Categories
लाइफस्टाइल

जानें ब्रेन एक्सरसाइज के बारे में, जो आपके दिमाग को बनाती हैं हेल्दी और एक्टिव

जाने ब्रेन को फिट रखने के बेहतरीन तरीके


ये बात तो हम सभी लोग जानते है कि एक्सरसाइज
हमारे लिए कितनी जरूरी है। साथ ही हमें  नहीं लगता कि हमें आपको एक्सरसाइज के फायदों के बारे में तो बताने की जरूरत है। एक्सरसाइज हमारे शरीर को फिट रखने का एक बेहद
ही बेहतरीन तरीका है। अगर हम स्वास्थ्य एक्टिविटी के बारे में बात करें तो
एक्सरसाइज इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। आज के समय में लोग अपने बिजी लाइफस्टाइल के
कारण इस पर ध्यान नहीं देते लेकिन इस पर जितना
ध्यान दिया जाये उतना कम है। अगर आप अपने शरीर को लम्बे समय तक हेल्दी और फिट रखना चाहते है तो अपने डेली रूटीन में
एक्सरसाइज को ऐड कर सकते है। एक्सरसाइज न सिर्फ आपको आज एक्टिव और स्वस्थ रखेगा बल्कि ये आपको आने वाले समय में भी आपको एक्टिव और स्वस्थ रखेगा। तो चलिए आज हम आपको ब्रेन एक्सरसाइज के बारे में बतायेगे। क्योंकि ब्रेन हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। ब्रेन हमारे शरीर के बाकि महत्वपूर्ण अंगों की तरह एक है। इसे भी स्वस्थ रहने और बेहतर रूप से काम करने के
लिए आपके शरीर के बाकी हिस्सों की तरह ही
एक्सरसाइज, अटेंशन और सिमुलेशन की आवश्यकता
होती है।

Image Source- Pixa Bay

तो चलिए आज हम आपको कुछ ब्रेन एक्सरसाइज के बारे में बताएंगे।

गेम खेलें: ब्रेन एक्सरसाइज के तौर पर आप गेम्स खेल
सकते है। यह एक शानदार तरीका है। सुडोकू, वर्ग पहेली और इलेक्ट्रॉनिक गेम्स ये सभी गेम्स ब्रेन की गति और स्म्रति में सुधार कर सकते है। ये सभी गेम तर्क, शब्द कौशल, गणित आदि पर निर्धारित होते हैं। इसी लिए शायद ये गेम दिमाग को चुनौती देने के साथ ही साथ मजेदार भी होते है।

और पढ़ें: अगर कमजोर हो रही है आंखों की रोशनी, तो आजमाएं ये घरेलू नुस्खे

संगीत सुनें: जब भी आप फ्री हो उस समय पर आप अच्छा संगीत सुन सकते हैं। एक रिसर्च के अनुसार हैप्पी सॉन्ग्स सुनने से रचनात्मक सोच में सुधार हो सकता है। इतना ही नहीं हैप्पी सॉन्ग्स सुनने से दिमाग के फंक्शन करने की क्षमता भी बेहतर हो जाती है साथ ही साथ नए सॉल्यूशन निकालने में मदद मिल सकती है.

image Source- Pixa Bay

ध्यान: रोजाना नियमित रूप से ध्यान लगाना, शायद वह एक सबसे बड़ी चीज है, जो आपके मन, मस्तिष्क और
शरीर को स्वास्थ्य रखने में आपकी सहायता करता है। रोजाना ध्यान करने से न सिर्फ आपके शरीर को रिलैक्स मिलता है बल्कि एक अलग मानसिक स्थिति बनाकर, आपके दिमाग को भी कसरत देता है। ऐसा करने से आप अपने मस्तिष्क की फिटनेस को
बढ़ाते हुई मस्तिष्क को नए और दिलचस्प तरीकों से
व्यस्त रख सकते है।

दुसरो को सिखाएं: ये बात तो आप बचपन से ही सुनते आ रहे होंगे कि अपने ज्ञान को बढ़ाने का सबसे अच्छा
तरीका है कि अगर आप कोई नई स्किल सीखें तो
आपको दूसरे व्यक्ति को भी वो स्किल सिखाएं । क्योंकि कुछ भी नया सिखने के बाद आपको उसका
अभ्यास करने की जरूरत होती है। जब आप अपनी सीखी हुई चीज को किसी और को
सिखाते है तो आप पूरे कॉन्सेप्ट को रिपीट करते हैं जिससे आप इसे और बेहतर तरीके से सीख पाते हैं।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

जानें 5 ब्रेन एक्सरसाइज के बारे में, जो बनाते है आपके दिमाग को हेल्दी और एक्टिव

जानें दिमाग को हेल्दी और एक्टिव रखने वाले 5 ब्रेन एक्सरसाइज के बारे में


 

एक्सरसाइज हमारे लिए कितना जरूरी है ये शायद हमें आपको बताने की जरूरत नहीं है एक्सरसाइज हमारे स्वास्थ्य के लिए के बेहद जरूरी एक्टिविटी में से एक है.  भले ही आज के समय पर लोग इस पर ध्यान नहीं देते हैं.  लेकिन इस पर जितना जोर दिया जाए उतना ही कम है. शरीर को लंबे समय तक हेल्दी रखने के लिए एक्सरसाइज बेहद फायदेमंद होता है. एक्सरसाइज न सिर्फ आपको आज एक्टिव और स्वस्थ रखेगा बल्कि ये आपको आने वाले समय में भी आपकी हड्डियों और मसल्स को एक्टिव रखेगा. आज हम आपको ब्रेन एक्सरसाइज के बारे में बतायेगे. ब्रेन हमारे शरीर के महत्वपूर्ण अंगों में से एक है. इसे स्वस्थ रहने और बेहतर रूप से काम करने के लिए आपके शरीर के बाकी हिस्सों की तरह ही एक्सरसाइज, अटेंशन और सिमुलेशन की आवश्यकता होती है.  तो चलिए आज हम आपको उन एक्सरसाइज के बारे में बताएंगे जो आपके दिमाग को हेल्दी और एक्टिव रखते हैं.

 

नई लैंग्वेज सीखें: नई लैंग्वेज सीखना ना केवल आपकी पर्सनैलिटी के लिए अच्छा है बल्कि ये आपके ब्रेन के लिए भी बेहद  फायदेमंद होता है.इससे आपकी मेमोरी बेहतर होती है और आपकी क्रिएटिविटी बढ़ती है इतना ही नहीं विजुअल स्पेशियल स्किल्स जैसे कॉग्निटिव फंक्शन में सुधार होता है. इसलिए अपने ब्रेन एक्सरसाइज के लिए आपको नई-नई लैंग्वेज सीखनी चाहिए.

 

और पढ़ें: ठंड में घर की रसोई में पाएं जाने वाले सामान से करें अपनी इम्यूनिटी स्ट्रॉग

संगीत सुनें: जब भी आप फ्री हो या गाड़ी चला रहे हों, तो आप अच्छा संगीत सुन सकते हैं. एक रिसर्च के अनुसार हैप्पी सॉन्ग्स  सुनने से रचनात्मक सोच में सुधार हो सकता है.  इतना ही नहीं हैप्पी सॉन्ग्स सुनने से दिमाग के फंक्शन करने की क्षमता बेहतर हो सकती है साथ ही साथ नए सॉल्यूशन निकालने में मदद मिल सकती है.

 

दुसरो को सिखाएं: ये बात तो आप बचपन से ही सुनते आ रहे होंगे कि अपनी लर्निंग को बढ़ाने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप किसी दूसरे व्यक्ति को कोई नई स्किल सिखाएं.. जो फिर जो भी चीजे आपको आती है वो दूसरे व्यक्ति को भी सिखाएं. क्योंकि कुछ भी नया सिखने के बाद आपको उसका अभ्यास करने की जरूरत होती है. जब आप अपनी सीखी हुई चीज को किसी और को सिखाते है तो आप पूरे कॉन्सेप्ट को रिपीट करते हैं जिससे आप इसे और बेहतर तरीके से सीख पाते हैं.

नए नए रास्तों से गुजरे: जब भी आपके सामने डेली टास्क करने की बात आती है तो आपको चीजें रिपीट करने के बजाय, अलग तरीकों से करना चाहिए. अगर आप ऑफिस जाते है तो आपको हर सप्ताह ऑफिस जाने के लिए एक अलग रास्ता चुना चाहिए. इससे आपके दिमाग को काफी फायदा मिलता है.

मेडिटेशन करें: मेडिटेशन हमारे लिए बेहद जरूरी होती है. हर रोज मेडिटेशन करने से हमारा दिमाग शांत रहता है
और ब्रीदिंग स्लो होती है इतना ही नहीं ये  तनाव व चिंता को कम करने में हमारी मदद करता है.

 

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
वीमेन टॉक

जाने हमारे देश में आधी से ज्यादा महिलाएं क्यों नहीं लेती खुद अपने आर्थिक फैसले

क्या महिलाएं स्वयं पर निर्भर नहीं है?


अगर हम अपने देश की महिलाओं की बात करें तो हमारे देश में आधी से ज्यादा महिलाएं खुद अपने आर्थिक फैसले नहीं लेती. ये सब देख कर तो बस एक ही सवाल मन में आता है कि क्या महिलाएं स्वयं पर निर्भर नहीं है. हाल ही में किये गए एक सर्वे के अनुसार महिलाओं ने कहा कि वो अपने आर्थिक फैसलों के लिए खुद पर निर्भर नहीं हैं. यह सर्वे फाइनेंशियल प्लानिंग प्लेटफार्म एलएक्सएमई द्वारा किया गया है. फाइनेंशियल प्लानिंग प्लेटफार्म एलएक्सएमई में अपने साल 2020 में किये गए सर्वे में इस तरह के आंकड़े उपलब्ध कराए. हमारे देश में महिलाओं पर किया गया यह पहला सर्वे है. इस सर्वे में महिलाओं के हक की बात की गयी है।

और पढ़ें: जानें लॉकडाउन से लेकर स्वास्थ्य संबंधी समस्या तक साल 2020 महिलाओं के लिए कैसा रहा

जाने क्या बताती है फाइनेंशियल प्लानिंग प्लेटफार्म एलएक्सएमई सर्वे की रिपोर्ट

अगर हम फाइनेंशियल प्लानिंग प्लेटफार्म एलएक्सएमई सर्वे की माने तो सर्वे के आंकड़ों में पता चला है कि लगभग 66 प्रतिशत सिंगल महिलाएं अपने आर्थिक फैसले खुद से नहीं लेती. जबकि 28 प्रतिशत महिलाएं वित्त के मामले में पति या पिता पर निर्भर रहती है. बाकि की 5 प्रतिशत महिलाएं अपनी माँ की मर्जी से वित्त संबंधी फैसले लेती हैं. जाने सर्वे में किस उम्र की महिलाओं को शामिल किया गया है

फाइनेंशियल प्लानिंग प्लेटफार्म एलएक्सएमई सर्वे में 25 साल से 54 साल की 1250 महिलाओं को शामिल किया गया था. मुंबई, बेंगलूरू, दिल्ली, पुणे और जयपुर जैसे बड़े शहरों की महिलाएं इस सर्वे में शामिल हुई थी इस सर्वे में सिंगल महिलाओं को शामिल किया गया था. या फिर जो महिलाएं शादी के बाद पति से अलग हो कर बच्चों के साथ रहती हैं. 69 प्रतिशत महिलाएं अपने शादी के बाद अपने पति से अलग रहने के बाद भी अपने आर्थिक फैसले खुद नहीं लेती है उनका कहना है कि वो अपने आर्थिक फैसलों के लिए अपने पिता पर निर्भर हैं. साथ ही साथ इस सर्वे में उन महलाओं को भी शामिल किया गया है जो अपने बच्चों को सेविंग करना सिखाती हैं. हमारे देश में 91 प्रतिशत महिलाएं अपने बच्चों को पैसे से जुड़ी जानकारी देती हैं. इतना ही नहीं हमारे देश में हर दस में से नौ महिला अपने बच्चों को गुल्लक देकर सेविंग की आदत डाल रही हैं.

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
मनोरंजन

जानें उन बॉलीवुड और टीवी सेलेब्स के बारे में, जो साल 2020 में शादी के बंधन में बंधे

कोरोना के बीच इन सितारों ने रचाई शादी


साल 2020 अब अपने अंतिम चरण पर है. यह साल किसी के लिए भी अच्छा नहीं था.  एक तरफ लोगों में कोरोना महामारी का खौफ है तो दूसरी तरफ साल 2020 में ही कई बॉलीवुड सितारों ने अपनी शादी की घोषणा करके फैन्स को चौकाया. कई सितारे तो ऐसे भी है. जिन्होंने महामारी के बीच में ही गुपचुप तरीके से शादी रचाई. जबकि कई ऐसे भी सितारे है जो साल खत्म होने से पहले अपनी शादी रचा रहे हैं. आज हम आपको कुछ ऐसे बॉलीवुड और टीवी सितारों के बारे में बातएंगे जिन्होंने साल 2020 शादी की.

नेहा कक्कड़ और रोहनप्रीत सिंह: बॉलीवुड की जानी मानी सिंगर नेहा कक्कड़ और पंजाबी सिंगर रोहनप्रीत सिंह की शादी इस साल की सबसे बड़ी और सबसे चर्चित शादियों में से एक थी. दोनों 24 अक्तूबर 2020 को शादी के बंधन में बंधे थे. क्या आपको पता है रोहनप्रीत सिंह नेहा कक्कड़ से ‘नेहू दा व्याह’ के सेट पर मिले और वही उनको एक दूर से  प्यार हो गया.. उसके बाद दोनों ने शादी का फैसला किया.

और पढ़ें: जाने बॉलीवुड की उन हसीनाओं के बारे में, जिन्होंने अपनी प्रेगनेंसी के दौरान भी नहीं छोड़ा योगासन करना

हार्दिक पांड्या और नताशा स्टेनकोविक: बॉलीवुड एक्ट्रेस नताशा स्टेनकोविक और इंडियन क्रिकेट टीम के प्लेयर हार्दिक पांड्या एक दूर को डेट कऱ रहे थे. बॉलीवुड एक्ट्रेस नताशा स्टेनकोविक ने अपने बॉयफ्रेंड हार्दिक पांड्या से लॉकडाउन के दौरान गुपचुप तरीके से शादी रचा ली. जिसके बाद नताशा स्टेनकोविक और हार्दिक पांड्या ने अपने सोशल मीडिया पर अपनी फोटो शेयर कर सभी लोगों को ये जानकारी दी. जिसके बाद दोनों का रिस्ता काफी सुर्खियों में रहा.

आदित्य नारायण और श्वेता अग्रवाल: बॉलीवुड सिंगर आदित्य नारायण ने भी इसी साल अपनी गर्लफ्रेंड श्वेता अग्रवाल के साथ शादी के बंधन में बधे. आदित्य नारायण और श्वेता अग्रवाल 10 साल से एक दूसरे को डेट कर रहे थे, दोनों के शादी की फोटो ने सोशल मीडिया पर काफी सुर्खियां बटोरी थी और उनके फैन्स जमकर कमेंट भी कर रहे थे.

काजल अग्रवाल और गौतम किचलू: इस कोरोना काल में काजल अग्रवाल और बिजनेसमैन गौतम किचलू ने 30 अक्टूबर को मुंबई के ताज होटल में शादी की. काजल अग्रवाल और गौतम किचलू ने कोरोना वायरस के कारण ही अपनी शादी का आयोजन मुंबई के ताज होटल में आयोजन किया था. जिसमें सिर्फ दोनों के करीबी लोग ही शामिल हो पाए थे.

राणा दग्गुबाती और मिहेका बजाज: कोरोना महामारी में ही राणा दग्गुबाती और मिहेका बजाज शादी के बंधन में बंध गए. बॉलीवुड से लेकर साउथ फिल्म इंडस्ट्री तक अपनी एक खास पहचान बनाने वाले एक्टर राणा दग्गुबाती लम्बे समय से मिहेका बजाज को डेट कर रहे थे। अभी हाल ही में दोनों शादी के बंधन में बंध गए. आज कल दोनों की फोटो आए दिन सोशल मीडिया पर सुर्खियों में छाई रहती है.

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

ये पौधे ऑक्सीजन देने के साथ-साथ बदल सकते है आपके घर और वर्क प्लेस का माहौल 

पॉजिटिव वाइब्स के लिए घर और वर्क प्लेस पर लगाए ये पौधे


हममें से ज्यादातर लोगों को अपने आसपास ताज़े और हरे पौधे देखना बेहद पसंद होते हैं. क्योकि पौधे हमारे अस्तित्व के लिए बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण होते है. पौधे न सिर्फ हमें ऑक्सीजन देते है बल्कि हमारे आसपास के वातावरण को भी हरा-भरा बनाये रखते है. साथ ही पौधों से हमे पॉजिटिव वाइब्स भी मिलती है. फिर चाहे वो घर हो या वर्क प्लेस. आपने देखा होगा कि लोग आमतौर पर अपने घरों में पौधा लगाते हैं और उसकी देखभाल भी करते हैं. पौधों की देखभाल करना बहुत से लोगों को बेहद पसंद होता है. क्योकि पौधे हमारे वातावरण की रक्षा करने में भी मददगार होते है और वातावरण को बेहतर बनाते है. तो चलिए आज हम आपको कुछ ऐसे ही पौधों के बारे में बतायेंगे जो आपके घर और वर्क प्लेस को पॉजिटिव वाइब्स प्रदान करते है. 

मनी प्लांट: मनी प्लांट को लोग वायु का एक अच्छा शोधक भी कहते है. साथ ही साथ मनी प्लांट सकारात्मक ऊर्जा से भी भरा होता है. और बाहरर से आने वाली नकारात्मक ऊर्जा को भी रोकता है. इसके साथ ही हानिकारक किरणों को भी अवशोषित करता है. इसीलिए ज्यादातर लोग इसे अपने रेफ्रिजरेटर या फिर टीवी के पास रखना पसंद करते है.

और पढ़ें: ये प्लांट रखेगा आपके घर को प्रदुषण मुक्त

पेड़-पौधे

एलोवेरा: हमारे देश में एलोवेरा के पौधे को काफी ज्यादा शुभ माना जाता है। क्योकि ये पौधा औषधीय गुणों से भरपूर होते है. संयंत्र कार्बन डाइऑक्साइड के अधिकांश को अवशोषित करता है और ऑक्सीजन छोड़ता है. इतना ही नहीं बल्कि ये आपके घर और ऑफिस से नकारात्मकता ऊर्जा को दूर करता है.

स्पाइडर प्लांट: स्पाइडर का लटकता हुआ पौधा सभी लोगों को बेहद खूबसूरत लगता है. क्या आपको पता है, जिस स्पाइडर प्लांट को हम अपने घर और ऑफिस में सजावट के लिए इस्तेमाल करने है. वो वायु-शोधन गुणों से भी भरपूर होता है. ये पौधा कार्बन मोनोऑक्साइड और फॉर्मलाडेहाइड को भी फ़िल्टर करता है.

कमल का पौधा: जैसा की हम सभी लोग जानते है कि कमल के पौधे को हिंदू धर्म में देवी लक्ष्मी और बौद्ध धर्म में भगवान बुद्ध का प्रतीक माना जाता है। कमल का पौधा हमारे घर और वर्क प्लेस पर शांति लाता है. साथ ही कमल के पौधे में कुछ औषधीय गुण भी पाए जाते है.

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

अगर आप भी चाहते है पॉजिटिव एनर्जी, तो अपने घर पर जरूर लगाएं ये पौधे

लॉकडाउन के दौरान क्यों इस समय लोगों के लिए सबसे जरूरी है पॉजिटिव एनर्जी


जैसा की अभी हम सभी लोग देख रहे है कि लम्बे समय से चल रहे कोरोना वायरस लॉकडाउन के कारण सभी लोग बहुत ज्यादा परेशान हो चुके है. लॉकडाउन के शुरुआती दिनों  में लोग बहुत खुश थे लेकिन जैसे जैसे समय बढ़ा लोगों की परेशानियां भी बढ़ने लगी. लोग लम्बे समय से अपने घरों में रहने की वजह से डिप्रेशन का शिकार होने लगे है. लोगों की सहनशीलता पहले के अनुसार कम होने लगी है. अब लोग अपना सब्र खोने लगे है. कुछ लोगों की तो आपके घर वालो और दोस्तों से लड़ाई-झगड़े तक होने शुरू हो गए. ऐसे समय में आपको अपनी मानसिक स्थिति को ठीक रखते हुए, अपने जीवन में शांति बनाए रखनी चाहिए. खुद को किसी न किसी काम में व्यस्त रखना चाहिए ताकि हमारा ध्यान बंटा रहे और हमारी सोच भी पॉजिटिव बनी रही. तो चलिए आज हम आपको कुछ पौधे के बारे में बतायेगे जिन्हे अपने घर पर लगाने से आपको पॉजिटिव एनर्जी मिलेगी.

ऑरिगैनो: ऑरिगैनो एक ऐसा पौधा है जिसे लोग अपने घर पर पॉजिटिव एनर्जी लाने के लिए इस्तेमाल करते है. आप चाहो तो ऑरिगैनो के पौधे को किसी को गिफ्ट के तौर पर भी दे सकते है. इतना ही नहीं ऑरिगैनो को ज्यादातर फास्टफूड्स में भी इस्तेमाल किया जाता है. जैसे पिज्जा, ऑमलेट औऱ फ्रेंच फ्राइज आदि में.

और पढ़ें: सिर्फ कोरोना वायरस में ही नहीं बल्कि इन 5 बीमारियों में भी बेहद फ़ायदेमंद है गिलोय

लैवेंडर: लैवेंडर का पौधा अपनी खुशबू के लिए जाना जाता है. अगर आप इस पौधे को आपके आसपास लगाते है तो इससे आपको हमेशा पॉजिटिव एनर्जी ही मिलेगी. आपने देखो होगा कि लोग अक्सर त्यौहारों पर अपने घरों में लैवेंडर ऑयल और लैवेंडर की खुशबू वाली मोमबत्तियों का इस्तेमाल करते है.

रोजमैरी: रोजमैरी के पौधे को घर पर लगाना बहुत शुभ माना जाता है.  साथ ही साथ इससे आपको पॉजिटिव एनर्जी भी मिलती है. इसके घर पर लगाने से आपको गुस्सा कम आता है. इसके साथ ही  डिप्रेशन या अकेलेप का एहसास नहीं होता.

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

LOCKDOWN  ने कर दिया हैं बच्चों को बोर : जाने कैसे करे उन्हें घर पर ही एंटरटेन?

घर पर बच्चों के लिए बनाये बाहर वाला माहौल


कोरोना वायरस को फैले करीब सात- आठ महीने हो चुके है और आज भी ये रुकने का नाम नहीं ले रहा। अभी तक कोरोना वायरस की चपेट में करोड़ो लोग आ चुके है जबकि लाखों लोग इसके कारण अपनी जान गवा चुके है दुनिया के बहुत सारे देशों ने इससे रोकने के लिए लॉकडाउन का इस्तमाल भी किया परन्तु इससे भी कोई खास फायदा नहीं हुआ। अगर हम बात करे भारत की तो यहाँ पर अभी पूरी तरीके से न तो लॉकडाउन है और न ही पूरी तरह से लॉकडाउन हटा है आज भी बहुत सारी चीजें बंद है, बच्चों के स्कूल से ले कर कॉलेज तक सब कुछ बंद पड़ा हुआ है जिसके कारण बच्चे एक लम्बे समय से घर पर ही है। न तो वो स्कूल जा पा रहे है न कही बाहर । जिसके कारण बच्चे भी पूरी तरह परेशान हो चुके है तो चलिए आज हम आपको बतायेगे कि आप कैसे अपने बच्चे के लिए घर पर ही बनाये बाहर वाला माहौल।

सबसे पहले अपने बच्चे के मन से डर को दूर करे

कोरोना वायरस ने आम जनजीवन को झकझोर कर रख दिया है। कोरोना वायरस लॉकडाउन से सबसे ज्यादा बच्चे परेशान हुए है। पेरेंट्स के लिए सबसे ज्यादा चिंता बच्चों की देखभाल को लेकर है। बच्चों के लिए घर में बंद रहना बहुत मुश्किल होता है। इस समय बच्चे बाहर जाना और अपने दोस्तों को सबसे ज्यादा मिस कर रहे है। इस समय बच्चों का अपने पैरेंट्स से हजारों सवाल करना और पैरेंट्स का उनके सवालों को नजरअंदाज कर देना एक बड़ी परेशान को न्योता   दे सकती है। इसलिए आपको अपने बच्चों के आस- पास ही रहना चाहिए और उनसे जितना हो सके उससे बात करनी चाहिए इससे एक तो वो अपने दोस्तों को मिस नहीं करेंगे दूसरा अगर उनके मन में कोई डर होगा तो वो भी खत्म हो जायेगा।

और पढ़ें: किताबों से दोस्ती होती  है बेहद फायदेमंद, जाने इससे दिमाग को मिलने वाले फायदों के बारे में


(Google)

बच्चों के लिए घर पर अच्छा माहौल बनाएं

इस समय कोरोना वायरस कितना फैला हुआ है ये बात हम सब लोग जानते है परन्तु अगर आप अपने बच्चे के लिए घर पर अच्छा माहौल बनाना चाहते है तो आप अपने घर पर एक कमरा खाली  कर सकते है और उसमे बहुत सारे खिलौने भर सकते है जिससे आपका बच्चा आराम से खेल सके। ऑफिस और घर का काम निपटाने  के बाद आपको भी अपने बच्चे के लिए समय निकालना चाहिए और उसके साथ खेले ताकि वो बोर न हो।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

बच्चों को दोस्त  बनाने के लिए  टिप्स : दोस्ती तो हर रिश्ते में जरूरी हैं 

ये चीजें बनाएंगी आपके और आपके बच्चे के रिश्ते को और भी मजबूत


पेरेंट्स बन कर जितनी खुशी आपको मिलती है उतनी ही आपके ऊपर जिम्मेदारी भी आ जाती है। पेरेंट्स बना कोई छोटी बात नहीं होती। आपके पास एक बच्चे की जिम्मेदारी आ जाती है जिसका भविष्य आपकी परवरिश पर निर्भर करती है। साथ ही अपने बच्चों के साथ दोस्त बनकर रहना जितना जरूरी है उतना ही मुश्किल भी है। अपने आमतौर पर देखा होगा कि बच्चे अपने माता-पिता से खुलकर अपने दिल की बात नहीं कर पाते। उन्हें अपने माता पिता से एक अजीब सा डर और झिझक महसूस होती है। इस लिए बच्चे अपने दोस्तों से अपनी बातें शेयर करना पसंद करते है। लेकिन आपके बच्चे के अच्छे भविष्य के लिए जरूरी है कि वो आपसे अपने दिल की बातें शेयर करें। और आपके साथ एक दोस्त की तरह बॉन्ड रखें।  तो चलिए आज हम आपको बताएंगे कैसे आप अपने बच्चे के साथ एक दोस्त की तरह बॉन्ड बना सकते है।

बच्चों के साथ समय बिताएं: अगर आप चाहते है कि आपका बच्चा आपसे अपनी बातें शेयर करें और आपके साथ एक दोस्त की तरह बॉन्ड रखें तो उसके लिए जरूरी है आप उसके साथ जितना हो सकें उतना समय बिताए। भले आप कितना ही व्यस्त क्यों न रहते हों, लेकिन आपको अपने बच्चें के लिए समय जरूर निकालना चाहिए। इससे आपका और आपके बच्चे का रिश्ता मजबूत होगा।

और पढ़ें: मॉनसून का खूबसूरत मौसम संग ले आता है बीमारियां: कैसे करे अपना बचाव ?

बच्चों को प्यार का एहसास कराएं: सभी लोग अपने बच्चे से बेहद प्यार करते है लेकिन आपको अपने बच्चे को इस बात का एहसास भी कराते रहना चाहिए कि आप उससे बेहद प्यार करते है। जब भी आपको ऐसा महसूस हो कि आपका बच्चा परेशान है तो आपको उससे गले लगा कर ये बताना चाहिए की कुछ भी हो हम तुम्हारे साथ है। आपके प्यार करने से ही आपका बच्चे आपका बहुत अच्छे दोस्त बन जाएंगे।

हर परिस्थिति में अपने बच्चे का साथ निभाएं: अगर आप अपने बच्चे का अच्छा दोस्त बनना चाहते है तो आपको उससे सबसे पहले ये वादा करना चाहिए कि चाहें कुछ भी हो जाएं, आप हर परिस्थिति में उसका साथ देंगे। क्योकि अक्सर बच्चे इस बात से डरते है कि अगर कोई गलती हो गई तो माता पिता क्या सोचेंगे या क्या कहेंगे। आपको अपने बच्चे को बताना चाहिए कि गलतियां सबसे होती है तो डरे न अपनी बातें हमसे शेयर करें।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com