वीमेन टॉक

Smriti Irani Birthday : टीवी से लेकर राजनीति तक, ऐसी महिला जिसने किया दिलों पर राज

Smriti Irani Birthday : तुलसी हो या स्मृति, ये हर तरीके से INSPIRING


Highlights :

. महिलाओं के उत्थान के लिए सदैव काम करने वाली स्मृति ईरानी 23 मार्च को अपना 45वाँ जन्मदिन मना रही हैं।

. स्मृति ईरानी ने अपनी राजनीति की शुरुआत 2003 से की इससे पहले वह फेमिना मिस इंडिया की रनरअप रह चुकी हैं।

Smriti Irani Birthday : टीवी सीरियल क्योंकि सास भी कभी बहू थी से घर – घर में प्रसिद्धि पाने वाली केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने साल 2003 में भारतीय जनता पार्टी का दामन थामा। महाराष्ट्र में पार्टी के उपाध्यक्ष के रूप में अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत करने वाली स्मृति आज भारत सरकार के अंतर्गत महिला एवं बाल विकास मंत्री हैं। स्मृति ईरानी आज राजनीति में एक बड़ा नाम हैं। महिलाओं के उत्थान के लिए समाज में स्मृति ईरानी का योगदान स्मरणीय है।

 

स्मृति ईरानी ने अपने राजनीति काल में महिलाओं के लिए प्रेरणात्मक शब्द बोले जो हर महिला को जानने चाहिए।

1.    समाज में महिलाओं की स्थिति पर बात करते हुए स्मृति कहती हैं हम अपने इतिहास के एक ऐसे बिंदु पर हैं जहाँ हमने माना है कि महिलाओं को न केवल सशक्त होना चाहिए बल्कि उन्हें नागरिक के रूप में परिवर्तन का नेतृत्व करना चाहिए। बहुत लंबे समय तक हमें कमजोर माना गया लेकिन अब ज्यादा से ज्यादा महिलाएं अपने हक के लिए आवाज़ उठा रही है। महिलाएं दलील नहीं देती, आगे बढ़ती हैं।

Read More- first Woman Chief Minister of India -सुचेता कृपलानी बनी थी आजाद भारत की पहली महिला मुख्यमंत्री, पढ़िए उनकी Inspiring कहानी

2.   सशक्तिकरण हर महिला का अधिकार है। संविधान महिला और पुरुष को समानता का अधिकार देता है।वो जोर देकर कहती हैं, ‘महिला सशक्तिकरण सुलझे समाज की ताकत है। परिपक्व प्रजातंत्र में सभी को अपने विचार रखने का पूरा हक है।

3.   स्मृति कहती हैं कि अगर मेरे पास स्त्री या पुरुष में से एक चुनने का विकल्प हो, तो मैं एक औरत होना ही चुनुंगी। इसका कारण है कि महिलाओं में नेतृत्व एक स्वाभाविक कौशल है।

4.    स्मृति कहती हैं कभी रास्ते में आने वाली मुश्किलों को एक बाधा के रूप में नहीं देखना चाहिए, उन मुश्किलों का समाधान खोजने के लिए मिलने वाले एक रचनात्मक अवसर के रूप में देखना चाहिए।

 

भारतीय टेलीविजन अकादमी द्वारा सात साल तक लगातार सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का पुरस्कार पाने वाली स्मृति टेलीविजन की नामचीन चेहरा होने के साथ – साथ राजनीति की बागडोर संभालने वाली वो महिला हैं जिन्होनें तीन तलाक जैसी कुप्रथा पर लोकसभा में अपने मत रखें और आखिरकार महिलाओँ को उनका हक दिलाया। नारी सशक्तिकरण को तवज़्जों देने वाली स्मृति ईरानी महिलाओँ के अधिकारों के लिए हमेशा ही खड़ी रहीं हैं। स्मृति महिला सशक्तिकरण से जुड़े सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक और कानूनी मुद्दों पर संवेदनशीलता और सरोकार व्यक्त करती आई हैं। महिलाओं के उत्थान के लिए केंद्रिये मंत्री का योगदान बहुत महत्वपूर्ण रहा है।

Read more- First Female IAS: जाने कौन है भारत की पहली महिला आईएएस, साथ ही जाने कैसे मिला उनको अफसर बनने का मौका?

2021 में स्मृति ने महिला सशक्तिकरण की एक मिसाल पेश की। उत्तर प्रदेश के अमेठी में महिलाओं को मनरेगा योजना में बड़ी जिम्मेदारी दी गई। 250 से अधिक महिलाओं की मेड के पद पर पहले पुरूषों को तैनात किया जाता था। लेकिन स्मृति की एक पहल ने महिलाओं को न ही सिर्फ रोजगार का साधन दिया बल्कि उन्हें उनका हक दिलाया। अब वो समाज में इज्ज़त से चल सकता हैं, अपने हक की लड़ाई अपने दम पर कर सकती हैं। महिलाओं के उत्थान में सदैव एक्टिव रहने वाली स्मृति महिलाओं का अपना चेहरा बन चुकी हैं। अमेठी से सांसद स्मृति इरानी महिलाओं को सर्वप्रथम रखती हैं और उनके लिए सदैव खड़ी रहती हैं।

स्मृति ईरानी का जन्म 23 मार्च 1976 को दिल्ली में हुआ। स्मृति ईरानी का मिस इंडिया की प्रतिभागी भी रह चुकी हैं। वह 1998 में फेमिना मिस इंडिया सौंदर्य प्रतियोगिता के फायनल में पहुँची और वर्ष 2000 से हिंदी सीरियलों में काम करने लगीं। इसके बाद उन्होंने राजनीति में अपनी पारी शुरू कर की।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Back to top button