Categories
विदेश

दो महीने बाद सुलझा डोकलाम विवाद, पीछे हटी दोनों देशों की सेना

चीन ने कहा पहले भारत की सेना हटे


पिछले दो महीने से भारत और चीन के बीच चल रहे डोकलाम विवाद पर आज विराम लग गया है। दोनों देशों की सेना पीछे हट रही हैं।

डोकलाम सीमा

दोनों देशों ने सेना हटाना शुरु की

विदेश मंत्रालय द्वारा जारी किए बयान में कहा गया है कि दोनों देशों ने इस मुद्दे पर लगातार बात की है। जिसके बाद इस पर फैसला लिया गया है। उन्होंने बताया कि विवाद के बाद भी पिछले कई दिनों से दोनों देशो को बीच इस मुद्दे को सुलझाने पर बात चल रही थी। दोनों देश के सेना अब धीरे-धीरे अपनी सेना हटाएंगी। दोनों देशों की सेना पीछे हटना शुरु भी हो गई है।

वहीं दूसरी ओर चीन विदेश मंत्रालय ने कहा कि अभी सिर्फ भारत की सेना ही पीछे हटेगी। चीन की सेना डोकलाम में लगातार पेट्रोलिंग करती रहेगी। वहीं भारतीय विदेश मंत्रालय के बाद चीनी अखबार की ओर से ट्वीट कर कहा गया कि चीन और भारत ने 2 महीने से चल रहे डोकलाम विवाद को खत्म करने का फैसला किया गया है।

ब्रिक्स समिट के लिए चीन का दौरा करेंगे पीएम

आपको बता दें इससे पहले चीनी ने कई बार डोकलाम विवाद को लेकर भारत को धमकी दी थी। कुछ दिन पहले ही चीन से लद्दाख पर बन रही सड़क का निर्माण नहीं रोकता है तो यह भारत के लिए अच्छा नहीं होगा। इसके कारण डोकलाम विवाद और बढ़ता जाएंगा।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कुछ दिनों के बाद ब्रिक्स समिट मे हिस्सा लेने के लिए चीन का दौरा करने वाले हैं। मोदी के दौरे से पहले ही दोनों देशों की कवायद विवाद को सुलझाने की थी। जिसका असर दिखाई दे रहा है। अभी तक जारी बयान से ये साफ नहीं कि कौन से देश की सेना पहले विवादित जगह से हटेगी।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in

Categories
भारत

राष्ट्रपति चुनाव- रामनाथ कोविंद की जीत पक्की मानी जा रही है

मतदान के लिए 10 मिनट पहले पहुंचे पीएम


आज देश के 14वें राष्ट्रपति के लिए मतदान डाले जा रहे हैं। मतदान सुबह 10 से 5 तक डाले जाएंगे। राष्ट्रपति के दौड़ में सत्ता पक्ष से बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद और विपक्ष की तरफ से पूर्व लोकसभा स्पीकर मीरा कुमार मैदान पर है।

संसद भवन

20 जुलाई को आएंगे नतीजे

संसद भवन के अलावा प्रत्येक राज्य की विधानसभा में सुबह 10 बजे से मतदान डाले जा रहे हैं। संसद के दोनों सदनों में जहां सांसदों की वोटिंग की व्यस्था की गई हैं। वहीं राज्य विधानसभा में वहां निर्वाचित सदस्य वोट डालेंगे। 20 जुलाई को इस चुनाव के नतीजे घोषित किए जाएंगे।

सत्ता पक्ष की तरफ से पीएम मोदी सुबह से समय से पहले संसद भवन पहुंच गए थे। चुनाव का समय 10 बजे

था। जबकि पीएम मोदी 9.50 में ही संसद भवन पहुंच गए। यह देखकर आधिकारी भी हैरान रहे गए। पीएम में 10 बजने का इंतजार किया और उसके बाद अपना वोट डाला। इसके अलावा बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, बीजेपी वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी समेत कई नेताओं ने वोट डालें। इसके साथ ही यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी वोट डाला।

वोट डालते पीएम मोदी

ज्यादातर क्षेत्रिय दल कोविंद के समर्थन में

विपक्ष की तरफ से राहुल गांधी और सोनिया गांधी ने भी वोट डाला। वहीं यूपी के सपा के12 से 15 विधायक क्रॉस वोटिंग कर सकते हैं। सपा नेता शिवपाल यादव रामनाथ कोविंद के समर्थन हैं। डीएमके प्रमुख एमके स्टालिन,त्रिपुरा में टीएमसी के 6 विधायक कोविंद का समर्थन कर रहे हैं। वहीं दूसरी ओर टीएसी प्रमुख ममता बनर्जी ने मीरा कुमार को समर्थन का ऐलान किया है।

आपको बता दें राष्ट्रपति चुनावके लिए रामनाथ कोविंद की जीत पक्की मानी जारी है। तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी का कार्यकाल 24 जुलाई को खत्म हो रहा है। इसके बाद ही 25 जुलाई को नए राष्ट्रपति पदभार ग्रहण करेंगे।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in

Categories
भारत

Special Story: जानें इस साल पीएम ने किस-किस देश की यात्रा

पहली बार कोई भारतीय प्रधानमंत्री पहुंचा इजराइल


इस साल मई में बीजेपी सरकार ने अपने तीन साल पूरे होने का जश्न मनाया। यह जश्न को लगभग देश हर हिस्से मनाया गया था। इन तीन सालों में देश में कई तरह के बदलाव हुए हैं। कई बड़े फैसले सदन में लिए गए है। मात्र तीन सालों में बीजेपी की सरकार ने वह कर दिखाया जिसका कई सदियों से इंतजार किया जा रहा था। कई अहम मुद्दों को बीजेपी की सरकार ने उठाया। साल 2014 में सत्ता पलटने के बाद से देश के लगभग आधे हिस्से में अब बीजेपी राज कर रही है। और राज करें भी क्यों नहीं काम ही ऐसे किए हैं।

पीएम मोदी

इन तीन सालों में जो सबसे बड़ा मुद्दा उठा वह ‘तीन तलाक’ है। मुस्लिम वर्ग की महिलाओं के लिए आवाज बनी बीजेपी सरकार ने तीन तलाक के मुद्दों को उठाया और इसमें सुधार के लिए हर संभव कोशिश है।

साथ ही देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने लिए ‘एक देश एक कर’ जीएसटी को देश में लाया गया। कालेधन पर लगाम लगाने के लिए सरकार ने ‘नोटबंदी’ की गई।

इन सबके बीच मोदी सरकार ने कई देशों के साथ अपने अच्छे संबंध स्थापित किए हैं। इस बात का अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि साल 1992 में भारत में इजराइल राजनयिक दूतावास बना, लेकिन अब तक देश का कोई भी पीएम इजराइल यात्रा पर नहीं गया था। पहली बार पीएम मोदी कुछ दिन पहले ही इजराइल की यात्रा से वापस आएं हैं।

साल के छह महीने बीत चुके हैं, इन छह महीने में कई बदलाव हुए हैं, इन छह महीने में पीएम ने कई देशों की यात्रा की है। तो चलिए आज आपको इस बारे में बताते है। इन छह महीने में पीएम किस-किस देश की यात्रा पर गए हैं।

वैसे तो पीएम मोदी ने कुर्सी पर आसीन होने के बाद से ही विदेशों की यात्रा करना शुरु कर दी थी। सोशल साइट पर इस बारे में खूब चर्चा भी होती रही है कि मोदी देश के पीएम बने है या उन्हें विदेशों में घूमने का मौका मिला गया है।

खैर इस साल पीएम ने विदेश यात्राएं तो कि लेकिन उनकी शुरुआत जनवरी से नहीं ब्लकि मई से हुई है।

मई

पीएम मोदी

श्रीलंका

मई के महीने मे पीएम ने तीन देशों का दौरा किया है। जिसमें वह सबसे पहले पड़ोसी देश गए थे। पीएम अंतर्राष्ट्रीय विषक दिवस पर 11,12 मई को कोलंबो गए थे। यहां पीएम मोदी श्रीलंका की तमिल समुदाय के लोगों से मिलें।

जर्मनी

पीएम 29, 30 मई को जर्मनी गए थे। जर्मनी पहुंचे पीएम मोदी का जहां भारी तादाद में भारतीय स्टूडेंस ने मोदी मोदी नारे लगाए थे। जर्मनी की यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच आठ समझौते पर हस्ताक्षर हुए थे।

स्पेन

अपनी स्पेन के यात्रा के दौरान 30 मई को पीएम स्पेन की राजधानी मैड्रिड पहुंचे। दो द्विसीय यात्रा के दौरान पीएम मोदी ने स्पेन के राष्ट्रपति मारियानो राजोय के साथ बैठक कर आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में दोनों देशों के बीच सहयोग बढ़ाने की अपील की।

रुस

अगला ट्रिप पीएम का रुस का था। रुस, पीएम 31 से 2 जून तक थे। रुस में पीएम ने रुसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन के साथ 18वीं द्विपक्षीय शिखर बैठक में हिस्सा लिया। इसके साथ ही सेंट पीटर्सबर्ग में ही आयोजित व्यापार सम्मेलन ‘सेंट पीटर्सबर्ग इंटरनेशनल इकोनॉमिक फोरम(एसपीआईईएफ) में शिरकत की।

फ्रांस

अगली यात्रा पीएम की फ्रांस की थी।

कजाखस्तान

कजाखस्तान की राजधानी अस्ताना में पीएम मोदी ‘शांघाई सहयोग संगठन’ में भाग लेने गए थे।

पुर्तगाल

पीएम 24 जून को पुर्तगाल की राजधानी लिस्बॉन में थे। इस यात्रा के दौरान 11 समझौते पर हस्ताक्षर हुए थे। नैनो टैक्नोलॉजी से लेकर बिजनेस पर समझौते हुए।

अमेरिका

डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद पीएम पहली बार उनसे 25 जून को मिलें। इससे पहले भी पीएम अमेरिका जा चुके हैं। लेकिन इस बार उन्होंने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ डिनर किया। आतंकवाद के मुद्दे पर बातचीत हुई। साझा प्रेस कांफ्रेंस हुई। लेकिन H1B वीजा पर कोई बातचीत नहीं हुई।

नीदरलैंड

अमेरिका की यात्रा के बाद पीएम नीदरलैंड गए। नीदरलैंड के प्रधानमंत्री मार्क रुट और पीएम मोदी के बीच तीन समझौतों हस्ताक्षर हुए।

पीएम मोदी

इजराइल

पीएम मोदी इजराइल जाने वाले देश के पहले पीएम बन चुके हैं। इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू स्वयं एयरपोर्ट पर पीएम मोदी को लेने आएं साथ ही उनका गर्मजोशी के साथ स्वागत किया। भारत और इजराइल के कूटनीतिक रिश्ते के 25 साल पूरे होने के मौके पर यह यात्रा का आयोजन किया गया था।

जर्मनी

इस समय पीएम मोदी जर्मनी के हैम्बर्ग शहर में हैं। पीएम वहां जी-20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने गए हैं।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in

Categories
विदेश

अमेरिका दौरे पर पहली बार पीएम ने किया सर्जिकल स्ट्राइक का जिक्र

दिया अपनी संस्कृति का परिचय, देश की रक्षा के लिए कुछ भी करेंगे


अपनी तीन देश की यात्रा के दौरान पीएम मोदी अमेरिका में पुहंचे। अमेरिका पहुंच कर पीएम ने भारतीयों को संबोधित किया और साथ ही आंतकवाद का मुद्दा जोरों-शोरों से उठाया।

भारतीय अमेरिकियों को किया संबोधित

वर्जीनिया में एक समारोह के दौरान भारतीय-अमेरिकियों को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि भारत विश्व को आतंकवाद के उस चेहरे के बारे मे समझाने में सफल रहा है, जो देश में शांति और सामान्य जीवन को तबाह कर रहा है।

अमेरिका में पाकिस्तान पर निशाना साधते  हुए प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी ने कहा कि नियंत्रण रेखा के पार भारत द्वारा किए गए सर्जिकल हमले यह  साबित करते हैं कि भारत अपनी रक्षा के लिए कड़े से कड़े कदम उठाने से पीछे नहीं हटेगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि दुनिया के किसी भी देश ने इन हमलों पर सवाल नहीं उठाए।

सर्जिकल स्ट्राइक का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि सामान्य तौर पर भारत हमेशा से संयम और धैर्य के साथ काम लेता है। लेकिन आतंकवाद से निपटने के और खुद की सुरक्षा करने के दौरान जरुरत पड़ने पर भारत अपनी शक्ति एवं पराक्रम भी दिखा सकता है।

दक्षिण चीन  पर साधा निशाना

मोदी ने पाकिस्तान पर तंज कसते हुए कहा- हां उन लोगों की बात और है जो सर्जिकल हमलों का शिकार बने। उनकी यह बात सुनकर वहां बैठे श्रोता ठहाके लगाने लगे। दक्षिण चीन की आक्रमकता पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि  भारत अपने लक्ष्यों की पूर्ति के लिए वैश्विक व्यवस्था को भंग करने मे यकीन नहीं रखता।

अपनी संस्कृति का परिचय देते हुए मोदी ने कहा कि भारत अपनी संप्रभुता, सुरक्षा, शांति के लिए, अपने लोगों और प्रगति के लिए कड़े से कड़े कदम उठाने में सक्षम हैं।

आपको बता दें डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद आज पहली बार पीएन मोदी उनसे मुलाकात करेंगे। लेकिन इसस पहले कई बार उनकी ट्रंप के साथ फोन पर बातचीत हो चुकी है। साथ ही उनके साथ डिनर भी करेंगे।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in

Categories
बिना श्रेणी

कोच्चि में मेट्रो का शुभारंभ, पीएम ने दिखाई हरी झंडी और की पहली यात्रा

वैंकेया नायडू भी साथ में


मेट्रो रेल की कड़ी में एक और शहर जुड़ गया है। आज से केरल के कोच्चि शहर में मेट्रो ट्रेन दौड़ेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हरी झंडी दिखाकर मेट्रो का उद्धाटन किया। यह देश का पहला एकीकृत मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट का दावा किए जानेवाले करने वाली मेट्रो है।

कोच्चि में मेट्रो

ट्रैफिक में आएंगी कमी

कोच्चि केरल का व्यावसायिक केंद्र है। इस मेट्रो को चालू होने से शहर के ट्रैफिक में कमी आने की उम्मीद जताई जा रही है।

मेट्रो का पहला चरण अलुवा और पलारीवोम के बीच 113 किलोमीटर लंबा मार्ग हैं। कोच्चि मेट्रो का उद्धाटन सुबह 11 बजे जवाहरलाल नेहरु अंतराष्ट्रीय स्टेडियम से हुआ।

केरल में मुख्यमंत्री भी आएं पहली यात्रा में

मेट्रो का उद्धाटन करने के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने इसमें सफऱ भी किया। मेट्रो को पहले सफर मे मोदी के साथ केंद्रीय शहरी व विकास मंत्री वेंकैया नायडू भी मौजूद थे।

वहीं उद्धाटन के दौरान केंद्रीय शहरी विकास मंत्री वैंकेया नायडू के अलावा, केरल के मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन, केरल विधानसभा में विपक्ष के नेता रमेश चेन्निथला, एरनाकुलम के सांसद के वी थॉमस और मेट्रो मैन ई श्रीधरन प्रधानमंत्री के साथ मंच पर रहे।

कोच्चि मेट्रो को अधिकारियों ने बताया कि कोच्चि में विश्व स्तरीय मेट्रो प्रणाली से ग्रेटर कोच्चि मे क्षेत्रीय संपर्क में सुधार होने से जीवन की गुणवत्ता में सुधार आएगा और इससे भीड़भाड़, यातायात अव्यवस्था, आने-जाने में लगने वाले समय, वायु और ध्वनि प्रदूषण में कमी आएगी।

2013 में शुरु हुआ था निर्माण कार्य

आपको बता दें यह कोच्चि मेट्रो का पहला फेज है। जो 13.2 किलोमीटर तक फैली है। आगे इस 25 किलोमीटर तक बढ़ाया जाना है। इसका निर्माण कार्य साल 2103 में शुरु हुआ था। इस परियोजना के लिए कुल 5,180 करोड़ रुपए खर्च का अनुमाना लगाया गया है।

अभी फिलहाल 13 किलोमीटर के दायरे में 11 स्टेशन है। आगे 25 किलोमीटर में दायरे में 22 स्टेशन होंगे।

इससे पहले देश में कोलकाता, मुंबई, दिल्ली, जयपुर, बेंगलूरु में मेट्रो की चलती है। मेट्रो देश में साल 1984 में प्रारम्भ हुई थी। पहली मेट्रो कोलकाता में चली थी।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in

Categories
भारत

मोदी सरकार के तीन साल पूरे होने पर , पीएम ने किया सबसे लंबे पुल का उद्धाटन

पुल अरुणाचल प्रदेश और असम को जोड़ता है


मोदी सरकार के तीन साल पूरे होने के उपलक्ष्य में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को देश के सबसे लंबे पुल का उद्धाटन किया। इसकी लंबाई 9.15 किलोमीटर है। पुल पूर्वोत्तर के अनिनि में अरुणाचल प्रदेश में है। अनिनि चीन बॉर्डर से 100 किलोमीटर की दूरी पर है।

ढोला सदीया पुल

165 किलोमीटर दूरी में आई कमी

‘ढोला सदीया’ पुल लोहित नदी के पर बना है। लोहित, बह्मपुत्र की सहायक नदी है। यह पुल असम और अरुणाचल प्रदेश को जोड़ता है। इस ब्रिज के बनने से असम और अरुणाचल प्रदेश के बीच 165 किलोमीटर की दूरी कम हो जाएंगी। साथ ही दूरी में 4 घंटे की कमी आ जाएंगी। साथ ही हवाई और रेल परिवहन के अलावा सड़क रास्ते से आना जाना आसान हो जाएगा। यह अब तक देश के सबसे लंबे पुल बांद्रा-वर्ली सी लिंक से 3.55 किलोमीटर लंबा है।

मोदी ने ट्वीट कर इस पुल की जानकारी दी थी। उन्होंने बताया कि यह देश के बहुत बड़ा प्रोजेक्ट है।

वजनी टैंक उठाने में सक्ष्म

यह 60 टन वजनी युद्धक टैंक का वजन भी उठा सकता है। इस ब्रिज के द्वारा समान ढोने वाले और आर्मी की वाहन को आने जाने में सुविधा होगी।

साथ ही इस पुल के बन जाने से हमारी सेना कम समय में बॉर्डर दिबांग और अन्जऊ पहुंच पाएंगे। वर्तमान में यहां पहुंचने में दो दिन लगते है।

इसके साथ ही केंद्रीय परिवाहन मंत्री नितिन गडकरी ने एक वीडियो ट्वीट किया है। जिसमें उन्होंने ढोला सदीया पुल के महत्व को बताया है।

निर्माण कार्य कांग्रेस सरकार के समय शुरु हुई

पुल का उद्धाटन करने के बाद पीएम मोदी एक एनडीए सरकार की तरफ से एक सभा रैली को संबोधित करेंगे। इस रैली में पीएम एनडीए सरकार की तीन साल की उपलब्धियों को बताएंगे।

पुल का निर्माण कार्य साल 2011 में शुरु हुआ था। इससे जब केंद्र में कांग्रेस की सरकार थी। इस पुल को बनाने में लगभग 950 करोड़ रुपये की लागत आई है। इस पुल का निर्माण इस तरह किया गया है कि सैन्य टैंको को भार सहन कर सकें।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in

Categories
भारत

ट्रिपल तलाक के कारण महिला की 12 साल जिदंगी बर्बाद

12 साल में तीन बार हुई तलाक


 

ट्रिपल तलाक, आजकल यह मुद्दा एक धर्म और जाति का ही नहीं ब्लकि पूरा देश के मुद्दा बन गया है। मुस्लिम समुदाय के महिलाओं को तीन तलाक के कारण कई तरह की परेशानियों को देखना पड़ता है। मात्र भर तीन बार तलाक, तलाक, तलाक बोलने से ही शादी जैसा पवित्र बंधन टूट जाता है।

केंद्र में बीजेपी की सरकार बनने के बाद से ही ट्रिपल तलाक का मामला महिलाओं में जोरों शोरों से उठाया है। यह मुद्दा उठने के बाद से ही घर के अंदर आवाज को दबाकर बैठी कई महिलाओं ने पीएम को इस कुरीति को खत्म करने की अपील की है। कई महिलाओं ने आगे आकर मीडिया को अपनी आपबीती भी बताई है।

सिर्फ बच्चे न होने पर मिला पहला तलाक

इस अंग्रेजी बेवसाइट की खबर के अनुसार एक मुस्लिम महिला को 12 साल में ट्रिपल तलाक के नाम पर तीन तलाक मिला है।

तीन तलाक के नाम पर यूपी की 35 वर्षीय तारा खान को तीन बार तलाक मिल चुका है। उसकी जिदंगी की परेशानी यही ही नहीं रुकी उसका चौथा पति भी उसे छोड़कर चला गया  है।

तारा खान का कहना है “बीते 12 साल मेरे लिए बहुत ही भयावह रहे हैं, अब मैं इसी जगह जाना चाहती हूं जहां यह सब न हो।“

तारा ने अपनी आपबीती बताती हुई कहा कि उसकी पहली शादी बरेली के ही जाहिद खान से हुई। सात साल की शादी में तारा का बच्चा नहीं हुआ, तो उसके पति ने एक छोटी महिला से शादी कर ली और मुझे  तलाक दे दिया।

ट्रिपल तलाक


 
रिश्तेदारों ने करवाई दूसरी शादी

पहली शादी टूट जाने के बाद वह अपने किसी रिश्तेदार के घर रहने लगी। इसी दौरान उसके रिश्तेदारों ने उसकी दूसरी शादी पप्पू खान करवा दी। पप्पू उसे बुरी तरीके से तंग किया करता था। जब तारा ने उसका विरोध किया तो उसने उसे छोड़ दिया।

दूसरे तलाक के बाद तारा अपने मामा के घर रहने लगी। यहां भी उसके मामा और भाई ने इतने लंबी जिदंगी अकेले कैसे काटेगी कहकर फिर से शादी करने को कहा। उन्हीं के कहने पर तारा की तीसरी शादी सोनू से हो गई। लेकिन इस  बार भी तारा की किस्मस साथ नहीं दी और सोनू और भी निकम्मा निकला। सोनू उसे मारता पीटता था। अचानक एकदिन वह तारा को उसके घर के बाहर छोड़कर चला गया। वहां छोड़कर जाने से पहले सोनू उसे तलाक दे चुका था।

तारा के  पांच भाई है

पिछले साल जुलाई में तारा की एक बार फिर शमशाद से शादी हुई। लेकिन शमशाद ने भी उसे छोड़ दिया।

तारा की जिदंगी बद से बत्तर हो गई है। तारा के पांच भाई है लेकिन कोई भी उस अपने साथ नहीं रखना चाहता है। उन्हें लगता है कि तारा उनके घर की बेइज्जती करती है इसलिए वह उसे अपने साथ नहीं रखते हैं।

तारा इन सब से परेशान हो चुकी है। वह कहती है कि मुस्लिम महिलाएं कहां जाएं क्या करें? अब मैं इन सब के साथ और नहीं लड़ सकती हूं।

अब तारा और शमशाद एक कॉउसलिंग के लिए जा रहे हैं ताकि अपने पारिवारिक जीवन को बचा सकें।

Categories
पॉलिटिक्स भारत भारतीये पॉलिटिक्स

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बङा एलान, बोले शादी के बाद महिलाओ को पासपोर्ट मे नाम बदलवाने की जरुरत नहीं

शादी के बाद महिलाओ को पासपोर्ट मे नाम बदलवाने की जरुरत नहीं: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बङा एलान


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बङा एलान किया है। उनका बोलना है कि महिलाओं को अब शादी के बाद अपने पासपोर्ट मे नाम बदलवाने की जरुरत नही और वह शादी से पहले वाला नाम ही रखने के लिए स्वतंत्र रहेंगी। उन्होने यह भी कहा है कि महिलाओं को पासपोर्ट के लिए शादी और तलाक के दस्तावेज नही दिखाने होगे।

मोदी जी ने कहा है कि वह चाहते है कि महिलाएं विकास योजनाओं के केंद्र मे रहे। उनका कहना यह भी है कि मुद्रा और उज्जवल सहित विभिन योजनाओ के जरिए उनकी सरकार महिलाओं को सशक्त करने के लिए कई तरह के कदम उठा रही है।

Related : ऋचा चड्ढा के कहा फिल्मों में महिलाओं के किरदार को अच्छा नहीं दिखाया जाता

इंडियन मचेंट चैंबर्स की महिला शाखा को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, अब से महिलाओं को शादी के बाद पासपोर्ट मे अपना नाम नही बदलवाना होगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

Related : जानें, 70 सालों में देश की महिलाओं का योगदान

अपनी सरकार की ओर से शुरु की गई विभिन महिलाऐ केंद्रित योजनाओ का हवाला देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि महिलाओं के लिए मातृत्व अवकाश 12 हफ्तों से बढ़कर 26 हफ्तो का कर दिया गया है जबकि एक अन्य योजना मे अस्पतालों मे बच्चे को जन्म देने वाली महिलाओं को 6,000 रुपए देने का प्रावधान है।

उज्जवला योजना के तहत एक साल मे दो करोङ महिलाओं को मिला लाभ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

उज्जवला योजना के तहत पिछले साल शुरु की गई नि शुल्क रसोई गैस वितरण परियोजना पर मोदी ने कहा, सरकार ने अगले दो साल मे बीपीएल परिवारों के पांच करोङ लोगों को इस दायरे मे लाने का लक्ष्य तय किया है। इसकी शुरुआत के एक साल के भीतर योजना से दो करोङ महिलाओं को लाभ मिला है। उनहोने ये भी कहा है कि एलपीजी सब्सिडी छोङने की मुहिम के तहत अभी तक 1.2 करोङ लोगों ने स्वेच्छा से इस लाभ को त्याग दिया है।

उधमी भावना के लिए महिलाओं की तारीफ करते हुए मोदी ने कहा है कि महिलाओं को जहां भी मौके दिए जाते है वह खुद को पुरुषों से हमेशा दो कदम आगें ही साबित करती है। उन्होने कहा है कि डेयरी और पशुधन क्षेत्रों मे सबसे बङा योगदान महिलाओं का ही होता है।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Categories
बिज़नस

बजट सत्र (2017-18) संसद में सैफुल्लाह के पिता की राजनाथ सिंह ने की तारीफ

संसद में सैफुल्लाह के पिता की राजनाथ सिंह ने की तारीफ


आज से बजट का दूसरा सत्र शुरु हो गया है। दूसरे सत्र के दौरान आज पीएम मोदी संसद पहुंचे। संसद के बाहर पीएम मोदी ने अच्छे संवाद की इच्छा जाहिर की।संसद का कार्यवाही हंगामेदार हो सकती है। विपक्ष आज कई मुद्दों का उठा सकते हैं। जिनमें सबसे प्रमुख नोटबंदी है। बजट सत्र (2017-18) संसद में सैफुल्लाह के पिता की राजनाथ सिंह ने की तारीफ।

सैफुल्लाह के पिता की तारीफ में कहा शव लेने से किया इंकार

इससे पहले कांग्रेस के सांसद ज्योतिरादित्या सिंधिया ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा है “देश आईएसआई का गढ़ बन चुका है। इस पर कारवाई करने में सरकार असफल है।

गृहमंत्री राजनाथ सिंह सदन में लखनऊ एनकाउटर पर बोले। एनकाउटर पर विरोधियों को जवाब देते हुए राजनाथ सिंह ने कहा “सबूत और सूचना के आधार पर कारवाई हुई। सैफुल्लाह के मकान के पर एटीएस ने छापा मारा। उसे सरेंडर करने को कहा गया। लेकिन उसने सरेंडर करने से माना कर दिया।“
साथ ही सैफुल्लाह के पिता के तारीफ करते हुए कहा है “सैफुल्लाह के पिता से उसके शव को भी लेने से इंकार कर दिया।“
सैफुल्लाह के पिता ने कहा “जो देश का नहीं हो सका वो मेरा कैसा होगा। मैंने जीवनभर मेहनत करके परिवार को पाला है और इसने मुझे शर्मिंदा कर दिया। पूरा सदन सैफुल्लाह के पिता के प्रति सहानुभूति व्यक्त करेगा और मैं भी करता हूं।“

मातृत्व अवकाश पर भी होगी चर्चा

22 फरवरी को अमेरिका में मारे गए इंजीनियर की मौत के का जिक्र करते हुए गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि सरकार अगले हफ्ते इस पर सदन में बयान देगी।

वहीं दूसरी ओर राज्यसभा की कार्यवाही शुरु होती ही शुक्रवार के लिए स्थागित कर दी गई है।
दूसरे सत्र के दौरान के पीएम मोदी ने उम्मीद जताई है कि इस बार जीएसटी बिल पर बात आगे बढ़ेगी। पीएम मोदी ने कहा कि जीएसटी बिल पर सभी राज्यों से सहयोग की उम्मीद है। पीएम ने कहा कि बजट सत्र के इस चरण में बजट के प्रावधानों पर बारीकी से चर्चा की जाएगी।
इसके साथ ही सरकार मातृत्व अवकाश(मैट्रनिटी लिव) को 12 सप्ताह से बढ़ाकर 26 सप्ताह करने वाले विधेयक को गुरुवार को लोकसभा में पेश करेगी।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Categories
पॉलिटिक्स भारतीये पॉलिटिक्स

हर जगह मन की बात लेकिन बीजेपी की मन की बात कोई नहीं समझ पाया- अखिलेश यादव

बीजेपी की मन की बात कोई नहीं समझ पाया


यूपी मे पांचवे चरण के चुनाव के लिए चुनाव प्रचार जोरों से हो रहे हैं। यूपी के सीएम अखिलेश सिंह यादव आज सिद्धार्थनगर में एक रैली को संबोधित कर रहे हैं। कल पीएम मोदी ने गोंडा में चुनाव प्रचार किया था। हर जगह मन की बात लेकिन बीजेपी की मन की बात कोई नहीं समझ पाया- अखिलेश यादव।

अखिलेश सिंह यादव

नकल वाली बात पर दिया करारा जबाव

अखिलेश सिंह ने आज पीएम मोदी की नकल करने वाले बात पर जवाब दिया है। रैली को दौरान उन्होंने कहा कि हर किसी ने थोड़ी बहुत नकल की है। कैसा कोई नहीं है जिसने बचपन में पढ़ाई के दौरान नकल न की हो।

पीएम मोदी पर वार करते हुए अखिलेश ने कहा कि भाजपा ने तो हमारे वायदों की भी नकल है। पीएम न तो कपड़ो तक की नकल की है।
साथ ही कहा कि इतना झूठ बोलने वाला प्रधानमंत्री कहीं देखा, किसी ने देखा हो तो बताओ। ऐसा सपने दिखाने वाला प्रधानमंत्री नहीं देखा। अखिलेश यादव ने कहा कि आप कह रहे हैं कि गरीबों को लाभ मिल। हम पूछना चाहते है कि नोटबंदी का क्या फायदा हुआ जनता को इसका क्या लाभ मिला है। हम तो कहते हैं प्रधानमंत्री जी समाजवादियों से बहस कर लो, जो जगह तय करनी है कर लो।

हर जगह मन की बात

प्रधानमंत्री की मन की बात की चर्चा करते हुए अखिलेश ने कहा कि टीवी पर मन की बात, रेडियो पर मन की बात हर जगह मन की बात लेकिन आज तक कोई नहीं समझ पाया बीजेपी के मन की बात।
सीएम अखिलेश यादव ने कहा कि मोदी जी ने कल तीन पन्नों का भाषण दिया। लेकिन इतने लंबे भाषण ने कहीं भी किसान और गरीबों का जिक्र नहीं था।
कब्रस्तान और श्माशान को उठाते हुए अखिलेश ने कहा कि प्रधानमंत्री कब्रिस्तान और श्मासान की बात कर रहे हैं। हमे उनके डिजिटल इंडिया के सपने को बढ़ा रहे हैँ। इसके लिए हम लैपटॉप और स्मार्टफोन की बात कर हैं। प्रधानमंत्री जी को पता भी नहीं है कि यूपी मे डायल 100 भी है।