Categories
एजुकेशन लाइफस्टाइल

Skill VS Degree : स्किल पर दे ध्यान डिग्री पर नहीं

कैसे कर सकते है आप अपने स्किल्स को पॉलिश


ज्यादातर बच्चे स्किल्स पर नहीं डिग्री पर ज्यादा ध्यान देते है इसकी ख़ास वजह है फॅमिली का प्रेशर. सभी माँ बाप चाहते है की उनका बच्चा अच्छे से पढ़े और अच्छे मार्क्स लेकर आये ताकि अच्छे स्कूल या कॉलेज में ऐडमिशन ले सके लेकिन वो ये भूल जाते है की वो रट के अच्छे नंबर ला सकते है लेकिन वो चीज़े हमेशा याद नहीं रहती है इसीलिए सबसे पहले अपने स्किल्स को पॉलिश करना बहुत ज़रूरी है.

Skill VS Degree

समय लेकिन अब धीरे- धीरे बदल रहा है , एक जमाना था जब सक्सेस को  पाने के लिये महज एक डिग्री की जरुरत पड़ती थी और ग्रेजुएट होते ही डिग्री दिखाकर नौकरी मिल जाती थी पर आज जमाना बहुत बदल चुका है। आज किसी अच्छे कॉलेज से ऊँची डिग्री लेने के बाद भी यह नहीं कहा  जा सकता कि आप अपने पसंद की फील्ड में काम कर पाएंगे या नहीं.

Also Read: अब कॉमर्स के लिए मैथ्स लेना है कंपल्सरी 

ये आपको समझना बहुत जरुरी है की आपको अपने अंदर की स्किल्स को पॉलिश करना जरुरी है तभी काररीएर में आगे ग्रोथ कर पाओगे फिर चाहे आपने कोई भी फील्ड क्यों न चुना हो? सबके लिए डिग्री या नंबर नहीं टेलेंट देखा जाता है की वो उस काम को कितने अच्छे से कर पाते है.

स्किलस को पोलिश करने के लिए आपको प्रक्टिकल को समझना पढ़ेगा क्यूंकि थ्योरी इतने अच्छे से समझ नहीं आती जैसे अगर आप मॉसकॉम कोर्स कर रहे है और उस कोर्स  में आप बस थ्योरी पढ़ेंगे तो आपको कुछ भी समझ नहीं आयगा जब तक उन चीजों को खुद नही करेंगे चाहे वो एंकरिंग हो या रिपोर्टिंग आपको सब लाइव फील्ड पर करना ही पड़ेगा.

इसलिए बेहतर है की आप अब रटना छोड़ दे और डिग्री पर कम स्किल्स पर ज्यादा फोकस करे तभी करियर में ग्रोथ कर पाएंगे.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

 

 

Categories
मनोरंजन

जाने “YJHD” के 10 डाईलोगस जो बदल सकती है आपकी लाइफ

ये बाते आपकी लाइफ को बहुत हिट करती है


ये बात सभी जानते है की लाइफ के दो रास्ते है एक सही और दूसरा गलत , फिर वो आप पर निर्भर करता है की आप सही रास्ता अपनाते है या गलत रास्ता. लाइफ में लेकिन कुछ बाते आपको कभी – कभी हिट कर जाती है, तब आपको एहसास होता है की आप जो अपनी लाइफ से चाहते है वो आपको मिल रहा है की नहीं,

हमे कभी – कभी खुद से सवाल जवाब कर लेना चाहिए की हम अपनी लाइफ से जो चाहते है उसके लिए क्या हम मेहनत कर रहे है.  कुछ लोग हमे जिंदगी का सही लेसन सिखा जाते है जो हमे आगे बढ़ने में काफी मदद करता है. लोगो के साथ – साथ कभी कुछ फिल्म्स भी हमे अपने लाइफ का सही मतलब सीखा जाती है जिससे आप खुद को वापस पा लेते है.

मोटीवेट

जाने ये जवानी है दिवानी के 10 डाईलोगस जो आपकी लाइफ को पूरी तरह बदल देता है:

1.“खुद पर दया करना बंद करो और खुद से प्यार करना सीखो

तुम जैसे हो, बिलकुल ठीक- ठाक हो”

यानी जब तक आप खुद से प्यार नहीं करेंगे तब तक आप खुद को नहीं पा सकेंगे या अपने अन्दर छुपे टैलेंट को नहीं जान पाएंगे.

2.“मैं उड़ना चाहता हूँ , दौड़ना चाहता हूँ

गिरना भी चाहता हूँ , बस रुकना नहीं चाहता”

यानी आप लाइफ में आगे बढ़े वो भी बिना किसी डर के ,ये मत सोचे की आप को जीत मिलेगी या हार. बस अपने गोल को पाने के लिए आगे बढ़ते रहे

3.“कही पर पहुचने के लिए

कहीं से निकलना बहुत जरुरी होता है”

यानी जब तक आप अपने पास्ट को लेकर चलते है तब तक आप अपने फ्यूचर को अच्छा कैसे बना पाएंगे

4.“जितना भी ट्राई करो बन्नी, लाइफ में कुछ न कुछ तो छूटेगा ही

तो जहाँ हो वहीँ का मज़ा लेते है”

कभी कभी सही चीज़ को हासिल करने के चक्कर में कुछ यादें और लोग पीछे छुट जाता है लेकिन उनको सोचने के बजाये आज में जियो नहीं तो वो मोमेंट भी हाथ से चला जायेगा.

5.“तुम पहले भी इतनी खूबसूरत थी?

या वक़्त ने किया कोई हसीं सितम”

खुद को जाने जाने के लिए आईना के सामने खड़े होकर खुद से बात जरुर करे क्यूंकि आईना कभी आपसे झूट नहीं बोलता.

6.“कभी- कभी कुछ बातें हमारे यादों के

कमरे की खिड़कीयां खोल देती है

की हम दंग रह जाते है”

पुरानी बाते कभी आपको इतना परेशां कर देती है की आप उससे से आगे बढ़ते ही नहीं बल्कि उससे भूल जाना चाहिए.

यह जवानी है दीवानी

7.“कुछ लोगों के साथ रहने से ही

सब ठीक हो जाता है”

जब आप एक वक़्त पर खुद को अकेला महसूस करते है तब आपके अपने आपका साथ देते है.

8.“तू राईट नहीं है नैना,

बस मुझसे बहुत अलग है”

आप सही हो लेकिन सामने वाला भी गलत नहीं है

9.“यादें मिठाई के डब्बे की तरह होती है,

एक बार खुला तो सिर्फ , एक टुकड़ा

नहीं खा पाओगे”

पास्ट जो कभी आपका पीछा नहीं छोड़ती है आप उससे जितना पीछे मूड कर देखंगे वो  उतनी चीजे याद दिलाती है

10.“वक़्त रुकता नहीं

बीत जाता है और हम

खर्च हो जाते है”

जो करना चाहते हो उसे करो और उससे करने के लिए किसी सही वक्त का इंतज़ार मत करो क्यूंकि वक्त रुकता नहीं है हम आगे बढ़ जाते है.

यह 10 बाते जो आपकी लाइफ को पूरी तरह से बदल देती है और आगे बढ़ने में आपको मोटीवेट भी करती है.

 

Categories
लाइफस्टाइल

अपनी बोरिंग लव-लाइफ में लगाए इन टिप्स से रोमांस का तड़का

अपनाएं ये टिप्स और बनाएं अपने लव-लाइफ को और भी इन्टरेस्टिंग


प्यार किसी भी रिश्ते के लिए बहुत ही खास होता है। चाहे वो प्यार गर्लफ्रेंड-ब्वॉयफ्रेंड हो या फिर शादीशुदा कपल का। हर किसी को अपने रिश्ते में प्यार और केयर बरक़रार रखने के लिए ऐसी बहुत-सी बातों का ध्यान रखना पड़ता है, नहीं तो आपकी लव-लाइफ मुश्किल में पड़ सकती है। बहुत से कपल ये शिकायत करते हैं क उनकी लव-लाइफ बोरिंग होती जा रही है। इसमें कुछ नयापन नहीं बचा। अगर आपके साथ भी कुछ ऐसा ही है, तो इसमें काफी हद तक कसूर सिर्फ आपका नहीं होता लेकिन अगर आपको पता है तो आप रिश्ते को कुछ हद तक सुधार सकते हैं। आज आपको कुछ ऐसी ही बातों के बारे में बताएंगे, जिन्हें अपनाकर आप अपनी बोरिंग लव-लाइफ में लगा सकते हैं रोमांस का तड़का।

पार्टनर लव-लाइफ

जानिए लव लाइफ में किन बातों का रखें ध्यान :-

1) पार्टनर को टाइट हग जरूरी
अगर आपको लगता है कि आपके रिश्ते से रोमांस कहीं गायब सा हो गया है तो आपको दिन में कम-से-कम एक से दो बार अपने पार्टनर को टाइट हग जरूर करें। ऐसा करने से अपनेपन का एहसास होता है और आपकी लव-लाइफ में आपको अच्छी मदद मिलती है।

2) साथ में वर्कआउट करना
अगर आप वर्कआउट के शौक़ीन हैं और खुद को मेन्टेन करके रखते हैं तो ये अपने पार्टनर के साथ करें, अगर आप ऐसा करते हैं तो आपको एक अलग ही एहसास होता है और आप अच्छे से एक्सरसाइज भी कर पाते हैं। साथ में वर्कआउट करने से आप दोनों की नजदीकियां बढ़ती है। इसके साथ-साथ जहाँ तक पॉसिबल हो सके अपने पार्टनर के साथ ही सोयें क्यूंकि साथ सोना भी बहुत जरूरी है, इससे आपका रिश्ता मजबूत बनता है।

3) शुक्रिया अदा करें
आपका पार्टनर कभी भी आपके लिए कुछ खास करता है, तो उसे शुक्रियादा जरूर अदा करना चाहिए। वैसे तो थैंक यू बोलने के बहुत और भी तरीके हो सकते हैं जैसे आप उन्हें बदले में कुछ गिफ्ट कर सकते हैं, उनका फेवरेट फ़ूड बनाकर उन्हें सरप्राइज कर सकते हैं या फिर थोड़ा क्वालिटी टाइम स्पेंड कर सकते हैं। आपके इस व्यवहार से उन्हें ये एहसास होगा कि आप उनकी कद्र करते है और आपके लिए वो बहुत महत्वपूर्ण है। इससे आपका प्यार और भी ज्यादा मजबूत होगा।

पार्टनर लव-लाइफ

4) मोबाइल से दूर रहे
आप जब भी अपने पार्टनर के पास हो तो इस बात का ख्याल रखें कि अपना मोबाइल फोन को हाथ ना लगायें और हो सके तो बंद ही रखें। ऐसा इसलिए कि आजकल की व्यस्त लाइफ में आपस में समय बिताने का बहुत कम समय मिलता है और अगर घर पर साथ होने के बाद भी अगर आप मोबाइल में बिजी रहकर बेकार और बोरिंग कर देंगे, तो आपके रिश्ते में प्यार और मजबूती कैसे बनी रहेगी। इसीलिए इस बात का खास ख्याल रखें कि मोबाइल से दूर रहे।

5) रोमांस भी है जरूरी
किसी भी रिश्ते में रोमांस और आपसी सबंध बनाना या एक-दूसरे के करीब होना बहुत ही जरूरी होता है। इसीलिए जब भी आपको समय मिले तो अपने पार्टनर की इच्छानुसार संबंध जरूर बनाएं। इससे रिश्ते में ताजगी बरकरार रहेगी और आपका रोमांस भी समय के साथ फीका नहीं पड़ेगा।

Categories
लाइफस्टाइल

सर्दियों में क्रिएटिव इंटीरियर डेकोरेशन से रखें घर को गर्म!

अपने घर को बनाएं और भी सुंदर


सर्दियों का मौसम आते ही ठंडी हवा से बचने के लिए लोगों ने स्वेटर और जैकेट निकाल ही लेते हैं। शरीर को गर्म रखने के लिए लोगों ने अपनी पूरी तैयारी कर ही ली है लेकिन अपने आसपास के वातावरण में गर्माहट पैदा करने के लिए क्या-क्या तैयारियां की हैं? जैसे गर्मी में अलग कपड़े और रंग-बिरंगे रंग मन को भाते हैं उसी तरह ठंड में भी इन बातों का ध्यान रखना चाहिए। घर का भी इंटिरियर ऐसा हो जो मौसम में गरमाहट लाएं।

डेकोरेटिव इंटीरियर

घर में गर्माहट बरक़रार रखने के लिए इंटिरियर के कुछ टिप्स:-

  • अधिकतर घरों में प्लास्टिक वाले डाइनिंग कवर और सोफा कवर ही काम में लेते है। लेकिन सर्दी के मौसम में क्रोशिया बुने सोफा कवर, मेजपोश आदि भी काफी आकर्षक दिखते हैं। पुराने स्वेटर का इस्तेमाल करके कुशन, तकिया, फुट-मैट, डेकोरेशन पीसेस आदि बना सकते हैं।
  • रंगों का हमारे लाइफ और मूड पर भी बहुत प्रभाव डालते है। गर्मी में हल्के रंग आंखों का सुकून देते हैं तो सर्दी के मौसम में गर्माहट भरे रंग जैसे नारंगी, लाल व नीला आदि को अपने घर की सजावट करनी चाहिए। इनके अलावा गहरे रंग जैसे पीला, चॉकलेटी, गाढ़ा भूरा रंग सजावट में काम में ले। ये घर को गर्माहट के एहसास से भर देंगे।
  • ठंड के मौसम में घर में परदे, बेडशीट, कुशन कवर आदि में वेलवेट, फॉक्स और फर जैसे फैब्रिक का इस्तेमाल करें। इस तरह के फैब्रिक से न सिर्फ घर को शाही अंदाज मिलेगा बल्कि आपको भी ठंड भी कम लगेगी। इसके अतिरिक्त कश्मीरी कढ़ाई या फिर वेलवेट पर जरदोजी के काम वाले पर्दे शालीन व राजसी शान देते हैं और सर्दियों के मौसम के लिए बेहद उपयुक्त होते हैं।
  • सर्दी के मौसम में फर्श बहुत ठंडी हो जाती है। ऐसे में ठंड से बचने और घर को गर्माहट से भरने के लिए ठंड के मौसम में कालीन को अपने घर के इंटीरियर का हिस्सा जरूर बनाएं। चाहें तो छोटे-छोटे डोर-मैट्स को एक साथ जोडक़र भी कालीन जैसा रूप दे सकती हैं।
  • घर में बौन-फायर के होने से घर का तापमान संतुलित रहता है। इसलिए घर में यह जरूर होना चाहिए। और हो सके तो अपने फर्नीचर को बोनफायर के आसपास ही रखें।
  • घर में एक-दो बड़े साइज के इंडोर पौधे जैसे एरिका पम या फिर क्रिसमस ट्री जैसे खूबसूरत गमलों से कमरे को सजा सकते हैं। पौधों को कमरे के कोने में रखकर उनको कुछ रंग-बिरंगी फेयरी लाइट्स से सजा सकते हैं। ये जलती-बुझती रोशनी ठंडी रातों में गर्माहट का एहसास कराएगी। सर्दियों में गेंदा, गुलदाउदी, पैंजी, पिटुनिया के रंग-बिरंगे फूलों के गमले भी बेहद खूबसूरत दिखते हैं।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
सुझाव

जानिये स्वप्न फल के प्रभाव !

आखिर क्यों दिखते हैं मृत परिजन सपने में ?


आज हम बात करेंगे उन सपनों के बारे में जिसकी वजह से हम अपने सपनों में अपने मृत परिजनों को देख लेते हैं। कभी न कभी सबने ऐसी परिस्थिति का सामना जरुर किया होगा। बहुत सारे लोग इसे अपने मन का भ्रम मानते हैं। लेकिन जो लोग ऐसे स्वप्न देखते हैं खास कर ऐसे लोगों को इस बात को जानने की बड़ी उत्सुकता होगी कि इन सपनों का मतलब क्या है? आखिर क्यों उन्हें अपने मृत परिजनों के सपने दिखते हैं? आज हम इसी बारे में बात करेंगे की आखिर मरे हुए स्वजनों के सपने में दिखने का क्या तात्पर्य है।

सपने या मन का भ्रम

आइए जानें मृत परिजनों के सपने में दिखने के कुछ असामान्य प्रभाव:-

मृत परिजन और उनका साथ
  1. जब भी कोई मृत व्यक्ति सपने में दिखता है, वो हमेशा स्वस्थ दिखेगा चाहे वो अपने जीते जी कितना ही ज्यादा बीमार रहे हो।
  2. कभी-कभी मृत परिजन आने वाले मुसीबतों से आगाह करने के लिए भी हमारे सपनों में आ जाते हैं।
  3. कई बार मौत के बाद भी लोगों से अपनों का मोह नहीं जाता है। इन आत्माओं को मोक्ष नहीं मिल पाता जिसकी वजह से उनकी आत्माएं अपनों की चिंता में उनके आस-पास ही भटकती रहती है।
  4. स्वप्न में दिखने वाले मृत परिजनों की आवाज नहीं होती। ऐसे में वह सिर्फ इशारों से और हाव-भाव से अपना उद्देश्य बयान करते हैं।
  5. मृत स्वजनों का सपनों में दिखना सकारात्मक होता है क्यूंकि सपनों में दिखने वाला इंसान एक अलग ही ऊर्जा का एहसास कराता है। इससे सुबह जागने के बाद आंतरिक सुकून का एहसास कराता है।
  6. सपनों में हमारे मृत परिजनों का दिखना हिम्मत और प्रेरणा प्रदान करता है क्यूंकि उनका अचानक से गायब हो जाता है तो कोई भी मजबूत व्यक्ति टूट सकता है, ऐसे में उसी स्वजन का दिखना हमारा भरोसा देता है कि वो परिजन हमारे आस-पास ही है और हमें देख रहा है।
  7. कुछ लोगों को उनके मृत परिजन लाइफ में अच्छा करने के लिए एक तरह से प्रेरित भी करते हैं। अपने मृत परिजनों के दिखाए हुए मार्ग पर चल कर भी लोग अपना जीवन सफल बनाते हैं।
  8. वहीँ कभी-कभी कुछ लोग अपने मृत परिजनों को सपने में देख कर बुरी तरह से डर जाते हैं, और तो और बीमार भी पद जाते हैं।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us atinfo@oneworldnews.in

Categories
लाइफस्टाइल

जानिए क्यों कॉलेज में आ कर रिलेशनशिप हो जाते है फ़ैल

कॉलेज में अधिकतर रिलेशनशिप फ़ैल होते है


कॉलेज हमारी जिंदगी का एक नया पड़ाव होता है। हमें जिंदगी जीने का एक नया अनुभव मिलने वाला होता है। यह उम्र और समय ऐसा होता है जहां हमें नई आजादी मिलती है। और इस नई आजादी को किस तरह से संभाला जाए यह हर किसी को नहीं आता। आजकल के बच्चों के लिए प्यार बहुत ही छोटी चीज है और इसलिए किसी भी अच्छे दिखने वाले को देखते ही उन्हें उन से प्यार हो जाता है और फिर इसी प्यार को रिलेशनशिप का टैग भी मिल जाता है। और यही कारण होता है कि कॉलेज में अधिकतर रिलेशनशिप फ़ैल होते है।

इसके अलावा कॉलेज में रिलेशनशिप फ़ैल होने के कुछ और कारण भी होते ही:-

  • समय की कमी

कॉलेज हम सभी के लिए एक नई जगह होती है। ऐसी नई जगह में खुद को संभालने और समायोजित करने में समय लग जाता है। और फिर नई जगह के अनुसार खुद को ढालने में भी समय लगता है। नए लोगों से मिलना, उनके साथ घुलना और पढ़ाई और समय में संतुलन बना कर चलना बहुत आसान नहीं होता। और ऐसे में जब आप पढ़ाई से हटकर कुछ करते हैं तो आप के पास खुद के लिए समय भी नहीं बचता। इसलिए रिलेशनशिप को भी अब ज्यादा समय नहीं दे पाते हैं जिसकी वजह से आपका रिलेशनशिप फैल हो जाता है।

  • प्रलोभन

कॉलेज में आकर दुनिया बहुत अलग हो जाती है। आप नए लोगों से मिलते हैं जो हो सकता है आपको किसी भी कारण से आकर्षक लगते हो। यह वही आकर्षण और प्रलोभन होता है जिसके कारण आप पहले रिलेशनशिप में आए थे। इसे समझना थोड़ा मुश्किल है पर बात आसान है,की आप किसी की तरफ आकर्षित होते हैं और यही आकर्षण और प्रलोभन के कारण आप बहक जाते हैं और आपके खुद के रिलेशनशिप में दरार आ जाती हैं।

नई दोस्ती से असुरक्षित महसूस करते है
यहाँ पढ़ें : प्यार होने के बाद बदल जाती है लड़कियों की ये सारी आदतें
  • जलन

जैसे ही हमारे नए दोस्त बनते है,हम उनके साथ ज़्यादा समय बिताना शुरू कर देते है। अब जाहिर सी बात है की कॉलेज में आकर हम नए दोस्त बनाएंगे और अपना अधिकतर समय उन्हीं के साथ बिताएंगे। पर जाने अनजाने में हम अपने रिलेशनशिप को भूल जाते हैं। हम ना चाहते हुए भी उसे थोड़ा नजरअंदाज कर देते हैं। उस रिलेशनशिप में फिर दोनों ही एक दूसरे के नए दोस्तों से थोड़ा असुरक्षित महसूस करना शुरू कर देते हैं।

  • संचार संपर्क की कमी

आज कल की रिलेशनशिप सिर्फ मोबाइल फोन तक सीमित है, जिसकी वजह से लोग ढंग से बात ही नहीं करते। इसलिए लोगों में गलतफहमियां बहुत बढ़ जाती है। सिर्फ मैसेज करने से बातें एक दूसरे तक नहीं पहुंचाए जा सकती। एक दूसरे को समझना बहुत जरुरी होता है। संचार की कमी के कारण किसी भी रिलेशनशिप की नींव बहुत कमजोर पड़ जाती है और इसी वजह से वह रिलेशनशिप फैल हो जाता है।

समझा जा सकता है की कॉलेज, हर किसी के लिए बहुत ही आकर्षक दुनिया है। यह दुनिया ऐसी है जहां पर हम बहुत आसानी से बहक सकते हैं। इस दुनिया में हमें अपना पाँव जमाना है और खुद को साबित करना है, यहां पर बहक कर मुंह के बल नही गिरना।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Categories
लाइफस्टाइल

क्या आपने भी पढ़ा ढाई आखर प्रेम का

क्या आपने भी पढ़ा ढाई आखर प्रेम का


संत कबीर, किसी ज़माने में हम सभी को सिखा गए कि ‘पोथी पढ़ि पढ़ि जग मुआ, पंडित भया न कोई, ढाई आखर प्रेम का पढ़े सो पंडित होए।‘ अब बात कुछ गलत थोड़ी ना कही कबीर जी ने,  चाहे जितना ज्ञान सीख लिया जाए पर जब तक प्यार की भाषा न सीखी जाए तब तक ज्ञानी कैसे हो सकते हो? आखिर प्यार की भाषा तो हर कोई समझ जाता है।

अँधेरे में रौशनी का काम करता है प्यार

कहते है कि प्रेम की भाषा ऐसी है जो अंधे को दिखती है, बहरे को सुनाई देती है और मूक बोल सकता है। सोचा है कितनी ही ताकत है इस भाषा में। ये ढाई आखरो से बना शब्द बहुत ही बड़ा और गहरा है। इस शब्द का अस्तित्व सिर्फ ‘आई लव यू’ तक सीमित नहीं है। सिर्फ बोलने से ही प्यार का एहसास नहीं दिलाया जाता।

माँ का ममता भरा स्पर्श, पिता की डाँट, दोस्त की झप्पी सब हमारे प्रति प्यार ही तो दर्शाता है। ये सभी लोग हमें दिन में दस बार ‘आई लव यू’ नहीं बोलते, पर हमें फिर भी पता होता है कि ये सभी लोग हमसे कितना प्यार करते है। सच्चे प्यार को महसूस किया जाता है, बिना कहे ही इसको समझ लिया जाता है।

प्यार बातों तक सीमित नहीं होता

यहाँ पढ़ें : पांच तरीके जो आपको बना सकते है बेहतर दोस्त

प्यार एक एहसास है, इसे शब्दो के माध्यम से समझाया नहीं जा सकता। आज कल प्यार सिर्फ एक मजाक बनके रह गया है। गर्लफ्रेंड बॉयफ्रेंड के “प्यार” से बहुत ऊपर होता है। अब तो प्यार को खोखला बना दिया गया है। सच्चा प्यार एक अलग सा सुकून देता है, एक अलग सी ख़ुशी देता है।

इस ढाई आखर में पूरी दुनिया को समेटा जा सकता है। इस लफ्ज़ में, इस एहसास में हर शक्ति से ज़्यादा ताकत है। अगर हर कोई इस लफ्ज़ को पढ़ के सीख ले या इस एहसास की इज़्ज़त करना शुरू करदे तो ये दुनिया एक बेहतर जगह होगी, जहाँ इंसानियत भी होगी और खुशियाँ भी।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in