Categories
हॉट टॉपिक्स

सभी के लिए खुशखबरी, जल्द बढ़ने वाली है PF कटौतियों की लिमिट, अब 15 हजार नहीं 21 हजार तक कट सकता है PF

जाने लेबर यूनियनों की क्या है मांग


बहुत जल्द ही सभी वर्किंग लोगों को एक खुशखबरी मिलने वाली है.  सरकार जल्द ही PF कटौतियों को लेकर एक बड़ा अपडेट ला सकती है. यानि की सरकार जल्द ही  PF कटौतियों की लिमिट बढ़ा सकती है. इस मामले में पिछले कई दिनों से बातचीत जारी है. इतना ही नहीं बीते बुधवार और गुरुवार को इस मामले को लेकर लेबर मिनिस्ट्री, उद्योग जगत के प्रतिनिधि और लेबर यूनियन के लोगों की आमने सामने बैठक हुई थी.  हालांकि अभी तक सरकार ने ये साफ़ नहीं किया की  उन्होने क्या फैसला किया है.  लेकिन अगर अभी की तरह आगे भी सब ठीक रहा और मांगें मान ली जाती हैं तो PF की कटौती का मानक बढ़ जाएगा. क्योकि लेबर यूनियनों की ओर से यही प्रमुख मांग भी है.

 

और पढ़ें: कोरोना के दूसरे चरण में प्रधानमंत्री से लेकर मुख्यमंत्री तक सभी को लगेगी कोरोना वैक्सीन

 

जाने क्या होगा 21000 रुपये का नया मानक

 

दरअसल अभी भारतीय मजदूर संघ ने केंद्र सरकार से मांग की थी कि जिन कर्मचारियों का मासिक वेतन 15,000 रुपये है, उनके मासिक वेतन से PF की कटौती न की जाए.  बल्कि जिनकी सैलरी 21,000 रुपये है उसके मासिक वेतन से कर्मचारी भविष्य निधि स्कीम के तहत कटौती की जाए. यानि कि अगर हम सरल शब्दों में कहे तो 15,000 रुपये के मानक को बढ़ाकर 21,000 रुपये कर दिया जाए. अब सभी लोगों को सरकार के फैसले का इंतजार है और इस मांग पर सरकार का भी जल्द ही फैसला आ सकता है.  इतना ही नहीं कुछ समय पहले ये बात सामने आ रही थी कि भारतीय मजदूर संघ ने छुट्टियों के मामलों में भी मांग की थी. भारतीय मजदूर संघ की मांग है कि हर तरह के वर्कर्स के लिए अलग-अलग कानून बनाए जाएं.  इसके पीछे भारतीय मजदूर संघ ने दलील दी गई कि सभी लोगों का काम अलग-अलग होता है फिर चाहे वो पत्रकार हो या फिर भवन निर्माण से जुड़े कम करने वाले वर्कर्स  इसीलिए सभी लोगों के लिए कानून भी अलग अलग बनाए जाएं.

 

नए साल पर एक बड़ा तोहफा दे चुकी है सरकार

क्या आपको पता है हम सभी लोगो को नए साल पर सरकार एक बड़ा तोहफा दे चुकी है. साल 2021 शुरू होने से कुछ दिन पहले ही सरकार कर्मचारियों को बड़ा तोहफा दे चुकी है.  दरअसल केंद्र सरकार ने साल 2019-20 के लिए एम्प्लॉइज प्रोविडेंट फंड पर 8.5 प्रतिशत का पूरा ब्याज एक साथ देने का प्रस्ताव मंजूर कर लिया था. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इस रकम को 31 दिसंबर 2020 यानि कि न्यू ईयर इव तक सभी कर्मचारियों के खाते में डाल दिया गया था. नया साल शुरू होने के साथ केंद्र सरकार ने लोगों को धनवृद्धि का तोहफा दिया. इतना ही नहीं अधिकारियों ने बताया कि ब्याज दर से जुड़े प्रस्ताव पर चर्चा के लिए भारतीय मजदूर संघ और वित्त मंत्रालय की बैठक हुई थी.

 

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com