Categories
भारत

राष्ट्रपति चुनाव- रामनाथ कोविंद की जीत पक्की मानी जा रही है

मतदान के लिए 10 मिनट पहले पहुंचे पीएम


आज देश के 14वें राष्ट्रपति के लिए मतदान डाले जा रहे हैं। मतदान सुबह 10 से 5 तक डाले जाएंगे। राष्ट्रपति के दौड़ में सत्ता पक्ष से बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद और विपक्ष की तरफ से पूर्व लोकसभा स्पीकर मीरा कुमार मैदान पर है।

संसद भवन

20 जुलाई को आएंगे नतीजे

संसद भवन के अलावा प्रत्येक राज्य की विधानसभा में सुबह 10 बजे से मतदान डाले जा रहे हैं। संसद के दोनों सदनों में जहां सांसदों की वोटिंग की व्यस्था की गई हैं। वहीं राज्य विधानसभा में वहां निर्वाचित सदस्य वोट डालेंगे। 20 जुलाई को इस चुनाव के नतीजे घोषित किए जाएंगे।

सत्ता पक्ष की तरफ से पीएम मोदी सुबह से समय से पहले संसद भवन पहुंच गए थे। चुनाव का समय 10 बजे

था। जबकि पीएम मोदी 9.50 में ही संसद भवन पहुंच गए। यह देखकर आधिकारी भी हैरान रहे गए। पीएम में 10 बजने का इंतजार किया और उसके बाद अपना वोट डाला। इसके अलावा बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, बीजेपी वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी समेत कई नेताओं ने वोट डालें। इसके साथ ही यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी वोट डाला।

वोट डालते पीएम मोदी

ज्यादातर क्षेत्रिय दल कोविंद के समर्थन में

विपक्ष की तरफ से राहुल गांधी और सोनिया गांधी ने भी वोट डाला। वहीं यूपी के सपा के12 से 15 विधायक क्रॉस वोटिंग कर सकते हैं। सपा नेता शिवपाल यादव रामनाथ कोविंद के समर्थन हैं। डीएमके प्रमुख एमके स्टालिन,त्रिपुरा में टीएमसी के 6 विधायक कोविंद का समर्थन कर रहे हैं। वहीं दूसरी ओर टीएसी प्रमुख ममता बनर्जी ने मीरा कुमार को समर्थन का ऐलान किया है।

आपको बता दें राष्ट्रपति चुनावके लिए रामनाथ कोविंद की जीत पक्की मानी जारी है। तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी का कार्यकाल 24 जुलाई को खत्म हो रहा है। इसके बाद ही 25 जुलाई को नए राष्ट्रपति पदभार ग्रहण करेंगे।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in

Categories
पॉलिटिक्स

विपक्ष ने महात्मा गांधी के पोते को उपराष्ट्रपति पद के लिए बनाया उम्मीदवार

नीतीश कुमार को मनाने की तैयारी


राष्ट्रपति चुनाव 17 जुलाई को होने वाला है। राष्ट्रपति पद के लिए सत्ता पक्ष से रामनाथ कोविंद उम्मीदवार बनाया गया है। वहीं दूसरी ओर विपक्ष की तरफ से दलित कार्ड का खेल खेला गया और पूर्व लोकसभा स्पीकर मीरा कुमार को उम्मीदवार बनाया गया।

गोपाल कृष्ण गांधी को बनाया गया उम्मीदवार

राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के बाद अब बारी है उपराष्ट्रपति के उम्मीदवार की। कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्षी पार्टियों ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पोते गोपाल कृष्ण गांधी को उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया है।

गोपाल कृष्ण गांधी

मंगलवार को विपक्ष की बैठक में कुल 18 दल मौजूद थे। कांग्रेस ने गोपाल कृष्ण का नाम ऐलान करने के बाद कुछ समय से नाराज चल रहे नीतीश कुमार को मनाने की कोशिश की है। वहीं दूसरी ओर इस निर्णय से पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को भी साधने की कोशिश की गई है।

पहले राष्ट्रपति की उम्मीदवारी के लिए नाम की चर्चा हुई थी

गौरतलब है कि जिस समय राष्ट्रपति के उम्मीदवार की तलाश चल रही थी तो ममता ने गोपाल कृष्ण के नाम की चर्चा की थी। लेकिन कांग्रेस समेत अन्य पार्टियों ने मीरा कुमार के मान पर सहमति जताई थी। सोनिया गांधी से कुछ नेताओं ने इस बारे में चर्चा की थी। सोनिया गांधी मीरा कुमार को उम्मीदवार बनाने के पक्ष में थी।

विपक्ष की तरफ से ममता और लेफ्ट ने गोपाल कृष्ण के नाम की चर्चा की थी। कांग्रेस इसे मान भी गई थी। लेकिन बाद में यह तय हो कि पहले एनडीए को अपने उम्मीदवार की घोषणा करने दी जाएं। उसके बाद ही विपक्ष अपने उम्मीदवार के बारे में बताएंगे। अंत में एनडीए ने दलित उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को उतारा, उसके को देखते हुए विपक्ष ने भी दलित उम्मीदवार मीरा कुमार के नाम की घोषणा कर दी।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in