खूबसूरत बस्तियाँ बनाने की एक पहल इन कलाकारों की ओर से

0
38

पुणे की झुग्गियों को रंग रहे है मुंबई के यह कलाकार


झुग्गियों में रहने वाले लोगों का जीवन कैसा होता है ये तो आप बाखूबी जानते ही है.जीवन की छोटी-छोटी जरूरतों को पूरा करने के लिए उन्हें काफी मशक्कत करनी पड़ती है.उनका जीवन सर्घर्ष और दुखों से भरा होता है. वहीं उनके लिए अलग से सोचने की फुरसत किसे है, ऐसे में कलाकारों ने पुणे के स्लम में रहने वाले लोगों के जीवन में रंग भरने की ठानी है

मुंबई के कलाकार पुणे की झुग्गियों को करेंगे रंगीन

‘मिसाल मुंबई’ अभियान के तहत एक एनजीओ ने पुणे की झुग्गियों को रंगना शुरू कर दिया है .संस्था के प्रमुख रूबल नेगी एक समाज सेवी होने के साथ ही कलाकार भी हैं.उनके इस प्रयास से मुंबई की झुग्गियां पहले से और भी ज़्यादा खूबसूरत बन गई हैं.इन्होंने इस अभियान की शुरुआत जनवरी 2018 में की थी .

उनकी टीम ने स्लम बस्तियों के करीब 46,000 घरों पर खूबसूरत तस्वीरें लगाकर उन्हें और रंगीन बना दिया.इन्होंने अब अपने अभियान को पुणे में भी शुरू कर दिया है ताकि स्लम बस्तियों में रहने वालों की जिंदगी को बदल सके. हालाँकि इनके प्रयास के हैरान कर देने वाले परिणाम सामने आए हैं.समाज के वंचित वर्ग के लिए सोचते हुए रूबल ने बेहद नायाब अभियान चला रखा है.

यहाँ भी पढ़े: इंसानियत का सबक सिखाती ये गाय ,कर देगी आपको भोचक्का

रूबल मीडिया से बातचीत करते कहती हैं,’मुझे कला के माध्यम से लोगों से जुड़ना काफी अच्छा लगता है. महज दीवारों को ही मैं रंगीन करने नहीं चली हूं बल्कि उनके कपड़े और रहन-सहन में भी सुधार लाने की ठानी है.एक सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में लोग मुझसे जुड़ते हैं और इस काम में मेरा सहयोग करते हैं. इस माध्यम से उपेक्षित लोगों के जीवन में आमूल परिवर्तन देखने को मिलता है.’

लोगों के नजरिए को बदलने का रंगीन ज़रिया

बताते चलें कि रूबल के इस प्रयास की सभी सराहना करते हैं.  इतना ही नहीं, इनके काम की तारीफ़ देश ही नहीं, विदेशी मीडिया भी कर चुकी है. इस अभियान से रूबल झुग्गियों में रहने वाले लोगों के प्रति जो नजरिया बना हुआ है, उसे बदलने का काम कर रही हैं. एक नागरिक के तौर पर देश की बेहतरी में रूबीन का योगदान प्रेरणा देने वाला है.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments