी  क़र्ज़ को माफ़ कर  दिया जाए
2 . सिंचाई के लिए सस्ती बिजली और बकाया गन्ने की फसल का भुगतान करने की मांग मांगी
3 . 60  साल से ऊपर के किसानो को पेंशन  दी जाए

तो यह है जरुरी तीन मांगे  जो किसानो  ने सरकार से माँग  की थी जिसे सरकार ने ख़ारिज कर दिया है.  तो वही इस आंदोलन काफयदा विपक्ष ने बखूबी उठाया है. यह कहकर की विश्व अहिंसा दिवस पर BJP का दोवर्षीय गांधी जयंती समारोह शांतिपूर्वकदिल्ली आ रहे किसानों की बर्बर पिटाई से शुरू हुआ।लेकिन देखना यह है की सरकार किसान को शांत करने के लिए जल्द उनकीसभी माँगो  को पूरा करता है?

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in