Categories
मनोरंजन

Neeti Mohan Birthday: अपने सुरो से सभी का मन मोहने वाली नीति मोहन का है आज 40 वा जन्मदिन

Neeti Mohan Birthday: सिर्फ हिंदी में ही नहीं इन भाषाओ में भी दे चुकी है निति अपनी आवाज़


Neeti Mohan Birthday: बॉलीवुड की बेहतरीन सिंगर्स में से एक जिन्होंने अपनी क्यूटनेस से ही नहीं अपनी सुरो से भी सभी का मन मोह रखा है। जी हाँ, हम बात कर रहे है निति  मोहन की जिन्होंने कई फिल्मो में जाने माने सितारों को अपनी आवाज़ दी है। उनके द्वारा गाये गए गाने सभी फैन्स द्वारा काफी पसंद किया जाता है। नीति मोहन एक बेहतरीन भारतीय सिंगर। निति ने सिर्फ बॉलीवुड में ही नहीं बल्कि , तमिल , तेलगु , कन्नड़ , बंगाली , मराठी , पंजाबी और इंग्लिश फिल्मो में भी अपनी आवाज़ दी है। इसलिए आज उनके जन्मदिन पर हम जानेंगे उनके द्वारा गाये गए बेस्ट 5 सांग्स।

जाने नीति  के बेस्ट 5 सांग्स के बारे में जिसने फैन्स को बना  दिया अपना दीवाना :

1. इश्क़ वाला लव 

यह सॉन्ग 2012 में आयी फिल्म स्टूडेंट ऑफ़ दी ईयर का है। यह गाना काफी रोमांटिक है और यह फैंस द्वारा भी काफी पसंद किया गया था।

2. जिया रे 

यह सॉन्ग 2012 में आई फिल्म जब तक है जान का है। इस गाने में अनुष्का शर्मा है जिन्हे अपनी आवाज़ निति मोहन ने दी है।

3. तुम्हे अपना बनाने की 

यह सॉन्ग 2015  में आयी फिल्म  हेट स्टोरी 3 का है। इस गाने को यू ट्यूब पर फैन्स द्वारा काफी पसंद किया गया है।
यहाँ पढ़ेनेहा भसीन के वो 5 रोमांटिक सॉन्ग जिसके आज भी दीवाने है लोग

4.  फकीरा 

यह सॉन्ग 2019 में आयी फिल्म स्टूडेंट ऑफ़ दी ईयर 2  का है।  इस गाने में टाइगर श्रॉफ और अनन्या पांडेय की केमिस्ट्री काफी अच्छी है।

5. किथे रह गया 

यह एक सांग एल्बम है जिसे नीति ने गाया है और इस गाने को फैन्स द्वारा काफी पसंद किया गया

बात करे अगर पर्सनल लाइफ की तो  नीति मोहन ने निहार पांड्या के साथ 15 फरवरी को हैदराबाद में एक-दूजे संग सात फेरे ल‍िए. यह शादी पूरे पारंपर‍िक अंदाज में हुई।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
बिना श्रेणी

यह है वो 5 महान हस्तियाँ जिन्होंने विफलता से सफलता तक किया सफर तय

जाने इन 5 हस्तियों के बारे में जिन्होंने अपने क्षेत्र में कमाया नाम


हार मानो नहीं तो कोशिश बेकार नहीं होती
कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती

इतिहास में ऐसे कई दिग्गज लोग है जिन्होंने इस मुकाम को पाने से पहले एक नाकाम इंसान थे, लेकिन उन्होने हिम्मत नहीं हारी । तो चलिऐ हम अब आपको उन दिग्गजों के बारे में बताते है जिन्होने अपनी नाकामी से हार माने के बजाय उससे सिख ली और एक अलग मुकाम पाया।

1. अब्राहम लिंकन:

छोटे से गांव का एक साधारण सा युवक था। उसके पास ना पहनने के लिऐ कपड़े थे और ना ही रहने के लिऐ छत अब ऐसे में पड़ाई कैसे करे ये भी एक सवाल था। एक दिन वह उदास मन लिए सड़क के किनारे खड़ा हुआ था। उसने देखा की एक व्यक्ति को ढ़ेर सारा समान लिऐ अपने सर पर ले कर जा रहा था। चलते-चलते वो किसी चिज़ से टकरा गया और उसका सारा समान नीचे गिर गया। ये देख कर युवक ने उसकी मदद कर दी।फिर उस व्यक्ति ने उस युवक को भेंट के रूप में कुछ पैसे दे दिया। फिर उस युवक ने उसे पैसे से अपने लिऐ पुस्तकें लिऐं। इस प्रकार उसने परिश्र्म कर के अपनी पढ़ाई पूरी की और आगे जा कर ये युवक अमेरिका के सबसे पसंदीदा और लोकप्रिय राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन बना।

2. ऐल्बर्ट आइंस्टाइन

महान वैज्ञानिक ऐल्बर्ट आइंस्टाइन कोई भी काम करते थे उस काम में खो जाते थे। एक बार वो अपने लैब में काम कर रहे थे, तो उनकी पत्नी उनको काम में इतना खोया हुआ देख कर उनके खाना टेबल पर रख कर चली गई। उस लैब में आइंस्टाइन के साथ- साथ उनका अस्सिटेंट भी काम कर रहा था। खाने को देख कर उससे भूख लग गई और उसने अपने खाने के साथ- साथ उनका खाना भी खा लिया और जब आइंस्टाइन अपने काम से फ्री हुए तो उनकी नज़र टेबल पर गई तो उधर खाना ना देख कर उन्हे लगा की उन्होने खाना खा लिया है तो वो पानी पी कर अपने काम में फिर से खोगऐ। उनके सभी सहयोगी उनके काम के प्रति लगन को देखकर नक्मस्तक हो गए।

3. चार्ली चैप्लिन

जो इंसान रोते हुऐ इंसान को हस्ने पर मजबुर कर देता था वो थे चार्ली चैप्लिन। मगर उनका खुद का जीवन काफी दुख और गरीबी में गुज़रा। कहा तो ऐसा भी जाता है की पैसों के लिऐ उन्होने दुसरो के झूठे बर्तन भी धोऐ है।चार्ली के घर की हालत अच्छी नही थी, तो वो खुद ही निकल पड़े पैसे कमाने। मगर जैसे-जैसे वक्त गुज़रता रहा, मुशकिलें बड़ती गई। अपना गुज़ारा करने के लिऐ उन्होंने शराबखानों के बाहर फूल बैचे और वेटर का काम भी किया। चार्ली हमेशा से ही एक्टिंग करना चाहते थे पर उनहे पढ़ा नही आता था। उसके बाद उन्होने एक नाटक ई हैमिल्टन में काम करने का मौका मिला तो उन्होंने पूरी स्क्रिप्ट रट डाली थी। शायद चार्ली को नही पता था की उनका ये करिदार उन्हे कितना मशहूर होने वाले है और शेरलॉक होम्स में एक्टिंग करके चार्ली सबके दिलों पर छा गए। वहा से चार्ली की दुनीया ही बदल गई और हम सब को मिल गऐ चार्ली चैप्लिन।

और पढ़ें: कितना आसान है शीर्षासन करना और ये कैसे रखता हैं आपके मसल्स को मजबूत?

4. कर्नल हरलैंड सांडर्स:

कफ्स के फ्राइड चिकन के ज़ायके से तो बहुत लोग वाकिफ़ है. लेकिन इस ज़ायके पीछे जो संघर्ष की कहानी छुपी हुई है, उसके बारे में बहुत ही कम लोगों को जानकारी है। कर्नल हरलैंड सैंडर्स ने कई उतार-चढ़ाव देखे और कई प्रकार की मुसीबतों का सामना किया। लेकिन कभी भी मुश्किलों के सामने हार नहीं मानी और 65 वर्ष की आयु में सफलता की वो मिसाल कायम की। फिर अपने जीवन को बिताने के लिऐ उन्होने अपनी फ्राइड चिकन की रेसिपी को दुनीया के सामने लाने का विचार किया। उसके बाद उन्होने केंटकी फ्राइड चिकन के नाम से फ्रैंचाइज़ी बेचना शुरू कर दिया। काफी मशकत के बाद एक रेस्टोरेंट ने फ्रैंचाइज़ी ली और उसके बाद फ्राइड चिकन की बड़ी तेज़ी से विर्धि होई और बाकी रेस्टुरेंट ने भी इसकी फ्रैंचाइज़ी लेली औरक तब हम सबको मिला हमारा KFC या बोले Kentucky Fried Chicken

5. हेनरी फोर्ड:

‘विफलता बस फिर से शूरू करने का अवसर है, इस बार अधिक समझदारी से’। फोर्ड कंपनी का नाम उसके संस्थापक हेनरी फोर्ड के नाम पर रखा है। ये कंपनी अमेरिका की फैमस कंपनी है। उनकी करियर की शुरुआत ही विफलता से ही हुई थी । उनकी पहली दो कंपनी शुरू होने से पहले ही खत्म हो गयी थी। उसके बाद उन्होने अपनी कंपनी “फोर्ड मोटर्स” खोली। वे मोटरकार बनाने में असेंबली लाइन का प्रयोग करने वाले सबसे पहले उद्योगपति थे जिन्होंने कार उद्योग में क्रांति ला दी थी।

तो ये थे वो कुछ लोग जिनके जीवन में सफलता ने दस्तक तो दिया पर लाख विफलता के बाद, मगर उन्होने हिम्मत नही छोड़ी और मैहनत करते रहे और आज दुनीया इन सब का नांम अलग तरीके से लेती है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
मनोरंजन

Happy Birthday Amitabh Bachchan : जंजीर मे इंस्पेक्टर का किरदार निभा कर कैसे बन गए Big b सदी के महानायक?

Happy Birthday Amitabh Bachchan देश के शेनशाह ने कैसे शुरू  किया था अपना फिल्मी सफर?


11 अक्टूबर को है बॉलीवुड के बिग बी यानी अमिताभ बच्चन का 77 वा  जन्मदिन।  अमिताभ बच्चन के लिए यह जन्मदिन बेहद ही ख़ास है क्योंकि इस साल ही उन्हें  दादा साहेब फाल्के अवार्ड से पहली बार नवाज़ा गया है। अमिताभ बच्चन बॉलीवुड के सबसे बेहतरीन अभिनेता है जो सिर्फ 80   दशक  के ही नहीं बल्कि आज के स्टार्स   के साथ  भी अपने किरदार बाखूभी निभा लेते है।

ऐसा रहा अमिताभ  बच्चन का जीरो से हीरो बनने तक का सफर

सब जानते है की 70 -80 दशक के अभिनेता अमिताभ बच्चन आज जिस मुकाम पर है वहां तक पहुंचने के लिए लोगो को सालों लग जाते है। लेकिन एक दौर ऐसा भी था जब अमिताभ एक्टिंग को लेकर फैन्स के नज़र में जीरो थे लेकिन कहते है न जब किस्मत चमकती है तो आपको सफलता की ओर बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता। जी हाँ, एक समय ऐसा था जब फैन्स विनोद खन्ना और राजेश खन्ना जैसे एक्टर्स को देखना पसंद करते थे लेकिन विनोद खन्ना के सन्यास लेने से अमिताभ को वो मौका मिला और उनकी किस्मत चमकी।विनोद खन्ना के संन्यास लेने के बाद अमिताभ ने परदे पर कई सारी हिट फिल्मे देनी शुरू कर दी थी ।

संघर्ष भरा  रहा है  अमिताभ बच्चन  का करियर

अमिताभ बच्चन का करियर  सफर काफी संघर्ष  भरा  रहा है। एक सफल अभिनेता बनने से पहले अमिताभ ने कई छोटे विज्ञापन में भी काम किये। अपने संघर्ष के दिनों में अमिताभ को मॉडलिंग के लिए ऑफर मिल रहे थे, लेकिन इस काम में उनकी कोई रुचि नहीं थी। जलाल आगा ने एक विज्ञापन कंपनी खोल रखी थी जो भारती के लिए विज्ञापन बनाती थी। जलाल, अमिताभ को वर्ली के एक छोटे से रेकॉर्डिंग सेंटर में ले जाते थे और एक-दो मिनट के विज्ञापनों में वे अमिताभ की आवाज का उपयोग किया करते थे। प्रति प्रोग्राम पचास रुपए मिल जाते थे। अमिताभ ने इस तरह कई बार रातभर खुले रहने वाले कैम्पस कॉर्नर के रेस्टोरेंट में टोस्ट खाकर दिन गुजारे और सुबह फिर काम की खोज शुरू।

1973 में आयी फिल्म ‘जंजीर’ के सुपरहिट होने के पहले तक अमिताभ ने कई फिल्मों में काम किया  उनमें ‘बॉम्बे टू गोवा’, परवाना, आनंद, रेशमा और शेरा तथा ‘सात हिंदुस्तानी’ के अलावा प्यार की कहानी, बंसी-बिरजू, एक नजर, संजोग, रास्ते का पत्थर, गहरी चाल और बँधे हाथ नामक फिल्में भी थीं, जो बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह पिट गईं। फिल्म इंडस्ट्री में अमिताभ को ‘अपशकुनी’ हीरो माना जाने लगा।

लेकिन वही प्रकाश मेहरा और सलीम जावेद ने उन्हें फिल्म ‘जंजीर’ में रोल दिया जिसमे उन्होंने एक इंस्पेक्टर का किरदार निभाया और इस किरदार को फैन्स द्वारा इतना पसंद किया गया की अमिताभ का जादू सभी के दिलो पर चल गया  और उनकी सारी फिल्मे परदे  पर हिट होने  लगी। इसी तरह बिग बी का बॉलीवुड में नाम हो गया।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
राशिफल

साप्ताहिक राशिफल: 29th September-5th October    

साप्ताहिक राशिफल: 29th September-5th October


मेष: इस समय में पारिवारिक मामलों में आपकी भागीदारी खराब हो सकती है।किसी भी गड़बड़ी से बचे और सावधान रहे। आपकी सभी योजनाएँ सफल होंगी बस  धैर्य रखें। इस राशि के छात्रों के लिए यह समय अच्छा रहेगा।

वृष: जो लोग पार्टनर की तलाश में हैं,उनके लिए यह समय अच्छा है। कम से कम अपने परिवार और दोस्तों से झूठ बोलने से बचें। इस समय बाहर का खाना आपकी सेहत को नुक़सान पहुँचा  सकता है। छात्रों को अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए अधिक मेहनत करनी होगी।

मिथुन: सप्ताह की शुरुआत ठीक- ठाक होगी लेकिन सप्ताह के अंत तक आपको जीवन के कुछ महत्वपूर्ण चीज़ो में अंतर देखने को मिलेगा।माँ के लिए आपकी चिंता कम होगी। दोस्त और बड़े भाई-बहन आपकी  चिंता का कारण बन  सकते हैं।

कर्क: यह सप्ताह मे  छोटी यात्रा की उम्मीद की जा सकती है। आप इस अवधि में किसी नए रिश्ते में आ सकते हैं। आपके दुश्मन सक्रिय हो जाएंगे लेकिन वे आपको नुकसान नहीं पहुंचा पाएंगे। यह अवधि व्यवसायियों के लिए बहुत सहायक नहीं है।

सिंह: आपकी बातें आपके प्रियजनों के सामने आपकी छवि बिगाड़ सकती  है। इस समय किसी भी संवेदनशील मुद्दे के संबंध में अपनी बातचीत को विराम देना बेहतर है। आपके साथी के लिए आपका सम्मान अधिक होगा। आपके विचार अच्छे तरीके से काम करेंगे।

कन्या: मनमुटाव का मुद्दा आपको परेशान करेगा। लेकिन आपका व्यव्हार अच्छा रहेगा जो आपके शब्दों पर नियंत्रण रखेगा।माता का स्वास्थ्य चिंता का कारण हो सकता है। काम में आपको कई सारे बदलाव देखने को मिलेंगे।परिवार और दोस्तों के साथ आपका रिश्ता आपके सप्ताह का सबसे मजबूत हिस्सा होगा।

तुला: आपके पास इस समय कई सारे विचार होंगे जिनका प्रयोग आप करेंगे। इस समय आप ज्यादा पैसा खर्च कर सकते हैं। आप इस अवधि में किसी भी तीर्थ यात्रा की योजना बना सकते हैं। इस अवधि में किसी भी यात्रा को ना करना बेहतर है।

वृश्चिक: आपको इस अवधि में प्रभावशाली लोगों से मिलने का मौका मिलेगा। आपके पुराने मित्र भी आपके संपर्क में आ सकते हैं। “कमाने के साथ-साथ खर्च करने के कई तरीके” इस सप्ताह की टैग लाइन होगी।आपके शब्द किसी को बुरी तरह से परेशान कर सकते हैं।

धनु: यह समय आपके काम के लिए अच्छा है। लेकिन आपको संतान  सुख की कमी रहेगी। आप इस अवधि में संबंधों को लेकर बहुत संवेदनशील रहेंगे। अलगाव में होने से आपको बहुत खुशी मिलेगी। इस समय मैडिटेशन करे जो आपके अंदर के कॉन्फिडेंस को बढ़ाएगा ।

मकर: यह समय आपको काम में  वृद्धि के लिए अवसर प्राप्त करने का मौका देगी। आर्थिक रूप से, यह आपके लिए एक अच्छी अवधि है। इस अवधि में मित्र आपके लिए लाभदायक रहेंगे। यहां तक कि आपका बॉस भी सपोर्टिव होगा।

कुंभ: आपकी राय में मतभेद या दोस्तों के साथ कुछ समस्या हो सकती है। आपकी विरासत में मिली संपत्ति आपकी किसी भी रूप में मदद कर सकती  है। इस दौरान  लॉटरी या ऐसी किसी भी चीज में अपना हाथ आजमाना हानिकारक होगा। वकील, बैंकर या सलाहकार इस अवधि में लाभान्वित होंगे।

मीन:आपका मन विचारों से भरा रहेगा। अहंकार आपके विचारों का भी पालन करेगा। यह रवैया कुछ हद तक आपके विवाहित जीवन को प्रभावित करेगा। इस सप्ताह आपके साथी की अधिक मांग रहेगी। या तो धैर्य रखें और अपने साथी के सुझाव के साथ जाएं या बिना किसी कठोर तर्क के वापस जाएं। जीवन का बाकी क्षेत्र अच्छा रहेगा।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.com

Categories
राशिफल

साप्ताहिक राशिफल – 22 सितम्बर – 28 सितम्बर

मेष: इस समय आप किसी भी बहस में शामिल होने से बचे। जो स्पोर्ट्सपर्सन है वो इस अवधि में बेहतर प्रदर्शन करेंगे। छात्र, जो प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए प्रयास कर रहे हैं, उम्मीद से बेहतर प्रदर्शन करेंगे। इस सप्ताह कोर्ट या किसी भी तरह के कानूनी मसले से दूर रहें। आसपास के लोगों के साथ आपका व्यवहार अच्छा रहेगा।

वृषभ :मूर्खतापूर्ण निर्णय के लिए भी आपको भ्रम और दुविधा जैसी चीजों को सामना करना पड़ सकता है। स्वास्थ्य समस्या से बचने के लिए अपने आहार और दिन-प्रतिदिन के खाने की आदत के बारे में सख्त रहें। पैसा आपके जीवन में अपना रास्ता खुद बनाएगा । आप किसी नए रिश्ते में शामिल होंगे।

मिथुन: यह सप्ताह आपके जीवन शैली में घर की सजावट या किसी अन्य प्रकार के बदलाव के बारे में सोचने का कारण लाएगा। आपको आंतरिक रूप से खुशी और शांति की कमी महसूस होगी जिसे आप किसी के साथ साझा करना पसंद नहीं करेंगे। लोगो  से अलग  रहना और खुद को आत्मनिरीक्षण करना आपके आने वाले सप्ताह के एजेंडे में होगा।

कर्क: कुछ अग्रेसिव और एक्शन चीजे आपको इस समय व्यस्त रख सकती है। वैवाहिक जीवन में फूट आ सकती है। धीरे-धीरे इसे दूर करने के लिए स्थिति सही जगह पर आ जाएगी। कार्य स्थल या आसपास आपको विरोधियों का सामना करना पड़ सकता है,जिसमे जीत आपकी होगी। आपकी नियमित दिनचर्या में खर्च किसी न किसी वजह से होता रहेगा।

सिंह: आपका स्वभाव आपके बातों  में प्रियजनों के साथ रिफ्लेक्ट होता हुआ दिखेगा । आप अपने परिवार के सदस्यों को निर्देशित करने और नेतृत्व करने का प्रयास कर सकते हैं। स्थिति आपको परिवार के सदस्यों के बीच विवाद का अनुभव करवा सकती है। जीवन का वित्तीय क्षेत्र संतोषजनक रहेगा। आपके काम की तारीफ होगी। आपको इस समय जीवन की अपनी महत्वाकांक्षा तय करना मुश्किल होगा।

कन्या:  कई विचार, बुरे और अच्छे आपकी एकाग्रता को बिगाड़ सकते हैं लेकिन काम के प्रति आपका झुकाव अधिक होगा। आपकी सूची में स्वास्थ्य प्राथमिकता होगी। आपके कुछ कार्यों के कारण माँ प्रभावित हो सकती है। इस अवधि में अपने आप को प्यार और स्नेह से वंचित महसूस करने की संभावना है।

तुला: दोस्तो, रिश्तेदारों और परिवार पर पैसा खर्च होगा। आपका अपना परिवार का एक सदस्य आपका दुशमन बन सकता है , लेकिन आप जीत की स्थिति में होंगे। यात्रा सुखद के रूप में समाप्त नहीं होगी। पड़ोस के किसी व्यक्ति के साथ आपका रिश्ता अच्छा होगा , लेकिन यह लंबे समय तक नहीं चल पाएगा ।

वृश्चिक: आपकी योजना और रणनीति इस अवधि में वित्त या भावना के रूप में बदल जाएगी। इस अवधि में विभिन्न तबके के लोग आपके सामने आ सकते हैं। बच्चे आपके चेहरे पर मुस्कान देंगे। अज्ञात स्रोत से भी आपको आर्थिक लाभ हो सकता है। प्रियजनों से बात करते समय सावधान रहें।

धनु: आपके मन में ज्यादातर  नेगेटिव चीजे  आएंगी। अपने काम पर ध्यान देना कठिन होगा। आपको आसानी से सामना करने के लिए अधिक काम का तनाव होगा। आप अपने साथी के रवैये से खुश नहीं होंगे। आपको दान या मोक्ष की ओर अधिक झुकाव होगा। इस अवधि में आपका दांपत्य जीवन गड़बड़ा सकता है।

मकर: यह सप्ताह थोड़ा  अधिक प्रोडक्टिविटी  और पाजिटिविटी के साथ आगे बढ़ेगा।  कम आत्मविश्वास के बावजूद, आप यात्रा करने के लिए अपना रास्ता बनाएंगे और दूसरे लोग भी आपको फॉलो करेंगे। इस अवधि में संबंध सुधरेंगे। आप धार्मिक स्थान की यात्रा कर सकते हैं।

और पढ़ें: ब्रेकफास्ट में ब्रेड सैंडविच खाकर हो चुके है बोर तो ट्राई करे ब्रेड चार्ट

कुंभ : आपका सोचने का नज़रिया आपके दोस्तों को दुश्मन बना सकता है। आप अपने प्रियजनों से अधिक उम्मीद करेंगे, यह आपको दुखी होने का कारण देगा। इस अवधि में वित्तीय पहलू अच्छा रहेगा। इस राशि के छात्रों को बाधाओं के साथ अपना लक्ष्य मिलेगा। इस अवधि का सबसे अच्छा हिस्सा आपका दृढ़ स्किल होगा, जो आपके तरीके से दूसरों का मन बदल सकता है।

मीन :  आपका स्वभाव निश्चित रूप से इस अवधि में आपके वैवाहिक सुख को बिगाड़ने वाला है। आप अपनी बुद्धि से इस स्थिति का प्रबंधन करने में सक्षम होंगे। इस सप्ताह में माता-पिता चिंता का कारण हो सकते हैं।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
मनोरंजन

करियर में कई बार रिजेक्ट हो चुके है कसौटी के मिस्टर बजाज

डायरेक्टर्स ने करण सिंह ग्रोवर को कर दिया था कास्ट करने से इंकार


करण सिंह ग्रोवर टीवी  इंडस्ट्री का एक बड़ा नाम है जिसने अपनी एक्टिंग और कड़ी मेहनत से सभी मुकाम हासिल किया है। करण सिंह  टीवी शो के अलावा  कई फिल्मों में  नज़र आ चुके है। उनकी आखिरी फिल्म अलोन थी जिसमे वो पत्नी बिपाशा  बासु के साथ लीड रोल  में नज़र आये थे। उसके बाद करण ने टीवी शो से ही नहीं फिल्मो से भी ब्रेक ले लिया था।

वही फिर इन दिनों करण सिंह ग्रोवर टीवी के मोस्ट पॉपुलर शो कसौटी जिंदगी की 2 में मिस्टर बजाज के कैरेक्टर में नज़र आ रहे है। फीमेल फैन्स के बीच करण काफी पॉपुलर हैं जिसके चलते कसौटी जिंदगी की 2 की टीआरपी भी सबसे टॉप पर चल रही है।

डायरेक्टर्स कर चुके है करण सिंह ग्रोवर को कास्ट करने से इंकार

आपको बता दें कि करण की लुक्स, स्टाइल और उनकी अट्रैक्टिव फिजिक्स के लिए वो फैंस के बीच काफी मशहूर है। लेकिन हर सक्सेसफुल आदमी के पीछे उसकी कड़ी लगन और मेहनत छुपी होती है। जी हाँ, करण सिंह ग्रोवर के पास आज जो फ्रेम और शोहरत है उसको पाने के लिए उन्हे कई सारे रिजेक्शन का सामना भी करना पड़ा है। इस बात का खुलासा खुद करण ने किया है।

करियर के शुरुआती दिनों को लेकर करण ने बताया कि उन्होंने किस तरह स्ट्रगल किया है। एक इंटरव्यू के दौरान करण ने बताया कि उन्हें कई बार रिजेक्ट किया जा चुका है। इंड्स्ट्री में आना उनके लिए आसान नहीं था। उन्हें याद है कि जब वो टीवी शोज के ऑडिशंस के लिए जाते थे तो लोग उन्हें ये कहकर रिजेक्ट कर देते थे कि उनका चेहरा बहुत शार्प है। उन्हें मॉडलिंग में ट्राई करना चाहिए”। यही वजह थी की डायरेक्टर उन्हें कास्ट करने से इंकार कर देते थे लेकिन कड़ी मेहनत के बाद उन्हें उनका पहला शो मिला “कितनी मस्त हैं जिंदगी”। लेकिन करण ने शो “दिल मिल गए” से फैंस के दिलों में जगह बनाई और काफी मशहूर हुए।

करण ने सिर्फ सिर्फ टीवी शो या फिल्मों में ही नहीं मॉडलिंग में भी अलग छाप छोड़ी है। करण ने अपने करियर की शुरुआत मॉडलिंग से की जिसमे उन्हें मॉडल का अवॉर्ड से भी नवाज़ा गया है।

और पढ़ें: मानसी जोशी और पीवी सिंधु बनी युवाओं के लिए एक मिसाल

अपनी पर्सनल लाइफ को लेकर हो चुके है कई बार ट्रोल

एक समय था जब करण सिंह ग्रोवर कई बार अपने  नीजी जीवन को लेकर फैंस द्वारा ट्रोल हो चुके है। करण ने अपने निजी जीवन में तीन बार शादी की है जिसे लेकर वो काफी ट्रोल हुए है। उनकी पहली पत्नी श्रद्धा निगम थी जिसके साथ उनका रिश्ता महज एक साल चला उसके बाद उन्होंने श्रद्धा से तलाक ले लिया और टीवी एक्ट्रेस जेनिफर विंगेट से शादी कर ली। यह रिश्ता सिर्फ दो साल चला और फिर उनसे तलाक लेने के बाद करण ने बी-टाउन की एक्ट्रेस बिपाशा बासु से बंगाली अंदाज़ में शादी कर ली। इस शादी से करण काफी खुश है और अक्सर पत्नी  बिपाशा संग तस्वीरें सोशल मीडिया पर पोस्ट करते रहते है।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.com

Categories
बॉलीवुड

#successstoryofAyushmankhurana: क्यों मोटी आइब्रो के चलते रिजेक्ट हुए थे आयुष्मान खुराना ? 

विक्की डोनर से अंधाधुन तक आसान नहीं था सफर 
कहते हर सफल आदमी के पीछे एक औरत का हाथ होता है साथ ही उसकी लगन और मेहनत भी छुपी होती है. वही सिर्फ आम जीवन के लोग ही नहीं बॉलीवुड  के कुछ ऐसे एक्टर्स भी है जिन्होंने अपने जिंदगी में कई उतार- चढ़ाव देखे है. वैसे ही बॉलीवुड के मोस्ट हैंडसम और चार्मिंग पंजाबी एक्टर जिसके लोग सिर्फ आवाज़ के ही नहीं एक्टिंग के भी कायल है.जी हाँ, हम बात कर रहे है पंजाबी मुंडे आयुष्मान खुराना की. जो सिर्फ एक अच्छे  एक्टर ही नहीं एक अच्छे कवी , लेखक , गायक और अच्छे टीवी होस्ट भी है.

आयुष्मान खुराना बॉलीवुड का ऐसा चमकता सितारा है जिन्होंने इस मुकाम तक पहुँचने के लिए कड़ी मेहनत की है. एक समय ऐसा भी था जब एक टीवी शो में आने के बावजूद भी कोई यह नहीं जानता था की आयुष्मान खुराना है कौन. आज उन्होंने अपनी आवाज़ ,एक्टिंग और लेखिका से बॉलीवुड में एक ऐसी पहचान बना ली है की बच्चा- बच्चा भी आयुष्मान खुराना को जानता है.सबसे ख़ास बात यह है कि इस मुकाम पर पहुँचने  के बाद भी आयुष्मान आज भी उस जमीं से जुड़े है जहाँ से उन्होंने अपने करियर की शरुआत की थी.

आयुष्मान खुराना ने इस शो से की थी अपने करियर की शुरुआत जिसके बाद वो कही नहीं रुके

ज्यादातर लोग यह जानते है की आयुष्मान खुराना ने अपने करियर की शुरुआत 2012  में आयी फिल्म विक्की  डोनर से की थी जिस फिल्म को फैंस द्वारा काफी पसंद  भी किया गया था. हालाँकि उनका फिल्म  इंडस्ट्री  में पहला कदम था लेकिन उन्होंने अपने करियर की शुरुआत एक टीवी शो से की जब महज़ वो 17 साल के थे. इस दौरान उन्होंने शो “पॉपस्टार” से टीवी इंडस्ट्री में कदम रखा था और यहाँ से शुरू हुआ था आयुष्मान का अपने सपने को लेकर स्ट्रगल. इसके बाद आयुष्मान खुराना ने 2004 में आया एमटीवी पर शो रोडीज़ 2  में भाग लिया था जिसके वो विनर भी रहे  है.  साथ ही उन्होंने रेडियो स्टेशन में रेडियो जॉकी का काम भी किया.

2012  में अपने पहली फिल्म विक्की डोनर आने के बाद आयुष्मान खुराना कभी ठहरे नहीं . कठनाईयो के सामने करते हुए आयुष्मान ने कई फिल्मों  में काम किया जैसे-  2013 (नौटंकी साला) , 2014  (बेवकूफियाँ) , 2015 (हवाइज़ादा ) , 2015 ( दम लगा कर हईशा )इस फिल्म की काफी सरहाना भी की गयी वही फिर 2 साल के ब्रेक के बाद आयुष्मान ने 2017 में फिल्म मेरी प्यारी बिंदु से कमबैक किया.इस बीच उनके द्वारा गाए सांग अलबम  भी लांच हुए है जो फैंस द्वारा काफी पसंद किए गए.साथ ही 2017  में उनकी दो फिल्मे और आई बरैली की  बर्फी और शुभ मंगल सावधान .

बस 2018 से मानों आयुष्मान के लिए सक्सेस का रास्ता खुल गया. जी हाँ 2018 में आयी आयुष्मान की फिल्म “बधाई हो” जिसने बॉक्सऑफिस  पर ताबड़तोड़  कमाई  की  और 200  करोड़ का आकड़ा पार कर लिया. सिर्फ बधाई हो ने ही नहीं 2019 में आयी फिल्म “अंधाधुन” जिसने इसी साल ही नेशनल अवार्ड जीता है साथ ही पुरे विश्व में ताबड़तोड़ कमाई की.

एक समय पर अपनी मोटी आइब्रो को लेकर मिले कई सारे रिजेक्शन

आयुष्मान को बचपन से ही एक्टिंग का शौक था. जिसके लिए उन्होंने अपने पढ़ाई  पूरी होने के बाद कई सारे ऑडिशंस भी दिए.लेकिन वो कई रिमार्क्स  के चलते आये दिन रिजेक्ट होने लगे थे. इस रिजेक्शन का कारण था उनकी मोटी आइब्रो और उनका पंजाबी लहज़ा.लेकिन उन्होंने फिर भी हार नहीं मानी और ऑडिशंस दिए.

इन सभी अवार्ड्स से किये जा चुके सम्मानित

आयुष्मान खुराना को उनके काम को लेकर कई सारे अवार्ड्स से सम्मानित किया जा चुका है. 2012  में आयी फिल्म विक्की डोनर को लेकर उनको मोस्ट एंटरटेंनिंग का अवार्ड दिया जा चुका है. इसके अलावा उन्हें प्लेबैक सिंगर के लिए फ़िल्मफेयर अवार्ड्स से भी नवाज़ा गया है.साथ ही उन्हें 2018  में आयी फिल्म अंधाधुन को लेकर  बेस्ट एक्टर (क्रिटिक्स )के लिए फिल्मफेयर अवार्ड्स से भी सम्मानित  किया गया है. आयुष्म खुराना को उनके कई सांग एलबम्स  और कविताओं को लेकर भी अवार्ड्स दिए जा चुके है.

आपको बता दे की आयुष्मान ने चंडीगढ़ से मुंबई तक का सफर किस तरह से  तय किया था यह सब उन्होंने अपनी 2015 में आयी किताब “माय जर्नी टू बॉलीवुड ” में बताया है. इस किताब को खुद आयुष्मान खुराना ने लिखा है जिसमे उन्होंने अपने संघर्ष से लेकर सफलता तक का ज़िक्र किया है.

जल्द ही इन प्रोजेक्टस पर काम करेंगे आयुष्मान खुराना

आयुष्मान  खुराना की फिल्म ड्रीम गर्ल इसी साल 13 सितम्बर को रिलीज़ हो रही है. इसके अलावा आयुष्मान जल्द ही नए  प्रोजेक्ट पर भी काम करने वाले है जैसे फिल्म बाला जिसमे उनके साथ यामी गौतम और भूमि पेडनेकर नज़र आएँगी. साथ ही 2020  में आने वाली फिल्म गुलाबो सीताबो में भी नज़र  आएंगे जिसमें वो अमिताभ बच्चन के साथ काम करेंगे.

Read More:- ड्रीम गर्ल का दूसरा सॉन्ग हुआ रिलीज़, लड़की की आवाज़ में गाते नज़र आये आयुष्मान खुराना
Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.com
Categories
मनोरंजन

फिर सफलता का स्वाद नहीं चख पाए पुनीत 

पुनीत मल्होत्रा की स्टूडेंट ऑफ़ दी ईयर 2 फैंस  को आयी नापसंद 


हर साल बॉलीवुड में नए चेहरे लांच किये जाते है जिनकी एक्टिंग की फैंस सरहाना भी करते है और अच्छी न लगे तो नकारते भी है ऐसा ही हाल कुछ  डायरेक्टर्स और प्रोडूसर के साथ भी होता है जैसे हर साल एक्टर्स और एक्ट्रेस का डेब्यू होता है  उसी तरह नए डायरेक्टर्स को भी अपना टैलेंट दिखाने का मौका मिलता है.डायरेक्टर्स अपनी पूरी मेहनत झोकते है की फैंस को उनके द्वारा  बनाई   गयी फिल्म पसंद आये लेकिन ऐसा अक्सर हो जाता है की इतनी मेहनत के बाद भी आप फैंस की उम्मीद पर खरे नहीं उतर पाते.

जी हाँ, हम बात कर रहे है डायरेक्टर पुनीत मल्होत्रा की जिनकी हाल ही मे आई फिल्म’ स्टूडेंट ऑफ दी ईयर 2′ रिलीज़ हुई है.जिससे पुनीत को काफी उम्मीदें   थी की यह फिल्म सभी दर्शको को बेहद पसंद आएगी क्यूंकि यह फिल्म की आज के युथ को कनेक्ट करेगी ,लेकिन ऐसा नहीं हो पाया और दर्शको ने इस फिल्म को  नाकार  दिया जिसके चलते पुनीत मल्होत्रा दर्शको की उम्मीदों  पर खरे नहीं उतर पाए.

एक असिस्टेंट डायरेक्टर के तौर  पर भी कर चुके है काम

आपको बता दे की आज पुनीत महलोत्रा का जन्मदिन है और वो एक पंजाबी  परिवार से ताल्लुक रखते है.वह डायरेक्टर के साथ एक अच्छे स्क्रीन राइटर, मॉडल और एक्टर भी है.पुनीत ने स्टूडेंट ऑफ़ दी ईयर 2 से भी पहले कई  फिल्म डायरेक्ट की है जैसे – गोरी तेरे प्यार में और आई  हेट लव स्टोरी जो की बॉक्स ऑफिस पर कुछ ख़ास कमाई  नहीं कर पायी.

यहाँ  भी पढ़े : कान्स फेस्टिवल 2019 का होगा जल्द आगाज़

पुनीत ने अपने करियर  की शुरुआत असिस्टेंट डायरेक्टर बनकर  की  थी जिसमे उन्होंने सबसे पहले कभी खुशी कभी गम  फिल्म को डायरेक्ट किया था.इसके बाद उन्होंने कल हो ना हो और दोस्ताना जैसी फिल्म को असिस्ट किया और इन दोनों फिल्मों को लोगों ने काफी पसंद किया और बॉक्स ऑफिस पर बिजनेस भी अच्छा हुआ.लेकिन इस बार पुनीत  सफलता  की और बढ़ते- बढ़ते  रह गए.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in
Categories
लाइफस्टाइल

Resume, C.V और Bio- Data में अंतर क्या है ?

आप अपने  सी. वी को कैसे स्ट्रांग बना सकते है ? 


आपको शायद  पता ही होगा की  आपकी लाइफ में सीवी,बायोडाटा और रिज्यूमे  का बहुत बड़ा रोल  होता है वो इसलिए क्यूंकि आप  इसमें पर्सनल डिटेल्स अपने स्किल्स, अपने लाइफ एक्सपीरियंस शेयर करते है ऐसे में इसका रोल बहुत इम्पोर्टेन्ट होता है. आप कही पहली बार इंटरव्यू के लिए जाते है सबसे पहले अपना रिज्यूमे  दिखाते  है और अगर आपने बहुत जगह पर काम किया है तो आप आपने सीवी  लेकर जाते है. लेकिन कुछ कैंडिडेट्स ऐसे भी होते है जिन्हे रिज्यूमे और सीवी  में अन्तर ही नहीं पता होता है ऐसे में यह जरुरी है की आप जान ले की रिज्यूमे , सीवी और बायोडाटा में क्या अन्तर है ?

यहाँ जाने रिज्यूमे , सीवी और बायोडाटा  में क्या अंतर है ?

रिज्यूमे क्या है ?

एक अच्छा रिज्यूमे कैंडीडेट की ब्रीफ प्रोफाइल के साथ शुरू होता है. यह तब दिखाया जाता है जब  आप उस फील्ड में फ्रेशर होते है साथ ही रिज्यूमे एक फ्रेंच वर्ड है, इसका मतलब होता है समरी.इसमें कैंडिडेट अपनी एजुकेशन , स्किल्स , एडिशनल कोर्सस और आपकी सिर्फ पर्सनल डिटेल्स शेयर होती है. रिज्यूमे सिर्फ एक या दो पेज का होता है.

1. साथ ही जब आप रिज्यूमे अपना तैयार करते है यानी की बनाते है तब इन बातो का ख़ास ध्यान दे की उसमे  ग्रामर गलत न हो और स्पेल्लिंग्स जरुर चेक करे

2. उसमे फालतू की चीज ऐड न करे .

3. इसके अलावा आप जिस प्रोफाइल के लिए रिज्यूमे भेज रहे है.आपके रिज्यूमे में उसी से सम्बंधित योग्यताएँ  होनी चाहिए

तो इस तरीके से आप आपने रिज्यूमे को तैयार कर  सकते है

अब जानते है की आप सीवी क्या है आप इसे कैसे स्ट्रांग बना  सकते है.

सीवी यानी की करिकुलम विटे जो की एक लैटिन  शब्द  है.  इसका मतलब होता है “कोर्स ऑफ़  लाइफ ”. इसमें रिज्यूमे से ज्यादा डिटेल्स होती है और यह सिर्फ  2 से 3 पेज का होता है. और रिक्वायरमेंट के हिसाब से इससे भी लॉन्ग हो सकता है.  इसमें आपको आपने स्किल्स, प्रीवियस जॉब्स, डिग्री, प्रोफेशनल एफिलिएशन के बारे में बताना होता है.

अब जानते है की आप आपने करिकुलम विटे को स्ट्रांग कैसे बना सकते है ?

1. जब आप अपना करिकुलम विटे बनाएँगे अबसे पहले उसमे अपनी पर्सनल डिटेल्स  दे जिसमे आपका नाम , एड्रेस , फ़ोन नंबर , ईमेल  – एड्रेस , नॅशनलिटी और जेंडर  बताएँगे .

2. इसके बाद अपना पर्सनल प्रोफाइल के बारे में बताये यानी की आप में क्या क्वालिटीज़ है आप कैसे उस पोसियतों के लिए परफेक्ट है? अपने स्किल्स को अच्छे से डिफाइन  करे. फिर एजुकेशन के बारे में लिखे  की आपने  कहाँ से  पढ़ाई  की है और कितना स्कोर किया.

3.  पर्सनल प्रोफाइल के बाद  आता  है की आप अपने वर्क एक्सपीरियंस  के बारे में लखे की अपना कहाँ काम किया , किस पद पर थे आप , अपने वहां क्या काम किया और अचीवमेंट्स  के बारे में लिखे .

4. इसके बाद आप  रेफरन्स  भी लिखे  अगर आप वह किसी  के जरिये गए  है.

इससे आपका सीवी अच्छा  और स्ट्रांग बनेगा.

Read more: भारत ने ऑस्कर अवॉर्ड 2019 जीत कर रचा इतिहास

अब जानते है की बायो- डाटा क्या है ?

बायो डाटा का मतलब है की बायोग्राफी डाटा जिसमें सिर्फ आपकी पसर्नल इंफॉर्मेशन जैसे डेट ऑफ बर्थ, जेंडर, रिलिजियन, नेशनलिटी, रेसीडेंस, मैरिटल स्टेट्स के बारे में लिखा होता है.  एक चीज है जिस पर आपको गौर करनी होगी बायो डाटा शादी के लिए भेजा जाता है  जिस विवरण को भेजते है इसलिए कभी गलती से भी नौकरी के लिए न भेजे और न लिखे क्योकि नौकरी स्किल से मिलती है  .

इसमें पसर्नल इंफॉर्मेशन जैसे डेट ऑफ बर्थ, जेंडर, रिलिजियन, नेशनलिटी, रेसीडेंस, मैरिटल स्टेट्स आदि के बारे में बताया जाता है। काल क्रम के हिसाब से एजुकेशन और एक्सपीरियंस की लिस्टिंग की जाती है।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
सामाजिक

आपकी ज़िन्दगी को आसान बना सकती है दलाई लामा की यह 10 बाते

जाने दलाई लामा के बेस्ट 10 थॉट्स , जो आपको हर मुश्किल का सामना करना सिखाएंगे


ऐसा हमेशा होता है की आप अपने सपने पूरे करने के लिए निकल पड़ते है तो उस रास्ते पर आपको बाधाए जरूर मिलती है. जिनसे शायद आप निराश भी हो जाते है और उसे आपकी हिम्मत भी टूट जाती है। लेकिन आपको कभी बाधाओं से डरना नहीं चाहिए क्यूंकि कोई भी रास्ता आसान नहीं होता। अगर ऊचाइंयों को छूना है तो चट्टानों का सामना तो करना पड़ेगा।

खुद को कभी किसी से कम न समझे साथ ही अपने कॉन्फिडेंस लेवल को कम न होने दे क्यूंकि ये सब आपके करियर के लिए बहुत मायने रखता है. अगर आपको लगता है की आपकी हिम्मत टूट रही है और आप हार गए है तो दोस्त हारना नहीं और जाने दलाई लामा के यह बेस्ट 10 थॉट्स जिनसे आपकी दुनिया पूरी तरह से बदल सकती है.

जाने दलाई लामा के वो बेस्ट 10 थॉट्स , जिसे आपकी हर राह हो सकती आसान:
1. समस्याओ को सभी दिशाओ से देखना शुरू करोगे तो उनके समाधान अपने आप मिल जाएंगे।
2. सच्चा हीरो वही है जो अपने क्रोध को काबू कर ले.
3. अपनी सफलता को जज करो की इसे पाने के लिए तुमने क्या खो दिया है.
4. चुप रहना भी कभी -कभी सबसे अच्छा जवाब देना भी होता है.
5 . सब कुछ पोस्टिव रखने के लिए खुद की नज़र को भी पोस्टिव रखना पड़ेगा।
6 . सहनशक्ति के अभ्यास के लिए तुम्हारा दुश्मन ही तुम्हारा सबसे अच्छा टीचर साबित होता है.
7 . तुम्हारा उद्देश्य किसी दूसरे से अच्छा होना नहीं , बल्कि तुम जैसे पहले थे उससे अच्छा बनाना होना चाहिए।
8 . शांत दिमाग से ही आंतरिक शक्ति और आत्मविश्वास आता है , और ये सेहत के लिए भी अच्छा है.
9 . कभी – कभी लोग कुछ कहकर भी अपनी एक प्रभावशाली छाप बना देते है, आप चुप रहकर भी अपनी एक प्रभावशाली छाप छोड़ सकते है।
10.हम बाहरी दुनिया में तब तक शान्ति नहीं पा सकते है , जब तक की हम अंदर से शांत न हो.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in