Categories
सेहत

ठंड के मौसम में खाएं ये ऑर्गेनिक फूड्स: बनाएं अपनी सेहत

5 ऑर्गेनिक फूड्स खाएं और सेहत में लगायें चार चाँद


मौसम के बदलते मिजाज़ को देखते हुए ऐसा लग रहा है कि सर्दियों ने अपनी धमाकेदार एंट्री कर दी है और इन सर्दियों के मौसम में सभी स्वस्थ रहना चाहते हैं। वैसे तो सर्दियाँ सबको पसंद होती हैं और सर्दी का मौसम सबको प्यारा लगता है। लेकिन ठंड के मौसम में अपने शरीर का भी विशेष ध्यान रखना पड़ता है। यदि आप इस मौसम में अपने शरीर का अच्छे से ध्यान नही रखेंगे तो आपके शरीर मे कुछ पोषक तत्वों की कमी हो सकती है जिससे आप बीमार पड़ सकते हो।

ठंड के मौसम में चाहे जितनी मर्ज़ी गर्म कपड़ों का प्रयोग कर लें लेकिन इससे कुछ नही होने वाला जब तक हमारा शरीर अंदर से मजबूत न हों और इसके लिए हमें पोषक पदार्थों की जरूरत पड़ती है और ये पोषक पदार्थ हमें ऑर्गेनिक खाद्य पदार्थों से मिलती है। यदि आप अंदरूनी रूप से स्वस्थ हैं तो आपके शरीर पर ठंड का प्रभाव नही पड़ेगा।

ऑर्गेनिक फ़ूड

आइए दोस्तों कुछ ऐसे खाद्य पदार्थों के बारे में जानते हैं जो शरद मौसम में खाना जरूरी है।

1.बाजरा

कुछ अनाज ऐसे होते हैं जो शरीर को अधिक गर्मी देते हैं जैसे गेहूं, मक्का, बाजरा इत्यादि लेकिन इनमें से सबसे अच्छा अनाज बाजरा को ही माना जाता है। इसमें अधिक-से-अधिक पोषक तत्व पाए जाते हैं जैसे प्रोटीन, मैग्नीशियम, फाइबर, विटामिन बी इत्यादि। । शरद मौसम में आप गेहूं की रोटी के बजाय बाजरे की रोटी खा सकते हैं। इसे खाने से आपकी पाचन शक्ति भी ठीक रहती है जिससे आप अंदरूनी गर्मी महसूस करते हो।

2.बादाम

बादाम में कई तरह पोषक तत्व होते हैं। इसके नियमित सेवन से अनेक बीमारियों से छुटकारा मिलता है। बड़े-बुजुर्गों का कहना है कि बादाम खाने से इंसान की मानसिक और शारीरिक मजबूती बनी रहती हैं। बादाम एक ड्राई फूड है जो बीमारियों से लड़ने में भी शरीर को मदद करता है। इसके खाने से कब्ज की समस्या दूर होती है और यह कब्ज ठंड के मौसम में ही ज्यादा परेशान करता है। बादाम विटामिन-ई से भरपूर होता है, जो कि शरीर के त्वचा के लिए भी काफी फायदेमंद है।

3.अदरक

ऑर्गेनिक फ़ूड

अदरक एक रामबाण है। इसकी थोड़ी मात्रा में सेवन करने से ही बहुत सारी बीमारियों से बचा जा सकता है। खासकर इसका उपयोग ठंड के मौसम में ही करना चाहिए क्योंकि इससे शरीर को काफी मात्रा में ऊर्जा मिलती है। गर्मी के दिन में अदरक का ज्यादा प्रयोग हानिकारक भी हो सकता है।

4. शहद

शहद को एक तरह से आप कुदरत का उपहार ही समझा जाता हैं। आयुर्वेद में शहद को अमृत का दर्जा दिया गया है, इसमें बहुत सारे ऐसे गुण पाए जाते हैं। यह बीमारियों से लड़ने में हमारे शरीर को मदद करती हैं। वैसे तो शहद का उपयोग हर मौसम में किया जा सकता है लेकिन सर्दी के मौसम में इसका सेवन करना और भी अधिक लाभकारी होता है। शहद के उपयोग से पाचन क्रिया भी अच्छी रहती है।

5.तील

ठंड के मौसम में तील खाने से शरीर को भरपूर मात्रा में ऊर्जा मिलती है। तिल के तेल से शरीर की मालिश करने से भी काफी ऊर्जा मिलती है। इसका काढ़ा बनाकर पीने से भी खाँसी और सर्दी जैसी बीमारियां दूर भागती है। इसमें अनेक पोषक तत्व जैसे प्रोटीन, कैल्शियम, बी कॉम्प्लेक्स और कार्बोह्यड्रेट के गुण भी भरपुर मात्र में पाए जाते हैं।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
सेहत

खाद्य पदार्थ जो बढा देते हैं दिमाग की क्षमता काम के दौरान

बढ़ानी है दिमाग की क्षमता तो ज़रूर सेवन कीजिए इन चीज़ों का

जिन लोगों की नौकरी पूरे दिन की होती है, वे सुबह घर से निकल कर शाम को या फिर रात को ही घर आते हैं उन लोगों को काफी ऊर्जा की ज़रूरत होती है ताकी वे पूरे दिन अपने दिमाग से बराबर काम ले सकें। अधिकतर ऐसे लोग उन खाद्य पदार्थों को चुनते हैं जो या तो बने बनाये उन्हें मिल जाएं या फिर जल्दी से बन जाये और ऐसे केवल फ़ास्ट फूड्स होते हैं। इस कारण उनकी ईटिंग हैबिट्स अनहेल्थी हो जाति हैं। आपको यह सोचना बन्द कर देना चाहिए की यदि आपका पेट भर गया है तो आपके दिमाग को भी सही ऊर्जा मिलेगी और दिमाग की क्षमता बढ़ जायेगी। असल में बात यह है की जो भी खाना हम खाते हैं उसका एक अच्छा खासा प्रभाव हमारे दिमाग पर पड़ता है। कुछ खाद्य पदार्थ अच्छे होते हैं और कुछ अच्छे नही होते हैं और कुछ सुपरफूड्स होते हैं जो उत्पादकता और दिमागी क्षमता को बढ़ाते हैं।

क्या आपको नही लगता कि आपकी उत्पादकता बढ़ने और दिमागी क्षमता बढ़ने से आपका ही फायदा होगा। हम जानते हैं कि इसका जवाब हाँ ही है इसीलिए हमने सुपरफूड्स की एक सूची बनाई है ताकि आप उसे अपने दैनिक जीवन में शामिल कर सकें ।

  • साल्मन (salmon fish) : US National Library of Medicine National institute of Health के मुताबिक मनुष्य के दिमाग में 60% फैट होता है और यह तो सभी जानते है कि साल्मन में प्रचूर मात्रा में फैट होता है। इसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड्स होते हैं जो याद रखने की क्षमता को बढ़ाते हैं इसलिए साल्मन को ब्रेन फ़ूड कहना अनुचित नही होगा।
  • बेरी (berries) : दिमाग की क्षमता बढ़ाने के लिए एंटीऑक्सीडेंट्स की काफी ज़रूरत होती है। औऱ बेरी जैसे फल में वे काफी अधिक मात्रा में पाए जाते हैं। यह साफ़ है की अगर आप बेरीज खाएंगे तो आपकी याद करने की क्षमता बढ़ेगी और आप बेहतर तरीके से अपना काम भी कर पाएँगे। तो आप इन्हें ज़रूर अपने खाने में शामिल करें।

  • ऐवकाडो (avocados) : हालाँकि यह भारत का फल नही है मुख्य रूप से इनकी पैदावार कनाडा में होती है परंतु ये भारत में भी उपलब्ध होते हैं। ये स्वादिष्ट तो होते ही हैं और साथ ही साथ पोष्टिक भी हते है। इनमे हेल्थी फैट्स होते हैं जो रक्त संचार को बढ़ाते हैं और ब्रेन सेल्स को स्टिमुलेट कर  फोकस करने की क्षमता को बेहतर बनाता है इसलिए अवोकेडो ब्रेन के लिए काफी अच्छे होते हैं।
  • पानी (water) : हम सभी यह तो जानते ही हैं की पानी कितना महत्वपूर्ण है और दिन में 8 गिलास पानी पीने के बारे में भी सभी जानते हैं। पानी एक मशीन के लिए तेल की तरह है। शरीर के सभी कार्य ठीक तरह से हों उसके लिए पानी पीते रहना चाहिए। पानी के कमी से सिर दर्द होता है जिसके कारण मनुष्य ठीक से काम नही कर पाता इसलिए काम करते करते सही मात्रा में पानी पीते रहें।
  • केले (bananas) : केले में ग्लूकोस की भरपूर मात्रा होती है। एक केले में इतना ग्लूकोस होता है जितना पूरे एक दिन में हमारे शरीर के लिए ज़रूरी होता है। ये फ़ास्ट फूड्स से ज़्यादा बेहतर होते हैं। और यह तो सभी जानते हैं कि केले को nature’s energy bar कहा जाता है। ये सही मात्रा में ऊर्जा प्रदान कर आपको औऱ अधिक उत्पादक बनाता है।
  • डार्क चॉकलेट (dark chocolate) : डार्क चॉकलेट खाना सभी लोगों को पसंद होता है। ये स्वादिष्ट होती हैं और चॉकलेट लवर्स को यह जानकर ख़ुशी होगी की चॉक्लेट सेहत के लिए भी अच्छी होती है। ईसमे कैफीन होता है जो शरीर को ऊर्जा  देते हैं और ध्यान केंद्रित करने की क्षमता को बढ़ाते हैं। इसलिए डार्क चॉकलेट यदि आप काम करते वक़्त खाएं तो आपके लिए बेहतर होगा।