Categories
लाइफस्टाइल

कुछ गलतियां जो कारण है आपके चेहरे पे मौजूद पिम्पल्स के

कहीं आप खुद जिम्मेदार तो नहीं अपने पिम्पल्स के


वैसे तो पिम्पल्स युवाओं की सबसे बड़ी समस्या होती है। पिम्पल्स ज्यादातर 20-30 उम्र के लोगों में देखने को मिलता है और इससे मुक्ति पाने के लिए उसके उपचार में लोग लगे पड़े रहते हैं ल्र्किन फिर भी कोई छुटकारा नहीं मिल पाता हैं। अगर आप किशोर वर्ग के बाद भी अपने पिम्पल्स से राहत नहीं पा सके हैं तो इस समस्या को व्यस्क पिम्पल्स का नाम दिया जाता है और दुर्भाग्य से, आप खुद व्यस्क पिम्पल्स के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं। खासकर आपके श्रृंगार करने की आदतें ही पिम्पल्स पैदा करने के लिए जिम्मेदार ठहराई जाती हैं।

पिम्पल्स

अगर आप भी 10% बेंज़ोइल पेरोक्साइड के साथ सौंदर्य उत्पादों का उपयोग कर रहे हैं, या पिम्पल्स को छिपाने के लिए कंसीलर का उपयोग कर चेहरे को कवर की कोशिश कर रहे हैं तो ऐसा करने से, आप शायद एक महान दिखने वाली त्वचा पाने के चक्कर में खुद के लिए मुसीबत खड़ी कर रहे हैं। ऐसे कई काम हैं जो आप खुद को नुकसान पहुंचाने के लिए करते हैं और इसी वजह से शायद आप अभी तक पिम्पल्स के शिकार हैं और आपके पिम्पल्स आपका पीछा नहीं छोड़ रहे।

आइये जानते हैं ऐसी कौन-कौन सी है गलतियाँ, जो अक्सर आप करते हैं: –

  1. सफाई की आदत

केमिकल वाले क्लेंसर आपकी त्वचा को नुकसान पहुचाते हैं। आपकी त्वचा के प्राकृतिक तेलों में रोगाणुरोधी पेप्टाइड्स हैं जिन्हें ‘डिफेन्सिन’ कहा जाता है। आपके द्वारा खराब चीजों के इस्तेमाल से जैसे साबुन, हेज़ेल या टोनर; ये सभी उत्पाद शराब-आधारित हैं। आपको अपने स्किन के लिए शराब मुक्त उत्पादों का चयन करना चाहिए ताकि वह आपकी त्वचा पर कठोर प्रभाव ना करे।

  1. पिम्पल्स सेनानियों

बेंज़ोइल पेरोक्साइड, हल्के से मध्यम में पिम्पल्स का इलाज करने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली एक दवा है और ये दवा फेस की सफाई तरल, लोशन, क्रीम और जेल फार्म में उपलब्ध है। बीपी का 10% किशोर वर्गीय के लिए प्रासंगिक है। लेकिन जैसे-जैसे हम व्यस्क होते जाते हैं, हमारी त्वचा की नमी कम हो जाती है और बीपी प्रकृति में त्वचा को सूखा देता है और ये चेहरे में जलन पैदा कर सकता है। नये पिम्पल्स के लिए, ब्रेकआउट के पहले दो दिनों में 5% बीपी के साथ वॉश का उपयोग करें। तीन और चार दिनों में सूजन को कम करने के लिए कोर्टिसोन क्रीम पर आवेदन करें।

3) पिंपल को फोड़ना

जब आप अपनी उंगलियों के साथ अपने पिम्पल्स पॉप करते है या फिर फोड़ने की कोशिश करते हैं, तब अंदर की गन्दगी और भी ज्यादा बिगड़ जाता है। कॉमेडोन चिमटे का इस्तेमाल आपको पिम्पल्स फोड़ने में मदद कर सकता है। यदि आपको मिलता है, तो इसे पॉप करने के लिए कॉमेडोन चिमटा खरीदें। यह गन्दगी को अंदर धकेलने के बजाए, दबाव के साथ बाहर निकालता है।

पिम्पल्स

4) स्पॉट-मुक्त उपचार

कंसीलर पिम्पल्स के लिए एक घातक प्रोडक्ट है; यह जलन को रोकने में मदद नहीं करता है। जब आपको दोष से मुक्त अवस्था की आवश्यकता होती है, तो अपने त्वचा विशेषज्ञ यानि स्किन स्पेसिलिस्ट डॉक्टर के ऑफिस जाना चाहिए और एक कॉर्टिसोन इंजेक्शन के द्वारा 24 घंटे के भीतर दाना गायब हो सकता है।

5) तनाव कारक

एक उच्च दबाव वाली नौकरी या तनाव से भरा रिलेशनशिप, जो आपके तनाव का कारण हो सकता है और वो बैक्टेरिया को आसानी से बनाते हैं, और शरीर की कोर्टिसोन की रिहाई, एक विरोधी भड़काऊ हार्मोन के साथ मिलकर भी गड़बड़ कर सकते हैं। तनाव को कम करने के नए तरीके खोजने से पिम्पल ब्रेकआउट को रोकने में मदद मिलती है।

6) सही भोजन

कुछ लोग त्वचा विशेषज्ञ से कोई नुस्खे के बिना, ज़्यादा खाने की आदत को छोड़कर पिम्पल्स से छुटकारा पा लेते हैं। खाने में ज्यादा ऑयली खाना ना लेकर सिंपल और शाकाहारी खाने का उपयोग करना चाहिए।

7) सही प्रिस्क्रिप्शन

ज्यादातर लोग अपने पिम्पल्स के लिए कोई न कोई उपचार का प्रयोग करते रहते हैं लेकिन उनकी समस्या के लिए सही नुस्खे प्राप्त नहीं करते हैं। एक स्किन स्पेशलिस्ट डॉक्टर देखें, वे आपको स्पिरोनोलैक्टोन, एक विरोधी गोली लिख सकते हैं। इससे शरीर का स्किन पे तेल उत्पादन कम हो जाता है लेकिन आमतौर पर वयस्क महिलाओं के शरीर के अन्य हिस्सों में हार्मोनिक रूप से प्रभाव नहीं होता है।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
सजावट

सर्दियों में अपनी ऑयली स्किन के लिए घर में ही बनाएं मॉइस्चराइजर

घर में पड़ी सामग्री से ही बना सकते हैं


सर्दी आते ही सबसे ज्यादा अगर किसी चीज के प्रॉब्लम होती है तो वह स्किन। सर्दी के दिनों में स्किन बहुत ज्यादा ड्राई होती है। जिसके लिए हममे से प्रत्येक लोग मॉइस्चराइजर का इस्तेमाल करता हैं। लेकिन कई लोगों को स्किन ऑयली होती है। जिसके कारण उन्हें लगता है कि उनकी स्किन को मॉइस्चराइजर की जरुरत नहीं है। लेकिन ऐसा नहीं है सर्दी के दिनों में हरेक तरह की स्किन को मॉइस्चर चाहिए होता है। अगर आप मॉइस्चराजर का इस्तेमाल नहीं करते हैं तो आपके चेहरे पर एक्ने आ जाने का खतरा बना रहता है। आपके स्किन पर एक्ने न आएं इसलिए हम एक समाधान ले आएं। इसके लिए आप अपने ही घर पड़ी सामग्री से ही मॉइस्चाराइजर क्रीम बना सकते हैं।

ऑलिव ऑयल

ऑयली चेहरे के लिए एलोवेरा, रोजवॉटर, बादाम तेल, जैतून तेल, नरियल तेल, शहद, ग्लीसरीन और ग्रीन टी आदि काफी अच्छे माने जाते हैं। सर्दियों में शहद और ग्लीसरीन दोनों ही स्किन को हाइड्रेट रखते हैं, तो अगर आपके पास ज्यादा ऑपशन ना हो तों आप इन्हे ही आजमा सकती हैं।

दूध और ऑलिव ऑयल मॉइस्चराइजर

दूध में लेक्टिक एसिड होता है जो स्किन को मुलायम बनाता है. ऑलिव ऑयल स्किन को अंदर से नरिश करता है. नींबू के रस डेड स्किन को निकालता है और एक्ने तथा झाडयों की समस्या को सुलझाता है।

सामग्री

  • कच्चा दूध- ¼ कप बिना फैट वाला
  • नींबू का रस- 2-3 टेबलस्पून, ताजा निचोड़ा हुआ
  • ऑलिव ऑइल- 2-3 टीस्पून, एक्स्ट्रा वर्जिन

विधि

एक कप में एकस्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल और दूध मिक्स करें। उसके बाद उसमे नींबू निचोडें। इसे मिक्स करें और यूज करें।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
सेहत

कैसें पाएं ऑयली स्किन से छुटकारा

गर्मी और तैलीय त्वचा(ऑयली स्किन) बहुत बड़ी परेशानी वाली बात है। ऑयली स्किन की वजह से आप मेकअप नहीं कर पाते है। तो चलिए आपको एक ऐसे पेस्ट के बारे बताते है जो आपको ऑयली स्किन से छुटकारा दिलाएगा। इसे आप आसानी से अपने घर में बना सकते हैं। मुल्तानी मिट्टी और चंदन का पेस्ट आपको ऑयली स्किन से छुटकारा देगा।

ऑयली स्किन

बनाने की विधि

एक चम्मच मिट्टी, एक चम्मच चंदन पाउडर और चुटकीभर हल्दी किसी बर्तन में मिलाए। उसमें थोडा सा दूध मिला लें। उसके बाद एक गाढा से पेस्ट तैयार करें। इस पेस्ट को 10 से 20 मिनट तक लगा रहने दें। फिर जब यह पेस्ट सूख जाएं तो थोडा पानी लेकर मुंह में लगाए और हल्के हाथों से रगड़कर निकाले। उसके बाद मुंह को अच्छी तरह से पानी से धो लें। इस फेस पैक के हफ्ते में एक बार लगा सकते है।

इस फेस पैक से अपनी स्किन में से अतिरिक्त ऑयल बाहर निकल जाएंगा क्योंकि मुल्तानी मिट्टी स्किन के अंदर के ऑयल को बाहर निकाल देती है।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Categories
लाइफस्टाइल

गर्मियों में स्किन के अनुसार इस्तेमाल करें सनस्क्रीम

गर्मीयों का सम आते ही हम सभी अपने चेहरे व अपनी स्किन को धूप से बचाने की कोशिशों में लग जात हैं। धूप से बचने के लिए हम सभी छाते, सनग्लासेस व सनस्क्रीन का उपयोग करते हैं।

सनस्क्रीन एक ऐसा प्रॉडक्ट है, जिसे हमें काफी ज्यादा व रोज इस्तेमाल करते हैं। लेकिन हम में से बहुत ही कम लोग यह जानते होंगे कि हमारे स्किन के लिए किस तरह का सनस्क्रीन इस्तेमाल करना चाहिए।

आइए जानते हैं किस स्किन टाइप को कैसा सनस्क्रीम इस्तेमाल करना चाहिए…

  • नॉर्मल स्किन- सामान्य स्क्रीन टाइप है, तो आपको ज्यादा चिंता करने की जरूरत नही पड़ेगी। जी हां, आप पर किसी भी प्रकार का सनस्क्रीन सूट करेगा।
  • ऑयली स्किन- गर्मियों में ऑयली स्किन काफी परेशान करने वाली होती है, वहीं गलत प्रकार का सनस्क्रीम आपके चहरे पर पिंपल की समस्याओं को भी पैदा कर सकता है। ऑयली स्किन वाले लोगों को जेल व एक्वा एसपीएफ वाला सनस्क्रीम प्रयोग करना चाहिए।
  • ड्राई स्किन- ड्राई स्किन को अपना स्किन के हिसाब से मॉइस्चराइजर बेस्ड सनस्क्रीम लगाना चाहिए, ताकि स्किन गर्मीयों में भी खिलखिलाती दिखे।
Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in