Categories
सेहत

महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर से बचने के लिए अपनी डाइट में शामिल करनी चाहिए ये चीजें

ये फ़ूड आइटम्स बचाएंगे आपको ब्रेस्ट कैंसर से


आज के समय में लोगों का लाइफस्टाइल काफी ज्यादा बदल गया है. जिसके कारण महिलाओं में स्तन कैंसर का खतरा आज के सयम में और भी ज्यादा बड़ गया है. हर साल लाखों महिलाएं इस खतरनाक बीमारी की चपेट में आती है और अपनी जान गवां बैठती है. हालांकि इस खतरनाक बीमारी का इलाज संभव है. अगर आपको सही समय पर इसके बारे में पता चल गया हो और आपको इसका पूरा इलाज सही समय पर मिल गया हो तो आप स्तन कैंसर से बच सकते हैं. अगर आप इस घातक बीमारी से खुद को बचाना चाहती है. तो अपनी डाइट में थोड़ी बहुत चीजें चेंज कर और थोड़ी बहुत चीजें शामिल कर इस घातक बीमारी से खुद को बचा सकती है. तो स्तन कैंसर से बचने के लिए अपनी डाइट में ये चीजें जरूर शामिल करें.
 
ग्रीन टी: अपने देखा होगा की आज के समय पर लोग मोटापा कम करने के लिए ग्रीन टी का सेवन करते है. लेकिन अगर आप रोजाना एक कप ग्रीन टी का सेवन करते है. तो ये न सिर्फ आपको मोटापे से बचाता है बल्कि ये आपको स्तन कैंसर के खतरे से भी बचाता है. क्योकि ग्रीन टी में पॉलीफेनल जैसे एंटीऑक्सीडेंट होते है जो आपके शरीर की कोशिकाओं को क्षतिग्रस्त होने से बचाती है. इसलिए हर महिला को रोज एक कप ग्रीन टी का सेवन करना चाहिए. ये आपको ब्लड प्रेशर, मोटापे और ब्रेस्ट कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियों से बचाता है.
 
बेरी: अगर किसी महिला को स्तन कैंसर का खतरा हो या फिर उससे ऐसा कुछ महसूस हो रहा हो, तो ऐसी स्थति में उसके लिए बेरी और प्लम जैसे फल बेहद फायदेमंद होते है. अगर आप अपनी डेली डाइट में स्ट्राबेरी, प्लम और बेरी जैसे फलों को शामिल करते है तो ये आपको स्तन कैंसर के खतरे से बचते है. क्योकि इन फलों में पॉलीफेनल्स मौजूद होता है जो कैंसर की कोशिकाओं को मारने में मदद करता है.
 
Read: 30 के बाद समय-समय पर खुद से प्यार जताना है ज़रूरी: इन चीज़ो का रखें ख़ास ख्याल
 
हरी पत्तेदार सब्जियां: आज लोगों का लाइफस्टाइल काफी ज्यादा बदल गया है. खाना बनाने में कोई भी व्यक्ति ज्यादा समय बर्बाद नहीं करना चाहता इतना ही नहीं समय पर लोग पत्तेदार सब्जियों को भी नही खाना चाहते. लेकिन महिलाओं को अपनी डेली डाइट में पालक, काले सोया, सरसों का साग जैसी हरी सब्जियों को जरूर शामिल करना चाहिए.
 
अनार का जूस: अनार एक ऐसा फल है जिसे गुणों की खान भी कहा जाता है. अनार हमारे शरीर में खून की कमी को दूर करने के साथ साथ आयरन की कमी को भी पूरा करता है. इतना ही नहीं स्तन कैंसर से लड़ने में भी अनार का जूस बेहद फायदेमंद होता है.
 
कैरोटेनाएड्स वाले खाद्य पदार्थों: स्तन कैंसर एक ऐसी खतरनाक बीमारी है जो हमारे शरीर की स्वस्थ कोशिकाओं को भी धीरे धीरे खत्म करने लगती हैं। जिसके कारण हर साल हमारे देश में लाखों लोग अपनी जान गांव देते हैं. अगर आप स्तन कैंसर से बचना चाहते है तो इसका सबसे अच्छा तरीका है अच्छा खानपान, इसलिए आपको अपनी डाइट में कैरोटेनाएड्स वाले पदार्थों को शामिल करने चाहिए जैसे गाजर, टमाटर,एप्रिकोट्स और शकरकंद आदि।
 
अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
सेहत

यह है 3 टिप्स जो आपको करता है ब्रैस्ट कैंसर से अवेयर

डाइट में करे लीन मीट को शामिल


नवंबर का महीना शुरू हो चुका है और इस महीने को ‘ब्रेस्ट कैंसर अवेयरनेस मंथ’ यानि ब्रेस्ट कैंसर जागरूकता माह कहा जाता है। इसे लेकर जागरूकता शिविर, स्क्रीनिंग, जांच जैसी गतिविधियां लगभग हर हॉस्पिटल में होती हैं। वजह ये है कि ‘ब्रेस्ट कैंसर की घटनाएं बहुत तेजी से बढ़ रही हैं।’ ऐसे में यह बहुत जरुरी है की सभी को ब्रैस्ट कैंसर के सिम्पटम्स से भी अवेयर किया जाए।

अक्सर ऐसा होता है की ब्रेस्ट कैंसर में ये आखिरी स्टेज में पकड़ में आता है और लोगो को इसका पता ब्रेस्ट में गांठ से पता चलती है। लेकिन ऐसा नहीं है, ब्रेस्ट कैंसर की कई निशानियाँ है जो बाद में आपके हेल्थ पर बड़ा असर डालती है।तो चलिए आज हम आपको बताएँगे तीन ऐसे टिप्स जो आपको बचाएंगे ब्रैस्ट कैंसर से।

1. हर रोज ग्रीन सब्ज़ी खाये जो पौधे से जुड़े हो इसके अलावा उनसे जुड़े फल भी खाये। यह आपको अंदर से भी स्वस्थ रखने में मदद करता है।जैसे प्याज है वो लो ब्लड प्रेशर,रक्त के थक्के जमने से रोकता है, परिसंचरण को बढ़ाता है, शरीर और त्वचा को डिटॉक्सीफाई करता है, और फ्री रेडिकल्स से लड़ता है जो बीमारी का कारण बनते हैं इसलिए स्वस्थ खाद्य पदार्थ का ही सेवन करे।

और पढ़ें: Winter Special : सर्दियों मे दे बालों को आंवले का पोषण

2. अपने अंदर एक पोज़टिविटी बदलाव लेकर आये जैसे हर रोज सुबह व्यायाम करे इस से आपके अंदर पॉजिटिविटी आती है।आप हर दिन 45 मिनट्स व्यायाम को जरूर दे। यह आपको अंदर से तो स्वास्थ रखेगा ही साथ ही आपको स्ट्रांग भी बनाएगा।

3. अपनी डाइट में बाउल चिकन को भी शामिल करे साथ ही चिकन में आप लीन मीट का चुनाव करें क्योंकि रेड मीट में संतृप्त वसा होता है,जो आपके लिए अच्छा नहीं है, और ताजा भोजन और लीनर मीट का उपयोग करके स्वस्थ,पौष्टिक व्यंजन का सेवन करे। तो यह है तीन टिप्स जिन्हे आप रोज़ाना फॉलो करे यह आपको ब्रैस्ट कैंसर होने से बचाएगा।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
बिना श्रेणी

स्तन गांठ में राहत के घरेलू नुस्खें 

स्तन गांठ में राहत के घरेलू नुस्खें : कैसे कर सकते है बचाव ?


20 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं में स्तन गांठ होने से स्तन कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता हैं। लेकिन यह खतरा 40 की उम्र होने पर और भी ज्यादा होता हैं। इस उम्र में आपको स्तनों की देखभाल करना बहुत जरुरी होता है। स्तन कैंसर का सबसे बड़ा कारण स्तन गांठ होती हैं लेकिन यह जरुरी नहीं कि सभी स्तन गांठ कैंसर हों। घर पर स्तन स्वयं जांच करने के बाद आपको अगर कोई गंभीर समस्या महसूस होती है तो आप कुछ घरेलू नुस्खें आजमा सकते है जिससे आपको स्तन गांठ में राहत मिलेगी।

आइये जाने ऐसे घरेलू नुस्खों के बारे में जो स्तन गांठ में लाभदायक होते हैं –

आयोडीन का सेवन

स्तन में होने वाले गांठ की एक वजह शरीर में आयोडीन की कमी होती है। स्तन में गांठ से रहत पाने के लिए महिलाओं के लिए आयोडीन युक्त नमक का सेवन करना आवश्यक होता हैं। आपको ऐसा भोजन करना चाहिए जिसमें आयोडीन प्रचुर मात्रा में उपलब्ध हो जैसे मुनक्का, दही, ब्राउन राइस,रोस्टेकड आलू, दूध और सी फूड आदि।
कचनार की छाल
गुलाबी कचनार की छाल पुराने समय से उपयोग में आ रही हैं।  इसके लिए कचनार की छाल के बारीक पाउडर में सोंठ और चावल का मिलकर लगाने से आराम मिलता हैं। इसी के साथ इस पाउडर को सुबह पानी में मिक्स करके पीने से स्तन दर्द जाता हैं। आप इस पाउडर को गीला करके लेप की तरह भी लगा सकते हैं।

स्तनों की मसाज 
स्तनों की मसाज करने से स्तन गांठ में राहत मिलती हैं। इसके लिए आप कोई भी तेल जैसे कास्टर आयल (castor oil), आलमंड आयल (almond oil) या कोई अन्य तेल ले सकते हैं। स्तनों की मसाज हलके हाथ करें अन्यथा गाँठ में दर्द हो सकता हैं।

पत्तागोभी का उपयोग

स्तनों में गांठ होने पर पत्तागोभी के उपयोग से स्तन गांठ और दर्द को खत्म किया जा सकता हैं। इसके लिए स्तनों पर पत्तागोभी पत्तो को  लगाकर सो जाएं।  सुबह उठने पर आपको दर्द में आराम लगेगा।
सोयाबीन
सोयाबीन में फाइटोएस्ट्रोजेन (phytoestrogens) और कई अन्य तत्व शरीर में कैंसर सेल्स को बनने से रोकते हैं। स्तन कैंसर को शुरुआती चरण में ही रोकने के लिए इसमें आइसोफ्लेवोन्स भी होते हैं। सोयाबीन का उपयोग सब्जी, उबले हुए या स्प्राउट्स बनाकर खा सकते हैं।

Read More:- दिल्ली: साइबर सुरक्षा के लिए अध्यापकों को दी जाएगी ट्रेनिगं

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.com
Categories
सेहत

कैंसर जैसी ख़तरनाक बीमारी से बचना चाहते है , तो इन बातो को अच्छी तरह जान ले :

जाने कैंसर को कैसे कर सकते है जड़ से खत्म ?  


कैंसर एक ऐसी खतरनाक बीमारी है, जिससे शरीर के किसी भी हिस्से की कोशिकाएं पार्ट्स में डिवाइडेड होने लगती है . कैंसर शरीर के एक हिस्से से दूसरे हिस्सों में फैलता है. सबसे अहम बात यह है कि  शरीर के किसी एक हिस्से में होने वाले कैंसर को प्राइमरी ट्यूमर कहते है. जिसके बाद शरीर के दूसरे हिस्सों में होने वाला ट्यूमर मैटास्टेटिक या सेकेंडरी कैंसर कहलाता है.

बात करे अगर हम  कैंसर से मरने वाले लोगो के आकड़ो की तो साल 2018 में भारत में कैंसर से मरने वालो की संख्या  है 9.6  मिलियन. जिसमे से 50  प्रतिशत महिलाएंलाएं है जिन्हें ब्रैस्ट और  यूरेटरी कैंसर से जूंझना पडता है. ऐसे में इस  खतरनाक बीमारी  से बचने  के लिए  और जड़  से ख़त्म करने के लिए  यह जान लेना बहुत  जरुरी  है  की इससे कैसे  बचा जाए.

पहले जानते  है की कैंसर होते कितने प्रकार के है ?

1. त्वचा कैंसर

2. ब्लड कैंसर

3. हड्डियों में  कैंसर

4. ब्रेन कैंसर

5. ब्रैस्ट कैंसर

6. लंग कैंसर

7. पैनक्रियाटिक कैंसर

8. माउथ कैंसर

तो यह है 8  प्रकार के कैंसर जिसमे से ज्यादातर लोग में ब्लड , ब्रेन,  लंग , माउथ कैंसर  जो की  तम्बाकू खाने से होता है और महिलाओ में ब्रैस्ट कैंसर पाया जाता है और  जो लोगो में सबसे कम पाया जाता है वो है  पैनक्रियाटिक कैंसर जो बहुत कम लोगो को होता है.

अब बात करते है की कैंसर शरीर में फैलता कैसे है ?

कैंसर तीन तरह से शरीर में फैलता है.

1. डायरेक्ट एक्सटेंशन या इंवेजन, जिसमें प्राइमरी ट्यूमर आस-पास के अंगों और टिशू में फैलता है.

2. लिम्फेटिक सिस्टम में कैंसर की कोशिकाएं प्राइमरी ट्यूमर से टूट कर शरीर के दूसरे अंगों तक चली जाती हैं. लिम्फेटिक सिस्टम टिशू और अंगों का ऐसा समूह है जो इन्फेक्शन और बीमारियों से लड़ने के लिए कोशिकाएं बनाकर इन्हें स्टोर करके रखता है.

3. आपको शायद यह बात नहीं मालूम लेकिन कैंसर ब्लड से भी फैलता है . इसे हीमेटोजिनस स्प्रैड कहा जाता है, इसमें कैंसर की कोशिकाएं प्राइमरी ट्यूमर से टूट कर खून में आ जाती हैं और खून के साथ शरीर के दूसरे हिस्सों तक पहुंच जाती हैं.

कैंसर बीमारी होने के लक्षण क्या – क्या है ?

अगर आपको लगता है की वजन में कमी आ रही  है , या बुखार आ रहा है , आपको भूख नहीं लग रही है , हड्डियों में भी दर्द है , खांसी या मूंह से खून आ रहा है. तो यह सभी लक्षण कैंसर के है जिसके तुरंत बाद  आप डॉक्टर से इलाज करवाए .

Read more:इस तरह से पाए केंसर पर काबू

अब बात करते है की कैंसर का इलाज क्या है ?

कैंसर का इलाज  वैसे तो सर्जरी, कीमोथेरेपी और रेडिएशन से किया जाता है. वैसे सर्जरी में डॉक्टर इफेक्टिड एरिया को शरीर से अलग करते हैं. वहीं कीमोथेरेपी में आईवी यानी नसों में सुइयों के द्वारा ठीक किया जाता है, कुछ में आपको दवाई दी जाती है. यह दवाइयां पूरे शरीर में अपना असर दिखाती हैं और हर जगह फैले कैंसर को खत्म करती हैं साथ ही रेडिएशन में  कैंसर की बढ़ती सेल्स को रोका और उन्हें मारा जाता है जो की पूरे शरीर को एक्स-रे मशीन  के द्वारा किया जाता है.

लेकिन इसे खत्म करने का एक घरेलू नुस्खा भी है वो है पपीता जी हाँ  पपीते  की पत्तियों  से कैंसर को  काफी हद तक खत्म करता है क्योंकि पपीता कैंसर रोधी अणु Th1 cytokines की मात्रा  को बढाता है जो की इम्यून सिस्टम को मजबूत  करता है जिससे कैंसर कोशिका को खत्म करना आसान हो जाता है । पपीते की पत्तियों में पपेन नमक एक प्रोटीन को तोड़ने  वाला एंजाइम पाया जाता है जो कैंसर कोशिका पर मोजूद प्रोटीन के आवरण को तोड़ देता है जिससे कैंसर कोशिका शरीर में  पूरी तरह खत्म  होने लगती है. तो इस  कैंसर के सेल्स को पूरी तरह शरीर से खत्म  कर सकते है.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in