लाइफस्टाइल

Shani Vakri 2022: शनि देव 12 जुलाई से चलेंगे उल्टी चाल, जाने किन राशियों को होगा धनलाभ

Shani Vakri 2022: अगले 7 महीने भारी पड़ने वाले है इन राशियों के लोगों पर


  • शनि देव 12 जुलाई से चलेंगे उल्टी चाल
  • जाने किन किन राशियों के लिए भारी पड़ने वाले है आने वाले अगले 7 महीने

Shani Vakri 2022: हमारे ज्योतिष शास्त्र में शनि ग्रह को विशेष महत्व दिया जाता है। इसलिए शनि देव का राशि परिवर्तन करना सभी राशियों के लिए खास होता है। ज्योतिष शास्त्रों के अनुसार शनि देव 12 जुलाई से उल्टी चाल चलेंगे। ज्योतिष के मुताबिक शनि देव ने 29 अप्रैल को कुंभ राशि में प्रवेश किया था। अब वो 12 जुलाई को अपनी स्वराशि मकर में वक्री अवस्था में प्रवेश करने जा रहे हैं। उसके बाद इस राशि में शनि देव 17 जनवरी 2023 तक रहने वाले हैं शनि देव के वक्री होने से कुछ राशियों को शनि देव की ढैय्या से छुटकारा मिल जाएगा, तो वहीं कुछ राशियों पर शनि की ढैय्या शुरू हो जाएगी। तो चलिए आज हम आपको अपने इस आर्टिकल में बताएंगे कि शनि के राशि परिवर्तन से किन राशियों पर ढैय्या शुरू होगी और किन राशियों को शनि की ढैय्या से मुक्ति मिलेगी।

इन राशियों पर शुरू होगी शनि की ढैय्या

तुला: 12 जुलाई को शनि देव तुला राशि के चौथे भाव में वक्री गोचर करने वाले हैं ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक उसके बाद से इस राशि पर शनि की ढैय्या शुरू हो जाएगी। जिसके परिणामस्वरूप, इस दौरान इस राशि के लोगों को कई प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। ये परेशानियां शारीरिक, मानसिक और आर्थिक किसी भी तरह की हो सकती हैं। लेकिन आपको बता दें कि इस दौरान नौकरी और बिजनेस में लाभ का योग बनेगा।

मिथुन: 12 जुलाई को शनि देव मिथुन राशि के आठवें भाव में वक्री करने वाले हैं। शनि देव की उल्टी चाल से इस राशि के लोगों पर ढैय्या का प्रभाव रहेगा। शनि की उल्टी चाल के कारण इस राशि के जातकों को अचानक से धन हानि हो सकती है। हालांकि इस राशि से संबंधित कुछ लोगों को शनि की ढैय्या का अच्छा परिणाम भी मिल सकती है। इस दौरान इस राशि के लोगों को आकस्मिक धन लाभ के योग बनेंगे और लाइफ में बड़े बदलाव आने की प्रबल संभावना बनेगी। इतना ही नहीं इस दौरान इस राशि के लोगों की आर्थिक स्थिति कमजोर हो सकती है।

कुंभ: 12 जुलाई को शनि देव कुंभ राशि में वक्री करने वाले है। शनि के मकर राशि में परिवर्तन के बाद कुंभ राशि के लोगों को संभलकर रहना होगा। इस दौरान इस राशि के लोगों के खर्चों में बढ़ोतरी हो सकती है साथ ही इस दौरान उनकी लंबी यात्राएं की शुरुआत हो सकती है। घर-परिवार में लोगों के बीच बहस-अनबन हो सकती है।

इन 2 राशियों को मिलेगी शनि की ढैय्या से मुक्ति

ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक जब शनि देव कुंभ राशि में गोचर किया था तो उस समय पर मीन, मकर और कुंभ राशि पर शनि की साढ़ेसाती शुरू हो गई थी। लेकिन अब जब शनि देव अपनी स्वराशि मकर में प्रवेश करने जा रहे हैं तो ऐसे में कर्क और वृश्चिक राशि पर शनि देव की ढैय्या से मुक्ति मिल जाएगी। वहीं मिथुन और तुला राशि पर शनि की ढैय्या शुरू हो जाएगी।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Back to top button