Categories
लाइफस्टाइल

गणेश चतुर्थी पर जाने पंचमुखी गणेश से ले कर हरे रंग के गणेश जी की प्रतिमा का महत्व

जाने हर साल क्यों मनाई जाती है गणेश चतुर्थी


क्या आपको पता है हर साल गणेश चतुर्थी क्यों मनाई जाती है. हमारे देश में गणपति बाप्पा को सभी संकटों को हरने वाला और सभी बाधाओं को दूर करने वाला माना जाता है. कोई भी पूजा हो सबसे पहले गणपति बाप्पा की ही पूजा की जाती है. गणेश चतुर्थी हर साल भाद्रमास के शुक्‍ल पक्ष की चतुर्थी को मनाई जाती है. गणेश चतुर्थी के दिन भगवान शिव और माता पार्वती के पुत्र गणेशजी को समर्पित होता है. गणेश चतुर्थी के दिन गणपति बाप्पा सभी घरों में विराजते है. इसके अलावा जगह-जगह पर पंडाल सजाए जाते है. 10 दिन तक गणपति बाप्पा की पूजा अराधना करने के बाद 11 वें दिन गणपति बप्पा को पूरे गाजे-बाजे के साथ विदा कर दिया जाता है. और अगले साल उनके जल्दी घर आने की कामना की जाती है. तो चलिए आज हम आपको गणपति बाप्पा के अलग अलग प्रतिमा का अर्थ बताते.

पंचमुखी गणेश: पंचमुखी गणेश जी की आराधना तंत्र विद्याओं की सिद्धी के लिए किया जाता है. लोगों का माना है कि ऐसा करने से वे सिद्धियां बिना बाधा के पूर्ण होती हैं. इस लिए लोग तंत्र विद्याओं की सिद्धी के लिए पंचमुखी गणेश जी की पूजा अराधना करते है.

हाथी पर बैठे गणेश जी: अगर आप अपने जीवन में धन, यश और सम्मान चाहते है तो आप हाथी पर बैठे गणेश जी की पूजा अराधना कर सकते है. ऐसी मान्यता है कि धन, यश और सम्मान के लिए अगर को व्यक्ति हाथी पर सवार गणेश जी की पूजा करता है तो उसकी मनोकामना जरूर पूरी होती है.

और पढ़ें: Ganesh Utsav 2020: जाने क्यों मनाया जाता है गणेशोत्सव और कैसे हुई शुरुआत

रजत गणेश: रजत गणेश का अर्थ है चांदी के गणेश जी. ऐसा माना जाता है कि चांदी की गणपति बाप्पा की मूर्ति की पूजा अराधना करने से घर में धन का आगमन होता है. गणपति बाप्पा को पूजा स्थान पर स्थापित कर उन्हें दूर्वा चढ़ाएं, इससे आपके धन और संपत्ति में वृद्धि होती है.

हरे रंग के गणेश जी: हरे रंग के गणेश जी की पूजा अराधना विवेकशीलता, बुद्धि और ज्ञान के लिए की जाती है. ऐसे में गणेश चतुर्थी के दिन विशेष कर बच्चों को हरे रंग के गणेश जी की पूजा करनी चाहिए. इससे उन्हें अच्छी बुद्धि और ज्ञान  प्राप्ति होगी.

पारद गणेश: पारद गणेश की पूजा लोग धन संपत्ति में वृद्धि के लिए करते है. पारद गणेश को लेकर लोगो मानना है कि इस गणपति बाप्पा की पारद प्रतिमा की पूजा करने से उन्हें धन की प्राप्ति होगी.

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

गणेश उत्सव 2019 : अगर आपने की है घर मे गणपति की स्थापना तो इन बातो का रखे ख़ास ख्याल

गणेश उत्सव 2019: कैसे आप पा सकते है बप्पा का आशीर्वाद?


सितंबर के महीने के साथ आया है गणेश उत्सव 2019। गणेश चतुर्थी का यह महोत्सव 2 सितंबर से शुरू होकर 12 सितंबर तक चलेगा। ऐसे में भारत के कई राज्यों मे इस उत्सव को लेकर जोश देखने को मिल रहा है। सभी भक्त गणपति जी की मूर्ति घर लाकर उनकी स्थापना कर रहे है ताकि घर में सुख और समृद्धि बनी रहे। इसलिए आज हम आपको बताएँगे की कैसे गणपति जी की मूर्ति लाने से घर में बरकत आएगी।

गणपति को घर लाने पर इन बातो का रखे ख़ास ध्यान तभी आएगी बरक़त :

1. अगर आपने अपने घर में भगवान गणेश की मूर्ति की स्थापना कर रखी है तो इसका ख़ास ध्यान रखे की उनकी पूजा करते वक्त कभी तुलसी के पत्ते न चढ़ाए। ऐसा माना जाता है कि तुलसी ने भगवान को शादी का प्रस्ताव दिया था पर गणपति ने उन्हें मना कर दिया। उसके बाद माँ तुलसी ने उन्हें श्राप दिया कि एक दिन वो अपनी मर्जी के खिलाफ जा कर शादी करेंगे इस पर गणेश भगवान ने नाराज होकर उन्हें श्राप दिया था। इसलिए उन्हें कभी तुलसी के पत्ते नहीं चढ़ाए जाते।

2. जब आप गणेश जी की पूजा करे उस दौरान पीले या लाल रंग के कपड़े पहनें। इन दस दिनों के लिए नीले या काले रंग के कपड़े न पहने। कोशिश करे की मन को शांत रखे और खुश रहे ।

3. घर के मंदिर में कभी भगवान गणेश की दो मुर्तिया न रखे। अगर आपके पास मंदिर में पहले से गणेश की मूर्ति है तो उसे युमना में विसर्जित कर के नई मूर्ति की स्थापना करे।

4. भगवान गणेश की मूर्ति के पास हमेशा रौशनी रखे साथ ही यह ध्यान रखे कि जब आप उनकी पूजा कर रहे हो उस समय अँधेरा न हो। क्योंकि अँधेरे में पूजा करना अशुभ माना जाता है।

5. इसके अलावा उनकी पूजा हमेशा पूर्व दिशा की ओर मुख कर के करे:

6. भगवान गणेश की पूजा के दौरान उन्हें दूर्वा अर्पित करें और लड्डू का भोग जरूर लगाएं। भगवान गणेश की पूजा करने के दौरान इन सभी बातो पर दे ख़ास ध्यान। ऐसा करने से आपके घर में हमेशा सुख-शान्ति बनी रहेगी साथ ही घर में बरकत भी होगी।

और पढ़ें: कैसे महिला सशक्तिकरण की परिभाषा को स्मृति ईरानी ने दी नई दिशा?

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com