Categories
लाइफस्टाइल

क्या आप जानते है ऑफिस डेकॉर डालता है आपके मूड पर असर?

ऑफिस डेकॉर  के टिप्स जो रखेंगे आपके मन को शांत


जब भी हम डेकोरेशन, बागबानी, सफाई की बात करते हैं तो हम में से ज्यादातर लोगों के जेहन में घर की तस्वीर सबसे पहले घूमने लगती है। अपने घर को लेकर हम सभी लोगों की अपनी-अपनी अलग अलग भावनाएं होती है। क्योंकि हम में से ज्यादातर लोगों की जिंदगी का ज्यादातर समय घर पर ही बीतता है। और अगर उसके बाद कही हमारा ज्यादा समय बीतता है। तो वो हमारा ऑफिस होता है। इसलिए हम में से ज्यादातर लोगों को अपने ऑफिस से विशेष लगाव होता है तो ऐसे में जरूरी है कि आपका ऑफिस भी सुंदर, आकर्षक और डेकोरेटेड होना चाहिए। तो चलिए आज हम आपको बताएंगे ऑफिस डेकोर के लिए बेस्ट टिप्स।

Pic Credit- Freepik

रंगों का इस्तेमाल: अगर हम अपने घर के लिए समान लेते है तो वो किसी भी रंग का चल सकता है लेकिन अगर हम बात करें ऑफिस की पेंटिंग या फिर फर्नीचर की तो ये सारी चीजें लेने से पहले हमें इसके रंग के इस्तेमाल का खास ध्यान देना चाहिए। ऑफिस के लिए अक्सर सफेद रंग का ही सामान खरीदना चाहिए। ऑफिस का सफेद फर्नीचर और दीवारों का रंग ऑफिस के माहौल को खुशगवार बनाता है। क्योंकि सफेद रंग से शांति, मिजाज में नरमी और दूसरों के लिए हमदर्दी का पता चलता है।

और पढ़ें: घर में रह रहकर अगर आप बोर हो गया है तो, पौड़ी गढ़वाल वीकेंड पर घूम आएं

लाइटिंग: अगर हम डेकोरेशन की बात करें तो हम लाइटिंग को कैसे भूल सकते हैं। ये बात तो हम सभी लोग जानते है कि डिजायनिंग और स्टाइल में रोशनी की बहुत अहम भूमिका होती है। अगर आप अपने ऑफिस के लुक को मनमोहक दिखाना चाहते है तो इसके लिए आपको मुनासिब रोशनी का चुनाव करना चाहिए। आप चाहे तो टेबल के लिए हैंगिंग लाइट्स का इस्तेमाल कर सकते है। ये लाइट्स ऑफिस के काम के दौरान रोशनी और ऑफिस के डेकोरेशन में बेहतर अच्छी तालमेल बैठाती हैं।

ऑफिस टेबल का रंग: आपने देखा होगा कि ज्यादातर ऑफिसों में काली या भूरे रंग की टेबल होती हैं। लेकिन अगर आप अपने ऑफिस के नयेपन के लिए बोल्ड रंगों की टेबल का इस्तेमाल करते है तो इससे आपके ऑफिस की खूबसूरती बढ़ती है। आप अपने ऑफिस में सफेद, लाल या फिर मेहरुन रंग के टेबल का इस्तेमाल कर सकते है।

Pic credit – Freepik

ऑफिस में तस्वीरें लटकाएं: अगर आप अपने ऑफिस को सूंदर बनाना चाहते है तो इसके लिए आप तस्वीरों का इस्तेमाल कर सकते है। ऑफिस में टेबल पर तस्वीरें रखने का चलन तो काफी पुराना और लोकप्रिय है लेकिन ये आज भी काफी ज्यादा पसंद किया जाता है। आप चाहे तो डेकोरेशन वायर में तस्वीरें लगा कर भी सजा सकते हैं।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

जानें ऑपटिमिस्ट लोगों को डेट करने के फायदे, साथ ही जाने इन लोगों की विशेषताएँ

जाने आशावादी लोगों को डेट करने के फायदे


ऑपटिमिस्ट लोगों कल्याणकारी होते है वो अपने साथ साथ दूसरों लोगों के लिए भी कल्याणकारी होते है। अगर आप किसी व्यक्ति को डेट कर रहे है जो की एक आशावादी व्यक्ति है तो उससे डेट करने आपको कई फायदे मिल सकते हैं। ये लोग ऐसे होते हैं जो किसी भी प्रॉब्लम में फंसने के बजाय प्रॉब्लम के सकारात्मक पक्ष को देखने में माहिर होते हैं। ये लोग चीजों को ले कर अपने जीवन में केंद्रित होते हैं, जिसका फायदा उनके साथ साथ उनके पार्टनर को भी होता है। तो चलिए आज हम आपको बताएंगे आशावादी लोगों को डेट करने के फायदे।

ईमानदार: आशावादी लोग काफी ज्यादा ईमानदार होते है अगर आप किसी आशावादी व्यक्ति को डेट कर रहे है तो आप आँख बंद कर के उस पर भरोसा कर सकते है। ये लोग सिर्फ दूसरों के प्रति नहीं बल्कि खुद स्वयं के प्रति भी ईमानदार होते है स्वयं के प्रति ईमानदार होने का अर्थ है औचित्य और उपदेश देना। इतना ही नहीं आशावादी लोग अपनी गलतियों को स्वीकार करने से डरते नहीं है। ये लोग अपनी गलतियों के लिए दूसरों को कभी भी दोष नहीं देते हैं और खुद को यह मानने के लिए पर्याप्त आत्मविश्वास रखते हैं कि वो हमेशा सही नहीं हैं।

और पढ़ें: जाने घी से स्किन और बालों को मिलने वाले फायदों के बारे में, साथ ही जाने सही इस्तेमाल का तरीका

अपने लक्ष्य को प्राप्त करना: आशावादी लोग अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के पूरे प्रयास करते है। अगर उन्हें अपना कोई सपना पूरा करना होता है या उनकी कोई इच्छाएं होती है तो वो उनको पूरा करने की कोशिश करते है। इसके अलावा आशावादी लोग भी यथार्थवादी होते हैं। इसका मतलब कोई भी लक्ष्य प्रस्तावित नहीं है जो की उनकी क्षमताओं के दायरे से परे हैं।

अपनी असफलताओं से सीखते है: आशावादी लोग अपनी गलतियों और असफलताओं से डरते नहीं है बल्कि उनसे कुछ न कुछ सीखते हैं। वे लोग जानते है कि गलतियाँ और चुनौतियाँ है जिन्हें पूरा नहीं किया गया है और जिन उद्देश्यों को हासिल नहीं किया गया है। इस तरह की स्थितियों में वो विफलता के संकेत देते है।

दूसरों से तुलना: ये बात तो हम सभी लोग जानते हैं कि दूसरों के साथ व्यवस्थित रूप अपनी या किसी ओर की तुलना करने से केवल विकृत सोच पैदा होती है और दिल को जहर मिलता है। इसलिए आशावादी लोग हमेशा दूसरों के साथ अपनी या फिर किसी भी व्यक्ति की किसी से भी तुलना नहीं करते। अगर आपका पार्टनर आशावादी है तो आपके झगड़े कम होंगे। क्योंकि ये बात तो हम सभी लोग जानते है कि आधे से ज्यादा झगड़ों का कारण तुलना करना होता है जब आपका पार्टनर आपकी तुलना दूसरों से करता है तो ये आप दोनों के बीच झगड़े का कारण बनता है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

जाने क्या होती है हेलिकॉप्टर पैरेंटिंग और कैसे होती है यह बच्चों के लिए नुकसानदेह

जाने क्या होती है हेलिकॉप्टर पैरेंटिंग


पैरेंटिंग ये शब्द जितना सुनने में अच्छा लगता है उससे कई गुना ज्यादा इसमें ज़िम्मेदारियां होती है। हर माता पिता चाहते हैं कि वो अपने बच्चे को एक अच्छी परवरिश दे। उससे उंगली पकड़ कर उससे चलना सिखाएं। उसकी हर चीज में उसका साथ दे, उसके साथ खड़े रहे। लेकिन कई बार ये प्यार और केयर एक अलग लेवल पर चली जाती है जिसे हेलिकॉप्टर पैरेंटिंग है। जब कोई भी माता पिता अपने बच्चे की जिंदगी में जरूरत से ज्यादा दखल देने लगते हैं अपने बच्चे के साथ हेलिकॉप्टर की तरह हरदम मंडराते रहते है जिसे वो खुद अपने फैसले नहीं ले पाता है। उससे ही हेलिकॉप्टर पैरेंटिंग कहा जाता है।

 

जाने क्या करें, क्या न करें

जब बच्चा छोटा होता है तो उससे हर पल माता पिता के साथ की ज़रूरत होती है लेकिन जैसे जैसे वो बड़ा होता है। उसकी ये जरूरत कम होने लगती है। हां ये बात सही है कि बच्चे को आपके साथ की ज़रूरत होती है, आपके मोटिवेशन की जरूरत होती है, उससे पढ़ाई में भी आपकी मदद चाहिए होती है। एक माता पिता होने के नाते आपको पता होना चाहिए कि आपके बच्चे के दोस्त कौन कौन है उनके बीच किस तरह की बातें होती है लेकिन दिक्कत तब आने लगती है जब आप हर बात पर उनकी जिंदगी में इंटरफेयर करने लगते है। तो चलिए आज हम आपको बताएंगे बच्चों के साथ कब क्या किया जाना चाहिए जिससे की आपके और आपके बच्चे के बीच प्रॉब्लम न आये।

आज़ादी: आपको अपने बच्चे को थोड़ी आज़ादी देनी चाहिए। माना की आपको अपने बच्चे की चिंता होती है लेकिन आप खुद सोचिये, क्या आप चाहेंगे है कि आपके बच्चे को जिंदगी भर आपकी जरूरत पड़े। वो खुद इंडिपेंडेंट होकर अपनी प्रॉब्लम्स खुद सुलझा न सकें। नहीं न तो इसलिए आपको अपने बच्चे को थोड़ी आज़ादी देनी चाहिए जिसे वो इंडिपेंडेंट होकर अपनी प्रॉब्लम्स खुद सुलझा सकें।

और पढ़ें:  जाने वास्तु के अनुसार घर पर एक्वेरियम रखना क्यों माना जाता है शुभ

बच्चे अपना काम खुद करें: आपको अपने बच्चे को बचपन से ही सीखना चाहिए कि उससे अपने काम खुद करने चाहिए। क्योकि ये उसके आने वाले कल के लिए ठीक है। बच्चे को लाड़-प्यार करना चाहिए लेकिन उससे कभी भीं लाड़-प्यार में बिगाड़ना नहीं चाहिए।

लड़ाई: आपको अपने बच्चे को हर सिचुएशन को हैंडल करना सीखना चाहिए। अगर आपके बच्चे की स्कूल में लड़ाई हो जाएं, तो आपको उससे घर पर ही समझाना चाहिए कि उससे सिचुएशन को कैसे हैंडल करना है न की उसके स्कूल खुद चले जाएं टीचर से शिकायत लगाने या दूसरे बच्चों को डांटने।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

जाने क्यों माना जाता है दादा दादी का साथ बच्चों के लिए जरूरी और बेहद खास

चलिए जानते है अच्छी परवरिश और अच्छे संस्कारों के लिए क्यों जरूरी है दादा दादी और नाना नानी का साथ


एक समय था जब हमारे घरों में बुजुर्गों से ही रौनक हुआ करती थी। माता पिता और दादा दादी सभी लोग मिलकर बच्चों को अच्छे संस्कार और एक अच्छी परवरिश दिया करते थे। आज अगर आप किसी के भी घर जायेगे तो आप देखेंगे ज्यादातर घरों में बच्चे अपना खाली समय या तो घटों फोन में  बिताते हैं या फिर टीवी देख कर। आज के समय में तो मानो दादा-दादी और नाना नानी की कहानियां जैसे कही खो ही गई हैं। अगर आप अपने बच्चों को एक अच्छी परवरिश देना चाहते है लेकिन शायद कहीं न कहीं हम इस फैक्ट को भूल जाते हैं कि बच्चों को एक अच्छी परवरिश और संस्कार देने में दादा-दादी, नाना-नानी का साथ, उनका प्यार , उनका मार्गदर्शन और उनका आशीर्वाद एक अहम भूमिका निभाता है। अगर आप भी एक अच्छे पैरेंटिंग के टिप्स ढूंढ रहे है तो यह बात अच्छे से समझ लें कि आपके बच्चे के लिए जितने जरूरी आप है उतने ही जरूरी उनके दादा दादी और नाना नानी भी है कैसे चलिए जानते है।

दादा दादी और नाना नानी के कारण घर में बना रहता है खुशनुमा वातावरण

जिस घर में बच्चों के पास दादा दादी या नाना नानी होते है उस घर के बच्चों को फोन या फिर टीवी देख कर अपना टाइम बिताने की जरूरत नहीं पड़ती। जब माता पिता अपने काम में लगे रहते हैं तो बच्चे अपने दादा दादी या नाना नानी के साथ अपना क्वालिटी टाइम बिता सकते हैं इससें दोनों को एक दूसरे को सुनने और समझने का मौका मिल जाता है। आज के समय में लोगों का लाइफस्टाइल इतना व्यस्त होता है कि उनका पास किसी के साथ बैठ कर बात करने का या फिर सोशलाइजिंग का समय नहीं होता है। ऐसे में बच्चों का दादा दादी या नाना नानी के साथ बांड वाकई में बेहतरीन और अनमोल होता है। जिसके कारण घर में हमेशा खुशनुमा वातावरण बना रहता है।

Read more: आखिर कौन है वो 5 लोग जिन्हें आलिया भट्ट डेट कर चुकी है

अच्छे संस्कार और संस्कृति

डिजिटल दुनिया से जितना हमें फायदा मिल रहा है उतना ही हमें नुकसान भी हो रहा है। आज के इस डिजिटल एरा के कारण हम अपने परिवार वालों से धीरे धीरे दूर होते जा रहे है। फोन से भले हमे पल भर में देश दुनिया की खबर मिल जाती है लेकिन इसके कारण ही आप अपने परिवार से धीरे धीरे दूर हो रहे है।अगर दादा दादी और नाना नानी साथ होते तो बच्चों को अपनी भाषा और अपनी संस्कृति का पता चलता है। आपने देखा होगा कि वर्किंग पैरेटस कई जगह पर रिवाजों के साथ कॉम्प्रोमाइज कर लेते हैं लेकिन अगर घर पर तीज त्योहारों पर कोई बुजुर्ग होता है तो वो हमे बताते रहते है कि किस त्यौहार में क्या पकवान बनाने है, कब व्रत करना है, किस दिन कौन सी पूजा होनी है। जिसके कारण हमारे साथ साथ हमारे बच्चे भी ये सारी चीजे सीखते रहते है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

अगर गर्मियों में हो रही है शादी, तो दुल्हन ऐसे रखें मेकअप का खास ख्याल

गर्मियों में ब्राइडल मेकअप के दौरान ध्यान रखें ये बातें


गर्मियों में शादी या पार्टी में जाना किसी भी लड़की या महिला के लिए काफी मुश्किल होता है क्योंकि शादी में तैयार तो सभी को होना होता है लेकिन उफ्फ ये गर्मी! पसीने के कारण मेकअप तो टिकता ही नहीं, लेकिन बिना मेकअप पार्टी में जाने की बात तो सोच भी नहीं सकते, ऐसे में करें तो क्या। आप चाहो भी तो, मौसम को बदलना आपके हाथ में नहीं है लेकिन मेकअप को और उसे करने का अंदाज तो आपके हाथ में है आप उसे तो जरूर बदल सकते हैं। इस मौसम अगर आपको शादी में जाना है या फिर आपकी खुद की शादी है और आपको ब्राइडल मेकअप करना है तो आपको कुछ बातों को ध्यान में रखना होगा। जिससे की आप अपने मेकअप को बहने से बचा सकते हैं।

गर्मियों में मेकअप के दौरान इस्तेमाल करें शिमर प्रोडक्ट्स: अगर आप गर्मियों में ब्राइडल मेकअप करने के लिए जा रहे है तो ग्लोइंग स्किन, सॉफ्ट आइज, रोजी चीक और लिप्स ये कुछ ऐसे स्टेप है जो आपको गर्मी में नेचुरल लुक देने का काम करेंगे। इसलिए आपको गर्मियों में लाइट और सॉफ्ट मेकअप ही रखना चाहिए। आज के समय में आपको मार्किट में शिमर प्रोडक्ट्स आसानी से मिल जायेगे। इसलिए आपको ब्राइडल मेकअप के दौरान भी शिमर प्रोडक्ट्स ही इस्तेमाल करने चाहिए। आप गर्मियों में अगर फाउंडेशन यूज कर रहे है तो शिमर फाउंडेशन यूज करें, इससे पूरे चेहरे पर चमक आ जाती है।

Image Source- Pixabay

 

वाटरप्रूफ फाउंडेशन: अगर आप गर्मियों में तैयार होने के लिए फाउंडेशन यूज़ करने जा रहे हैं तो आपको वाटरप्रूफ फाउंडेशन यूज़ करना चाहिए। लेकिन चेहरे पर लिक्विड या क्रीमयुक्त फाउंडेशन लगाते समय आपको किसी ठंडी जगह पर खड़ा हो जाना चाहिए। इससे आपको बाकी मेकअप करते समय पसीना नहीं आएगा और फाउंडेशन आपके चेहरे पर सही तरह से लग जाएगा।

Image Source- Pixabay

और पढ़ें: जाने लिंकेडीन कैसे आपको जॉब सर्च करने में मदद करता है साथ ही जाने बेस्ट जॉब वेबसाइट के बारे में

लिपस्टिक: अगर हम बात करें लिपस्टिक की तो गर्मियों में आपके लिप्स पर लम्बे समय तक लिपस्टिक टिकी रहे, तो इसके लिए आपको पहले होंठ पर हल्का फाउंडेशन लगाना चाहिए। उसके बाद ही आपको लिपस्टिक का एक कोट लगाना चाहिए। उसके बाद आपको लिप लाइनर से अपने होंठों को सही शेप देनी चाहिए। लिपस्टिक लगाने से पहले ध्यान रखे आपके लिप लाइनर का कलर आपकी लिपस्टिक से मिलता जुलता ही होना चाहिए।

Image Source- Pixabay

आंखों के लिए: शादी हो या फिर कोई और पार्टी। उनमें थोड़ी बहुत भीड़ भाड़ तो होती ही है। जिसके कारण हल्का पसीना आने पर भी आपकी आँखों का मेकअप खराब हो सकता है। इससे बचने के लिए आंखों का मेकअप करते समय लिक्विड आइलाइनर के बजाय वाटरप्रूफ लाइनर का इस्तेमाल करना चाहिए और उसके बाद आंखों के ऊपर पाउडर बेस्ड आईशैडो लगाना चाहिए।

Image Source- Pixabay

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
वीमेन टॉक

Mother’s Day special: जाने कोरोना महामारी के बीच कैसे मनाएं मदर्स डे

लॉकडाउन के दौरान कुछ ऐसे प्लान करें अपनी माँ के लिए सरप्राइज


जैसा की हम सभी लोग जानते है कि इस समय हमारा पूरा देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है। और इस समय देश के कई राज्यों में लॉकडाउन भी लगा हुआ है। इसी बीच मदर्स डे आ रहा है। और लॉकडाउन के कारण न तो आप अपनी माँ को सरप्राइज ट्रैवल टिकिट दे सकते हैं और ना ही कही डिनर पर ले जा सकते है। बल्कि इस बार तो कई लोगों के लिए गिफ्ट देना भी काफी ज्यादा मुश्किल हो गया है एक तरफ तो लॉकडाउन दूसरी तरफ पैसों की किलत। क्योकि इस कोरोना लॉकडाउन के कारण कई लोगों ने अपनी नौकरियां खो दी है। लेकिन इन सबके बीच भी आप अपनी माँ को स्‍पेशल फील करा सकते है। हर साल मदर्स डे मई के दूसरे रविवार को मनाया जाता है। और इस दिन का खासा उत्‍साह पूरी दुनिया में देखने को मिलता है। हमे उम्मीद है कि इस बार भी लॉकडाउन इस उत्‍साह को कम नहीं कर पाएगा। अगर आप अपनी माँ के पास है तो इस बार आप भी उनको स्पेशल फील करने के लिए ये आइडियाज ट्राई कर सकते है।

लंच या डिनर: अगर आप भी उन लोगों में से है जो इस कोरोना महामारी के बीच भी अपने माँ पापा के पास है तो आपके माँ पापा के लिए इससे बड़ा और अच्छा सरप्राइज और गिफ्ट और कुछ हो ही नहीं सकता है। आप चाहो तो मदर्स डे के मौके पर अपनी माँ के लिए घर पर ही उनका पसंदीदा लंच या डिनर बना सकते है। सबसे जरूरी, ऐसे खास मौके पर एक साथ समय बिताना सबसे ज्यादा मायने रखता है।

और पढ़ें: इंग्लैंड में बैंक इंवेस्टर बैंकर रही महुआ मित्रा भारतीय राजनीति का अहम हिस्सा है

ओटीटी: अगर आपकी माँ भी डिजि‍टल दुनिया से सक्रिय नहीं हैं तो इस मदर्स डे आप उनको इस डिजि‍टल दुनिया से सक्रिय करा सकते है। आप उन्हें  किसी भी डिजिटल प्लेटफॉर्म नेटफ्लिक्स, ZEE5, अमेज़ॅन प्राइम, हॉटस्टार की कोई शानदार वेब-सीरीज या फिर फिल्म दिखा सकते है। और उनका ये दिन स्पेशल बना सकते है।

केक बनाएं: इस मदर्स डे शेफ की कैप लगाओ और अपनी माँ के लिए स्पेशल केक या मफिन बनाओ। हम में से कई लोग ऐसे भी होते है जिनका अपने पैरेंट्स के लिए कुछ स्‍पेशल करने की इच्‍छा होती है लेकिन समय की कमी के कारण हम कुछ कर नहीं पाते। तो अब मौका है आप अपनी माँ के लिए मदर्स डे पर एक स्पेशल केक या मफिन बना सकते है।

डांस-गाना: आप इस लॉकडाउन का सबसे अच्छा फायदा मदर्स डे मनाने के लिए उठा सकते है। अगर आपकी माँ उन लोगों में से है जिनको डांस-गाना पसंद है तो आप उनके लिए घर में कुछ स्नैक्स बनाएं और डांस-गाने की पार्टी कर लें। और अपनी माँ के साथ डांस करें। और उनके पसंदीदा गाने सुनें और उन्‍हें भी गाने के लिए कहें।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
मनोरंजन

अनुष्का शर्मा के जन्मदिन पर जाने आखिर क्यों मानते है विराट कोहली उन्हें अपना ‘लकी-चार्म’

जाने किस बात पर अनुष्का के सामने रो पड़े थे विराट कोहली


Anushka Sharma Birthday Special: बॉलीवुड एक्ट्रेस अनुष्का शर्मा को आज के समय में ऐसा कोई नहीं है जो जानता ना हो। अनुष्का आज  किसी पहचान की मोहताज नहीं है और न ही उनको किसी इंट्रोडक्शन की जरूरत है। अनुष्का का जन्म 1 मई 1988 को उत्तर प्रदेश के अयोध्या में हुआ था। बैंगलुरु में पली बढ़ी अनुष्का ने आर्मी स्कूल और माउंट कार्मेल से पढ़ाई की है। क्या आपको पता है अनुष्का के दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से भी नवाजे जा चुके है। अगर हम अनुष्का की पर्सनल लाइफ की बात करें तो अनुष्का विराट कोहली के साथ साल  2017 में शादी के बंधन में बंध गयी थी। अगर हम दोनों की लव स्टोरी की बात करें तो दोनों की स्टोरी काफी दिलचस्प है। दोनों ने पहले तो मीडिया से अपना रिलेशन को छुपाया और उसके बाद अचानक शादी कर के सबको चौंका दिया। तो चलिए आज अनुष्का शर्मा के जन्मदिन पर हम आपको दोनों की लव स्टोरी का एक खास और दिलचस्प किस्सा बताएंगे।

जाने अनुष्का शर्मा के सामने क्यों रो पड़े थे विराट कोहली

अनुष्का शर्मा और विराट कोहली ने एक दूसरे को साल 2015 में डेट करना शुरू किया था लेकिन अनुष्का ने अपनी लव लाइफ को मीडिया से छुपाना ही बेहतर समझा था। दोनों ने एक दूसरे को दो साल डेट किया और उसके बाद दोनों 2017 में शादी के बंधन में बंध गए। आज हम आपको अनुष्का शर्मा के जन्मदिन पर दोनों की लव स्टोरी का एक खास और दिलचस्प किस्सा बता रहे है। दरअसर विराट कोहली ने एक स्पोर्ट्स चैनल को इंटरव्यू देते हुए एक मोमेंट में अपने मन की बात रखी थी। विराट ने बताया कि जब उन्हें टीम इंडिया का टेस्ट कप्तान बनने की खबर मिली थी तब वो और अनुष्का साथ थे। और ये सुन कर वो अनुष्का के सामने फूट-फूटकर रोने लगे थे। आपको बता दे कि विराट अनुष्का को अपना लकी-चार्म मानते हैं। विराट कोहली आगे कहते है कि ‘मुझे याद है कि मैं उस समय मोहाली में था, जहां टेस्ट सीरीज चल रही थी, और उस दौरान अनुष्का भी मेरे साथ थी, जब मेलबर्न में मुझे टेस्ट कप्तान बनाया गया तब भी वह मेरे साथ थी।’

और पढ़ें: कंगना रनौत ने 15 साल के करियर में कई तरह के किरदारों से अपने फैन्स को खुश किया है

जाने अनुष्का शर्मा ने कैसे शुरू किया अपना करियर

आपको बता दे कि अनुष्का शर्मा ने फिल्मों में नहीं बल्कि मॉडलिंग में अपना करियर बनाना था। अनुष्का शर्मा साल 2007 में अपना मॉडलिंग करियर बनाने के लिए मुंबई में आई थी। और उन्हें साल 2007 में ही फैशन डिजाइनर वेंडेल रॉड्रिक्स के लिए बतौर मॉडल पहला ब्रेक मिला था। जिसके बाद अनुष्का शर्मा ने मॉडलिंग के बाद फिल्मी दुनिया में अपने कदम बढ़ाए और उन्होंने यशराज फिल्म के लिए ऑडिशन दिया।  ये बात तो हम सभी लोग जानते है कि उनकी पहली फिल्म बॉलीवुड के किंग खान यानि शाहरुख खान के साथ कास्ट हुई थी। और यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर भी हिट हुई और अनुष्का के रोल को भी लोगों द्वारा काफी ज्यादा सराहा गया था। उसके बाद उनकी दूसरी फिल्म ‘बदमाश कंपनी’ आयी थी जो बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह से पीट गई थी। लेकिन जब अनुष्का शर्मा की अगली फिल्म ‘बैंड बाजा बरात’ आयी तो उसने उनके करियर पर चार चांद लगा दिए थे।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
राशिफल

साप्ताहिक राशिफल 4 अप्रैल से 10 अप्रैल: जानें कैसे रहेगा आपका आने वाला सप्ताह

जानें कैसा होगा आपका आने वाला सप्ताह


Rashifal April 4 April 10: अप्रैल पहले से ही शुरू हो चूका है और हम इस पर विश्वास नहीं कर सकते। यहां, हम आपकी नवीनतम साप्ताहिक राशिफल लाते हैं। एक सप्ताह आशाओं और नई शुरुआत से भरा हुआ। एक नज़र डालिए कि यह पूरा सप्ताह आपके लिए कैसा है।

मेष: पारिवारिक मामलों में अग्रणी और इस अवधि में उठाए गए उचित कदम निश्चित रूप से सराहे जाएंगे। आप सप्ताह के दिनों में किसी भी स्थिति में चरम कार्रवाई कर सकते हैं। अच्छे शब्दों का चुनाव आपको किसी भी विवाद से बचा सकता है। संतान से सुख की अनुभूति होगी। छात्रों के लिए शिक्षा में सफलता देखी जा सकती है। छोटे भाई-बहनों के साथ संबंध सुधरेंगे।

वृष: आपके व्यवहार में टेंपरामेंटल मुद्दे दोहरा सकते हैं। हालाँकि आपकी स्थिति बदतर नहीं होगी, फिर भी स्थिति के बारे में आपकी अपेक्षाएँ वास्तविक स्थिति से अधिक हो सकती हैं। बड़े भाई-बहन या बॉस इस सप्ताह आपकी दिनचर्या में मददगार साबित होंगे। विरोधी आपके लिए फायदेमंद साबित होंगे। इस सप्ताह आपको मानसिक रूप से कुछ सुकून मिलेगा।

मिथुन: आप अपने कार्यस्थल पर अपने साहस, प्रतिष्ठा और परिश्रम का प्रदर्शन करेंगे। विरोधियों द्वारा आपको नीचे खींचने के प्रयासों के बावजूद, आप तेज़ी से आगे बढ़ेंगे। बच्चों के मामलों से राहत का अनुभव होगा या उसी के लिए समाधान प्राप्त करने की उम्मीद की जा सकती है। आपके व्यक्तित्व में आपके आसपास के लोगों को प्रभावित करने के लिए कुछ अतिरिक्त चमक होगी।

कर्क: साथी की सोच या वैवाहिक आनंद की ओर बढ़ने की योजना इस अवधि में दृढ़ता से देखी जा सकती है। माँ के सामने बेहतर स्थिति महसूस की जा सकती है। आप घर सजावट से संबंधित कुछ खरीदने की योजना बना सकते हैं। अजनबियों या नए दोस्तों पर ज्यादा भरोसा न करें। आप वित्त के संबंध में अच्छी खबर की उम्मीद कर सकते हैं। चचेरे भाइयों के साथ आपका विवाद हो सकता है। किसी भी बदतर स्थिति से बचने के लिए स्मार्ट और कूटनीतिक कार्य करें।

सिंह: यह अवधि आपके स्वास्थ्य के प्रति आपका ध्यान आकर्षित करती है। आप इस सप्ताह किसी अप्रत्याशित स्थिति की उम्मीद कर सकते हैं। अपने विचार और दृष्टिकोण में सकारात्मक रहें। जैसे-जैसे सप्ताह बीच में आता है, एक क्रमिक सुधार का अनुभव किया जा सकता है। स्थिति आपको घर से दूर रखेगी और आंतरिक शांति गायब हो सकती है।

कन्या: व्यापारियों के लिए अच्छा समय है लेकिन परेशानी-मुक्त नहीं। सफलता निश्चित रूप से बाधाओं के साथ आपके रास्ते में आएगी। आप इस अवधि में विदेश यात्रा की योजना बना सकते हैं। सभी जीत की स्थितियों के बावजूद, आप भावनात्मक, आर्थिक या शारीरिक रूप से दूसरों पर निर्भर महसूस करेंगे। पारिवारिक विस्तार की उम्मीद की जा सकती है। चारों ओर बेहतर परिस्थितियों को बनाने के लिए लचीला हो।

तुला: इस अवधि में विद्यार्थी बेहतर प्रदर्शन करेंगे। रैश ड्राइविंग से बचें। इस अवधि में अवैध संबंध या अनैतिक गतिविधि में लिप्त होने की संभावना की उम्मीद की जा सकती है। एक कसरत के लिए जा रहे हैं या एक दैनिक दिनचर्या में जुनून लेने से आपको एक अप्रिय स्थिति से बाहर आने में मदद मिलेगी। इस अवधि में जीवन का वित्तीय पहलू अच्छा रहेगा।

वृश्चिक: इस सप्ताह अपने साथी या जीवनसाथी के प्रति आपकी चिंता अधिक से अधिक आश्वस्त हो सकती है। उसी बिंदु पर, आप अपने जीवनसाथी के समर्थक होंगे। अध्यात्म के प्रति आपका झुकाव या नेक काम के लिए इस अवधि में बहुत अधिक लगता है। कार्यस्थल पर विरोध का सामना करने की संभावना हो सकती है। विलासिता की वस्तुओं पर धन खर्च होगा।

धनु: अपने लक्ष्य को पाने के लिए कड़ी मेहनत से आप अपनी मंजिल तक पहुँचते रहेंगे। फिर भी, आप अपने रास्ते को खोजने में खुद को असमर्थ पाएंगे, आप अपनी सफलता का द्वार अपने हाथों से खोलेंगे। आपके बच्चों के बारे में चिंता आपके मन में मंडराती रहेगी। आप घर सजावट को संशोधित करने पर पैसा खर्च कर सकते हैं।

मकर: यह सप्ताह आपके लिए जीवन में अनुशासन, शांत और व्यवस्थित दृष्टिकोण के बारे में सोचने का एक कारण है। देश के अंदर और बाहर से आय के स्रोत की भी उम्मीद की जा सकती है। भाई-बहनों से मतभेद हो सकते हैं। आप अपनी कलम या संचार के लिखित मोड पर सराहनीय आदेश महसूस करेंगे।

कुंभ: लंबे समय के बाद आप आर्थिक रूप से सहज महसूस करने लगेंगे। आपमें से कुछ को इस अवधि में बच्चा पैदा करने या गठबंधन करने की योजना में सफलता मिलेगी। या आशा की कुछ किरण आपको जीवन में एक आशावादी दृष्टिकोण देने के लिए सही जगह पर गिर सकती है। किसी भी तर्क से दूर रहें। स्वास्थ्य को आपके साप्ताहिक एजेंडे में शीर्ष स्थान पर रखा जाना चाहिए।

मीन: आप भावनात्मक रूप से परिवार और रिश्तेदारों में भी शामिल होंगे। इस अवधि में कार्रवाई पर कम नियंत्रण का अनुभव किया जाएगा। आपकी टाइम टेबल में फिटनेस शासन के लिए एक विशेष स्थान होना चाहिए। इस संकेत के छात्रों को पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित करना मुश्किल हो सकता है। जीवन का मौद्रिक पक्ष आपके पक्ष में रहेगा। कुल मिलाकर, एक मध्यम सप्ताह आगे है।

One World News आपके लिए किरण पांडे राय की साप्ताहिक राशिफल लेकर आया है। वह एक प्रसिद्ध ज्योतिषी हैं और पिछले 10 वर्षों से वैदिक ज्योतिष का अभ्यास कर रही हैं। जनमपत्री और व्यक्तिगत भविष्यवाणी के लिए 06kiranrai@gmail.com पर लिखें

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

Kitchen organization ideas: कैसे रख सकती है आप अपनी किचन को ऑर्गेनाइज?

Kitchen organization ideas: किचन को  ऑर्गेनाइज करने के लिए  बेस्ट टिप्स


Kitchen organization ideas: हम में से ज्यादातर लोगों हमेशा इसलिए परेशान रहते है। क्योंकि  हमारा किचन हमेशा फैला रहता है और हम इससे अच्छे से ऑर्गेनाइज भी नहीं कर पाते है। अगर हम छोटे-छोटे सामान को एक साथ रखें तो इससे हमारा किचन बहुत ही खराब दिखने लगता है। और अगर हम इसे अलग -अलग रखें तो इससे सामान को ढूंढना काफी मुश्किल हो जाता है और अगर कभी कोई बाहर का व्यक्ति घर पर आजाये तो आपको खुद अपना किचन देख कर अजीब लगेगा। तो चलिए आज हम आपको आपकी फैली किचन को ऑर्गेनाइज करने के बेस्ट टिप्स के बारे में बताएंगे।

बास्केट

जैसा की हम सभी लोगों के किचन में मसालों के छोटे-छोटे बहुत सारे डिब्बे होते हैं। जिनके कारण ही हमारी किचन फैली हुए नजर आती है और ऐसे में हमारे लिए बहुत मुश्किल हो जाता है कि हमने कौन सा सामान कहाँ  रखा है। इस समस्या से बचने के लिए आप कलर बास्केट का प्रयोग कर सकते है। यानि की आप जिन मसालों का रोज़ इस्तेमाल करते है उन्हें एक कलर के बास्केट के रख सकते है और जिन मसालों को आप रोज़ इस्तेमाल नहीं करते है उनको एक अलग कलर के बास्केट के रख सकते है इससे आपकी किचन ऑर्गेनाइज दिखेगी।

और पढ़ें: अगर आप भी लेते है स्ट्रीट साइड से कपड़े, तो इन बातों का रखें विशेष ध्यान

फ्रिज स्पेस 

ऑर्गेनाइजर: हम में से ज्यादातर लोगों के घरों में अक्सर यह शिकायत सुने को मिलती है कि फ्रिज में सामान रखने के लिए जगह नहीं है फिर चाहे किचन छोटी हो या बड़ी यह समस्या अक्सर आपको हर जगह सुने को मिल जाएगी। इसलिए आप चाहो तो इस समस्या से बचने के लिए फ्रिज स्पेस ऑर्गेनाइजर का प्रयोग कर सकते है। आप इसमें कटे हुए फ्रूट्स, वेजिटेबल आदि रख सकते है। आप चाहो तो इसमें खुले हुए पैकेट जैसे चॉकलेट आदि भी रख सकते है।

प्लास्टिक शेल्फ

आप अपनी किचन को अच्छे से ऑर्गेनाइज करने के लिए छोटी-छोटी जगहों को काफी अच्छे से इस्तेमाल कर सकते है। अगर आपके किचन की साइड में थोड़ी जगह है तो यहाँ आप प्लास्टिक शेल्फ लगा कर आपका किचन का सामान रख सकते है इससे आपकी किचन ऑर्गेनाइज लगेगी। क्योकि इस प्लास्टिक शेल्फ में आप बहुत सारा सामान स्टोर कर सकती हैं।

हैंगर

आपको किचन हैंगर बिलकुल आराम से कही पर भी काफी कम पैसों में मिल जायेगे। ये किचन हैंगर आपको अलग-अलग शेप और साइज में मार्किट में आसानी से मिल जायेगे। जिसमे आप हैंडल वाले पैन्स आराम से टांग सकते है। साथ ही साथ आप इसमें कलछी, चमचा आदि जैसी चीज़ें भी टांग सकते हैं।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

जानें साइंस क्या कहता है पति-पत्नी के बीच की उम्र अंतर को लेकर

सर्वे के अनुसार तलाक में उम्र का अहम रोल होता है


Age difference between husband and wife: ये बात तो हम सभी  लोग जानते है कि हमारे समाज में पति-पत्नी के बीच उम्र के अंतर को एक टैबू माना जाता है। वही कई जोड़े ऐसे भी होते है जिनकी उम्र में काफी ज्यादा अंतर है। लेकिन उसके बाद भी आज वो एक खुशहाल जिंदगी जीते हैं। पति-पत्नी के बीच उम्र का अंतर जब ज्यादा चर्चा में आता है जब पत्नी उम्र में बहुत बड़ी हो और पति छोटा हो तो लोग बोलते है माँ की उम्र की महिला से शादी कर ली है और जब पति उम्र में बहुत बड़ा होता है और पत्नी छोटी, तो भी लोग बोलते है बाप की उम्र के आदमी से शादी कर ली है। इतना ही नहीं इन चीजों को देखते हुए कई लोग तो ऐसा भी समझते है कि लड़के या लड़की में जरूर कोई कमी होगी तभी अपने से ज्यादा उम्र वाले को जीवन साथी बनाने के लिए तैयार हो गए हैं। ऐसे में कई लोग तो पति-पत्नी के इस प्यारे रिश्ते को मजबूरी या फिर पैसे के लालच से जो़डकर देखते हैं। लेकिन हमारे बॉलीवुड सितारों ने इस गंदी सोच को पीछे छोड़ अपने पसंद के पार्टनर से शादी की है और आज वो बेहद खुश भी है तो चलिए जानते है उन बॉलीवुड सितारों के बारे में बात करेंगे।

शाहिद कपूर और मीरा राजपूत: ये बात तो हम सभी लोग जानते है कि शाहिद कपूर और मीरा राजपूत बॉलीवुड के सबसे चर्चित कपल में से एक हैं। जबकि मीरा राजपूत तो फिल्म इंडस्ट्री से भी नहीं है और साथ ही साथ शाहिद कपूर से 13 साल छोटी भी है। उसके बाद भी इन दोनों कपल्स के बीच जो बॉडिंग है वह दूसरे लोगों को भी इंस्पायर करती है। इससे पता चलता है कि दोनों लोगों के बीच अगर प्यार हो तो उम्र सिर्फ एक नंबर बन जाता है।

और पढ़ें: टीवी कपल्स जिन्हें टीवी शो के दौरान हुआ था प्यार और बाद में की शादी

Image source – Priyanka Insta

प्रियंका चोपड़ा और निक जोनस: प्रियंका चोपड़ा और निक जोनस आज के समय में बॉलीवुड के बेस्ट कपल्स में से एक है। इन दोनों के बीच भी उम्र का काफी ज्यादा गैप है प्रियंका चोपड़ा निक जोनस से उम्र में 10 साल बड़ी हैं। इसके लिए प्रियंका चोपड़ा को उनकी शादी के समय काफी ज्यादा ट्रोल भी किया गया था। इसे लेकर प्रियंका चोपड़ा का कहना था कि हमारे बीच सब कुछ ठीक है और अब निक भी धीरे धीरे भारतीय परंपराओं में रंग रहे हैं हमारा रिश्ता भी बाकी कप्पलस की तरह ही हैं। हम साथ में काफी ज्यादा खुश हैं।

जानें क्या कहता है साइंस, पति-पत्नी की उम्र के अंतर को लेकर

शादी के लिए पति-पत्नी के बीच उम्र का कितना अंतर होना चाहिए, इसके लिए अटलांटा के एमोरी विश्वविद्यालय में 3,000 लोगों पर अध्ययन किया गया। जिसके बाद शादी, रिलेशनशिप, तलाक और बच्चों पर कुछ महत्वपूर्ण डेटा मिला। उस डेटा के अनुसार हमारे रिश्तों में उम्र का अंतर असर डाल सकता है.लेकिन एक रिश्ते को निभाने के लिए कपल्स की बीच अंडरस्टैंडिंग को भी महत्वपूर्ण माना गया है। अटलांटा की रिपोर्ट के अनुसार अगर पति-पत्नी के बीच उम्र का फासला कम है तो ज्यादा असर नहीं पड़ता और अगर एज गैप ज्यादा है तो रिश्तों में दरार आने की सम्भावना बढ़ जाती है। रिपोर्ट के अनुसार जिन कपल्स के बीच पांच साल का अंतर होता है उनके तलाक होने की संभावना 18 प्रतिशत होती है जबकि जिनके बीच एक दो साल का अंतर होता है उनके बीच तलाक होने की संभावना 3 प्रतिशत होती है। अगर कपल्स के बीच 10 साल का अंतर होता है तो उनका तलाक होने की संभावना 39 प्रतिशत होती है। और अगर कपल्स के बीच 20 साल का अंतर होता है तो तलाक होने की संभावना 95 प्रतिशत होती है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com