भारत

Special Story: जानें इस साल पीएम ने किस-किस देश की यात्रा

पहली बार कोई भारतीय प्रधानमंत्री पहुंचा इजराइल


इस साल मई में बीजेपी सरकार ने अपने तीन साल पूरे होने का जश्न मनाया। यह जश्न को लगभग देश हर हिस्से मनाया गया था। इन तीन सालों में देश में कई तरह के बदलाव हुए हैं। कई बड़े फैसले सदन में लिए गए है। मात्र तीन सालों में बीजेपी की सरकार ने वह कर दिखाया जिसका कई सदियों से इंतजार किया जा रहा था। कई अहम मुद्दों को बीजेपी की सरकार ने उठाया। साल 2014 में सत्ता पलटने के बाद से देश के लगभग आधे हिस्से में अब बीजेपी राज कर रही है। और राज करें भी क्यों नहीं काम ही ऐसे किए हैं।

पीएम मोदी
पीएम मोदी

इन तीन सालों में जो सबसे बड़ा मुद्दा उठा वह ‘तीन तलाक’ है। मुस्लिम वर्ग की महिलाओं के लिए आवाज बनी बीजेपी सरकार ने तीन तलाक के मुद्दों को उठाया और इसमें सुधार के लिए हर संभव कोशिश है।

साथ ही देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने लिए ‘एक देश एक कर’ जीएसटी को देश में लाया गया। कालेधन पर लगाम लगाने के लिए सरकार ने ‘नोटबंदी’ की गई।

इन सबके बीच मोदी सरकार ने कई देशों के साथ अपने अच्छे संबंध स्थापित किए हैं। इस बात का अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि साल 1992 में भारत में इजराइल राजनयिक दूतावास बना, लेकिन अब तक देश का कोई भी पीएम इजराइल यात्रा पर नहीं गया था। पहली बार पीएम मोदी कुछ दिन पहले ही इजराइल की यात्रा से वापस आएं हैं।

साल के छह महीने बीत चुके हैं, इन छह महीने में कई बदलाव हुए हैं, इन छह महीने में पीएम ने कई देशों की यात्रा की है। तो चलिए आज आपको इस बारे में बताते है। इन छह महीने में पीएम किस-किस देश की यात्रा पर गए हैं।

वैसे तो पीएम मोदी ने कुर्सी पर आसीन होने के बाद से ही विदेशों की यात्रा करना शुरु कर दी थी। सोशल साइट पर इस बारे में खूब चर्चा भी होती रही है कि मोदी देश के पीएम बने है या उन्हें विदेशों में घूमने का मौका मिला गया है।

खैर इस साल पीएम ने विदेश यात्राएं तो कि लेकिन उनकी शुरुआत जनवरी से नहीं ब्लकि मई से हुई है।

मई

पीएम मोदी
पीएम मोदी

श्रीलंका

मई के महीने मे पीएम ने तीन देशों का दौरा किया है। जिसमें वह सबसे पहले पड़ोसी देश गए थे। पीएम अंतर्राष्ट्रीय विषक दिवस पर 11,12 मई को कोलंबो गए थे। यहां पीएम मोदी श्रीलंका की तमिल समुदाय के लोगों से मिलें।

जर्मनी

पीएम 29, 30 मई को जर्मनी गए थे। जर्मनी पहुंचे पीएम मोदी का जहां भारी तादाद में भारतीय स्टूडेंस ने मोदी मोदी नारे लगाए थे। जर्मनी की यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच आठ समझौते पर हस्ताक्षर हुए थे।

स्पेन

अपनी स्पेन के यात्रा के दौरान 30 मई को पीएम स्पेन की राजधानी मैड्रिड पहुंचे। दो द्विसीय यात्रा के दौरान पीएम मोदी ने स्पेन के राष्ट्रपति मारियानो राजोय के साथ बैठक कर आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में दोनों देशों के बीच सहयोग बढ़ाने की अपील की।

रुस

अगला ट्रिप पीएम का रुस का था। रुस, पीएम 31 से 2 जून तक थे। रुस में पीएम ने रुसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन के साथ 18वीं द्विपक्षीय शिखर बैठक में हिस्सा लिया। इसके साथ ही सेंट पीटर्सबर्ग में ही आयोजित व्यापार सम्मेलन ‘सेंट पीटर्सबर्ग इंटरनेशनल इकोनॉमिक फोरम(एसपीआईईएफ) में शिरकत की।

फ्रांस

अगली यात्रा पीएम की फ्रांस की थी।

कजाखस्तान

कजाखस्तान की राजधानी अस्ताना में पीएम मोदी ‘शांघाई सहयोग संगठन’ में भाग लेने गए थे।

पुर्तगाल

पीएम 24 जून को पुर्तगाल की राजधानी लिस्बॉन में थे। इस यात्रा के दौरान 11 समझौते पर हस्ताक्षर हुए थे। नैनो टैक्नोलॉजी से लेकर बिजनेस पर समझौते हुए।

pm-modi_compressed

अमेरिका

डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद पीएम पहली बार उनसे 25 जून को मिलें। इससे पहले भी पीएम अमेरिका जा चुके हैं। लेकिन इस बार उन्होंने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ डिनर किया। आतंकवाद के मुद्दे पर बातचीत हुई। साझा प्रेस कांफ्रेंस हुई। लेकिन H1B वीजा पर कोई बातचीत नहीं हुई।

नीदरलैंड

अमेरिका की यात्रा के बाद पीएम नीदरलैंड गए। नीदरलैंड के प्रधानमंत्री मार्क रुट और पीएम मोदी के बीच तीन समझौतों हस्ताक्षर हुए।

पीएम मोदी
पीएम मोदी

इजराइल

पीएम मोदी इजराइल जाने वाले देश के पहले पीएम बन चुके हैं। इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू स्वयं एयरपोर्ट पर पीएम मोदी को लेने आएं साथ ही उनका गर्मजोशी के साथ स्वागत किया। भारत और इजराइल के कूटनीतिक रिश्ते के 25 साल पूरे होने के मौके पर यह यात्रा का आयोजन किया गया था।

जर्मनी

इस समय पीएम मोदी जर्मनी के हैम्बर्ग शहर में हैं। पीएम वहां जी-20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने गए हैं।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Back to top button
Hey, wait!

अगर आप भी चाहते हैं कुछ हटके वीडियो, महिलाओ पर आधारित प्रेरणादायक स्टोरी, और निष्पक्ष खबरें तो ऐसी खबरों के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें और पाए बेकार की न्यूज़अलर्ट से छुटकारा।