Categories
धार्मिक

रामनवमी स्पेशल: जाने पांच चीजें जो भगवान राम ने हमें सिखाई

रामनवमी का महत्व


राम नवमी एक धार्मिक त्यौहार है, जो कि हिन्दू धर्म के लोग बङे ही उत्साह के साथ हर साल मनाते है। यह अयोध्या के राजा दशरथ और रानी कौशल्या के पुत्र भगवान राम के जन्मदिन के रुप मे मनाया जाता है। भगवान राम हिन्दू देवता भगवान के सातवे अवतार माने जाते है ।

राम नवमी स्पेशल

Related : राम नवमी के दिन अपनाएं यह उपाय, धन-समृद्धि की नही होगी कमी

हिंदु कैलैंडर के अनुसार, यह त्योहार हर वर्ष चैत्र मास के शुक्ल पक्ष के 9 वे दिन मनाया जाता है। राम नवमी को चैत्र मास की शुक्ल पक्ष की नवमी भी कहा जाता है, जो नौ दिन लंबे चैत्र नवरात्री के त्योहार के साथ समाप्त किया जाता है। भगवान विष्णु के सातवे अवतार भगवान राम थे और उन्होने सामान्य लोगो के बीच मे उनकी समस्याएं हटाने के लिए जन्म लिया था। हिंदु धर्म के लोग इसे नौ दिन के त्योहार के रुप मे पूरे नौ दिन तक राम चरित्र मानस के अखंड पाठ, भजन, पाठ, कीर्तन एंवम पूजा और आरती के बाद प्रसाद आदि का आयोजन करने के बाद मनाते है।

राम नवमी का समारोह-

देश मे हिंदू धर्म के लोग आमतौर पर इस उत्सव को कल्याणोत्सवम अर्थात भगवान की शादी के समारोह के रुप मे मानते है। यह देश मे अलग -अलग स्थानो पर अलग अलग नामो से मनाई जाती है जैसे की- महाराष्ट्र मे चैत्र नवरात्री, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक या तमिलनाडु मे वसंतोत्सव आदि के नाम से मनाई जाती है। वे लोग अपने घरों से बुरी शक्ततियों को हटाने और अच्छी शक्तियों को लाने को लिए पूजा के अंत मे धार्मिक भजन और आरती पढते है।

वे पूरे नवरात्री के नौ दिन या अंतिम दिन पवित्र पूजा करने के लिए व्रत रखते है। इसमे रामायण का पाठ भी किया जाता है। सब अपने जीवन मे खुशहाली और शांति लाने के लिए भगवान राम और सीता की पूजा करते है।

राम नवमी का महत्व-

राम नवमी का त्यौहार हिंदु धर्म के लोगो के लिए बहुत ही महत्वपूर्णा माना जाता है। राम नवमी हिंदु धर्म के लोगो का त्यौहार है , जिसे वे अपनी आत्मा और शरीर को पवित्र करने के लिए पूरे उत्साह के साथ मानते है। इस दिन उपवास रखने से शरीर और मन को शुद्ध किया जा सकता है ।

जीवन मे भगवान राम ने हमें क्या सिखाया जो हमें ध्यान मे रखना चाहिए-

• सच्चाई का रास्ता मुश्किल होता है पर उसे कभी छोड़ना नही चाहिए
• धैर्य जरुरी है
• बुरी संगत अच्छे इंसान को भी खराब कर सकता है
• ग्यानी लोग कभी घमंडी नही होते
• सच्चा मित्र हमेशा आईना दिखाता है