श्रीलंका के इतिहास के लिए जीवित हैं रावण

0
136
lankadhipati ravan

जानिये वध के बाद रावण के शरीर का क्या हुआ


रामायण में सबने पढ़ा है की रावण का वध प्रभु श्री राम ने ब्रह्मास्त्र चला कर किया था.वध के बाद श्री राम पुष्पक विमान से अयोध्या वापस लौट आये लेकिन इसके बाद रावण के शरीर का क्या हुआ? क्या वह मिट्टी में विलीन हो गया? क्या जलते जलते रावण का शरीर ख़ाक हो गया ? क्या श्रीलंका की गुफा में पत्थर के संदूक में रखा वो शरीर रावण का ही है?आइये जानते हैं-

जंगलो में कहीं छुपा है रावण का शव

शरीर में कई प्रकार के लेप लगाकर मिस्र के लोगों द्वारा ममी तैयार की जाती थी जिस बात को सभी ने मानने से इंकार कर दिया था. लेकिन जब पिरामिड की अंदर एक संदूक को खोला गया तो वाकई संदूक में पाया की एक मृत्य व्यक्ति का सालो पुराना शरीर ज्यों का त्यों बंद था. रावण को अपना राजा मानने वाले श्रीलंका के लोगो का कहना है की लंकाधिपति रावण का शरीर श्रीलंका के जंगलो में ही कहीं रखा हुआ है.

ravan body

यहां भी पढ़ें: प्यार की इस निशानी ताजमहल की रहस्यमयी कहानी

लंकाधिपति को जीवित करने की कई कोशिश

बताया जाता है की रावण के वध के बाद नाग जाती के लोगो ने कई मशक्कत से रावण को जीवित करने की कोशिश की लेकिन सभी प्रयास नाकाम रहे .उनका मानना था की यदि संजीवनी बूटी से लक्ष्मण को जिन्दा किया जा सकता है तो रावण क्यों नहीं हो सकते. कोशिश नाकाम होते देखने पर नाग जाती के लोगो ने रावण के शरीर में एक विशेष प्रकार का लेप लगाकर उनके शरीर को संदूक में बंद कर एक गुप्त गुफा में रख दिया था.

srilanka ravan

रिसर्च टीम का दावा ,श्रीलंका की गुफा में मिला एक विशाल संदूक

कोलंबो, श्रीलंका से 220 किमी दूर रागला के घने जंगलो में शोध के दौरान श्रीलंका की रिसर्च टीम को एक गुफा मिली. गुफा में खोज करने पर एक विशाल ताबूत मिला. ये पत्थर का ताबूत 18 फ़ीट लम्बा और 5 फ़ीट चौड़ा है. इस बक्से में एक खास प्रकार का लेप लगा हुआ है. श्रीलंका सरकार ने धार्मिक आस्था को ध्यान में रखते हुए इस ताबूत को खोलने से इंकार कर दिया. गुफा की पेचीदा बनावट में पत्थरो के ज़रा भी हिलने से गुफा डेह सकती है.

स्थानीय लोगो का अटूट विश्वास

सभी स्थानीय लोग लंकाधिपति रावण के शव का अभी भी मौजूद होने पर विश्वास है. रावण को अपना राजा मानने वाली प्रजा उस तथ्य पर यकीन जरूर करती है की रावण अब भी जीवित हैं.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments