Categories
लाइफस्टाइल सेहत

गर्मी में सत्तू खाने के फायदे (Health Tips)

जाने क्या लाभ है गर्मियों मे  सत्तू खाने के


 गर्मियों मे सत्तू का सेवन स्वास्थय के लिए काफी फ़ायदेमंद माना जाता है. ऐसा कहा जाता है की सत्तू पीने से शरीर को काफी फायदा मिलता है. सत्तू मुख्य रूप से चने की दाल ,गेहूँ  और अन्य खाद्य आहारों को मिलाकर उन्हे धीमी आग मे भूनकर तैयार किया जाता है. इस भुने हुए मिश्रण को पीसकर सत्तू तैयार किया जाता है. यह मुख्य  रूप से गर्मी मे इसलिए  खाया जाता है क्योकि इसमे शीतलता का प्रभाव होता है. इसके साथ ही पाचन को स्वस्थ रखने मे मदद करता है.

सत्तू खाने के फायदे

ये त्वचा के लिए  काफी फ़ायदेमंद होता है. हर रोज़ सत्तू पीने से त्वचा हाइड्रेट रहती है और नई कोशिकाओं को बनने मे मदद मिलती है.

लंबे, घने, और सुन्दर काले बालो के लिए सत्तू लाभदायक है. कई बार पोषक तत्वों की कमी की वजह से बाल पतले हो जाते है , झड़ने लगते है और असमय सफ़ेद हो जाते है. सत्तू मे  मौजूद  प्रोटीन , विटामिन और एंटीऑक्सीडेंट की कमी को  पूरा कर देते है.

यहाँ भी पढ़े : अब घर बैठे गर्मी में ले आइसक्रीम के मज़े

बुजुर्ग लोगो के लिए सत्तू अमृत के सामान माना जाता है बढ़ती उम्र के साथ व्यक्ति को कई बीमारियाँ घेर लेती है जिनमे ख़राब पाचन, पेट फूलना , कब्ज़, एसिडिटी और दिल से जुडी बीमारियाँ होती है और ऐसे समय मे सत्तू काफी लाभदायक होता है.

डायबिटीज़ और ब्लड प्रेशर के मरीज़ो के लिए सत्तू वरदान है सत्तू शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है  और ब्लड प्रेशर को कंट्रोल मे रखता है.

महिलाओ के लिए सत्तू प्राकृतिक उपचार की तरह होता है जो की गर्भावस्था और मासिक धर्म के लिए फ़ायदेमंद होता है. गर्भावस्था और मासिक धर्म के दौरान महिलाये कमज़ोर महसूस करती है इन परिस्थितियों मे सत्तू का सेवन किया जाना चाहिए क्योकि ये  शरीर  द्वारा खोए हुए पोषक तत्वों को भरने मे मदद करता है.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
स्वादिष्ट पकवान

रेसिपी वही, स्वाद नया(दाल की पकोड़ी)

ऐसे बनायें ये नयी तरह की दाल की पकोड़ी


लगभग सभी के घर में दाल की पकोड़ी बनायी जाती है क्योंकि यह एक बहुत पुरानी और आसानी से बनने वाली सब्ज़ी है। यह बनाने में जितनी आसान है उतनी ही स्वादिष्ट भी है। इसकी ख़ासियत यह है की इसे रोटी पराँठे और चावल के साथ खाया जा सकता है। और साथ ही साथ आप इसे स्नैक्स में भी खा सकते हैं।

आवश्यक सामग्री:-

  1. 1 कप बिना छिलके वाली मूँग की दाल
  2. 3 टमाटर
  3. 1 प्याज़
  4. 2 हरी मिर्च
  5. 3-4 कली लहसुन
  6. अदरक का टुकड़ा
  7. सोया सॉस
  8. ज़ीरा
  9. धनिया पत्ती
  10. हींग
  11. गरम मसाला, हल्दी, नमक, मिर्च आवश्यकता अनुसार
दाल की पकोड़ी

यहाँ पढ़ें : ओट्स भुर्जी, स्वाद भी सेहत भी…

विधि:-

  1. पूरी रात दाल को भिगोकर रखें और सुबह हल्के नमक के साथ पीस लें।
  2. टमाटर को ग्राइंडर में डालकर पीस लें।
  3. हरी मिर्च, अदरक, लहसुन, और प्याज़ का पेस्ट बनाकर रख लें।
  4. कढ़ाई में तेल गरम करें और दाल के पेस्ट से छोटी छोटी पकोड़ी बना लें।
  5. पहले से ही एक बर्तन में पानी गरम(गुनगुना) कर के रख लें। इसमें थोड़ा नमक और एक चुटकी हींग मिला लें।
  6. पकोड़ियों को तलने के बाद इस पानी में 1-2 मिनट के लिए डाल दें।
  7. फ़्राइइंग पैन में थोड़ा तेल गरम करे और इसमें थोड़ा ज़ीरा डाल दें। जब ज़ीरा चटकने लगे तब इसमें प्याज़ वाले पेस्ट को दाल दें और मसाले के तेल छोड़ने पर हल्दी,मिर्च,गरम मसाला डाल दें।
  8. इसके बाद टमाटर का पेस्ट डाल दें और सोया सॉस डालकर अच्छे से मिक्स कर लें।
  9. पेस्ट के भुन जाने के बाद पानी से पकोड़ियों को हल्के हाथ से निचोड़कर इस मिश्रण में डालें।
  10. स्वादानुसार नमक डालने 2-3 मिनट तक मंदी आँच पर पका लें।
  11. इसे सर्विंग बाउल में डालकर धनिए पत्ती से सजा लें। गरम गरम दाल की पकोड़ी तैयार हैं।

विशेष: यदि आपको खट्टा मीठा स्वाद पैंज़ है तो पेस्ट में 2 चम्मच फ़्रेश और टमेटो केचप भी डाल लें।

इसे आप लंच और डिनर में खा सकते हैं। आप इसे अपने बच्चों को लंच में दे सकते हैं। क्योंकि इसका स्वाद अनोखा है तो यह बच्चों को बहुत पसंद आएगी। दाल से मिलने वाले पोषक तत्व विशेषकर प्रोटीन भी यह आपके घर कि सदस्यों को प्रदान करेगी।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in