Categories
लाइफस्टाइल

अपनी बोरिंग लव-लाइफ में लगाए इन टिप्स से रोमांस का तड़का

अपनाएं ये टिप्स और बनाएं अपने लव-लाइफ को और भी इन्टरेस्टिंग


प्यार किसी भी रिश्ते के लिए बहुत ही खास होता है। चाहे वो प्यार गर्लफ्रेंड-ब्वॉयफ्रेंड हो या फिर शादीशुदा कपल का। हर किसी को अपने रिश्ते में प्यार और केयर बरक़रार रखने के लिए ऐसी बहुत-सी बातों का ध्यान रखना पड़ता है, नहीं तो आपकी लव-लाइफ मुश्किल में पड़ सकती है। बहुत से कपल ये शिकायत करते हैं क उनकी लव-लाइफ बोरिंग होती जा रही है। इसमें कुछ नयापन नहीं बचा। अगर आपके साथ भी कुछ ऐसा ही है, तो इसमें काफी हद तक कसूर सिर्फ आपका नहीं होता लेकिन अगर आपको पता है तो आप रिश्ते को कुछ हद तक सुधार सकते हैं। आज आपको कुछ ऐसी ही बातों के बारे में बताएंगे, जिन्हें अपनाकर आप अपनी बोरिंग लव-लाइफ में लगा सकते हैं रोमांस का तड़का।

पार्टनर लव-लाइफ

जानिए लव लाइफ में किन बातों का रखें ध्यान :-

1) पार्टनर को टाइट हग जरूरी
अगर आपको लगता है कि आपके रिश्ते से रोमांस कहीं गायब सा हो गया है तो आपको दिन में कम-से-कम एक से दो बार अपने पार्टनर को टाइट हग जरूर करें। ऐसा करने से अपनेपन का एहसास होता है और आपकी लव-लाइफ में आपको अच्छी मदद मिलती है।

2) साथ में वर्कआउट करना
अगर आप वर्कआउट के शौक़ीन हैं और खुद को मेन्टेन करके रखते हैं तो ये अपने पार्टनर के साथ करें, अगर आप ऐसा करते हैं तो आपको एक अलग ही एहसास होता है और आप अच्छे से एक्सरसाइज भी कर पाते हैं। साथ में वर्कआउट करने से आप दोनों की नजदीकियां बढ़ती है। इसके साथ-साथ जहाँ तक पॉसिबल हो सके अपने पार्टनर के साथ ही सोयें क्यूंकि साथ सोना भी बहुत जरूरी है, इससे आपका रिश्ता मजबूत बनता है।

3) शुक्रिया अदा करें
आपका पार्टनर कभी भी आपके लिए कुछ खास करता है, तो उसे शुक्रियादा जरूर अदा करना चाहिए। वैसे तो थैंक यू बोलने के बहुत और भी तरीके हो सकते हैं जैसे आप उन्हें बदले में कुछ गिफ्ट कर सकते हैं, उनका फेवरेट फ़ूड बनाकर उन्हें सरप्राइज कर सकते हैं या फिर थोड़ा क्वालिटी टाइम स्पेंड कर सकते हैं। आपके इस व्यवहार से उन्हें ये एहसास होगा कि आप उनकी कद्र करते है और आपके लिए वो बहुत महत्वपूर्ण है। इससे आपका प्यार और भी ज्यादा मजबूत होगा।

पार्टनर लव-लाइफ

4) मोबाइल से दूर रहे
आप जब भी अपने पार्टनर के पास हो तो इस बात का ख्याल रखें कि अपना मोबाइल फोन को हाथ ना लगायें और हो सके तो बंद ही रखें। ऐसा इसलिए कि आजकल की व्यस्त लाइफ में आपस में समय बिताने का बहुत कम समय मिलता है और अगर घर पर साथ होने के बाद भी अगर आप मोबाइल में बिजी रहकर बेकार और बोरिंग कर देंगे, तो आपके रिश्ते में प्यार और मजबूती कैसे बनी रहेगी। इसीलिए इस बात का खास ख्याल रखें कि मोबाइल से दूर रहे।

5) रोमांस भी है जरूरी
किसी भी रिश्ते में रोमांस और आपसी सबंध बनाना या एक-दूसरे के करीब होना बहुत ही जरूरी होता है। इसीलिए जब भी आपको समय मिले तो अपने पार्टनर की इच्छानुसार संबंध जरूर बनाएं। इससे रिश्ते में ताजगी बरकरार रहेगी और आपका रोमांस भी समय के साथ फीका नहीं पड़ेगा।

Categories
लाइफस्टाइल

कुछ ऐसे टिप्स जिससे आप फील करेंगे तनावमुक्त

लाइफ में रहे हमेशा फ्रेश और रिलैक्स्ड


आज की भागदौड़ भरी ज़िन्दगी में कई बार आप खुद के अन्दर तनाव महसूस करते हैं। ऑफिस में पुरे दिन काम करने के बाद जब घर जाते हैं तो वह पूरी तरह थक जाते है। ऐसे में आपकी पूरी बॉडी में पैन और स्ट्रेच सा महसूस होता है। इससे निजात पाने के लिए और खुद को रिलेक्स करने के लिए हमे रिचार्ज होना जरूर है, इसलिए इन टिप्स को जरूर अपनायेंऐसे में आप कई काम नहीं कर पाते जो जरुरी होते है, वहीँ कई काम इसलिए ताल देते है की कहीं आप लेट ना हो जायें। ये कुछ खास टिप्स जो आपके दिमाग को हमेशा फ्रेश रखेगा।

फ्रेश लेडी

आइये जानते हैं कुछ उपाय जिससे आप खुद को फ्रेश रख सकते हैं :-

  • कोशिश करें कि घर में जूते-चप्पल का उपयोग ना करें। इससे आपके पैरों के रक्त संचार में सुधार होगा। तनाव ग्रस्त नसों को राहत मिलेगी और आपका स्ट्रेस छूमंतर हो जाएगा।
  • ऑफिस से घर आने पर आरामदेह कपड़े पहनें। पैर,हाथ व मुंह अच्छी तरह धोएं और आधे घंटे के लिए अपने घर की छत पर या पार्क में टहलने के लिए जाएं। घर में लॉन हैं तो घास पर नंगे पैर जरूर टहलें।
  • सुबह-सुबह जब आप ऑफिस जाने के लिए तैयार होते हैं, आपके बाल गिले होते हैं और जल्दी नहीं सूखते। ऐसे में इन्हें ड्राई करने के लिए बालों में कॉटन टी शर्ट लपेटकर थोड़ी देर छोड़ दोजिये क्योंकि ये तौलिए के मुकाबले जल्दी आपके बालों को सुखा देती है। इसके साथ ही आप ब्लो-ड्रॉय का इस्तेमाल भी कर सकती है।
हैप्पी पीपल
  • आपकी आंखों की पलके हल्की हैं तो उन्हें घना दिखाने के लिए उस पर बेबी पाउडर लगाकर फिर उसके बाद मस्करा के तीन कोट लगाएं। इसके बाद आप देखेंगे कि पलके घनी लगने लगी।
  • अगर दिखना है ऑल टाइम फ्रेश तो डियोडरन्ट का सहारा लेना छोड़ दें। बल्कि सुबह ऑफिस के लिए तैयार होते वक्त अपने आर्मपिट पर थोड़ा सा बेकिंग सोडा छिड़क लें। ऐसा करने से पूरा दिन आप पसीने की बदबू से दूर रहेंगे।
  • पर्सनल और ऑफिसियल लाइफ को अलग-अलग तरीकों से हैंडल करें। अपने मोबाइल और लैपटॉप को घर पर आते ही साइड में कर दें और अपनी फैमिली को टाइम दें। घर वापस आने के बाद 15 – 20 मिनट के लिए झपकी लें और आराम करें। घर आने पर शांति और ख़ुशी के कुछ पल अपने परिवार के सदस्यों के साथ बिताएं। अपने ऑफिस के कामों का प्रेशर अपने पर्सनल लाइफ में ना लायें। इससे आपके शरीर एवं आंखों का तनाव दूर होगा और शरीर को नई ऊर्जा मिलेगी।
  • ऑफिस से घर आने के बाद गनगुने पानी से फ्रेश हो जायें या अच्छी तरह से नहा लें। इससे आपकी नसें तनाव मुक्त हो जाएगी और आपको आराम एवं शांति महसूस होगी।
  • जिन चीजों को करने में आपके मन को प्रसन्नता मिलती हैं उसके बारे में सोचें और अपने आप को प्रसन्न रखने की कोशिश करें। तन और मन को स्वस्थ रखने के लिए खुश रहना आवश्यक हैं।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
सुझाव

अगर आप भी अपने बच्चे को मोबाइल देते हैं तो यह खबर आपके लिए है

मोबाइल से कई तरह की बीमारियां होती है


आज के व्यस्त जीवन में हम रोजमर्रा के जीवन में इतने ज्यादा व्यस्त हो जाते हैं कि अपने बच्चो को लिए समय नहीं निकाल पाते हैं। हमारे जीवन में इतनी ज्यादा व्यस्तता है कि हम अपने छोटे-छोटे बच्चो को समय नहीं दे पा रहे हैं। इसलिए हम काम की व्यस्तता के दौरान उन्हें ऐसी चीजें देते है जो उनके लिए खतरनाक है। हम अपनी सुविधा के अनुसार उन्हें मोबाइल के साथ खेलने देते हैं। टीवी पर कार्टून लगाकर देते है और अपने काम करते हैं। लेकिन आपको पता है यह सब चीजें आपके बच्चे के लिए बहुत खतरनाक है।

मोबाइल चलता हुआ बच्चा

एक रिसर्ज के दौरान पता चला कि अगर आपका बेबी 16 महीने का है तो उसके सामने आप किसी भी तरह की टीवी, मोबाइल, लैपटॉप नहीं को नहीं रखना चाहिए। यहां तक की 2 साल तक के बच्चे को ऐसा करना खतरनाक माना जाता है।

बच्चों द्वारा लगातार मोबाइल और टीवी देखने से आंखे संबंधी बीमारियां हो सकती है।

जब आपका बच्चा मोबाइल का इस्तेमाल करता है तो मोबाइल से निकलने वाली खतरनाक रेडियो तरंगे सीधे बच्चे के स्वास्थ पर बुरा असर डालते हैं।

जब बच्चा छोटा होता है तो उसके शरीर के सही से विकास के लिए उसको कम से कम 10 से 12 घंटे की नींद हर हालत में चाहिए होती है।

कंप्यूटर और टीवी के सामने बच्चे को बैठने से रोकिए वरना उनको अनिद्रा की समस्या भी हो सकती है जो छोटे बच्चों के लिए बहुत खतरनाक होती है।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
लाइफस्टाइल

क्या आप को बार-बार मोबाइल चेक करने की लत लग गई है तो हो जाए सावधान!

क्या आप को मोबाइल चेक करने की लत लग गई है?


आज के समय में हर इंसान के जीवन में फोन मुख्य भूमिका निभाता है। लोग फोन लिए बिना घर से बाहर तक नहीं निकलते है। हम अक्सर देखते हैं कि कई लोगो को बेवजह अपने फोन को बार-बार चेक करने की आदत होती है।

ऐसे लोग अगर कुछ समय तक अपना फोन ना चेक करे तो उन्हे बेचैनी सी होने लगती है। पर क्या आपने कभी सोचा कि ऐसा क्यों है, अगर आप एक्सपर्टस के नजरिए से देखे तो ऐसे लोग डिप्रेशन के शिकार हो सकते है। तो क्या आप को बार-बार मोबाइल चेक करने की लत लग गई है?

मोबाइल चेक करने की लत

रिसर्च में सामने आया की 96% लोग करते है मोबाइल चेक। उठने के बाद पांच मिनट के अंदर अपना मोबाइल यूज करने वालों की संख्या 61% और सुबह उठने के बाद 30 मिनट के भीतर मोबाइल चेक करने वालो की संख्या 88% तो वहीं एक घंटे के भीतर संख्या बढ़कर 96% तक हो जाती है।

अगर देखा जाये तो मोबाइल हमारी रोजमर्रा की जिंदगी का हिस्सा बन गया है। सुबह और शाम के साथ-साथ आदमी दिन में भी ज्यादा से ज्यादा वक्त अपने मोबाइल फोन की तरफ देखकर ही बिता रहा है।

अगर कोई इंसान बार-बार अपना फोन चेक करता है तो उसे तुरंत डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। क्योंकि यही आदत आगे चलकर बीमारी का रूप ले सकती है।

डिप्रेशन के अलावा बार-बार फोन चेक करने के और भी नुकसान

• मोबाइल का ज्यादा उपयोग करने से आंखो व दिमाग पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इससे आंखो में कमजोरी होती है और दिमाग पर असर होने की वजह से निर्णय लेने की श्रमता पर भी प्रभाव पड़ता है।

• सुबह उठते साथ ही और रात को देर तक मोबाइल का उपयोग नहीं करना चाहिए क्योंकि इस समय आपको आराम की जरूरत होती है।

• आपको बता दे कि बार-बार फोन को देखने से आप तनावग्रस्त हो सकते है।

• जरूरी काम करने के बाद ही अपने मोबाइल को चेक करना चाहिए नहीं तो आपके जरूरी काम रह जाते है।

• देर रात तक मोबाइल का उपयोग करने से नींद पूरी नहीं हो पाती है इसलिए तनाव बढ़ता है।

Categories
लाइफस्टाइल

कैसे रहें ख़ुश बिना इलेक्ट्रॉनिक्स के भी

10 चीज़ें जो आपको मोबाइल से भी अधिक ख़ुशी देंगी


जब से हमारी दुनिया का तकनीकी विकास हुआ है तब से मोबाइल, कम्प्यूटर, इंटर्नेट ने हमें मनोरंजन के अनेको स्रोत प्रदान किए हैं। आज से 10 साल पहले भी लोगों के पास मनोरंजन के लिए इतने विकल्प नही थे जितने अब मोजूद हैं। परंतु जितना इस तकनीक ने विकास किया है उससे ज़्यादा इसकी ख़ामियाँ हैं। वैसे तो कमियाँ हर चीज़ में होती है परंतु इसकी कमी यह है की यह मनुष्य को अपने ऊपर निर्भर होने के लिए मजबूर करती है।

आज से 10-20 साल पहले की पीढ़ी अपने बचपन में बिना तकनीकी यंत्रों के आज की पीढ़ी के बच्ची से अधिक आनंद लेती थी। यह कोई नयी बात नही है की आज कल सभी लोग तकनीकी यंत्रों पर निर्भर हैं। अब आउट्डॉर गेम्ज़ तो लगभग ख़त्म ही हो गयी हैं। यह केवल बच्चों के साथ नही है बल्कि बड़े लोग भी तकनीकों पर निर्धारित होने के कारण अपना सामाजिक विकास कम के चुके हैं।

हमारे पास ऐसे ही कार्यों की सूची है जिन्हे कर के आप ख़ुश रहेंगे और साथ ही साथ आप फ़्रेश भी फ़ील करेंगे। ये कार्य करें अपने फ़्री टाइम में :-

  1. कोई भी किताब पढ़ें इससे आपका ज्ञान बढ़ेगा और आपका समय भी सही जगह उपयोग होगा।
  2. कोई आउट्डॉर गेम खेलें। आउट्डॉर गेम्ज़ खेलने से मन तरोताज़ा होता है और साथ ही साथ शरीर की भी कसरतहोती है।
  3. किसी हॉबी में ख़ुद को इन्वोल्व करें। इसके तहत आप कोई डान्स क्लास ले सकते है, संगीत सीख सकते हैं अगर कुकिंग पसंद है तो वो भी के सकते हैं।
  4. ज़्यादा से ज़्यादा लोगों से बात करें। आप जितने लोगों से बात करेंगे उतना ही आपका ज्ञान बढ़ेगा क्योंकि हो सकता है सामने वाले इंसान को आपसे अधिक ज्ञान हो।
  5. कुछ ड्रॉ करें। ड्रॉइंग करने से आप और रचनात्मक बनते हैं जिससे आपको एक भिन्न ख़ुशी की अनुभूति होगी।
  6. अपनी सोच का प्रयोग करें। अपनी सोच से आप कोई अच्छी कविता या कहानी लिख सकते हैं इससे आपका मन बटेगा।
  7. अपने आसपास की चीज़ों को एक्सप्लोर करें। अपने घर के आसपास वॉक पर जाएँ क्या पता आपको वहाँ कुछ ऐसा दिखे जो आपने पहले ना देखा हो।
  8. DIY (do it yourself) प्राजेक्ट्स पर काम करिये। इसमें आप अपने घर में नयी चीज़ें बना सकते हैं और आप अपने घर की चीज़ों को मॉडिफ़ाई कर सकते हैं।
  9. चैरिटी के लिए कुछ काम करें। आप किसी वृद्धाश्रम में जाकर वहाँ लोगों से बात के सकते हैं उनके लिए गिफ़्ट्स ले जा सकते हैं।
  10. अपनी पुरानी ऐल्बम्ज़ को देखकर आप पुराने पलों को याद कर सकते हैं इससे आपकी पुरानी यादें भी ताज़ा होंगी और मन भी।
Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Categories
लाइफस्टाइल

स्मार्टफोन की लत ऐसे होगी कम

यदि आप भी स्मार्टफोन की लत के शिकार हैं, तक ऐसे करें उसे कम


आजकल सभी लोगों के पास स्मार्टफोन होते है जिससे उनके सभी काम आसान हो जाते हैं| इस छोटे से यंत्र में दुनिया भर की एप्प्स होती हैं जिनसे हम अधिकतर सभी काम कर सकते हैं | इसने हम सभी को जोड़ा है। यह बहुत उपयोगी है अगर इसका सही प्रयोग किया जाये तो किन्तु हम सभी अधिकतर इसका उपयोग सॉशल होने के लिए करते हैं। कई लोग अपना फोन हर 5 मिनट बाद चेक करते हैं चाहे उसपर किसी का मैसेज आया भी ना हो। जिन लोगों को स्मार्टफोन की लत हो जाती है वे हमेशा अपने फ़ोन को अपने पास रखते हैं। रात को सोने से पहले और सुबह उठने के बाद वे अपना फ़ोन ज़रूर चेक करते हैं। टॉयलेट में भी वे अपना फोन साथ ही लेकर जाते हैं। वे घड़ी पहने होने के बाद भी समय फ़ोन में ही देखना पसंद करते हैं। अपने दोस्तों और घरवालों के साथ होते हुए भी वे अपने फ़ोन में ही लगे रहते हैं। ये कुछ आदतें स्मार्टफोन की लत से ग्रस्त लोगों में देखने को मिलती हैं।

किसी भी वस्तु पर इतना निर्भर होना उचित नहीं है तो आइए जानें कैसे इस खतरनाक पर साधारण दिखने वाली लत को खत्म किया जा सकता है :-

  • यदि आपकी फोन की नोटिफिकेशन्स आपको फ़ोन चलाने पर मजबूर करती हैं तो आप सेटिंग्स में जाकर उन्हें ऑफ कर दीजिए। कई बार कितनी ही फ़िज़ूल की नोटिफिकेशन्स आपका समय बरबाद करती हैं जैसे किसनी फेसबुक पर आपकी फ़ोटो लाइक करी, इंस्टाग्राम पर किसने आपको फॉलो किआ, किसने ईमेल भेजा जिन्हें आप देखना जरूरी नही समझते किन्तु ये आपका समय बरबाद करती हैं तो इनकी नोटिफिकेशन्स ऑफ कर दीजिये।
  • कुछ लोगों को अचानक से कुछ काम करते करते बहुत तीव्र इच्छा होती है कि उन्हें अपना फ़ोन चेक करना चाहिए । जब भू ऐसा हो तब गहरी सांस लीजिये और उसे धीरे से छोड़िये ऐसा कम से कम 3 बार करें इससे आवश्य ही वह इच्छा खत्म हो जायेगी। तब भी यदि वह इच्छा खत्म ना हो तो अपना ध्यान काम में ही लगाने की कोशिश करें।

  • अपनी सभी सोशल मीडिया की ऐप्प डिलीट कर दीजिए। यह सुनने में अजीब ज़रूर लगेगा किन्तु यह आपकी लात खत्म करने का सबसे अच्छा कदम होगा। सोशल मीडिया पर हमारा सबसे अधिक समय बरबाद होता है। अपने फ़ोन से सभी गेम्स भी डिलीट कर दें इससे आप अधिक उत्पादक बन पाएंगे।
  • समय देखने के लिए अधिक से अधिक घड़ी का ही इस्तेमाल करें।
  • सोने से पहले अपने फ़ोन को ऑफ करना ना भूलें।
  • कोई भी कार्य करते हुए फ़ोन को खुद से लगभग 10 फीट दूर रखें इससे आपका ध्यान नही बटेगा।
  • अलार्म के लिए भी मोबाइल फ़ोन की जगह एक अलार्म क्लॉक का इस्तेमाल करें।
  • खुद पर भी थोड़ी पाबन्दी लगायें की कहाँ कहाँ आपको फोन का प्रयोग नहीं करना है।
Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Categories
लाइफस्टाइल

क्या तकनीक और मीडिया ही ज़िम्मेदार हैं घटती पढ़ने की आदतों की?

समय के साथ बदलती हुई आदतें


लगता है वो ज़माना कहीं खो गया है जब किताबें और अख़बार पढ़ने का अपना एक अलग ही मज़ा होता था। अब आपको अख़बार या किताब पढ़ने की ज़रूरत नहीं क्योंकि यह सब तो आपके मोबाइल में ही उपलब्ध है। आप अपने मोबाइल को केवल एक बार टच कर के पूरी दुनिया के समाचार और सारा ज्ञान अपने हाथ में पा सकते हैं और हम अपनी किताबें और अख़बार पढ़ने की आदतों को खोते जा रहे है। धीरे-धीरे पुस्तकों और अख़बारों की जगह हमारे मोबाइल और कम्प्यूटर ले रहे हैं।

इन्होंने हमारी दुनिया में क्रांति तो लायी है और इनके फ़ायदे भी बहुत है परंतु इसका सबसे बड़ा नुक़सान यह है की इसने मनुष्य को अपना अधीन बना लिया है। किसी भी वस्तु पर इतना निर्भर होना उचित नहीं। जब पहले हमें किसी शब्द का अर्थ नहीं मिलता था तब हम उसे बहुत देर सोचते थे की कही से उसका अर्थ याद आए और अंत में शब्द कोष की सहायता लेते थे। परंतु अब हम फटाफट उसे गूगल पर टाइप कर उसका अर्थ पता लगा लेते हैं। जब कभी इंसान को इन सुविधाओं से किसी कारण दिए रहना पड़े तब उसे लाचार महसूस होने लगता है।

यहाँ पढ़ें : क्यों परिणाम का डर हमें बना रहा है कमज़ोर

हम सभी ने यह बात बचपन से सुनी है- “किताबें मनुष्य की सबसे अच्छी दोस्त होती हैं” और यह सत्य ही है। आपके मोबाइल की बैटरी ख़त्म हो सकती है किंतु किताबों की बैटरी ख़त्म नही होती। तो आओ जाने फ़ायदे किताब पढ़ने के:-

  1. इससे आपकी आँखें सुरक्षित रहती हैं। मोबाइल फ़ोन और कम्प्यूटर से हमारी आँखों पर चश्मा लगने की संभावनाएँ अत्यधिक होती है क्योंकि इनकी स्क्रीन बहुत ब्राइट होती है।
  2. किताबें पढ़ने से एकाग्रता की शक्ति बढ़ती है।
  3. याद करने की क्षमता का विकास होता है।
  4. इससे आपका तनाव भी कम होता है।
  5. आप जितना पढ़ेंगे उतना ही आप नए शब्दों को जानेंगे तो इससे आपका शब्द ज्ञान भी बढ़ता है।

जब पढ़ने के इतने फ़ायदे हैं तो क्यों हम अपना समय मोबाइल पर बर्बाद करते हैं। किताबों की दुनिया हमारा इंतज़ार कर रही है बस ज़रूरत है नज़रिया बदलने की। तकनीकी विकास किसी भी देश के लिए आवश्य ही ज़रूरी है परंतु इसका अर्थ यह नही की उनके आने से हम पुरानी चीज़ों को भूलते जायें। जैसे मोबाइल, कम्प्यूटर और इंटर्नेट हमारे लिए बहुत ही सहायक हैं किंतु हम इनकी मोज़ूदगी में किताबों और पढ़ने की आदतों को पूरी तरह भूल जाए यह पूर्णत: अनुचित है।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Categories
लाइफस्टाइल

प्यार होने के बाद बदल जाती है लड़कियों की ये सारी आदतें

लडकियों को अपने मोबाइल से हो जाता है प्‍यार


ऐसा कहते है, जब किसी इंसान की जिन्‍दगी में प्‍यार आता है, तो प्यार इंसान को बदल देता है। अगर आप की जिन्‍दगी प्‍यार आया होगा तो आप ने भी अपने आप में कई बदलाव देखें होगें। मगर हर किसी में  अलग – अलग बदलाव आते है। प्‍यार में  आने के बाद कुछ लोग बहुत ज्यादा इमोशनल हो जाते है, तो कुछ लोग मैच्योर। कुछ लोग अचानक से ब्यूटी कॉन्शियस हो जाता है, तो कोई बेफिक्र हो जाता है।

अगर हम बात करें लड़कियों की तो जब लड़कियां प्‍यार के रिश्‍ते में आती है, तो लड़कियों में कई बदलाव देखने को मिलते है। जैसे उनकी बहुत सारी  हरकतें और कुछ आदतें बदल जाती हैं। वैसे तो प्‍यार में आए बदलाव हर किसी में अलग -अलग होते है, मगर कुछ बदलाव ऐसे होते है, जो हर लड़की में होते है। आज हम आप को बताएगें ऐसे ही कुछ बदलाव जो हर लड़की में देखने को मिलते है।

  • नींद थोड़ी कम आना

आप ने ये तो सुना ही होगा, कि प्यार होने पर नींद उड़ जाती है। जब किसी लड़की को प्‍यार होता है, तो वो लडकी देर रात तक जगना शुरू कर देती है। हर आदत हर लड़की की बदल जाती है। देर रात तक  अपने पार्टनर से फोन पर बातें करना, चैट करना उनकी आदत बन जाती है। साथ ही बातें करते-करते कब सवेरा हो जाता है, लड़कियों को ये पता ही नहीं चल पता है।

  • मोबाइल बना जाता है सीक्रेट

प्‍यार होने से पहले तो लडकियों को अपने मोबाइल कहां पड़ा है और कहां  है, इस की ख़बर भी नहीं होती है। लेकिन प्‍यार होते ही वो अपने मोबाइल को अपने आप से दूर भी नहीं होने देती । मोबाइल को लेकर वो  बहुत क्रेजी हो जाती है। लड़की के मोबाइल पर पासवर्ड ना हो ऐसा हो नहीं सकता है।

  • गानों की पसंद में बदलाव

प्यार के रिश्‍ते में आने पर लड़कियों की गाने की पसंद भी बदल जाती है। उन्‍हें हर रोमांटिक स्टोरी, लव-सॉन्ग अपना लगने लग जाता है