Categories
सेहत

जाने डायबिटीज में कैसा होना चाहिए आपका ब्रेकफास्ट, ये है कुछ बेस्ट और हेल्दी ऑप्शन्स

जाने कैसा होना चाहिए डायबिटीज के पेशेंट का खानपान


आपको बता दे कि हमारे देश में हर साल 10 लाख से ज्यादा लोग डायबिटीज के शिकार होकर मर जाते हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक हमारे देश में 12 में से एक व्यक्ति डायबिटीज का मरीज है। डायबिटीज हमारे लिए कितना खतरनाक है इस बात का अंदाजा आप इस बात से ही लगा सकते है कि डायबिटीज से हार्ट अटैक, किडनी फेलियर और आंखों की रोशनी तक जा सकती है। लेकिन इन सभी चीजों के बीच अच्छी बात यह है कि अपने लाइफस्टाइल और डाइट में थोड़े बहुत बदलाव कर आप इस बीमारी से काफी हद तक बच सकते है और इस पर कंट्रोल पा सकते है। तो चलिए जानते है कैसे होना चाहिए डायबिटीज के पेशेंट का खानपान।

बेसन चीला: आपको बता दे कि डायबिटीज में रोगियों को आसानी से पचने वाला भोजन करना चाहिए। इसलिए आप अपने ब्रेकफास्ट में बेसन का चीला ऐड कर सकते है आप चाहे तो बेसन के चीला में सब्जियां भी मिक्स कर सकते है। लेकिन आपको ध्यान रखना होगा कि इस ब्रेकफास्ट में तेल और नमक हल्का ही होना चाहिए।

जौ: आपको बता दे कि जौ का सेवन डायबिटीज के रोगियों के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद होता है। क्या आपको पता है जौ डाइट्री फाइबर से भरपूर होते है जिसके कारण यह हमारी भूख को कंट्रोल करता है। इतना ही नहीं ये हमारे हार्ट संबंधी बीमारियों के खतरे को भी कम करता है।

ओट्स: आपको बता दे कि डाइट में प्रोटीन शामिल करने का ओट्स एक आसान और स्वादिष्ट तरीका है। आधे कप ओट्स से लगभग 6 ग्राम प्रोटीन और 4 ग्राम फाइबर मिलता है। ओट्स का सेवन नाश्ते में करने से पेट देर तक भरा रहता है साथ ही साथ इसके सेवन से ब्लड शुगर का स्तर भी कभी लो नहीं होता है।

और पढ़ें: क्या आप भी जानते हैं प्रोटीन कॉफी के अनगिनत फायदों के बारे में

अंकुरित अनाज: आपको बता दे कि अंकुरित अनाज प्रोटीन और पोषण से भरपूर होते है। इसलिए आप इसे अपने ब्रेकफास्ट में शामिल कर सकते है इसको टेस्टी बनाने के लिए आप चाहें तो खीरा, टमाटर, प्याज इसमें डाल सकते हैं और खट्टा करने के लिए नींबू निचोड़ें सकते है।

लो फैट दही: अगर आप डायबिटीज के पेशेंट है तो आप अपने ब्रेकफास्ट में पराठों के साथ लो फैट दही का सेवन कर सकते हैं।  इसमें पाये जाने वाले सभी पौष्टिक तत्व टाइप 2 डायबिटीज होने की संभावनाओं को कम करने में सक्षम होते है।

 

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
सेहत

क्या आप जामुन के ऐसे अनोखे फायदों के बारे में जानते हैं..

दांत दर्द से भी देता है निजात


गर्मी के दिन आते ही हम सबके दिमाग में फलों के नाम पर सबसे पहले आम और जामुन ही आता है। यह दोनों ही ऐसे फल हैं जो गर्मी में मिलते हैं। यात्रा के दौरान भी आपने ट्रेन में कई बार देखा होगा कि जामुन बिक्री होने के लिए आते हैं। कई लोग इसे चाव से लेते हैं। काले रंग का यह छोटा फल जितना खाने में टेस्टी होता है उतना ही फायदेमंद भी है। अगर आप भी अभी तक जामुन को पसंद नहीं करते हैं तो आज ही खाना शुरु कर दें इसके कई फायदे हैं जो आपको डॉक्टर के पास जाने से बचा सकते हैं। तो चलिए जानते हैं जामुन के कुछ फायदों के बारे में….

पथरी को गलाता है

कई लोगो को किडनी में स्टोन हो जाता है। जिसके कारण उन्हें असहनीय दर्द भी होता है। लेकिन क्या आपको पता है जामुन इस स्टोन को गला सकता है। इसके लिए आपको रोज इसका जूस बनाकर पीना होगा। इसका  बनाना भी बहुत आसान है। छोटे साइज की पथरी गलाने के लिए 10 मिली जामुन के रस में 250मिग्रा सेंधा नमक मिलाकर दिन में 2 से 3 बार पीएं। इससे आसानी से पेशाब के रास्ते पथरी बाहर निकल जाएगी।

पीलिया में मददगार’

पीलिया के दौरान अक्सर लोगों को खाने की इच्छा नहीं होती है। ऐसे समय में अगर आप जामुन के 10-15 मिली रस में 2 चम्मच शहद मिलाकर पीते है। तो पीलिया का असर तो कम होता ही है साथ ही बल्ड की कमी भी दूर हो जाती है।

डायबिटीज के मरीजों के फायदेमंद

डायिबिटीज के मरीजों को अक्सर कई तरह की परेशानी होती है। अगर आप इस परेशानी से राहत पाना चाहते हैं तो जामुन नहीं बल्कि जामुन के पेड़ की जड़ आपके लिए बहुत फायदेमंद हैं। इसके लिए आपको जामुन के 100ग्राम जड़ को साफ करके उसे 250 मिली पानी के साथ मिलाकर पीस लेना है। अब इसमें 20 ग्राम मिश्री डालकर सुबह-शाम खाने पीना होगा। इससे आपको शुगर में फायदा मिलेगा।

Read more: अनलॉक में न भूले कोरोना के इन बेसिक नियमों को

त्वचा और आंखे के लिए फायदेमंद

कोई फल खाने में भी स्वादिष्ट हो और साथ ही उससे खूबसूरती भी मिले तो सोने पे सुहागा जैसी बात हो जाती है। जामुन के पत्ते और छाल को पीसकर लगाने से त्वचा में कई तरह के फायदे मिलते हैं। जामुन का रस फेस पर लगाने से पिम्पल्स नहीं होते हैं। इतना ही नहीं यह जूस आंखों की बीमारी से भी निजात दिलाता है।

दांत दर्द से निजात

दांत की दर्द इतनी असहनीय होते हैं कि उस वक्त लोगों को लगता है कि कुछ भी मिल जाए जिससे वह दर्द से राहत पा सके। ऐसी  ही दर्द के लिए जामुन के पत्ते बहुत ही फायदेमंद हैं। इसके लिए आपको जामुन के पत्ते का राख बनाकर दांत और मसूड़े पर मसलना होगा। इससे मसूड़े भी मजबूत होते हैं। इतना ही नहीं जामुन के रस से कुल्ला करना से पाइरिया भी ठीक हो जाता है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

जानें क्या है लो-कार्ब फूड (low carb food) और ये कैसे रखता है आपको कैलोरीज़ से दूर

जाने लो-कार्ब फूड्स (low carb food) के बारे में जिन्हे आपको अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए


ये बात तो शायद हमें आपको बताने की जरूरत नहीं है कि एक हेल्दी डाइट में फल और सब्जियां महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। क्योंकि सब्जियों और फलों में कैलोरी की मात्रा कम होती है जबकि विटामिन, मिनरल और अन्य महत्वपूर्ण पोषक तत्वों भरपूर मात्रा में पाएं जाते हैं। लेकिन क्या आपको पता है बहुत सी सब्जियां ऐसी भी होती है जिनमें कार्ब्स की मात्रा कम होती है जबकि उनमें फाइबर की मात्रा बहुत अधिक होती है। जो आपके कैलोरी इनटेक को कम करती है और हेल्दी रखने में मदद करती है। अगर आपको लगता है कि आपका वजन ज्यादा है और आप अपना वजन कम करने की कोशिश कर रहे हैं। तो आपको अपनी डाइट से कार्ब्स को कट करना चाहिए। तो चलिए जानते है
लो-कार्ब्स फूड्स (low carb food) के बारे में जिन्हें आपको अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए।

आड़ू: आड़ू भले ही बहुत लोगों को पसंद नहीं होगा।  आड़ू जितना मीठे और रसदार होते है उतने ही स्वादिष्ट भी होता है। क्या आपको पता है आड़ू में कार्ब्स की मात्रा बहुत कम होती है। अगर आप 100 ग्राम आड़ूू खायेगे तो इससे आपको 9.54 ग्राम कार्बोहाइड्रेट्स और 1.5 ग्राम फाइबर मिलता है। अगर आप अपने नाश्ते में कार्ब वाले फूड्स को कम करना चाहते है तो आप अपने नाश्ते में आड़ू को शामिल कर सकते है।

और पढ़ें: जाने क्यों डायबिटीज रोगियों के लिए अमरूद के पत्तों की चाय बेहद फायदेमंद मानी जाती है

ब्रोकली: क्या आपको पता है ब्रोकली क्रूसीफेरस फैमिली से ही नाता रखती है। जिसमे केल, ब्रसेल्स स्प्राउट्स, मूली और गोभी शामिल है। ब्रोकोली को एक सुपरफूड माना है। अध्ययनों से पता चलता कि ब्रोकली टाइप 2 के डायबिटीज में इंसुलिन प्रतिरोध को कम कर सकती है। क्या आपको पता है ब्रोकली आपको प्रोस्टेट कैंसर सहित कई प्रकार के कैंसर से भी बचती है।

खीरा: हमें से ज्यादातर लोग खीरा को सलाद के रूप पर खाना पसंद करते है खीरा किसी भी सलाद को ताज़ा और पौष्टिक बना देता हैं। क्या आपको पता है अगर आप 100 ग्राम खीरे को छील कर कहते है तो इससे आपको केवल 2.16 ग्राम कार्ब्स मिलता है लेकिन और आप वही 100 ग्राम खीरे को बिना छिले खायेगे तो इससे आपको 3.63 ग्राम कार्ब मिलता है। खीरा आपके शरीर को हाइड्रेटेड रखने में मदद करता है।

पालक: पालक एक पत्तेदार हरी सब्जी है। पालक से हमें कितने स्वास्थ्य लाभ मिलते है ये शायद हमें आपको बताने की जरूरत नहीं है। अध्ययनों से पता चलता है कि पालक डीएनए को होने वाले डैमेज को कम करने में हमारी मदद कर सकता है। साथ ही साथ यह हमारे हृदय स्वास्थ्य को भी बूस्ट करने में हमारी मदद करता है। मोतियाबिंद और मैक्यूलर डिजनरेशन जैसे आंखों से जुड़ी समस्याओं के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
सेहत

Benefits of black coffee: मेमोरी बढ़ाने से लेकर डायबिटीज तक में बेहद फायदेमंद है ब्लैक कॉफी

Benefits of black coffee: जाने ब्‍लैक कॉफी के अद्भुत फायदे


Benefits of black coffee: कॉफी और चाय ये दो ऐसी चीजें है जिसके शौकीन लोग आपको अपने आस पास जरूर मिल जायेगे। क्या आपको पता है कॉफी दुनिया में सबसे ज्यादा पसंद की जाने वाले ड्रिंक में से एक है। आज हम आपको कॉफी के बारे में जो चीजें बताने जा रहे हैं उसे सुन कर कॉफी पीने के शौकीन लोग बेहद खुश हो जायेगे। कॉफी सिर्फ हमें स्वाद और एनर्जी देने का काम नहीं करती है बल्कि इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट हमें कई सारी गंभीर बीमारियों से निजात दिलाती है। साथ ही साथ ये हमें संक्रमण से भी दूर रखने में भी मदद करती है। अगर आप भी कॉफी लवर है तो आप ब्लैक कॉफी का सेवन कर सकते हैं। ये आपको हेल्दी रखने के साथ साथ कई सारी बीमारियों से भी बचाती है। ब्लैक कॉफी में कैलोरी की मात्रा बहुत कम होती है। जिसके कारण आपको अपने वजन को कंट्रोल करने में मदद मिलती है। तो चलिए जानते है कॉफी के ऐसी और भी फायदे:

पेट संबंधी समस्याएं: क्या आपको पता है ब्लैक कॉफी हमारे पेट के लिए काफी ज्यादा लाभदायक मानी जाती है। अगर आप बगैर चीनी के ब्लैक कॉफी का सेवन करते हैं तो ये हमारे पेट से जुड़ी कई समस्याओं के लिए लाभदायक मानी जाती है। क्या आपको पता है ब्लैक कॉफी के सेवन से शरीर के खराब टॉक्सिन्स और बैक्टीरिया बाहर निकल जाते है जिसे हमारे पेट में गैस, कब्ज जैसी समस्याएं नहीं होती।

 

और पढ़ें: जाने क्यों डायबिटीज रोगियों के लिए अमरूद के पत्तों की चाय बेहद फायदेमंद मानी जाती है

Image source – Canva

वजन घटाएं: अगर आप अपना वजन कम करना चाहते हैं तो आपके लिए ब्लैक कॉफी का सेवन बेस्ट ऑप्शन है। क्योंकि ब्लैक कॉफी में कैलोरी की मात्रा बहुत कम होती है। जिसे हम बहुत तेजी से अपना वजन कम कर सकते है।

मेटाबॉलिज्म बढ़ाने में मदद: कॉफी में भरपूर मात्रा में कैफीन पाया जाता है, जो हमारे मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने में काफी ज्यादा मददगार होता है। साथ ही साथ ये हमारी एनर्जी को भी बूस्ट करता है। ब्लैक कॉफी आपको दिनभर एनर्जेटिक और तरोताजा महसूस कराने में मदद कर सकती है।

डायबिटीज: आज के समय में बहुत सारे लोग डायबिटीज से प्रभावित होते है। साथ ही साथ आपको ये भी बता दे कि इससे कई सारी स्वास्थ्य संबधित बीमारियां होने का खतरा भी रहता है। लेकिन ब्लैक कॉफी के सेवन से आप डायबिटीज को ही नियंत्रण कर सकते है।

मेमोरी: क्या आपको पता है ब्लैक कॉफी दिमाग को शांत कर मेमोरी पॉवर को बढ़ाने में मदद करती है। साथ ही साथ ब्लैक कॉफी के सेवन से नेर्वेस एक्टिव रहती है। जो हमें पागलपन की समस्या से बचाने में मदद करती है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
सेहत

अगर करना चाहते है अपने वजन को कंट्रोल, तो अपनी डाइट में शामिल करें ब्राउन राइस

जाने ब्राउन राइस को डाइट में शामिल करने के फायदे


आज के समय में आपको अपने आस पास दो तरह के लोग मिल जायेगे, एक वो जिन्हे खाने की चीजे बेहद पसंद होती है वो इतने बड़े फूडी होते है कि वो कितना भी और बाहर कही से भी खा लेते हैं और दूसरी तरफ वो लोग होते है जो अपनी डाइट को लेकर बहुत ज्यादा कॉन्शियस होते हैं वो कुछ भी खाने पीने से पहले सोचते हैं. अगर आप भी हेल्थ कॉन्शियस की लिस्ट में आते है जो घंटों जिम में पसीना बहाते है तो आपको सबसे पहले अपनी डाइट पर ध्यान रखना चाहिए.  आपको जितना हो सके वसायुक्त और कार्बोहाइड्रेट से भरपूर खाना नहीं खाना चाहिए और अगर कभी आपको खाना भी पड़ जाये तो आपको दूसरे दिन जिम में उतना ही पसीना बहाना चाहिए.  इससे आपके लिए आपका वेट कंट्रोल करना आसान होगा. दूसरा अगर आपको खाने में चावल पसंद है तो आपको वाइट राइस की जगह अपनी डाइट में ब्राउन राइस शामिल करना चाहिए. तो चलिए आज हम आपको डाइट में ब्राउन राइस शामिल करने के फायदों के बारे में बतायेगे.

 

जाने ब्राउन राइस के फायदे

 

1.       वजन घटाने में मददगार: ब्राउन राइस में वाइट राइस की तुलना में कैलोरी कम होती है. लेकिन ब्राउन राइस में फाइबर की मात्रा भरपूर होती है. जो हमारे मेटाबॉलिजम को बेहतर बनाने में हमारी मदद करता है. अगर आप वजन घटाने की सोच रहे है तो आप अपनी डाइट में ब्राउन राइस शामिल कर सकते हैं.

 

और पढ़ें: इम्यूनिटी बढ़ाने के चक्र में न ले जरूरत से ज्यादा विटामिन-सी, वरना झेलने पड़ेगे ये साइड इफेक्ट

 

2.       कोलेस्ट्रॉल लेवल कम करना: ये बात तो हम सभी लोग जानते है कि कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ने से व्यक्ति में दिल से जुड़ी बीमारियों के होने की आशंका काफी ज्यादा बढ़ जाती है और ब्राउन राइस हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने में हमारी मदद करता है क्योंकि ब्राउन राइस धमनियों को ब्लॉक नहीं होने देता हैं जिसके कारण आपको दिल से जुड़ी
बीमारियों के होने का खतरा कम हो जाता है.

 

3.       डायबिटीज: जैसा की हम सभी लोग जानते है कि डायबिटीज होने के बाद व्यक्ति के शरीर में बहुत सारी बीमारियां होने लगती है. लेकिन अगर आपको लगता है कि आपके अंदर डायबिटीज की शिकायत आ रही है तो आप अपनी डाइट में ब्राउन राइस को शामिल कर लेना चाहिए है.  ब्राउन राइस डायबिटीज के खतरा को कम करने के साथ ही साथ ब्लड शुगर लेवल को बढ़ने से भी रोकता है.

 

4. हड्डियों की मजबूती: क्या आपको पता है ब्राउन राइस में फाइबर की भरपूर मात्रा होने के साथ-साथ इसमें मैग्नीशियम की भी अच्छी मात्रा पायी जाती है. जो हड्डियों के लिए एक आवश्यक तत्व है.

 

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
सेहत

ज्यादा अंडे का सेवन आपको बना सकता है डायबिटीज का मरीज

चीन में 11 फीसदी लोगों को है डायबिटीज


ठंड आते ही अंडे खाने का सिलसिला थोड़ा ज्यादा हो जाता है. कुछ लोग ऐसे हैं जो रोजाना जरुरत से ज्यादा अंडा खाने लग जाते हैं. उन्हें लगता है अंडा खाने से ठंड कम लगेगी शरीर स्वास्थ्य रहेगा. लेकिन आपको पता है अंडे का ज्यादा सेवन आपके शरीर को नुकसान पहुंच सकता है. तो चलिए आज आपको हमलोग बताएंगे कि अंडा आपकी सेहत के लिए कितना नुकसानदेह है.

अध्यन का दावा

हाल ही में चायना मेडिकल यूनिर्वसिटी और कतर यूनिर्वसिटी के अध्ययन में ऐसा पाया गया है कि अंडे खाने की अति  शरीर को नुकसान पहुंचाती है. अत्यधिक मात्रा में अंडे का सेवन टाइप-2 डायबिटीय का कारण बन जाता है.  1991 से 2009 के बीच 2 हजार चाइनीज वयस्कों के बीच एक शोध किया गया था. जिसमें सभी प्रतिभागियों पर नियमित रुप से अंडे के सेवन को नापा गया. जिसमें पाया गया कि अत्यधिक अंडा खाने वालों में टाइप-2 डायबिटीज का खतरा 60 फीसदी तक बढ़ जाता है. जिसका सीधा असर आम आदमी की जिदंगी पर पड़ता है. आपको बता दें चीन में 11 फीसदी लोग डायबिटीज से जूझ रहे हैं. जो वैश्विक स्तर पर भी बहुत ज्यादा है. जिसके कारण डायबिटीज के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए खानपान से संबंधित चीजों का पता लगना बेहद जरुरी है.

और पढ़ें: जानें ज्यादा दूध पीना आपके शरीर को कितना नुकसान पहुंच सकता है

देर तक सोना बन सकता है डायबिटीज का कारण

डायबिटीज कई कारणों से होता है. लिसेस्टर और साउथ ऑस्ट्रेलिया के शोधकर्ताओं ने हाल ही एक अध्यन में दावा किया है कि रात में देरी से सोने और सुबह देरी से उठने वाले लोगों में शारीरिक सक्रियता का स्तर बेहद कम रहता है. जिसके कारण ऐसे लोगों में टाइप-2 डायबिटीज का खतरा  बना रहता है.

इस शोध में शामिल मुख्य शोधकर्ता जोसेफ हेनसम के मुताबिक “नाइट आउल्स” सुबह जल्द उठने वाले लोगों में 56 फीसदी लोग कम व्यायाम करते हैं. जिसके कारण उनका ब्लड शुगर , वजन और रक्तचाप भी सामान्य से अधिक होता है. लंबे समय तक सोने-उठने की आदत में सुधार न करने पर डायबिटीज और ब्लड प्रेशर का खतरा बना रहता है. इसलिए जरुरी है इन सभी आदतों को जल्द से जल्द बदला जाए ताकि आप सुरक्षित जीवन जी सके.

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
सेहत

डायबिटीज के पेशेंट को अपनी डाइट में शामिल करनी चाहिए ये सभी चीजे 

ये 5 आटे बेस्ट है डायबिटीज पेशेंट के लिए


डायबिटीज के रोगियों को अपनी डाइट का खास ध्यान रखना पड़ता है। इसलिए डायबिटीज में डॉक्टर ऐसी चीजों का सेवन करने की सलाह देते है जो बॉडी से ब्लड शुगर लेवल को कम करता है। डायबिटीज के पेशेंट के लिए आटे का चुनाव करना मुश्किल होता है। क्योंकि रोटी हमारी दैनिक खाने की चीजों में से एक है। ऐसे में ये काफी महत्व पूर्ण हो जाता है कि डायबिटीज डाइट का खास ध्यान रखा जाए। डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए ब्लड शुगर लेवल को मैनेज करना जरूरी होता है। इसलिए आपको डायबिटीज के पेसेंट की डाइट खास ख्याल रखना चाहिए। चलिए आज हम आपको बताते है कि कौन सा आटा बेस्ट है डायबिटीज पेसेंट के लिए।

कुट्टू का आटा: डायबिटीज के मरीज को डॉक्टर भी कुट्टू के आटा का सेवन करने की सलाह देते है। डायबिटीज के पेशेंट के लिए कुट्टू का आटा एक शानदार विकल्प होता है। कई अध्ययनों से ये बात साफ़ हुई है कि अगर डायबिटीज के रोगी कुट्टू के आटे को अपनी डाइट में शामिल करते है तो उनके ब्लड शुगर लेवल को मैनेज करने में मदद मिलती है। इसलिए डायबिटीज में कुट्टे के आटे का सेवन किया जा सकता है।

बेसन: वैसे तो हम सभी लोग बेसन का इस्तेमाल पकौड़े बनाने में लिए करते है। लेकिन अगर डायबिटीज के पेशेंट को बेसन की रोटियों का सेवन करवाया जाए तो उससे रोगी के ब्लड शुगर लेवल पर अच्छा प्रभाव पड़ता है। बेसन चने को पीसकर तैयार किया जाता है। इसलिए बेसन में प्रोटीन और फाइबर भरपूर मात्रा में होता है।

और पढ़ें: 5 हेल्थ टिप्स जो हर महिला को बढ़ती उम्र के साथ फॉलो करने जाहिए 

जौ का आटा: जौ का आटा डायबिटीज पेशेंट के लिए काफी फायदेमंद होता है जौ के आटे से डायबिटीज में ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल में रखा जा सकता है। इतना ही नहीं, जौ का आटा मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने के लिए काफी असरदार होता है।

रागी का आटा: रागी का आटा स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छा माना जाता है। साथ ही रागी का आटा डायबिटीज से लड़ने में भी हमारी मदद करता है। रागी का आटा फाइबर के गुणों से भरपूर होता है जो कि हमारी डायबिटीज में पाचन तंत्र को मजबूत करने में हमारी सहायता करता है।

राजगिरा का आटा: राजगिरा का आटा डायबिटीज पेशेंट के लिए काफी फायदेमंद होता है साथ ही इसमें पोषक तत्वों भरपूर मात्रा में होते है। राजगिरा के आटे में प्रोटीन, खनिज, विटामिन, और लिपिड जैसे पोषक तत्व अच्छी मात्रा में पाए जाते है। साथ ही इससे ब्लड शुगर लेवल भी कंट्रोल में रहता है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com